इंदिरा गांधी ने पूर्वी पाकिस्तान को एक अलग देश जिसे हम बांग्लादेश के नाम से जानते है कैसे बनाया?...


user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

2:31
Play

Likes  170  Dislikes    views  3396
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mr. Mukesh Kumar

Youtuber, https://youtu.be/lxwi7CXLHSQ

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ भारत की आजादी तुरंत भारत का विखंडन हो गया विखंडन के उपरांत भारत के पश्चिमी छोर पर पश्चिमी पाकिस्तान और पूर्वी छोर जिसे हम बांग्लादेश कहते हैं उसे फर्स्ट का पूर्वी बंगाल का नाम दिया गया परंतु दो राज्य थे मतलब पाकिस्तान के दोनों अंग थे परंतु दोनों में बहुत ही विभिन्न ता पाई जाती थी पूर्वी पाकिस्तान में संपदा बहुत ज्यादा से प्राकृतिक संपदा और पाकिस्तान में राजनीतिक बहुत हावी था जिसमें पाकिस्तान के जो सैनिक थे चाहे जो भी राजनीति करते थे वह पूर्वी पाकिस्तान के लोगों पर बहुत अत्याचार करते थे विशेषकर महिलाओं और कन्याओं पर उनका शोषण करते थे वहां की क्षमता को लेकर अपने पश्चिमी पाकिस्तान में भेजते थे ऐसा करने से पश्चिमी पाकिस्तान के जो लोग से धीरे-धीरे और पूर्वी पाकिस्तान पर हावी होने लगे इसका प्रभाव यह हुआ कि पूर्वी पाकिस्तान के लोग काफी दुखी होने लगी अपने शोषण को देखकर विभिन्न तरह के अत्याचारों देखकर अब वह चाह नहीं पाए तो उन्होंने भारत सरकार से आग्रह किया उस वक्त इंदिरा गांधी हमारे देश के प्रधानमंत्री थे तो उन्होंने 19 युद्ध छेड़ा जो कि 25 जनवरी 25 मार्च 1971 से लेकर 16 दिसंबर 1971 तक बहुत लंबे समय तक चला जिसमें भारत की विजय हुई और पाकिस्तान के लगभग 93000 सैनिकों ने अपना घुटना टेक दिया था उसके बाद पाकिस्तान जो पूरी पाकिस्तान ने उसका नाम बांग्लादेश पड़ गया और एक वह स्वतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया और पश्चिमी पाकिस्तान पहले की तरफ पाकिस्तान का रूप दे दिया गया तो इस तरह इंदिरा गांधी ने पूर्वी पाकिस्तान को अलग देश ने बनाया और जिसे हम आज बांग्लादेश के नाम से जानते हैं

hamara desh bharat 15 august 1947 ko azad hua bharat ki azadi turant bharat ka vikhandan ho gaya vikhandan ke uprant bharat ke pashchimi chhor par pashchimi pakistan aur purvi chhor jise hum bangladesh kehte hain use first ka purvi bengal ka naam diya gaya parantu do rajya the matlab pakistan ke dono ang the parantu dono mein bahut hi vibhinn ta payi jaati thi purvi pakistan mein sampada bahut zyada se prakirtik sampada aur pakistan mein raajnitik bahut haavi tha jisme pakistan ke jo sainik the chahen jo bhi raajneeti karte the vaah purvi pakistan ke logo par bahut atyachar karte the visheshkar mahilaon aur kanyaon par unka shoshan karte the wahan ki kshamta ko lekar apne pashchimi pakistan mein bhejate the aisa karne se pashchimi pakistan ke jo log se dhire dhire aur purvi pakistan par haavi hone lage iska prabhav yah hua ki purvi pakistan ke log kaafi dukhi hone lagi apne shoshan ko dekhkar vibhinn tarah ke atyacharo dekhkar ab vaah chah nahi paye toh unhone bharat sarkar se agrah kiya us waqt indira gandhi hamare desh ke pradhanmantri the toh unhone 19 yudh cheda jo ki 25 january 25 march 1971 se lekar 16 december 1971 tak bahut lambe samay tak chala jisme bharat ki vijay hui aur pakistan ke lagbhag 93000 sainikon ne apna ghutna take diya tha uske baad pakistan jo puri pakistan ne uska naam bangladesh pad gaya aur ek vaah swatantra desh ke roop mein ghoshit kiya gaya aur pashchimi pakistan pehle ki taraf pakistan ka roop de diya gaya toh is tarah indira gandhi ne purvi pakistan ko alag desh ne banaya aur jise hum aaj bangladesh ke naam se jante hain

हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ भारत की आजादी तुरंत भारत का विखंडन हो गया विखंडन

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  533
WhatsApp_icon
user

Suraj Shaw

Entrepreneur, Career Counsellor

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स देखी जो बांग्लादेश है उसको पहले इस पाकिस्तान के नाम से भी जाना जाता था और जिसमें कि पाकिस्तान ही थी वह बस 120 पाकिस्तान रिक्वेस्ट पाकिस्तान दक्ष लेकिन आप वहां कि जो लोग थे वह आजादी चाहते थे पाकिस्तान के गवर्नमेंट से लेकिन तो उसके लिए उन्होंने इंदिरा गांधी से मदद मांगी तो इंदिरा गांधी ने पहले तो लोगों को ऐसे रितु जी अपने कंट्री में रहने के लिए लागू कर दिया लेकिन खर्चा बहुत ज्यादा रखें इंडिया गवर्नमेंट पर तो इंदिरा गांधी ने सोचा कि जितने पैसो में हम इनको रखेंगे उससे ज्यादा पैसों में से कम पैसों में तुम पाकिस्तान से लड़के उसको भगा सकते हैं तो फिर इंडिया और पाकिस्तान की लड़ाई हुई थी बांग्लादेश के लिए और इंडिया ने बांग्लादेश को आजाद करवाने में मदद करी थी जिसके बाद से जो आप इस पाकिस्तानी को बांग्लादेश के नाम से जाना जाने लगा थैंक यू

hello friends dekhi jo bangladesh hai usko pehle is pakistan ke naam se bhi jana jata tha aur jisme ki pakistan hi thi vaah bus 120 pakistan request pakistan daksh lekin aap wahan ki jo log the vaah azadi chahte the pakistan ke government se lekin toh uske liye unhone indira gandhi se madad maangi toh indira gandhi ne pehle toh logo ko aise ritu ji apne country mein rehne ke liye laagu kar diya lekin kharcha bahut zyada rakhen india government par toh indira gandhi ne socha ki jitne paiso mein hum inko rakhenge usse zyada paison mein se kam paison mein tum pakistan se ladke usko bhaga sakte hain toh phir india aur pakistan ki ladai hui thi bangladesh ke liye aur india ne bangladesh ko azad karwane mein madad kari thi jiske baad se jo aap is pakistani ko bangladesh ke naam se jana jaane laga thank you

हेलो फ्रेंड्स देखी जो बांग्लादेश है उसको पहले इस पाकिस्तान के नाम से भी जाना जाता था और जि

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1065
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को एक अलग दृष्टि से हम गंदा देश के नाम से जानते हैं कैसे बनाएं पहले को पाकिस्तान ने भारत को पर हमला किया था और पुंछ सेक्टर से फायरिंग शुरू हुई थी और वहां पर हमला हो रहा था और इधर कर्नल नीरज जी जोशी पाकिस्तान में मोर्चा संभाले हुए थे और वह बांग्लादेश की जो पूर्व पाकिस्तान की जनता पर चर्चा कर रहे थे वहां की जनता भाजपा कदम आसाम में और कोलकाता में पलायन कर रही थी और उनको रोकना ओके मुश्किल हो गया था और मानवता शिक्षणाचे के रूप में रखा गया अत्याचार बढ़ गया और महिलाओं के ऊपर बलात्कार हो रहे थे और हत्याएं हो रही थी तब सैंडल मदरसा को कहा और सैम डॉक्टर गौरव जनरल क्वेश्चन पेपर कब से जल्दी करके और मौका दे दे बंगाल की खाड़ी में भी मोर्चा संभाले हुए कई से भागने का मौका नहीं मिला और कर्नल लिए अपनी सीट से सैनिकों के साथ आत्मसमर्पण किया 32 इंच पश्चिम पाकिस्तान पर भी सेना आगे बढ़ गई और वहां पर भी लगा दे अमेरिका ने उस समय अपना जहांगीर विरार रवाना करने की धमकी दी थी तब तक या गांधी जी और डॉक्टर जन्माक्षर ने यह बंदर देश और बंगाल के प्रधानमंत्री के रूप में बुजुर्ग शर्मा सत्ता की बागडोर संभाली बांग्लादेश का निर्माण हुआ और पश्चिम पाकिस्तान में हार का सामना करना पड़ा का पाकिस्तान पाकिस्तान

indira gandhi ne pakistan ko ek alag drishti se hum ganda desh ke naam se jante hain kaise banaye pehle ko pakistan ne bharat ko par hamla kiya tha aur puch sector se firing shuru hui thi aur wahan par hamla ho raha tha aur idhar colonel Neeraj ji joshi pakistan mein morcha sambhale hue the aur vaah bangladesh ki jo purv pakistan ki janta par charcha kar rahe the wahan ki janta bhajpa kadam assam mein aur kolkata mein palayan kar rahi thi aur unko rokna ok mushkil ho gaya tha aur manavta shikshanache ke roop mein rakha gaya atyachar badh gaya aur mahilaon ke upar balatkar ho rahe the aur hatyaayen ho rahi thi tab sandal madarsa ko kaha aur sam doctor gaurav general question paper kab se jaldi karke aur mauka de de bengal ki khadi mein bhi morcha sambhale hue kai se bhagne ka mauka nahi mila aur colonel liye apni seat se sainikon ke saath atmasamarpan kiya 32 inch paschim pakistan par bhi sena aage badh gayi aur wahan par bhi laga de america ne us samay apna jahangir virar rawana karne ki dhamki di thi tab tak ya gandhi ji aur doctor janmakshar ne yah bandar desh aur bengal ke pradhanmantri ke roop mein bujurg sharma satta ki baghdor sambhali bangladesh ka nirmaan hua aur paschim pakistan mein haar ka samana karna pada ka pakistan pakistan

इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को एक अलग दृष्टि से हम गंदा देश के नाम से जानते हैं कैसे बनाएं प

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1290
WhatsApp_icon
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंदिरा गांधी ने पूरी पाकिस्तान को एक अलग देश बनाया क्योंकि आप पश्चिमी पाकिस्तान वाले पूरी पाकिस्तान में बहुत ज्यादा अत्याचार कर रहे हैं और उस समय वहां जो विद्रोही दल था मुजीबुर रहमान का उन्होंने भारत से हेल्प मांगी थी और भारत में को हेल्प की थी और इस तरीके से बांग्लादेश बना था सबका मंगल हो

indira gandhi ne puri pakistan ko ek alag desh banaya kyonki aap pashchimi pakistan waale puri pakistan mein bahut zyada atyachar kar rahe hain aur us samay wahan jo vidrohi dal tha mujibur rahman ka unhone bharat se help maangi thi aur bharat mein ko help ki thi aur is tarike se bangladesh bana tha sabka mangal ho

इंदिरा गांधी ने पूरी पाकिस्तान को एक अलग देश बनाया क्योंकि आप पश्चिमी पाकिस्तान वाले पूरी

Romanized Version
Likes  187  Dislikes    views  2671
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी बहुत अच्छा प्रश्न है आपको इंदिरा गांधी ने पूर्वी पाकिस्तान को एक अलग देश जिसे हम बांग्लादेश के नाम जानते हैं कैसे बनाया पाकिस्तानियों का पूर्वी पाकिस्तान के लोगों के ऊपर अत्याचार बढ़ रहे थे और ऐसी परिस्थिति में जब भारत उनके बचाव में और जब आया तो पाकिस्तान ने भारत को 1971 में ललकारा और भारत के खिलाफ एक युद्ध जैसी कार्रवाई शुरू की थी और अंततः वह युद्ध में परिवर्तित हुई थी जिसके बाद इंदिरा गांधी जब तत्कालीन प्रधानमंत्री थी उन्होंने फिर इसे गंभीरता से लेते हुए इस युद्ध को की परिणिति उनकी जो खून की थी उससे पाकिस्तान को परास्त किया ऐसे समय में जो बड़ी महाशक्ति आती बीबी पाकिस्तान की तरफदारी में लगी थी लेकिन हमारी जो प्राइम मिनिस्टर थी वह इतनी दृढ़ निश्चय ही उनके अंदर आत्मविश्वास गजब का था उन्होंने हार नहीं मानी और आखिर में संतानों हजार से ज्यादा पाकिस्तानी सैनिकों को भारतीय सेना के आगे घुटने टेकना पड़े और एक जो पूर्वी पाकिस्तान था उसे बांग्लादेश के रूप में स्थापित किया और आज जो बांग्लादेश है वह कहीं न कहीं उसका जन्मदाता इंदिरा गांधी की नेतृत्व वाली सरकार थी दृढ़ निश्चय सरकार थी

dekhi bahut accha prashna hai aapko indira gandhi ne purvi pakistan ko ek alag desh jise hum bangladesh ke naam jante hain kaise banaya pakistaniyon ka purvi pakistan ke logo ke upar atyachar badh rahe the aur aisi paristithi mein jab bharat unke bachav mein aur jab aaya toh pakistan ne bharat ko 1971 mein lalkaara aur bharat ke khilaf ek yudh jaisi karyawahi shuru ki thi aur antatah vaah yudh mein parivartit hui thi jiske baad indira gandhi jab tatkalin pradhanmantri thi unhone phir ise gambhirta se lete hue is yudh ko ki pariniti unki jo khoon ki thi usse pakistan ko parast kiya aise samay mein jo badi mahashakti aati bb pakistan ki tarafadari mein lagi thi lekin hamari jo prime minister thi vaah itni dridh nishchay hi unke andar aatmvishvaas gajab ka tha unhone haar nahi maani aur aakhir mein santano hazaar se zyada pakistani sainikon ko bharatiya sena ke aage ghutne tekna pade aur ek jo purvi pakistan tha use bangladesh ke roop mein sthapit kiya aur aaj jo bangladesh hai vaah kahin na kahin uska janmadata indira gandhi ki netritva wali sarkar thi dridh nishchay sarkar thi

देखी बहुत अच्छा प्रश्न है आपको इंदिरा गांधी ने पूर्वी पाकिस्तान को एक अलग देश जिसे हम बांग

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  901
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंदिरा गांधी ने पूरे पाकिस्तान को एक अलग देश इसलिए बनाया क्योंकि वर्तमान पाकिस्तान से पूरी पाकिस्तान का विकास नहीं हो पा रहा था और वहां के लोग दबे छुटके यादव तरीका से भारत पर अतिक्रमण कर रहे थे इसलिए उसको मजबूरी में बनाना पड़ा

indira gandhi ne poore pakistan ko ek alag desh isliye banaya kyonki vartaman pakistan se puri pakistan ka vikas nahi ho paa raha tha aur wahan ke log dabe chutke yadav tarika se bharat par atikraman kar rahe the isliye usko majburi me banana pada

इंदिरा गांधी ने पूरे पाकिस्तान को एक अलग देश इसलिए बनाया क्योंकि वर्तमान पाकिस्तान से पूरी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को अलग देवी श्याम बांग्लादेश के नाम से जाना है तो कैसे बनाया तो इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को बांग्लादेश बनने के लिए पाकिस्तान से युद्ध किया जिसने पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी थी और उसे पूरी पाकिस्तान को एक स्वतंत्र राष्ट्र का दर्जा देना पड़ा था उसमें लगभग 50000 सैनिकों के साथ पाकिस्तान के सेना प्रमुख भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण किया था इसके बाद जिनेवा संधि के दादी लोगों को वापस छोड़ दिया गया लेकिन इसके लिए भारतीय भी बहुत सारे खेलने को पीपल दान देना पड़ा

indira gandhi ne pakistan ko alag devi shyam bangladesh ke naam se jana hai toh kaise banaya toh indira gandhi ne pakistan ko bangladesh banne ke liye pakistan se yudh kiya jisne pakistan ko mooh ki khaani padi thi aur use puri pakistan ko ek swatantra rashtra ka darja dena pada tha usme lagbhag 50000 sainikon ke saath pakistan ke sena pramukh bharatiya sena ke saamne atmasamarpan kiya tha iske baad Geneva sandhi ke dadi logo ko wapas chod diya gaya lekin iske liye bharatiya bhi bahut saare khelne ko pipal daan dena pada

इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को अलग देवी श्याम बांग्लादेश के नाम से जाना है तो कैसे बनाया तो

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब देश का विभाजन हुआ तो दो हिस्सों में देश बंट गया एक भारत और एक पाकिस्तान पाकिस्तान के जो दो बच्चे थे एक पूर्वी पाकिस्तान पर एक पश्चिमी पाकिस्तान पश्चिमी पाकिस्तान जो के अमृतसर के साथ लगता था और जिसका वर्चस्व था कि जो पाकिस्तान पाकिस्तान बांग्लादेश के साथ में से जो कि पश्चिम बंगाल के साथ रहता था तो इन दोनों में पश्चिमी पाकिस्तान और पाकिस्तान में एक नाम एक कल्चरल बहुत राखी जो है वह विभिन्न कभी भी आपस में बनी नहीं जो पूरी पाकिस्तान जो था वह इस बात को चाहता था मानता था कि वो किसी राशि पाकिस्तान से अलग हो जाएगा धीरे-धीरे उनका काम चलता रहा तो 1949 में शेख मुजीबुर रहमान ने अपनी पार्टी बनाई महाकाल जय झंडा धरा तेरी हमें जोक्स चाहिए 1970 तक आते-आते काफी जो है फिर काफी कड़वाहट है 1970 में जो तुम कहां थी उसमें पूर्वी पाकिस्तान के लोग ज्यादा आ गए और पाकिस्तान का जो है उसका संसद का अधिवेशन बुलाया ही नहीं तो पाकिस्तान पाकिस्तान में खासतौर पर जो है इस बात को उन्होंने इसे ठीक नहीं समझा और 16 दिसंबर 1971 को जो है जो बांग्लादेश पाकिस्तान से अलग हो गया

jab desh ka vibhajan hua toh do hisson mein desh bunt gaya ek bharat aur ek pakistan pakistan ke jo do bacche the ek purvi pakistan par ek pashchimi pakistan pashchimi pakistan jo ke amritsar ke saath lagta tha aur jiska varchaswa tha ki jo pakistan pakistan bangladesh ke saath mein se jo ki paschim bengal ke saath rehta tha toh in dono mein pashchimi pakistan aur pakistan mein ek naam ek cultural bahut rakhi jo hai vaah vibhinn kabhi bhi aapas mein bani nahi jo puri pakistan jo tha vaah is baat ko chahta tha manata tha ki vo kisi rashi pakistan se alag ho jaega dhire dhire unka kaam chalta raha toh 1949 mein shaikh mujibur rahman ne apni party banai mahakal jai jhanda dhara teri hamein jokes chahiye 1970 tak aate aate kaafi jo hai phir kaafi kadawahat hai 1970 mein jo tum kahaan thi usme purvi pakistan ke log zyada aa gaye aur pakistan ka jo hai uska sansad ka adhiveshan bulaya hi nahi toh pakistan pakistan mein khaasataur par jo hai is baat ko unhone ise theek nahi samjha aur 16 december 1971 ko jo hai jo bangladesh pakistan se alag ho gaya

जब देश का विभाजन हुआ तो दो हिस्सों में देश बंट गया एक भारत और एक पाकिस्तान पाकिस्तान के जो

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  340
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!