हमारे देश में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम उठाना चाहिए?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:27
Play

Likes  131  Dislikes    views  3213
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

Likes  429  Dislikes    views  3378
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में लड़कियों के साथ पूरे परिवार की तलवार के लिए सरकार को क्या करना चाहिए जो लोगों के साथ दुराचार के हाथों के नाखून के ऊपर कार्रवाई करनी चाहिए कोलकाता बनानी चाहिए परिवारों में बच्चों को शिक्षा प्रदान करनी चाहिए एहसास कराना चाहिए कि लड़कियां जो लड़कियां नहीं होती है तुम्हारी बहन बेटियों वाली ना कुछ भी हो सकती है क्योंकि हर एक लड़की का किसी ना किसी परिवार से कोई रिश्ता होता है उन्हें समान भाव से देखना चाहिए लेकिन सरकार को इन सब चीजों से स्कूल की प्लानिंग करनी है तो जनता तकलीफ उठानी सरकार से देख रही है घोर अत्याचार लड़कियों के साथ हो रहा है जो बना नंदिनी है सरकार को इस पर निसंदेह कठोर कदम उठाना चाहिए

hamare desh me ladkiyon ke saath poore parivar ki talwar ke liye sarkar ko kya karna chahiye jo logo ke saath durachar ke hathon ke nakhun ke upar karyawahi karni chahiye kolkata banani chahiye parivaron me baccho ko shiksha pradan karni chahiye ehsaas krana chahiye ki ladkiya jo ladkiya nahi hoti hai tumhari behen betiyon wali na kuch bhi ho sakti hai kyonki har ek ladki ka kisi na kisi parivar se koi rishta hota hai unhe saman bhav se dekhna chahiye lekin sarkar ko in sab chijon se school ki planning karni hai toh janta takleef uthani sarkar se dekh rahi hai ghor atyachar ladkiyon ke saath ho raha hai jo bana nandini hai sarkar ko is par nisandeh kathor kadam uthana chahiye

हमारे देश में लड़कियों के साथ पूरे परिवार की तलवार के लिए सरकार को क्या करना चाहिए जो लोगो

Romanized Version
Likes  505  Dislikes    views  6872
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:26
Play

Likes  141  Dislikes    views  3246
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

7:23
Play

Likes  710  Dislikes    views  10142
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विज्ञापन हमारे देश में लड़कियों के साथ दुर्गा को रोकने उठा रही है नाबालिग लड़कियों के साथ यदि कोई दर्द जोहार करता है रेप करता है तो उसे पॉक्सो एक्ट में बुक किया जाता है और 10 बार 15 साल के लिए जेल की सजा हो जाती है उसको लड़कियों के साथ बलात्कार के मामलों में युवा लड़कियों के साथ बलात्कार के मामलों में कड़ी कानूनी प्रावधान है और फास्टट्रैक न्यायालयों को आदेश दिए गए हैं कि वह एक डेढ़ साल के अंदर पैसों का निपटारा कर दें दहेज वाले मामलों में जो लाइट स्त्री को प्रताड़ना दी जाती है तो 498a दहेज एक्ट सरकार ने लागू किया हुआ है हां इसमें थोड़ी सी और कढ़ाई बरतनी आवश्यक है तो मैं समझता हूं देश में लड़कियों के साथ जो अत्याचार हो रहे हैं सरकार के प्रयास से रोकने के लिए बिल्कुल ठीक है हां हमें समाज को नैतिक शिक्षा देनी चाहिए हमें समाज में जागरूकता उत्पन्न करनी चाहिए हमें समाज को यह मैसेज देना चाहिए कि लड़कियां भी लड़कों से बढ़कर हैं लड़कियां बच्चों को अपने लड़कों को बचपन से ही इस तरह की शिक्षा देने चाहिए कि हर दूसरी लड़की को अपनी बहन के समान समझ समझो इस प्रकार की शिक्षा में नैतिक शिक्षा क्यों समझेंगे तो हमारे देश में लड़कियों साथ दुर्व्यवहार नहीं होगा

vigyapan hamare desh me ladkiyon ke saath durga ko rokne utha rahi hai nabalik ladkiyon ke saath yadi koi dard johar karta hai rape karta hai toh use pakso act me book kiya jata hai aur 10 baar 15 saal ke liye jail ki saza ho jaati hai usko ladkiyon ke saath balatkar ke mamlon me yuva ladkiyon ke saath balatkar ke mamlon me kadi kanooni pravadhan hai aur fastatraik nyayalayon ko aadesh diye gaye hain ki vaah ek dedh saal ke andar paison ka niptara kar de dahej waale mamlon me jo light stree ko prataadana di jaati hai toh 498a dahej act sarkar ne laagu kiya hua hai haan isme thodi si aur kadhai bartani aavashyak hai toh main samajhata hoon desh me ladkiyon ke saath jo atyachar ho rahe hain sarkar ke prayas se rokne ke liye bilkul theek hai haan hamein samaj ko naitik shiksha deni chahiye hamein samaj me jagrukta utpann karni chahiye hamein samaj ko yah massage dena chahiye ki ladkiya bhi ladko se badhkar hain ladkiya baccho ko apne ladko ko bachpan se hi is tarah ki shiksha dene chahiye ki har dusri ladki ko apni behen ke saman samajh samjho is prakar ki shiksha me naitik shiksha kyon samjhenge toh hamare desh me ladkiyon saath durvyavahar nahi hoga

विज्ञापन हमारे देश में लड़कियों के साथ दुर्गा को रोकने उठा रही है नाबालिग लड़कियों के साथ

Romanized Version
Likes  355  Dislikes    views  3978
WhatsApp_icon
user

Isu Vasava

PASTOR in CHURCH.

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में जो हो रहा है उसके लिए सरकार तो मेरे ख्याल से कितने भी कर ले लेकिन सरकार कुछ नहीं कर सकते कुछ चीजें जो है ना वह गलत या लड़की लड़कियों के दो होती है क्या होता है लड़कियों को मालूम है यह प्यार व्यार के चक्कर में कुछ मिलता नहीं फिर भी वह लड़कों से ऐसे चक्कर में पढ़ते हैं और बाद में क्या होता है तो लड़के लोग उनके असली फोटो खींच लेते हैं और उनको ब्लैकमेल ब्लैकमेल करते हैं तो मेरी राय सभी लड़कियों से यही है कि आप ऐसे प्यार व्यार के चक्कर में पड़कर अपनी जिंदगी बर्बाद ना करें

hamare desh me jo ho raha hai uske liye sarkar toh mere khayal se kitne bhi kar le lekin sarkar kuch nahi kar sakte kuch cheezen jo hai na vaah galat ya ladki ladkiyon ke do hoti hai kya hota hai ladkiyon ko maloom hai yah pyar vyar ke chakkar me kuch milta nahi phir bhi vaah ladko se aise chakkar me padhte hain aur baad me kya hota hai toh ladke log unke asli photo khinch lete hain aur unko blackmail blackmail karte hain toh meri rai sabhi ladkiyon se yahi hai ki aap aise pyar vyar ke chakkar me padhkar apni zindagi barbad na kare

हमारे देश में जो हो रहा है उसके लिए सरकार तो मेरे ख्याल से कितने भी कर ले लेकिन सरकार कुछ

Romanized Version
Likes  179  Dislikes    views  1545
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे में लड़कियों के साथ हो रहा है दौरान सरकार समय-समय पर कदम उठाती है कठोर कानून बनाती है और रेप करने वाले रेपिस्ट को फांसी तक की सजा दी जाती है लेकिन इसके लिए लोगों को भी जागरूक होना होगा और लड़कियों को भी सतर्क रहना होगा क्योंकि समाज में कई खूनी दरिंदे और कोई प्रवृत्ति के लोग घूमते रहते हैं उनसे बचने के लिए हर किसी को सतर्क रहना जरूरी है कि हर जगह पुलिस और सरकार नहीं होती है

aise mein ladkiyon ke saath ho raha hai dauran sarkar samay samay par kadam uthaati hai kathor kanoon banati hai aur rape karne waale rapist ko fansi tak ki saza di jaati hai lekin iske liye logo ko bhi jagruk hona hoga aur ladkiyon ko bhi satark rehna hoga kyonki samaj mein kai khuni darinde aur koi pravritti ke log ghumte rehte hain unse bachne ke liye har kisi ko satark rehna zaroori hai ki har jagah police aur sarkar nahi hoti hai

ऐसे में लड़कियों के साथ हो रहा है दौरान सरकार समय-समय पर कदम उठाती है कठोर कानून बनाती है

Romanized Version
Likes  90  Dislikes    views  1813
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मार्केट में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम उठाना चाहिए सरकार को कदम समय-समय पर खातिर पुलिस भी एडवाइजरी जारी करती है पुलिस प्रशासन भी लोगों को संपर्क करता रहता है और इस तरह से लड़कियों को गए भाग जाना है तो मोबाइल में एक नंबर नंबर प्लेट की फोटो खींच कर अपने धर्म को भेज देना चाहिए पेट्रोल पुलिस प्रशासन बेताल सरकार कानून में प्रावधान कब तक की सजा का प्रावधान हो गया जो लगाया है वह नाबालिग कन्याओं के साथ होने वाले व्यक्ति के विरुद्ध इस प्रकार हमारे हमारे जितने भी यहां पूरे भारत के नागरिकों को जागरूक होना पड़ेगा जनजागृति लड़कियों के प्रति इस तरह की संवेदना बहुत ही सोचने लायक है और समाज में अलग-अलग देश में ऐसी वीडियो धंधे घूम रहा है उनको पहचानना भी बहुत मुश्किल होता है लेकिन हम अपनी बेटियों को अगर पंखी संभालने और सीधा कड़ी दी इस तरह से आपको नहीं जाना है लेकिन तब भी कभी-कभी दिवस जाना भी पहले के समय में लड़कियां घर की चौखट नहीं लगती थी आजकल लड़कियां नौकरी कर रही हैं कॉल सेंटर में भी काम कर रही हूं हॉस्पिटल में काम कर रही हैं ऑफिसों में काम कर रही हैं कई क्षेत्र में लड़कियां काम कर रही है और कौन सा आदमी कैसा है किसी को भी मालूम नहीं पड़ता इसलिए लड़कियों को भी आजकल जागरूक जरूर देना चाहिए धन्यवाद

market mein ladkiyon ke saath ho rahe durvyavahar ko rokne ke liye sarkar ko kya kadam uthna chahiye sarkar ko kadam samay samay par khatir police bhi advisory jaari karti hai police prashasan bhi logo ko sampark karta rehta hai aur is tarah se ladkiyon ko gaye bhag jana hai toh mobile mein ek number number plate ki photo khinch kar apne dharm ko bhej dena chahiye petrol police prashasan betal sarkar kanoon mein pravadhan kab tak ki saza ka pravadhan ho gaya jo lagaya hai vaah nabalik kanyaon ke saath hone waale vyakti ke viruddh is prakar hamare hamare jitne bhi yahan poore bharat ke nagriko ko jagruk hona padega janajagriti ladkiyon ke prati is tarah ki samvedana bahut hi sochne layak hai aur samaj mein alag alag desh mein aisi video dhande ghum raha hai unko pahachanana bhi bahut mushkil hota hai lekin hum apni betiyon ko agar pankhi sambhalne aur seedha kadi di is tarah se aapko nahi jana hai lekin tab bhi kabhi kabhi divas jana bhi pehle ke samay mein ladkiyan ghar ki chaukhat nahi lagti thi aajkal ladkiyan naukri kar rahi hai call center mein bhi kaam kar rahi hoon hospital mein kaam kar rahi hai afison mein kaam kar rahi hai kai kshetra mein ladkiyan kaam kar rahi hai aur kaun sa aadmi kaisa hai kisi ko bhi maloom nahi padta isliye ladkiyon ko bhi aajkal jagruk zaroor dena chahiye dhanyavad

मार्केट में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम उठाना चाह

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1135
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ताकत है हमारे देश में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम उठाने चाहिए तो यहां को बनाए जाएंगे लेकिन सरकार ने अपने 10 कदम भी उठा रखे हैं कानून भी बने में अब यहां पर समाज में जागरूकता लाने की जरूरत है समाज अगर संवेदनशील हो जाए जागरूक हो जाएं और वह महिलाओं के प्रति अपनी हिंसा का जो उन्होंने अपना रखा है तरीका इसको बंद किया जाए खत्म किया जाए और यह तभी पॉसिबल है जब मोरल एथिक्स वैल्यू हम आगे आने वाली जनरेशन को दें तभी यह चीजें पॉसिबल है क्योंकि आज की डेट में जो एजुकेशन सिस्टम है वह उससे बहुत ज्यादा आप का भौतिक संसाधनों का शोकेस हो गया है कि आप यह पढ़ाई कर लो इतने लाकर पैकेज मिल जाएगा यह कर लो इतने ला का पैकेज हो जाएगा हो जाएगा वैसा हो जाएगा इसके बाद तो आजकल कोई करता नहीं है आप पहले क्या होता था संयुक्त परिवार में बड़े बुजुर्गों से मिलते रहते थे आज के लिए इतना तो संस्कार होता ही नहीं है क्योंकि हस्बैंड वाइफ दोनों ही जॉब पर जाते हैं और संस्कार किस के मिलते हैं जो घर पर काम करने वाली आया आती है या जो मैं रखी होती है बेबी सीटर का क्योंकि उसके संस्कार बच्चों को मिलते हैं तो आज के लिए हालत हो गई हैं तो इसलिए मोरल वैल्यू एथिक्स ओपन अधिक काम करने की आवश्यकता है शुभकामना के साथ

takat hai hamare desh mein ladkiyon ke saath ho rahe durvyavahar ko rokne ke liye sarkar ko kya kadam uthane chahiye toh yahan ko banaye jaenge lekin sarkar ne apne 10 kadam bhi utha rakhe hain kanoon bhi bane mein ab yahan par samaj mein jagrukta lane ki zarurat hai samaj agar samvedansheel ho jaaye jagruk ho jayen aur vaah mahilaon ke prati apni hinsa ka jo unhone apna rakha hai tarika isko band kiya jaaye khatam kiya jaaye aur yah tabhi possible hai jab moral ethics value hum aage aane wali generation ko de tabhi yah cheezen possible hai kyonki aaj ki date mein jo education system hai vaah usse bahut zyada aap ka bhautik sansadhano ka showcase ho gaya hai ki aap yah padhai kar lo itne lakar package mil jaega yah kar lo itne la ka package ho jaega ho jaega waisa ho jaega iske baad toh aajkal koi karta nahi hai aap pehle kya hota tha sanyukt parivar mein bade bujurgon se milte rehte the aaj ke liye itna toh sanskar hota hi nahi hai kyonki husband wife dono hi job par jaate hain aur sanskar kis ke milte hain jo ghar par kaam karne wali aaya aati hai ya jo main rakhi hoti hai baby seater ka kyonki uske sanskar baccho ko milte hain toh aaj ke liye halat ho gayi hain toh isliye moral value ethics open adhik kaam karne ki avashyakta hai shubhkamna ke saath

ताकत है हमारे देश में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम

Romanized Version
Likes  539  Dislikes    views  6734
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

8:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्बल को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम उठाना चाहिए देखिए जो लड़कियां हैं उनकी साथ में और वह वाह बालक भी हो चुकी है यदि वह अपने मनमाफिक का कोई संबंध है मनाना चाहती हैं या शादी व्यवहार करना चाहती हैं तो जो परिवार है समाज है उस पर अत्याचार करता है अथवा किसी लड़की ने अपनी सहमति पर कोर्ट मैरिज कर ली है तो परिवार और समाज दिक्कत करती हैं अथवा उस लड़की ने अपनी जात से के बाहर दूसरी जात से शादी और विवाह कर लिया तो परिवार और समाज उसको जीने नहीं देते हैं ऐसी परिस्थितियों में लड़कियों के साथ में जोर दुर्व्यवहार हो रहा है इसको रोकने के लिए यह दबी संविधान के कानून में प्रावधान है कि यदि इस प्रकार से कोई व्यक्ति लड़कियों के प्रति दरबार या आचरण करेगा उसके खिलाफ में उसमें न्यायालय में दंड का प्रावधान है लेकिन वास्तविकता यह है कि लड़कियां अपनी बात को न्यायालय का क्या अथवा पुलिस तक नहीं कह पाती हैं और उनको ऐसी अवस्था में उनके साथ में दुर्व्यवहार को रहा है परिवार भी व्यवहार कर रहा है और समाज भी दुर्व्यवहार कर रहा है यहां तभी स्थितियां देखी गई है परिवार अथवा समाज के लोगों ने उनकी हत्या भी कर दी हैं इन सब सारी परियों से बचने के लिए यह आवश्यक हो गया है परिवार को और समाज को इस संबंध में जागृत किया जाए और यह जागृत करने का आकार सामाजिक संस्थाएं बखूबी से निभा सकती हैं और वहां की सरकार भी इस संबंध में प्रचार प्रसार के माध्यम से यह बात कह सकती है कि किसी भी लड़की के साथ में दुर्व्यवहार नहीं किया जाए यदि कोई दुर्व्यवहार किया जाता है तो उसे उसको उसके विरुद्ध में प्रकरण कायम करके उसको दंडित कराने की कार्यवाही की जावेगी इस प्रकार से हिंदू लड़कियों का पर जो दुर्व्यवहार हो रहा है उसको रोका जा सकता है परिवार को इसके लिए इंतजार करना होगा समाज को इसके लिए सजग करना होगा समाज में जो सम्मानित व्यक्ति हुआ करते हैं जो समाज के हित में काम किया करते हैं वही भी इस क्षेत्र में जागरूक हो और अपनी बात को की लड़कियों के साथ में कोई दुर्व्यवहार नहीं करें इस प्रकार सेवा समाज समाज में जिसका सम्मान हो उस व्यक्ति को समाज में यह बात रखनी चाहिए और समाज सामाजिक क्षेत्रों में जो व्यक्ति जुड़े हुए हैं वह भी इस बात को देखें कि परिवार और समाज में किसी लड़की के साथ में किसी प्रकार का व्यवहार नहीं हो यदि कोई व्यक्ति दुर्व्यवहार को कर रहा है तो सामाजिक व्यक्ति को उसका विरोध करना चाहिए उसके ब्लॉक नंबर दो मैं पुलिस में को बताना चाहिए पुलिस फोर्स का परीक्षण करें यदि वह सही हो तो प्रकरण को पानी करके उसको न्यायालय में प्रस्तुत करें ताकि न्यायालय इस संबंध में उचित निर्णय ले सकें यह सिलसिला पूरे देश में कायम है कोई एक स्थान विशेष में ही लड़कियों के साथ में इस प्रकार का दुर्व्यवहार पूरे देश में लड़कियों के साथ में दुर्व्यवहार हो रहा है यही बात अन्य शिष्यों के लिए भी है उनको जो उचित विकास का अवसर मिलना चाहिए वह नहीं मिल पा रहा है उनकी जो आर्थिक स्थिति है वह भी कोई बहुत मजबूत नहीं है और सर्वप्रथम बात तो यह है कि उनके हितों को कहने वाला कोई भी वर्ग नहीं है और वह स्वयं में इतनी सक्षम नहीं है यदि उनके साथ में कोई दुर्व्यवहार होता है तो वह अपनी बात को उचित मंच पर रख सकें और जो भी घटनाएं परिवार समाज में हुआ करती है उसको दे करके वह इतनी लड़की जागरूक नहीं हुआ करती है कि वह उसके साथ में जो दुर्व्यवहार हो रहा है वहां जाकर के पुलिस अथवा न्यायालय में जाकर के शरण ने भी अपनी बात को कहीं और वहां जाकर के उसके विरुद्ध में जो उसके साथ दुर्व्यवहार कर रहा है तो उसके साथ में दुर्व्यवहार जो कर रहा है उसके विरुद्ध में कोई कमी करा सकें इस चित्र में बहुत ही कम लोग कम जागरूक लड़कियां हैं जो उनके साथ मधुर व्यवहार हो रहा है वह अपनी बात को पुलिस अथवा न्यायालय में कह पाती हैं इसके लिए लड़कियों को शिक्षित भी होना होगा और उन्हें यह भी ज्ञान भी होना है उनको यह जानकारी भी होना होगी इसके लिए उनके संरक्षण के लिए या कानून बने हुए हैं और उन कानूनों का वह सहारा ले सकती हैं घर परिवार समाज और देश में इस प्रकार का लड़कियों के साथ में कोई भी दुर्व्यवहार हो रहा हो तो वह कदापि स्कोर सहन नहीं करें उसका जमकर के प्रतिरोध करें भूत करें फिर भी यदि स्थिति काबू में नहीं होती है तो उचित मंच है पुलिस में जाकर की स्थिति बताएं और जो व्यक्ति उनके साथ में दुर्व्यवहार कर रहा है उसमें उस पर कमी करावे और कोठवादी में न्यायालय में अपना पक्ष प्रस्तुत करें और जो दरबार करने वाले व्यक्ति को दंडित कराने की कार्रवाई सुनिश्चित करें धन्यवाद

hamare desh mein ladkiyon ke saath ho rahe durbal ko rokne ke liye sarkar ko kya kadam uthana chahiye dekhiye jo ladkiyan hain unki saath mein aur vaah wah balak bhi ho chuki hai yadi vaah apne manamafik ka koi sambandh hai manana chahti hain ya shadi vyavhar karna chahti hain toh jo parivar hai samaj hai us par atyachar karta hai athva kisi ladki ne apni sahmati par court marriage kar li hai toh parivar aur samaj dikkat karti hain athva us ladki ne apni jaat se ke bahar dusri jaat se shadi aur vivah kar liya toh parivar aur samaj usko jeene nahi dete hain aisi paristhitiyon mein ladkiyon ke saath mein jor durvyavahar ho raha hai isko rokne ke liye yah dabi samvidhan ke kanoon mein pravadhan hai ki yadi is prakar se koi vyakti ladkiyon ke prati darbaar ya aacharan karega uske khilaf mein usme nyayalaya mein dand ka pravadhan hai lekin vastavikta yah hai ki ladkiyan apni baat ko nyayalaya ka kya athva police tak nahi keh pati hain aur unko aisi avastha mein unke saath mein durvyavahar ko raha hai parivar bhi vyavhar kar raha hai aur samaj bhi durvyavahar kar raha hai yahan tabhi sthitiyan dekhi gayi hai parivar athva samaj ke logo ne unki hatya bhi kar di hain in sab saree pariyon se bachne ke liye yah aavashyak ho gaya hai parivar ko aur samaj ko is sambandh mein jagrit kiya jaaye aur yah jagrit karne ka aakaar samajik sansthayen bakhubi se nibha sakti hain aur wahan ki sarkar bhi is sambandh mein prachar prasaar ke madhyam se yah baat keh sakti hai ki kisi bhi ladki ke saath mein durvyavahar nahi kiya jaaye yadi koi durvyavahar kiya jata hai toh use usko uske viruddh mein prakaran kayam karke usko dandit karane ki karyavahi ki javegi is prakar se hindu ladkiyon ka par jo durvyavahar ho raha hai usko roka ja sakta hai parivar ko iske liye intejar karna hoga samaj ko iske liye sajag karna hoga samaj mein jo sammanit vyakti hua karte hain jo samaj ke hit mein kaam kiya karte hain wahi bhi is kshetra mein jagruk ho aur apni baat ko ki ladkiyon ke saath mein koi durvyavahar nahi kare is prakar seva samaj samaaj mein jiska sammaan ho us vyakti ko samaj mein yah baat rakhni chahiye aur samaj samajik kshetro mein jo vyakti jude hue hain vaah bhi is baat ko dekhen ki parivar aur samaj mein kisi ladki ke saath mein kisi prakar ka vyavhar nahi ho yadi koi vyakti durvyavahar ko kar raha hai toh samajik vyakti ko uska virodh karna chahiye uske block number do main police mein ko bataana chahiye police force ka parikshan kare yadi vaah sahi ho toh prakaran ko paani karke usko nyayalaya mein prastut kare taki nyayalaya is sambandh mein uchit nirnay le sake yah silsila poore desh mein kayam hai koi ek sthan vishesh mein hi ladkiyon ke saath mein is prakar ka durvyavahar poore desh mein ladkiyon ke saath mein durvyavahar ho raha hai yahi baat anya shishyon ke liye bhi hai unko jo uchit vikas ka avsar milna chahiye vaah nahi mil paa raha hai unki jo aarthik sthiti hai vaah bhi koi bahut majboot nahi hai aur sarvapratham baat toh yah hai ki unke hiton ko kehne vala koi bhi varg nahi hai aur vaah swayam mein itni saksham nahi hai yadi unke saath mein koi durvyavahar hota hai toh vaah apni baat ko uchit manch par rakh sake aur jo bhi ghatnaye parivar samaj mein hua karti hai usko de karke vaah itni ladki jagruk nahi hua karti hai ki vaah uske saath mein jo durvyavahar ho raha hai wahan jaakar ke police athva nyayalaya mein jaakar ke sharan ne bhi apni baat ko kahin aur wahan jaakar ke uske viruddh mein jo uske saath durvyavahar kar raha hai toh uske saath mein durvyavahar jo kar raha hai uske viruddh mein koi kami kara sake is chitra mein bahut hi kam log kam jagruk ladkiyan hain jo unke saath madhur vyavhar ho raha hai vaah apni baat ko police athva nyayalaya mein keh pati hain iske liye ladkiyon ko shikshit bhi hona hoga aur unhe yah bhi gyaan bhi hona hai unko yah jaankari bhi hona hogi iske liye unke sanrakshan ke liye ya kanoon bane hue hain aur un kanuno ka vaah sahara le sakti hain ghar parivar samaj aur desh mein is prakar ka ladkiyon ke saath mein koi bhi durvyavahar ho raha ho toh vaah kadapi score sahan nahi kare uska jamakar ke pratirodh kare bhoot kare phir bhi yadi sthiti kabu mein nahi hoti hai toh uchit manch hai police mein jaakar ki sthiti bataye aur jo vyakti unke saath mein durvyavahar kar raha hai usme us par kami karave aur kothvadi mein nyayalaya mein apna paksh prastut kare aur jo darbaar karne waale vyakti ko dandit karane ki karyawahi sunishchit kare dhanyavad

हमारे देश में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्बल को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम उठाना चाहिए

Romanized Version
Likes  151  Dislikes    views  1191
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को सबसे पहले शिक्षक के सही मायने में सभी लोगों को अर्थ समझाने की आवश्यकता है कहने का मतलब वास्तविक शिक्षा के जरिए और जो हमारे देश में एक शिष्टाचार की कमी विद्यालय से ही देखी जा रही है तो उसके लिए कदम उठाने की जरूरत है लड़का निरंकुश विद्यालयों से होता जा रहा है जिसके कारण वह धीरे-धीरे ऐसे कार्यों में प्रवृत्त प्रवेश कर लेता है और एक दिन वह जघन्य अपराध जैसे कर बैठता है तो सबसे पहले शिक्षा ही एक ऐसी व्यवस्था है जिसके द्वारा इस व्यवहार को बदला जा सकता है उसकी मानसिकता बदली जा सकती है नंबर दो उसके पश्चात दूसरा कदम कठोर दंड भी इसके लिए बहुत बड़ा मायने रखता है सरकार द्वारा कठोर कठोर दंड की व्यवस्था होनी चाहिए साथ ही न्यायालय द्वारा जल्दी ऐसे अपराधी पर निर्णय किया जाना बहुत जरूरी है ऐसे मामले में सब्र की घड़ी बहुत छोटी होती है इसलिए न्यायालय को भी इस ओर ध्यान देने की जरूरत है धन्यवाद

hamare desh mein ladkiyon ke saath ho rahe durvyavahar ko rokne ke liye sarkar ko sabse pehle shikshak ke sahi maayne mein sabhi logo ko arth samjhane ki avashyakta hai kehne ka matlab vastavik shiksha ke jariye aur jo hamare desh mein ek shishtachar ki kami vidyalaya se hi dekhi ja rahi hai toh uske liye kadam uthane ki zarurat hai ladka nirankush vidhayalayo se hota ja raha hai jiske karan vaah dhire dhire aise karyo mein parvirt pravesh kar leta hai aur ek din vaah jaghanya apradh jaise kar baithta hai toh sabse pehle shiksha hi ek aisi vyavastha hai jiske dwara is vyavhar ko badla ja sakta hai uski mansikta badli ja sakti hai number do uske pashchat doosra kadam kathor dand bhi iske liye bahut bada maayne rakhta hai sarkar dwara kathor kathor dand ki vyavastha honi chahiye saath hi nyayalaya dwara jaldi aise apradhi par nirnay kiya jana bahut zaroori hai aise mamle mein sabra ki ghadi bahut choti hoti hai isliye nyayalaya ko bhi is aur dhyan dene ki zarurat hai dhanyavad

हमारे देश में लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को सबसे पहले शिक्षक

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  310
WhatsApp_icon
user

Ahana Bhardwaz

Life Coach | Author

2:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि हमारी भी हुई लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को क्या कदम उठाएं सरकार चाहे हजार कदम उठाने लेकिन यह दुनिया कहती हूं कब की थी लड़कियों के साथ जो दूर हो रहा है वह कम ही नहीं कभी कमीनों का सरकार एक है कानून व्यवस्था में और हर एक बिहारी अपनी 10000 पुलिस थाने पर घटिया वह अगर इंसान की बहन से निकल जाए ना तू ही शायद ऑटो में या लड़कियों के साथ जो दुर्व्यवहार हो रहे हैं वह रुकता है यहां पर अगर किसी लड़की के भाइयों के साथ कुछ गलत किया है उसके उसके पिता ने उसके साथ कुछ गलत किया तूने सब गलत हो तो कहेंगे कि जाता है और ऐसा कुछ करने से भाई भाई की बदनामी होगी तुम्हारी बदनामी होगी और बहुत वगैरह वगैरह जो भी कि आज तक निर्भया मडर केस आया तो बहुत तरीके से अगर उन लोगों को हॉस्पिटल ले जाना पड़ता और वह लोग बसने की अवस्था में होती कि घर में तो उनके माता-पिता कभी भी उन्हें हॉस्पिटल नहीं ले जाता किसी को पता ना चले कि मेरी बेटी क्या हुआ फिर कभी दुखी काफी नहीं उसमें उस लड़की की गलती नहीं होती या फिर उसके बाहर आने से उसकी बेज्जती नहीं आज तक आप खुद अपने आप ने सवाल किया है आप कोई ऐसी लड़की का रेप हो गया हूं आप खुद उससे शादी करने से इनकार कर दोगे जब तक हमारे समाज में हर एक इंसान की सोच नहीं बदलती सरकार चाहे लाख कदम उठा ले कोई कोई भी लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार करना बंद नहीं

aapka sawaal hai ki hamari bhi hui ladkiyon ke saath ho rahe durvyavahar ko rokne ke liye sarkar ko kya kadam uthaye sarkar chahen hazaar kadam uthane lekin yah duniya kehti hoon kab ki thi ladkiyon ke saath jo dur ho raha hai vaah kam hi nahi kabhi kaminon ka sarkar ek hai kanoon vyavastha mein aur har ek bihari apni 10000 police thane par ghatiya vaah agar insaan ki behen se nikal jaaye na tu hi shayad auto mein ya ladkiyon ke saath jo durvyavahar ho rahe hai vaah rukata hai yahan par agar kisi ladki ke bhaiyo ke saath kuch galat kiya hai uske uske pita ne uske saath kuch galat kiya tune sab galat ho toh kahenge ki jata hai aur aisa kuch karne se bhai bhai ki badnami hogi tumhari badnami hogi aur bahut vagera vagairah jo bhi ki aaj tak Nirbhaya madar case aaya toh bahut tarike se agar un logo ko hospital le jana padta aur vaah log basne ki avastha mein hoti ki ghar mein toh unke mata pita kabhi bhi unhe hospital nahi le jata kisi ko pata na chale ki meri beti kya hua phir kabhi dukhi kaafi nahi usme us ladki ki galti nahi hoti ya phir uske bahar aane se uski beijjati nahi aaj tak aap khud apne aap ne sawaal kiya hai aap koi aisi ladki ka rape ho gaya hoon aap khud usse shadi karne se inkar kar doge jab tak hamare samaj mein har ek insaan ki soch nahi badalti sarkar chahen lakh kadam utha le koi koi bhi ladkiyon ke saath durvyavahar karna band nahi

आपका सवाल है कि हमारी भी हुई लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार को रोकने के लिए सरकार को क

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुर्व्यवहार करने वाले को फांसी देनी चाहिए

durvyavahar karne waale ko fansi deni chahiye

दुर्व्यवहार करने वाले को फांसी देनी चाहिए

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!