हिंदी माध्यम के छात्र-छात्राएं UPSC में क्यों नहीं सफल हो रहे हैं?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा हिंदी माध्यम के छात्र-छात्राएं यूपी में क्यों नहीं सफल हो रहे हैं यह कहना गलत है जो परिश्रम करता है जो मीडियम के चक्कर में नहीं पड़ता जो तैयारी करता है जैसे सामने लक्ष होता है वह किसी भी मीडियम का विद्यार्थियों व निश्चित फल होता है यह अपनी कमजोरी को छुपाने का एक बहाना है हिंदी मीडियम के छात्र सफल नहीं होते हिंदी मीडियम के चाचा कर इंजीनियर बन सकते हैं डॉक्टर बन सकते हैं जज बन सकते हैं चार्टर्ड अकाउंटेंट बन सकते हैं फिर तो नहीं कर सकते माध्यम को चारा डेक्कन अपनी कमजोरी को छुपाने से कभी जिंदगी में सफलता नहीं मिलेगी हिंदी मीडियम में आपको कुछ कठिन शब्दों का कुछ कठिन प्रश्नों का सामना करना पड़ सकता है उसके लिए आप पुस्तकों का सहारा नहीं कोचिंग सेंटरों में भीड़ होती है वहां किसी भी मीडियम चाची सफल नहीं होता केवल वही विद्यार्थी सफल होता है जितने सफल होने की ठंड की है वह घर पर बैठेगा तो भी चलूंगा वह कोचिंग जाएगा तो भी चलूंगा तू भूमिका उसके अपने टाइम देने के लिए उसकी मेहनत करने के लिए आरोप लगाना बंद करें और स्वयं हिंदी मीडियम में पूरी तैयारी के साथ आप असफल साबित करें हिंदी मीडियम के विद्यार्थी सफल होते हैं

aapne kaha hindi madhyam ke chatra chatrae up mein kyon nahi safal ho rahe hain yah kehna galat hai jo parishram karta hai jo medium ke chakkar mein nahi padta jo taiyari karta hai jaise saamne lakshya hota hai vaah kisi bhi medium ka vidyarthiyon va nishchit fal hota hai yah apni kamzori ko chhupaane ka ek bahana hai hindi medium ke chatra safal nahi hote hindi medium ke chacha kar engineer ban sakte hain doctor ban sakte hain judge ban sakte hain chartered accountant ban sakte hain phir toh nahi kar sakte madhyam ko chara deccan apni kamzori ko chhupaane se kabhi zindagi mein safalta nahi milegi hindi medium mein aapko kuch kathin shabdon ka kuch kathin prashnon ka samana karna pad sakta hai uske liye aap pustakon ka sahara nahi coaching sentaron mein bheed hoti hai wahan kisi bhi medium chachi safal nahi hota keval wahi vidyarthi safal hota hai jitne safal hone ki thand ki hai vaah ghar par baithega toh bhi chalunga vaah coaching jaega toh bhi chalunga tu bhumika uske apne time dene ke liye uski mehnat karne ke liye aarop lagana band kare aur swayam hindi medium mein puri taiyari ke saath aap asafal saabit kare hindi medium ke vidyarthi safal hote hain

आपने कहा हिंदी माध्यम के छात्र-छात्राएं यूपी में क्यों नहीं सफल हो रहे हैं यह कहना गलत है

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  871
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!