एंग्जायटी घबराहट को किस प्रकार से अपने आप को कंट्रोल करें?...


user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बहुत ही अच्छा प्रश्न हैपेंस आईटी घबराहट को किस प्रकार से अपने आप को कंट्रोल करें उसके लिए आपको अपने क्वेश्चन के आंसर खुद देने होंगे अगर आप अपने स्तन कैंसर खुद नहीं दे पा रहे हो तो आप अपनी फैमिली से भी डिस्कस कर सकते हो फैमिली से डिस्कस नहीं कर सकते तो फ्रेंड से डिस्कस करो फ्रेंड से भी डिस्कस नहीं कर सकते हो तो किसी धर्म फायदा हो सब कुछ बताएंगे और नॉर्मल चीज है तो आप टाइम टेबल बनाइए रूटिंग बनाई है आप अपने शौक पूरे करिए हर रोज सुबह उठकर मेडिटेशन करिए रात को सोने से पहले मेडिटेशन करते हो मेडिटेशन करते हो उसके बाद योगा प्राणायाम एक्सरसाइज वाकिंग कम करेगा घबराहट कम करेगा मेडिटेशन जो आपको रिलैक्सेशन करवा करना है तो आपका घबराहट धीरे-धीरे खत्म होगा जरूर फायदा होगा अभी एक साथी साथ में जॉइंट कर सकते हो जो आपको कॉन्फ्रेंस बढ़ाएगा और मेंटली फिजिकली आपको रखेगा ताकि आपको भी ना पाए आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

yah bahut hi accha prashna haipens it ghabarahat ko kis prakar se apne aap ko control kare uske liye aapko apne question ke answer khud dene honge agar aap apne stan cancer khud nahi de paa rahe ho toh aap apni family se bhi discs kar sakte ho family se discs nahi kar sakte toh friend se discs karo friend se bhi discs nahi kar sakte ho toh kisi dharm fayda ho sab kuch batayenge aur normal cheez hai toh aap time table banaiye routing banai hai aap apne shauk poore kariye har roj subah uthakar meditation kariye raat ko sone se pehle meditation karte ho meditation karte ho uske baad yoga pranayaam exercise Walking kam karega ghabarahat kam karega meditation jo aapko Relaxation karva karna hai toh aapka ghabarahat dhire dhire khatam hoga zaroor fayda hoga abhi ek sathi saath mein joint kar sakte ho jo aapko conference badhayega aur mentally physically aapko rakhega taki aapko bhi na paye aapka din shubha ho dhanyavad

यह बहुत ही अच्छा प्रश्न हैपेंस आईटी घबराहट को किस प्रकार से अपने आप को कंट्रोल करें उसके ल

Romanized Version
Likes  323  Dislikes    views  4619
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Shiv Tripathi

Psychologist

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो एवरीवन एंजॉय और घबराहट को उसे अपने आप को कंट्रोल करने के लिए यह सबसे पहले हमें दे ब्लिटिंग फुल वाटर आप लीजिए जिससे कि आपके अनुज कल खामोशी होते हैं वह बैलेंस होते हैं तेरे लायक होते हैं उसके बाद आप समझने की कोशिश कीजिए कि एंजाइटी या घबराहट जिस वजह से हो रहे उस कारण को आराम से एनालाइज कीजिए समझ ले कि उसे हम कैसे दूर किया जा सकता है जैसी इंजॉय किया और घबराहट की वजह कारणों को आप समझ ना कुछ समझ लेंगे और उस पर गौर करना चालू करेंगे ऑटोमेटिकली उस पर आप कमांड पा लेंगे और इलेक्शन पोस्ट होता है आप रिलैक्स हो जाएंगे धन्यवाद

hello everyone enjoy aur ghabarahat ko use apne aap ko control karne ke liye yah sabse pehle hamein de bliting full water aap lijiye jisse ki aapke anuj kal khamoshi hote hain vaah balance hote hain tere layak hote hain uske baad aap samjhne ki koshish kijiye ki anxiety ya ghabarahat jis wajah se ho rahe us karan ko aaram se analyse kijiye samajh le ki use hum kaise dur kiya ja sakta hai jaisi enjoy kiya aur ghabarahat ki wajah karanon ko aap samajh na kuch samajh lenge aur us par gaur karna chaalu karenge atometikli us par aap command paa lenge aur election post hota hai aap relax ho jaenge dhanyavad

हेलो एवरीवन एंजॉय और घबराहट को उसे अपने आप को कंट्रोल करने के लिए यह सबसे पहले हमें दे ब्ल

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Dr. Ritu Kela visit YouTube channel /https://www.youtube.com/channel/UCrZ-ECXw6PsX4EUy5_-TdDw

Psychologist Psycho healer Counsellor Motivational Speaker Corporate Trainer Follow My You Tube Channel https://www.youtube.com/channel/UCrZ-ECXw6PsX4EUy5_-TdDw

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब भी एंजाइटी हो और घबराहट हो तो अपने आप से खुद सवाल करो पूछो कि बुरे से बुरा क्या होगा जब आप उस बुरे से बुरे के लिए तैयार हो जाते तो अपना ऑफिस इंक्वायरी से रिलेटेड घबराहट को आप कंट्रोल कर सकते हैं

jab bhi anxiety ho aur ghabarahat ho toh apne aap se khud sawaal karo pucho ki bure se bura kya hoga jab aap us bure se bure ke liye taiyar ho jaate toh apna office enquiry se related ghabarahat ko aap control kar sakte hain

जब भी एंजाइटी हो और घबराहट हो तो अपने आप से खुद सवाल करो पूछो कि बुरे से बुरा क्या होगा जब

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

3:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि एंजायटी घबराहट को किस प्रकार से अपने आप को कंट्रोल करें देखिए जो एंजायटी होती है जाति से जो होने वाला अनइजनेस है आपके बॉडी में वह इस कारण से होता है कि जो एंजाइटी होती वह कहीं ना कहीं आप के बाहरी सिचुएशन की कम आपके मानसिक जो उसकी गतिविधि ज्यादा होती है किसी भी प्रकार की इनसाइटी किसी सिचुएशन विशेष में आपके दिमाग किस जो कल्पना होती है उसके कारण से होता है मतलब जब भी हमारे जीवन में कुछ चुनौतियां आती हैं कुछ चले जाते हैं तो उनमें स्वभाव से बात है कि उसके बारे में हमारी कुछ धारणाएं होती हमारा दिमाग उसके बारे में कुछ सोचता है लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि जो सिचुएशन होती है जो चुनौतियां होती हैं उनको लेकर के हमारा दिमाग कुछ ज्यादा ही नकारात्मक चीजें की कल्पना करता है नकारात्मक तरीके से उन चीजों को लेता है या उस चीजों को कुछ ज्यादा ही है मैग्नीफाई करके हमारे हमारे सामने रखता है इसलिए हमारी जो स्वयं की कल्पना होती है वह कुछ ज्यादा हो जाती है जिससे बहुत ज्यादा घबराहट होती है इनसे बचने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि हम चिश्ती सिचुएशन में हो उस सिचुएशन के बारे में किसी भी प्रकार से जो नेगेटिव चीज है उन चीजों को बहुत दिमाग में मत लाइए क्योंकि जब आप किसी भी चीज के बारे में जो बहुत नेगेटिव है नकारात्मक चीज है अगर उनके अपने दिमाग में बहुत ज्यादा लाएंगे तो एंजाइटी होना स्वाभाविक बात है और वह जितना ही ज्यादा आप उसके आपका दिमाग उन चीजों के बारे में मैग्नीफाई करेगा उसको बढ़ाएगा उनसे आपके जीवन में घबराहट बहुत ज्यादा आएगी इनसे बचने के लिए आप यह कर सकते हैं कि आप अपना जो ध्यान जो है अपने उन कार्यों को करने में लगाइए और अपने जीवन में जो है आशा बनाए रखें और अगर कुछ विचार भी करना है तो परिणाम चाहे अच्छा हो या बुरा हो लेकिन आपको अपने दिमाग में उसके प्रति एक अच्छी धारणा रखनी है सकारात्मक राजनीति जो कि आउट कम होगा अच्छा होगा सिचुएशन चाहे जितना वर्ष हो आप यह उम्मीद रखी है कि वह सिचुएशन आपसे हैंडल हो जाएगा और उस सिचुएशन की सकारात्मक परिणाम आपके जीवन में मिलेगा धीरे-धीरे यह जो दिमाग की अपने कंडीशनिंग कहीं दे दे चुके हैं वह फिर उसके दिशा चेंज हो जाएगी तो जो आपके अंदर होने वाला जो घबराहट है वह कम हो जाएगा और जो एंजाइटी बहुत ज्यादा थी वह भी कहीं ना कहीं कम हो जाएगी तो उसके लिए सबसे पहले आप जो भी हैं जिस स्टेशन में हमें जहां से जाए कि आ रही है उन चीजों के बारे में चलने के टिप्स चीज है उनसे थोड़ा सा बचने की कोशिश करिए क्या वह बिल्कुल दिमाग में मत लाइए अब देखेंगे कि जब आप दिमाग में कुछ ना कुछ अच्छी चीजों के बारे में सोच रहे हैं या उसके सकारात्मक परिणाम के बारे में सोच रहे हैं तो कहीं ना कहीं जो आने वाले हैं राइट या घबराहट है वह अपने आप बहुत ज्यादा कम हो जा रहे बहुत-बहुत धन्यवाद

aapka prashna hai ki enjayati ghabarahat ko kis prakar se apne aap ko control kare dekhiye jo enjayati hoti hai jati se jo hone vala anaijanes hai aapke body mein vaah is karan se hota hai ki jo anxiety hoti vaah kahin na kahin aap ke bahri situation ki kam aapke mansik jo uski gatividhi zyada hoti hai kisi bhi prakar ki inasaiti kisi situation vishesh mein aapke dimag kis jo kalpana hoti hai uske karan se hota hai matlab jab bhi hamare jeevan mein kuch chunautiyaan aati hain kuch chale jaate hain toh unmen swabhav se baat hai ki uske bare mein hamari kuch dharnae hoti hamara dimag uske bare mein kuch sochta hai lekin kabhi kabhi aisa hota hai ki jo situation hoti hai jo chunautiyaan hoti hain unko lekar ke hamara dimag kuch zyada hi nakaratmak cheezen ki kalpana karta hai nakaratmak tarike se un chijon ko leta hai ya us chijon ko kuch zyada hi hai maignifai karke hamare hamare saamne rakhta hai isliye hamari jo swayam ki kalpana hoti hai vaah kuch zyada ho jaati hai jisse bahut zyada ghabarahat hoti hai inse bachne ke liye sabse zyada zaroori hota hai ki hum chistee situation mein ho us situation ke bare mein kisi bhi prakar se jo Negative cheez hai un chijon ko bahut dimag mein mat laiye kyonki jab aap kisi bhi cheez ke bare mein jo bahut Negative hai nakaratmak cheez hai agar unke apne dimag mein bahut zyada layenge toh anxiety hona swabhavik baat hai aur vaah jitna hi zyada aap uske aapka dimag un chijon ke bare mein maignifai karega usko badhayega unse aapke jeevan mein ghabarahat bahut zyada aayegi inse bachne ke liye aap yah kar sakte hain ki aap apna jo dhyan jo hai apne un karyo ko karne mein lagaaiye aur apne jeevan mein jo hai asha banaye rakhen aur agar kuch vichar bhi karna hai toh parinam chahen accha ho ya bura ho lekin aapko apne dimag mein uske prati ek achi dharana rakhni hai sakaratmak raajneeti jo ki out kam hoga accha hoga situation chahen jitna varsh ho aap yah ummid rakhi hai ki vaah situation aapse handle ho jaega aur us situation ki sakaratmak parinam aapke jeevan mein milega dhire dhire yah jo dimag ki apne Conditioning kahin de de chuke hain vaah phir uske disha change ho jayegi toh jo aapke andar hone vala jo ghabarahat hai vaah kam ho jaega aur jo anxiety bahut zyada thi vaah bhi kahin na kahin kam ho jayegi toh uske liye sabse pehle aap jo bhi hain jis station mein hamein jaha se jaaye ki aa rahi hai un chijon ke bare mein chalne ke tips cheez hai unse thoda sa bachne ki koshish kariye kya vaah bilkul dimag mein mat laiye ab dekhenge ki jab aap dimag mein kuch na kuch achi chijon ke bare mein soch rahe hain ya uske sakaratmak parinam ke bare mein soch rahe hain toh kahin na kahin jo aane waale hain right ya ghabarahat hai vaah apne aap bahut zyada kam ho ja rahe bahut bahut dhanyavad

आपका प्रश्न है कि एंजायटी घबराहट को किस प्रकार से अपने आप को कंट्रोल करें देखिए जो एंजायटी

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  504
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

9:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है कि इनसाइटी और घबराहट को किस प्रकार से कंट्रोल करें वेरी इंपोर्टेंट क्वेश्चन को लोगों को एंट्री होती है घबराहट होती है लेकिन आपको सबसे पहले तो यह जानना होगा कि यह घबराहट एंग्जायटी किस वजह से हो रही है इसलिए घबराहट के शारीरिक कारण भी हो सकते हैं मानसिक कारण हो सकते हैं कारण भी हो सकते हैं तो शरीर में अगर शरीर कारण है पल्स रेट कम बहुत कम या ज्यादा हो जाए या आपको आ गई आज तक देखते हैं खून की कमी महसूस करें या भाव ज्यादा थकावट आ रहे हो चक्कर आ रहे हैं तो उसकी वजह से भी आपको गर्लफ्रेंड हो सकती है डिप्रेशन की वजह से गिरावट हो सकती है लेकिन अगर शारीरिक घबराहट नहीं है तो मानसिक कारण जरूर हो सकते हैं और कई बार यह कारण एक-दूसरे से इतने ज्यादा खुशी मिल जाते कि हम अलग से किसी को जस्टिफाई नहीं कर सकते क्या शारीरिक या मानसिक या शारीरिक मानसिक में कब बदल जाए और मानसिक शारीरिक में कब बदल जाए हम इसको अलग अलग से बात नहीं कर सकते तो मानसिक कारणों में आपको बहुत अच्छे से समझना होगा कि यह क्यों आपने बढ़ रही है कि आपने अपने प्रति विश्वास की कमी हो अपनी जगह में कमी अपने आसपास के लोगों में विश्वास ना हो अपने आप में विश्वास और आप आसपास के लोग विश्वास आपको लगता है कि आपको कोई गलत तो दिल कर रहा है आपसे गलत व्यवहार कर रहा है आपको कोई डरा रहा है धमका रहा है और किसी से कह नहीं पा रहे तो भी आपको घबराहट हो जाए होनी शुरू हो जाएगी जब आप किसी चीज को अंदर ही अंदर किसी डर को अंदर ही अंदर रख रहे मैं किसी से शेयर नहीं कर पा रहा रेट में है ड्रेस में है तो भी आपको बहुत ज्यादा बढ़ सकती है और आपके ऊपर काम का बोझ ज्यादा है आप इस काम को खत्म नहीं कर पा रहे हैं आपको लगता है कि मैं खत्म कर भी नहीं पाऊंगा तो भी कर सकती है और अगर आप किसी से कुछ किसी को आप से कुछ अधिक साहस की अपेक्षाओं पर आप पूरा नहीं उतर पा रहे कुछ उसके अपेक्षाएं पूरी नहीं कर पा रहा है तो भी आपको घबराहट हो सकती है व्यक्ति के लिए अलग-अलग कारण होते और कई बार कई कारण होते हैं और हम बहुत चाहकर भी अपने कार्यों को खुद नहीं समझ पाते परिवार वालों से स्टेट नहीं कर पाते शेयर करने करना भी चाहो तो वह भी आपके जैसी होती है तो भी आपको नहीं समझा पाते ऐसे में कौन सर के पास जाकर कि आप इसका समाधान अच्छे से जुड़ सकते हैं ना वह आपकी मदद कर सकते हैं और इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि वह आप को समझने में ऑब्जेक्टिवली समझने में समझाने में आपके बहुत मदद कर सकते हैं क्योंकि वह आपकी हर सिचुएशन को ऑब्जेक्टिवली चढ़ी कर सकते हैं जो कि आप नहीं कर सकते आप के परिवारिक सदस्य नहीं कर सकते आपके मां-बाप बिल्कुल अपडेट क्यों नहीं हो सकते हैं आपके फ्रेंड के भाई बहन आपके शुभचिंतक दी दिल नहीं कर सकते केवल काउंसलर ही आता है आपको अलग से आपकी समस्याओं को अलग से आपके मन को आप के रुझान को आपके संशय को आपके निराशा को आशाओं को आपकी अपेक्षाओं को दूसरों की अपेक्षाओं को पड़ सकता है पढ़ा सकता है आपको समझा सकता है उसके बारे में अवैध कर सकता है और इसीलिए आपको आपके लिए एक अच्छे मार्गदर्शक का काम कर सकता है तो निश्चिंत होकर आप काउंसलर के पास चाहिए तो आप इनसाइटी घबराहट को कम करने में बहुत मदद करेंगे आप कौन सर के पास जाने से डीडी कारण चाहे पानी गिरे चाहे बजे के आसपास कोई या किसी भी अन्य वजह से आप कौन क्लॉक को नहीं ढूंढ पाते या उनको उनके पास जा सकते हैं तो फिर कुछ अस्थाई तौर से तो आप कर ही सकते हैं जब भी घबराहट हो तो आपको लंबे लंबे लंबे इंसान को देखे कहां से आ रहे हैं कहां जा रहे हैं और उसी के उसी की तरफ ध्यान रखिए स्वासा नाक से मित्रों से गुजरे किधर जा रहा पेट की तरफ नीचे की तरफ फेफड़ों की तरफ किधर जा रहा है और फिर वहां से उठकर धीरे-धीरे आपके आपके क्योंकि उसका अपने स्वास्थ का आवागमन अंजाना देखे तो आपका जो घबराहट की सिचुएशन है उसका ध्यान उसके तरफ से ध्यान हट जाएगा कोरे आप शांति महसूस करेंगे जिससे आपको घबराहट कम हो जाएगी बिग बिजनेस थोड़ी थोड़ी देर के लिए 5 मिनट के लिए 10 मिनट के लिए आप आंखें बंद करके अपने दोस्त के बीच में अपना ध्यान केंद्रित करके बंद करके बैठे और लंबे गहरे स्वाति जी सर आपको जरूर शांति मिलेगी घबराहट जरूर दूर होगी और आपको कुछ गलत आया है पेट में गैस बन रही है उसकी वजह से घबराहट हो सकते हैं तो ऐसे में देखे क्या आपने अगर आपके गैस बन रही है तो गैस का इलाज को चेक करके देखें और नहीं तो मनोचिकित्सक के पास जाइए

aapka question hai ki inasaiti aur ghabarahat ko kis prakar se control kare very important question ko logo ko entry hoti hai ghabarahat hoti hai lekin aapko sabse pehle toh yah janana hoga ki yah ghabarahat anxiety kis wajah se ho rahi hai isliye ghabarahat ke sharirik karan bhi ho sakte hain mansik karan ho sakte hain karan bhi ho sakte hain toh sharir mein agar sharir karan hai pulse rate kam bahut kam ya zyada ho jaaye ya aapko aa gayi aaj tak dekhte hain khoon ki kami mehsus kare ya bhav zyada thakawat aa rahe ho chakkar aa rahe hain toh uski wajah se bhi aapko girlfriend ho sakti hai depression ki wajah se giraavat ho sakti hai lekin agar sharirik ghabarahat nahi hai toh mansik karan zaroor ho sakte hain aur kai baar yah karan ek dusre se itne zyada khushi mil jaate ki hum alag se kisi ko justify nahi kar sakte kya sharirik ya mansik ya sharirik mansik mein kab badal jaaye aur mansik sharirik mein kab badal jaaye hum isko alag alag se baat nahi kar sakte toh mansik karanon mein aapko bahut acche se samajhna hoga ki yah kyon aapne badh rahi hai ki aapne apne prati vishwas ki kami ho apni jagah mein kami apne aaspass ke logo mein vishwas na ho apne aap mein vishwas aur aap aaspass ke log vishwas aapko lagta hai ki aapko koi galat toh dil kar raha hai aapse galat vyavhar kar raha hai aapko koi dara raha hai dhamka raha hai aur kisi se keh nahi paa rahe toh bhi aapko ghabarahat ho jaaye honi shuru ho jayegi jab aap kisi cheez ko andar hi andar kisi dar ko andar hi andar rakh rahe main kisi se share nahi kar paa raha rate mein hai dress mein hai toh bhi aapko bahut zyada badh sakti hai aur aapke upar kaam ka bojh zyada hai aap is kaam ko khatam nahi kar paa rahe hain aapko lagta hai ki main khatam kar bhi nahi paunga toh bhi kar sakti hai aur agar aap kisi se kuch kisi ko aap se kuch adhik saahas ki apekshaon par aap pura nahi utar paa rahe kuch uske apekshayen puri nahi kar paa raha hai toh bhi aapko ghabarahat ho sakti hai vyakti ke liye alag alag karan hote aur kai baar kai karan hote hain aur hum bahut chahkar bhi apne karyo ko khud nahi samajh paate parivar walon se state nahi kar paate share karne karna bhi chaho toh vaah bhi aapke jaisi hoti hai toh bhi aapko nahi samjha paate aise mein kaun sir ke paas jaakar ki aap iska samadhan acche se jud sakte hain na vaah aapki madad kar sakte hain aur iska sabse bada karan yah hai ki vaah aap ko samjhne mein objectively samjhne mein samjhane mein aapke bahut madad kar sakte hain kyonki vaah aapki har situation ko objectively chadhi kar sakte hain jo ki aap nahi kar sakte aap ke pariwarik sadasya nahi kar sakte aapke maa baap bilkul update kyon nahi ho sakte hain aapke friend ke bhai behen aapke shubhchintak di dil nahi kar sakte keval counselor hi aata hai aapko alag se aapki samasyaon ko alag se aapke man ko aap ke rujhan ko aapke sanshay ko aapke nirasha ko ashaon ko aapki apekshaon ko dusro ki apekshaon ko pad sakta hai padha sakta hai aapko samjha sakta hai uske bare mein awaidh kar sakta hai aur isliye aapko aapke liye ek acche margadarshak ka kaam kar sakta hai toh nishchint hokar aap counselor ke paas chahiye toh aap inasaiti ghabarahat ko kam karne mein bahut madad karenge aap kaun sir ke paas jaane se DD karan chahen paani gire chahen baje ke aaspass koi ya kisi bhi anya wajah se aap kaun clock ko nahi dhundh paate ya unko unke paas ja sakte hain toh phir kuch asthai taur se toh aap kar hi sakte hain jab bhi ghabarahat ho toh aapko lambe lambe lambe insaan ko dekhe kahaan se aa rahe hain kahaan ja rahe hain aur usi ke usi ki taraf dhyan rakhiye swasa nak se mitron se gujare kidhar ja raha pet ki taraf niche ki taraf phephadon ki taraf kidhar ja raha hai aur phir wahan se uthakar dhire dhire aapke aapke kyonki uska apne swaasth ka aavagaman anjaana dekhe toh aapka jo ghabarahat ki situation hai uska dhyan uske taraf se dhyan hut jaega kore aap shanti mehsus karenge jisse aapko ghabarahat kam ho jayegi big business thodi thodi der ke liye 5 minute ke liye 10 minute ke liye aap aankhen band karke apne dost ke beech mein apna dhyan kendrit karke band karke baithe aur lambe gehre swati ji sir aapko zaroor shanti milegi ghabarahat zaroor dur hogi aur aapko kuch galat aaya hai pet mein gas ban rahi hai uski wajah se ghabarahat ho sakte hain toh aise mein dekhe kya aapne agar aapke gas ban rahi hai toh gas ka ilaj ko check karke dekhen aur nahi toh manochikitsak ke paas jaiye

आपका क्वेश्चन है कि इनसाइटी और घबराहट को किस प्रकार से कंट्रोल करें वेरी इंपोर्टेंट क्वेश्

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user

Honey Adina

Psychologist

2:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एंजाइटी घबराहट को रोकने का या कंट्रोल करने का तरीका वह आपके हाथ में खुद के हाथ में भी होता है आप खुद की जिम्मेदारी जब लेने लगेंगे जब आप दूसरों को ब्लेम करना शिकायत करना दूसरों के ऊपर इल्जाम लगाना मतलब हर चीज का कारण दूसरा होता है इन सब चीजों से ब्लेम करने की चीजों को स्टॉप जब करोगे और जब एक गोल एक मकसद अपने लिए सेट करो गोल सेट करो कि मेरा गोल क्या है खुद का गोल सेट कीजिए और अपने लिए एक पॉजिटिव एटीट्यूड रख लीजिए अपने लिए पॉजिटिव पॉजिटिव में आएंगे वह बहुत अच्छी चीज होती है बेटी को कंट्रोल करना खुद पे विश्वास कीजिए और म्यूट कीजिए अच्छे कीजिए योगा कीजिए और अच्छे से आपको बहुत मदद करेगा एंजाइटी को कंट्रोल रखने जवाब देश में करें खुद को आप अपने दूसरे हाथ से पकड़ी है एक हाथ को दूसरे हाथ अब जहां पर आप कम पर एक सिंगर या कोई एक हाथ या अपना कोई भी बाजू यश ओल्ड खुद का पकड़ कस के पकड़ ली जाए ऐसा कीजिए कि हां जैसे कोई छोटा बच्चा घबराया हुआ खड़ा है तो आप उसके हाथ पकड़ कर बताएंगे कि हां मैं तुम्हारे साथ हूं घबराने की जरूरत नहीं है एसएससी हम क्यों देते क्योंकि हम उनको प्रोटेक्ट करने की 161 क्यों सील करने की हम उनको फुल कोशिश करते हैं तो वही सेम चीज वह आप खुद के साथ भी कर सकते आप खुद के हाथ को पकड़ी आपको जहां कंफर्टेबल प्लीज पगड़ी कस के पकड़ ले तो उस वक्त आप सपोर्ट में उसी वक्त आपके इनसाइटी कंट्रोल होते हुए आप ही करोगे और फिर भी नहीं हो पाया पानी पीजिए हरीश एक साथ लेकर छोड़ी है काफी कंट्रोल सेल करोगे आप इन फाइटिंग

anxiety ghabarahat ko rokne ka ya control karne ka tarika vaah aapke hath mein khud ke hath mein bhi hota hai aap khud ki jimmedari jab lene lagenge jab aap dusro ko blame karna shikayat karna dusro ke upar illajam lagana matlab har cheez ka karan doosra hota hai in sab chijon se blame karne ki chijon ko stop jab karoge aur jab ek gol ek maksad apne liye set karo gol set karo ki mera gol kya hai khud ka gol set kijiye aur apne liye ek positive attitude rakh lijiye apne liye positive positive mein aayenge vaah bahut achi cheez hoti hai beti ko control karna khud pe vishwas kijiye aur mute kijiye acche kijiye yoga kijiye aur acche se aapko bahut madad karega anxiety ko control rakhne jawab desh mein kare khud ko aap apne dusre hath se pakadi hai ek hath ko dusre hath ab jaha par aap kam par ek singer ya koi ek hath ya apna koi bhi baju yash old khud ka pakad cas ke pakad li jaaye aisa kijiye ki haan jaise koi chota baccha ghabraya hua khada hai toh aap uske hath pakad kar batayenge ki haan main tumhare saath hoon ghabrane ki zarurat nahi hai ssc hum kyon dete kyonki hum unko protect karne ki 161 kyon seal karne ki hum unko full koshish karte hain toh wahi same cheez vaah aap khud ke saath bhi kar sakte aap khud ke hath ko pakadi aapko jaha Comfortable please pagadi cas ke pakad le toh us waqt aap support mein usi waqt aapke inasaiti control hote hue aap hi karoge aur phir bhi nahi ho paya paani PGA harish ek saath lekar chodi hai kaafi control cell karoge aap in fighting

एंजाइटी घबराहट को रोकने का या कंट्रोल करने का तरीका वह आपके हाथ में खुद के हाथ में भी होता

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user

Dr ARVIND BARAD

Psychiatrist

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी एंजाइटी में सिंपैथेटिक सूट होता है सिंपैथेटिक सूट होने की वजह से एक घबराहट होती है कैमरा क्या है कई बार शूटिंग भी होती है पल्पिटेशन हर दिल की धड़कन तेज होती है कई बार गले में ऐसे चौके की मदद से गला अवरोध हो रहा है कई बार पेरीस्टाल्टिक मूवमेंट बन जाती है मतलब पेट में कुल्लू थी कई बार पेट में गैस बनती है रिक्वायरिंग बढ़ जाती है और कई बार बार बार आने की प्यास लगती है यह सब लक्षण होते हैं और कई बार ऐसा डर लगता है कि कहीं में पागल तो नहीं हो जाऊंगा के नियंत्रण टोनी को बैठूंगा यह सब एंजाइटी के लक्षण होते हैं अब बेसिकली क्योंकि मैंने बताया कि एंजाइटी में सिंपल सूट को कम करने के लिए बेस्ट तरीका है कि इंटेंसिटी ट्रक प्ले अगर दवाई नहीं ले सकते तो नियमित रूप से एक्सरसाइज करें एक्सरसाइज करने से बिट एंड और फिर डिलीट होता है तूने रूम ट्रांसमीटर्स की गति को नियंत्रित करता है और हमारा सपोर्ट काम डाउन होता है और हमारे जल्दी कम होती है नंबर एक नंबर दो मेडिटेशन करें मेडिटेशन से चुकी अल्फा वेब का संचरण होता है कौन सी कौन सी सीमेंट का बैलेंस होता है उससे स्टेप डाउन होता है एनजीटी कम होती है एक्सरसाइज करें योगा करें मेडिटेशन करें नियमित रूप से अपने एटीट्यूड और संतुलित डाइट लें जिसमें कार्बोहाइड्रेट कम हो और वेजिटेबल्स वगैरह ही ज्यादा हो तो हम इस एंकर कि को कम कर सकते हैं थैंक यू

vicky anxiety mein simpaithetik suit hota hai simpaithetik suit hone ki wajah se ek ghabarahat hoti hai camera kya hai kai baar shooting bhi hoti hai palpiteshan har dil ki dhadkan tez hoti hai kai baar gale mein aise choake ki madad se gala avarodh ho raha hai kai baar peristaltik movement ban jaati hai matlab pet mein kullu thi kai baar pet mein gas banti hai requiring badh jaati hai aur kai baar baar baar aane ki pyaas lagti hai yah sab lakshan hote hai aur kai baar aisa dar lagta hai ki kahin mein Pagal toh nahi ho jaunga ke niyantran toni ko baithunga yah sab anxiety ke lakshan hote hai ab basically kyonki maine bataya ki anxiety mein simple suit ko kam karne ke liye best tarika hai ki intention truck play agar dawai nahi le sakte toh niyamit roop se exercise kare exercise karne se bit and aur phir delete hota hai tune room transamitars ki gati ko niyantrit karta hai aur hamara support kaam down hota hai aur hamare jaldi kam hoti hai number ek number do meditation kare meditation se chuki alpha web ka sancharan hota hai kaun si kaun si cement ka balance hota hai usse step down hota hai NGT kam hoti hai exercise kare yoga kare meditation kare niyamit roop se apne attitude aur santulit diet le jisme carbohydrate kam ho aur vegetables vagera hi zyada ho toh hum is anchor ki ko kam kar sakte hai thank you

विकी एंजाइटी में सिंपैथेटिक सूट होता है सिंपैथेटिक सूट होने की वजह से एक घबराहट होती है कै

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  469
WhatsApp_icon
user

Dr Vikas Khanna

Founder, Orange Pines

3:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एंजाइटी को कंट्रोल कैसे करें कंट्रोल एक बहुत वैलेंटाइन है कौन किसको कंट्रोल कर रहा है जानना बहुत जरूरी है राइटिंग शेर है भाई हैं भविष्य में हमेशा भविष्य में एक काल्पनिक दर पे तुम्हारे थोड़ी सी है किसी तरह का भी हो सकता है हेल्थ से रिलेटेड फाइनेंस रिलेटेड पर यह जानना बहुत जरूरी है कि उसकी आगे कहीं आगे भविष्य में और जब हम जानू नी तौर पर और जुनूनी तौर पर फंसे रहते हैं लड़ते रहते हैं किसी भी तरह की नेगेटिव वोट कम से बचने के लिए इधर-उधर दौड़ते रहते हैं और वह नेगेटिव आउटकम विचारों ने ही उत्पन्न किया यह लड़ाई खुद से स्टार्ट की की गई खुद के मस्तिष्क से ही स्टार्ट होती है और 17 उम्र तब होगी जब यह कहीं ना कहीं रिलाइजेशन आएगा कि काल्पनिक है अपने-अपने दलों को अपने फर्ज को अपने एंड से स्टार्ट को लिखे और फिर एक टाइम मत देखिए पढ़ने उनकी स्टूपिडिटी कहीं ना कहीं महसूस होगी और अंत में क्या आप कोई भी नेगेटिव वोट कम बचा सकते हैं क्या एक ही चीज यूज कर सकते हैं कि सरस्वती आपके अनुकूल ही चीज हो सच बोलना क्या सर किसी की जिंदगी में भी पॉसिबल है चाहे कंट्रोल अब छोड़ सकते हैं जैसे-जैसे आप इस कंट्रोल को छोड़ते में शिक्षा केंद्र आईटी बेहतर हो जाते हैं

anxiety ko control kaise kare control ek bahut valentine hai kaun kisko control kar raha hai janana bahut zaroori hai writing sher hai bhai hai bhavishya mein hamesha bhavishya mein ek kalpnik dar pe tumhare thodi si hai kisi tarah ka bhi ho sakta hai health se related finance related par yah janana bahut zaroori hai ki uski aage kahin aage bhavishya mein aur jab hum janu ni taur par aur junooni taur par fanse rehte hai ladte rehte hai kisi bhi tarah ki Negative vote kam se bachne ke liye idhar udhar daudte rehte hai aur vaah Negative autakam vicharon ne hi utpann kiya yah ladai khud se start ki ki gayi khud ke mastishk se hi start hoti hai aur 17 umr tab hogi jab yah kahin na kahin realisation aayega ki kalpnik hai apne apne dalon ko apne farz ko apne and se start ko likhe aur phir ek time mat dekhiye padhne unki stupiditi kahin na kahin mehsus hogi aur ant mein kya aap koi bhi Negative vote kam bacha sakte hai kya ek hi cheez use kar sakte hai ki saraswati aapke anukul hi cheez ho sach bolna kya sir kisi ki zindagi mein bhi possible hai chahen control ab chod sakte hai jaise jaise aap is control ko chodte mein shiksha kendra it behtar ho jaate hain

एंजाइटी को कंट्रोल कैसे करें कंट्रोल एक बहुत वैलेंटाइन है कौन किसको कंट्रोल कर रहा है जानन

Romanized Version
Likes  110  Dislikes    views  1374
WhatsApp_icon
user

Anuj Yadav

Clinical Psychologist & Clinical Hypnotherapist

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन है एंग्जायटी घबराहट को किस प्रकार से अपने आप को कंट्रोल करें और घबराहट लगभग दोनों ही तरह के मीनिंग आते हैं किसी भी चीज की बात करता है उस इक्वेशन में खुद को कंफर्टेबल महसूस नहीं करते हैं तो जो भी असिस्टेंट हो जहां पर हम खुद को कंफर्टेबल नहीं महसूस करते हैं यह हमारी जिम्मेदारी है जैसे छोटे-छोटे कदमों के साथ खुद को हर एक क्वेश्चन में कंफर्टेबल महसूस कराएं चाहे उसके लिए प्रैक्टिस कर सकते हैं चाहे हम उसके लिए कई बार उन्हें धीरे धीरे कर सकते हैं और किसी को सोच लेती है लोगों से मिलने में घबराहट होती है पंजाब में कितने T20 इंतजार से कहा जाता है यानी कि आप धीरे-धीरे एक-एक कदम उठाकर अपनी एंजाइटी जिसकी तरफ आपकी होगी एंजाइटी अगर खुद जवाब क्यू

question hai anxiety ghabarahat ko kis prakar se apne aap ko control kare aur ghabarahat lagbhag dono hi tarah ke meaning aate hain kisi bhi cheez ki baat karta hai us equation mein khud ko Comfortable mehsus nahi karte hain toh jo bhi assistant ho jaha par hum khud ko Comfortable nahi mehsus karte hain yah hamari jimmedari hai jaise chhote chhote kadmon ke saath khud ko har ek question mein Comfortable mehsus karaye chahen uske liye practice kar sakte hain chahen hum uske liye kai baar unhe dhire dhire kar sakte hain aur kisi ko soch leti hai logo se milne mein ghabarahat hoti hai punjab mein kitne T20 intejar se kaha jata hai yani ki aap dhire dhire ek ek kadam uthaakar apni anxiety jiski taraf aapki hogi anxiety agar khud jawab kyun

क्वेश्चन है एंग्जायटी घबराहट को किस प्रकार से अपने आप को कंट्रोल करें और घबराहट लगभग दोनों

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user

Dr.Monika Jhamb

Counselling Psychologist

3:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एंग्जायटी व्यवस्था है अत्यधिक घबराहट के कारण हमारी दिल की धड़कन है बहुत बढ़ जाते हैं पेट में ऐंठन होने लगती है कई बार उल्टी का भी मन करने लगता है शरीर एकदम नाम हो जाता है और घबराहट का स्तर इतना अधिक होता है उठाने का टाइम जैसा पीली करने लगता है तो फिर यह अवस्था हमारे साथ हो रही है तो सबसे पहले यकीन मानिए हमें पहचानने की जरूरत है हम खुद को यह बात कहें कि हां मुझे अभी एंजाइटी हो रही है पर्यटन प्रहरी फेस है यह चला जाएगा खुद को पहले संभाले डीप ब्रीथिंग करें हमें नहीं करें और एक जेल करते टाइम किसी मुस्कुराहट चेहरे पर लाइन नकली ही स्माइल अगर अपने चेहरे पर ला रहे होते हैं तो थोड़ी देर बाद हमारा ब्रेन स्वता ही शांत होने लगता है तो मैं दी ब्रीडिंग करनी है हम जहां भी जिस पीओ का स्थान है वहां पर हम शांति से बैठ जाएं अपने पैरों को अच्छे से जमीन पर रखें और आराम से पहले भी ब्लीडिंग करेंगे इन हेल्थ ओर नॉट इन इंग्लिश कुमावत और एग्जिट करते थे हमें हल्की सी स्माइल चेहरे पर लानी है चाहे वह फेक ही स्माइल चुनाव उसके बाद अपने चारों तरफ देखे अगर हम किसी कमरे में है तो हम मान नोटिस करें कि वहां कोई भी पांच चीजें हम देखने की कोशिश करेंगे इस तकनीक को ग्राउंडिंग देखनी बोलते हैं जिसमें पांच चीजें हम ध्यान देते हैं जिन जो हमें दिखाई दे रही होती मान लीजिए विंडो परदे और दीवार फैन कोई भी दे हम देखने की कोशिश करेंगे क्योंकि यह हमारा ध्यान इन राइटिंग से भटकाने में मदद करता है चार चीजें हमें देखनी है जिन्हें हम छू सकते हैं हम फ्री करें कोई भी चार चीजें वहां पर कुछ भी छुपी कुछ रखा वन पर्दे को छू के देख सकते हैं लकड़ी के दरवाजे को छू के देख सकते हैं लेदर के सोफा को कुछ भी कोई भी चाची ने तीन चीज है जो हमारे कानों को सुनाई दे रहे हो वहां शांति से खड़े हो जाएं फिर देखें कि क्या वादे हमारे कान में सुनाई दे रही है दो चीजें हमें स्मैल करके देखनी है सुमन के देखनी है मां कमरे में कोई भी ऐसी दो चीजें खुदा अपने ही अगर कोई न्यूज़ हमसे सुन सकते हैं और कोई अन्य चीज जो खुशबूदार है हम उसे सुनने की कोशिश करें अगर नहीं तो हम आस पास थोड़ा सब घूम ले और देखी थी क्या दो चीज है हमें सुनाई दे रही है एक चीज जो हमें टेस्ट करके देखनी है टेस्ट करने के लिए आप कुछ भी तेज करके देख सकते हैं घर में कोई भी चीज अगर है या अगर आप ऑफिस में है कहीं भी मैं तो कहूंगी कि डाक चॉकलेट अगर आपको इनसाइटी की परेशानी है डार्क चॉकलेट मेहंदी रखने चाहिए क्योंकि डॉक्टर प्लेट मॉडल आंसर है अगर आप उस टाइम एक युवक ने जापान पर रख लेंगे उसको टच करेंगे अपने आप धीरे-धीरे इस ग्राउंडिंग तकनीक के जरिए वह इनसाइटी कम हो जाएगी और हां हम यह ध्यान रखें कि जब भी भी इन राइटिंग राइट योजना में हो रही है तुम पादते हो तो मैसेज करें कि हां मैं मेरी लाइफ का खुद ही इंचार्ज हूं मुझे भी परेशानी हो रही है बेटी चली जाएगी मैं उस को कंट्रोल कर सकता हूं मैं बहुत सॉन्ग हूं और इसको मैं हैंडल करने में सक्षम हूं और कुछ अच्छी आदतें अपनी लाइफ मैं लेकर आए जैसे हमें एक्सरसाइज करें हमें डिक्टेट करें हम खाने वह वाला खाना खाएं जो बाकी शरीर को लग रहा है सिर्फ जबान के स्वाद वाला खाना और वैसे हम सभी आते हैं बट कुछ ऐसा खाना भी खाए जो होल विच फूड हो कुछ ऐसी चीज है हम खाएं ओट्स बनाना स्ट्रौबरी दही पाइनएप्पल यह सारी चीजें anti-anxiety फूड है अगर इन्हें हम अपनी डाइट में शुमार कर लेंगे तो जाहिर सी बात है और कुछ साथ में मेडिटेशन थोड़ा अच्छा सा म्यूजिक अलार्म सुनेंगे तो जाहिर सी बात है कि एंग्जायटी खुद-ब-खुद आपसे कोसों दूर चली जाएगी धन्यवाद

anxiety vyavastha hai atyadhik ghabarahat ke karan hamari dil ki dhadkan hai bahut badh jaate hain pet mein ainthan hone lagti hai kai baar ulti ka bhi man karne lagta hai sharir ekdam naam ho jata hai aur ghabarahat ka sthar itna adhik hota hai uthane ka time jaisa pili karne lagta hai toh phir yah avastha hamare saath ho rahi hai toh sabse pehle yakin maniye hamein pahachanne ki zarurat hai hum khud ko yah baat kahein ki haan mujhe abhi anxiety ho rahi hai paryatan prahri face hai yah chala jaega khud ko pehle sambhale deep breathing kare hamein nahi kare aur ek jail karte time kisi muskurahat chehre par line nakli hi smile agar apne chehre par la rahe hote hain toh thodi der baad hamara brain swata hi shaant hone lagta hai toh main di Breeding karni hai hum jaha bhi jis po ka sthan hai wahan par hum shanti se baith jaye apne pairon ko acche se jameen par rakhen aur aaram se pehle bhi bleeding karenge in health aur not in english kumawat aur exit karte the hamein halki si smile chehre par lani hai chahen vaah fake hi smile chunav uske baad apne charo taraf dekhe agar hum kisi kamre mein hai toh hum maan notice kare ki wahan koi bhi paanch cheezen hum dekhne ki koshish karenge is taknik ko Grounding dekhni bolte hain jisme paanch cheezen hum dhyan dete hain jin jo hamein dikhai de rahi hoti maan lijiye window parde aur deewaar fan koi bhi de hum dekhne ki koshish karenge kyonki yah hamara dhyan in writing se bhatkane mein madad karta hai char cheezen hamein dekhni hai jinhen hum chu sakte hain hum free kare koi bhi char cheezen wahan par kuch bhi chhupee kuch rakha van parde ko chu ke dekh sakte hain lakdi ke darwaze ko chu ke dekh sakte hain leather ke Sofa ko kuch bhi koi bhi chachi ne teen cheez hai jo hamare kanon ko sunayi de rahe ho wahan shanti se khade ho jaye phir dekhen ki kya waade hamare kaan mein sunayi de rahi hai do cheezen hamein smail karke dekhni hai suman ke dekhni hai maa kamre mein koi bhi aisi do cheezen khuda apne hi agar koi news humse sun sakte hain aur koi anya cheez jo khushboodaar hai hum use sunne ki koshish kare agar nahi toh hum aas paas thoda sab ghum le aur dekhi thi kya do cheez hai hamein sunayi de rahi hai ek cheez jo hamein test karke dekhni hai test karne ke liye aap kuch bhi tez karke dekh sakte hain ghar mein koi bhi cheez agar hai ya agar aap office mein hai kahin bhi main toh kahungi ki dak chocolate agar aapko inasaiti ki pareshani hai dark chocolate mehendi rakhne chahiye kyonki doctor plate model answer hai agar aap us time ek yuvak ne japan par rakh lenge usko touch karenge apne aap dhire dhire is Grounding taknik ke jariye vaah inasaiti kam ho jayegi aur haan hum yah dhyan rakhen ki jab bhi bhi in writing right yojana mein ho rahi hai tum padte ho toh massage kare ki haan main meri life ka khud hi incharge hoon mujhe bhi pareshani ho rahi hai beti chali jayegi main us ko control kar sakta hoon main bahut song hoon aur isko main handle karne mein saksham hoon aur kuch achi aadatein apni life main lekar aaye jaise hamein exercise kare hamein dictate kare hum khane vaah vala khana khayen jo baki sharir ko lag raha hai sirf jaban ke swaad vala khana aur waise hum sabhi aate hain but kuch aisa khana bhi khaye jo hole which food ho kuch aisi cheez hai hum khayen oats banana straubari dahi pineapple yah saree cheezen anti anxiety food hai agar inhen hum apni diet mein shumaar kar lenge toh jaahir si baat hai aur kuch saath mein meditation thoda accha sa music alarm sunenge toh jaahir si baat hai ki anxiety khud bsp khud aapse koson dur chali jayegi dhanyavad

एंग्जायटी व्यवस्था है अत्यधिक घबराहट के कारण हमारी दिल की धड़कन है बहुत बढ़ जाते हैं पेट म

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!