भारत में दहेज प्रथा की ज्वलंत समस्या समाप्त होगी या नहीं?...


play
user

Sandeep Sharma

Independent Social Worker, Politician

0:32

Likes  10  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rajesh Kumar

Worker at Bahujan Mukti Party

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीजे समाप्त हो जाए लड़का लड़की वाले लड़की की शादी मैंने कुछ नहीं लिया बिल्कुल क्लियर मना कर दिया उसकी लड़की चाहिए और वह मुझे नहीं देना है खत्म हो सकती है

DJ samapt ho jaaye ladka ladki waale ladki ki shadi maine kuch nahi liya bilkul clear mana kar diya uski ladki chahiye aur vaah mujhe nahi dena hai khatam ho sakti hai

डीजे समाप्त हो जाए लड़का लड़की वाले लड़की की शादी मैंने कुछ नहीं लिया बिल्कुल क्लियर मना क

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

Ashish Singh

Co-Founder

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंटर रिलेटेड क्वेश्चन में एक मां अपने बेटे का दहेज लेना बंद कर देना बंद कर देना बंद कर देगी तो उसने अपनी बेटी के लिए दहेज दहेज नहीं अपने परिवार मेरी बेटी की शादी हो रही है जब मैं जब नहीं दे रही हो यह गलत नहीं करना चाहिए जो सामने वाले के चोली काम करें आने वाले समय में होती है

inter related question mein ek maa apne bete ka dahej lena band kar dena band kar dena band kar degi toh usne apni beti ke liye dahej dahej nahi apne parivar meri beti ki shadi ho rahi hai jab main jab nahi de rahi ho yeh galat nahi karna chahiye jo saamne wale ke choli kaam karein aane wale samay mein hoti hai

इंटर रिलेटेड क्वेश्चन में एक मां अपने बेटे का दहेज लेना बंद कर देना बंद कर देना बंद कर देग

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  382
WhatsApp_icon
user

Tilak Singh

Sch.Topper,Parnassian & Author

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि यदि मुझे लगता है कि भारत में दहेज प्रथा समाप्त होगी तो वह अपने माइंड से हुए मतलब कि ना हम तो हैं और ना ही दहेज में क्या होता है कि बहुत सारे लोगों की बात करो मेरी बेटी की शादी है जितना पैसा दे सकता हूं मैं दूंगा यार मुझे खुद ही तो है वह देते हैं वह इसी काम में लेते हैं और जब उनकी बात आती है तो वह भी कहते हैं यदि कोई गरीब है तो उसके पास पैसे नहीं है तो भाई भाई कैसे दिया पानी की समझना चाहिए और ना दहेज लो और ना ही दो

ki yadi mujhe lagta hai ki bharat mein dahej pratha samapt hogi toh vaah apne mind se hue matlab ki na hum toh hain aur na hi dahej mein kya hota hai ki bahut saare logo ki baat karo meri beti ki shadi hai jitna paisa de sakta hoon main dunga yaar mujhe khud hi toh hai vaah dete hain vaah isi kaam mein lete hain aur jab unki baat aati hai toh vaah bhi kehte hain yadi koi garib hai toh uske paas paise nahi hai toh bhai bhai kaise diya paani ki samajhna chahiye aur na dahej lo aur na hi do

कि यदि मुझे लगता है कि भारत में दहेज प्रथा समाप्त होगी तो वह अपने माइंड से हुए मतलब कि ना

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user

Rohit singh

I can do it....@212@

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत में दहेज प्रथा यह प्रथा बिल्कुल ठीक नहीं है और यह समाप्त होनी चाहिए और इस समाप्त होगी या नहीं होगी यह डिपेंड करता है आप सभी पर समाज के लोगों की थिंकिंग पर कि वह क्या सोचते हैं कि यह प्रथा खत्म होनी चाहिए नहीं होनी चाहिए क्योंकि हर किसी भी विवाह समारोह विवाह का जो कार्यक्रम होता है उसमें दहेज प्रथा की मांग रहती है दहेज की मांग रही थी कि हम देश चाहते हैं या नहीं चाहते लेकिन आजकल शिक्षित समाज आजकल आजकल का वर्ग शिक्षित होता है होता जा रहा है मेरे हिसाब से तो हमें इस बात को ध्यान देना चाहिए कि दहेज प्रथा यह प्रथा ठीक नहीं है लेन-देन की प्रथा और मुझे तो यह ठीक नहीं लगती और जहां तक यह समाप्त होनी चाहिए और मुझे लगता है यह समाप्त होंगी और आजकल कुछ कुछ कुछ कुछ कुछ लोगों में इसके प्रति जागरुक बताइए जो पढ़ा लिखा करें जिससे युवा वर्ग में आ रहा है युवा वर्ग आगे बढ़ रहा है उनको इस चीज़ की नॉलेज हो रही है कि यह दहेज प्रथा ठीक नहीं है मुझे किसी चीज की जरूरत नहीं है हमें किसी के ऊपर डिपेंड नहीं हूं मैं जो भी है कुछ कर सकता हूं जो यह दहेज प्रथा एक अभिशाप मानते हैं फिर से जो एक पढ़ा-लिखा पर गए तो मेरे सबसे दहेज प्रथा खत्म होंगी अगर वह पॉलिटिक्स सोचेंगे तो पॉजिटिव होऊंगा आपको ऋतिक कुरीति के खिलाफ कुछ भी आवाज उठाते हैं तो कृति तो कुछ ना कुछ होता है उसका रिजल्ट निकलता है तो मेरी सबसे यह प्रथा समाप्त होगी और मैं भी सभी से आग्रह करना चाहूंगा कि दहेज प्रथा को जितना हो सके रोका जाए

dekhiye bharat mein dahej pratha yah pratha bilkul theek nahi hai aur yah samapt honi chahiye aur is samapt hogi ya nahi hogi yah depend karta hai aap sabhi par samaj ke logo ki thinking par ki vaah kya sochte hain ki yah pratha khatam honi chahiye nahi honi chahiye kyonki har kisi bhi vivah samaroh vivah ka jo karyakram hota hai usme dahej pratha ki maang rehti hai dahej ki maang rahi thi ki hum desh chahte hain ya nahi chahte lekin aajkal shikshit samaj aajkal aajkal ka varg shikshit hota hai hota ja raha hai mere hisab se toh hamein is baat ko dhyan dena chahiye ki dahej pratha yah pratha theek nahi hai len then ki pratha aur mujhe toh yah theek nahi lagti aur jaha tak yah samapt honi chahiye aur mujhe lagta hai yah samapt hongi aur aajkal kuch kuch kuch kuch kuch logo mein iske prati jagruk bataye jo padha likha kare jisse yuva varg mein aa raha hai yuva varg aage badh raha hai unko is cheez ki knowledge ho rahi hai ki yah dahej pratha theek nahi hai mujhe kisi cheez ki zarurat nahi hai hamein kisi ke upar depend nahi hoon main jo bhi hai kuch kar sakta hoon jo yah dahej pratha ek abhishap maante hain phir se jo ek padha likha par gaye toh mere sabse dahej pratha khatam hongi agar vaah politics sochenge toh positive hounga aapko ritik kuriti ke khilaf kuch bhi awaaz uthate hain toh kriti toh kuch na kuch hota hai uska result nikalta hai toh meri sabse yah pratha samapt hogi aur main bhi sabhi se agrah karna chahunga ki dahej pratha ko jitna ho sake roka jaaye

देखिए भारत में दहेज प्रथा यह प्रथा बिल्कुल ठीक नहीं है और यह समाप्त होनी चाहिए और इस समाप्

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत पर जो दहेज प्रथा है अगर आप इसे समाप्त करना चाहते हैं तो पहले हमें हमारे अंदर कि दहेज प्रथा को खत्म खत्म करना होगा क्योंकि हर 1 लोगों का एक मानसिक रूप से सोच बना होता है कि शादी होने के बाद अच्छे जॉब होने के बाद उन्हें देखना है शामिल होते हैं वही बाद में जाकर दहेज मांगते हैं तुम्हारी तरह में भारत को दहेज प्रथा से खत्म करना है दहेज प्रथा से मुक्त करना है और महिलाओं को नया जीवनदान देना कि शायरी ने यह भी होता है कि महिलाओं है अपनी जान को भी खो देते हैं मेरे साथ जो समाज को दिए की जगह खाली है बिल्कुल खत्म करने के लिए अपने सोच को बदलना होगा अपने परिवार को बदलना होगा की कल्पना का सट्टे की खबर दुनिया की

bharat par jo dahej pratha hai agar aap ise samapt karna chahte hain toh pehle hamein hamare andar ki dahej pratha ko khatam khatam karna hoga kyonki har 1 logo ka ek mansik roop se soch bana hota hai ki shadi hone ke baad acche job hone ke baad unhe dekhna hai shaamil hote hain wahi baad mein jaakar dahej mangate hain tumhari tarah mein bharat ko dahej pratha se khatam karna hai dahej pratha se mukt karna hai aur mahilaon ko naya jivanadan dena ki shaayari ne yah bhi hota hai ki mahilaon hai apni jaan ko bhi kho dete hain mere saath jo samaj ko diye ki jagah khaali hai bilkul khatam karne ke liye apne soch ko badalna hoga apne parivar ko badalna hoga ki kalpana ka satte ki khabar duniya ki

भारत पर जो दहेज प्रथा है अगर आप इसे समाप्त करना चाहते हैं तो पहले हमें हमारे अंदर कि दहेज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
dahej pratha par shayari ; dahej ek samasya ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!