हमारे जीवन में क्या अच्छा है?...


user

Shipra Ranjan

Life Coach

0:46
Play

Likes  652  Dislikes    views  5316
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:19
Play

Likes  59  Dislikes    views  1557
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

Likes  272  Dislikes    views  2248
WhatsApp_icon
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा जीवन ही अपने आप में बहुत अच्छा है यह जो ऊपर वाले ने हमें एक सुंदर शरीर दिया है इस संसार को देखने के लिए दृष्टि दी है हमें हाथ और पैर दिए हैं मस्तिष्क दिया है व्यक्ति अपनी बुद्धिमत्ता से इस जीवन का यापन कर सकता है यह सब अपने आप में बहुत खूबसूरत चीजें हैं इसके लिए हम ईश्वर का कृतज्ञ होना चाहिए

hamara jeevan hi apne aap mein bahut accha hai yah jo upar waale ne hamein ek sundar sharir diya hai is sansar ko dekhne ke liye drishti di hai hamein hath aur pair diye hain mastishk diya hai vyakti apni buddhimatta se is jeevan ka yaapan kar sakta hai yah sab apne aap mein bahut khoobsurat cheezen hain iske liye hum ishwar ka kritagya hona chahiye

हमारा जीवन ही अपने आप में बहुत अच्छा है यह जो ऊपर वाले ने हमें एक सुंदर शरीर दिया है इस सं

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  822
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप कब तक है कि हमारे जीवन में क्या अच्छा मगर आपसे प्रश्न करो कि आपके जीवन में खराब क्या है कुछ भी खराब नहीं है यह प्रकृति भी अच्छी है पुरुष भी अच्छा है यह लोग भी अच्छे हैं समाज भी अच्छा है देश भी अच्छी है अच्छा है यह धरती वसुंधरा भी बहुत पावर इन पवित्र है इस संसार में सब कुछ अच्छा ही अच्छा है पटक भी अच्छी है और पूछ भी अच्छी जितना भी अच्छी है पदार्थ भी अच्छे हैं खराब क्या है आपके जीवन में अच्छा देखने का नजरिया होना चाहिए आप जीवन में सब अच्छा अच्छा ही दिखेगा आपको ईश्वर ने एक जीवन दिया है चेतना युक्त आपको एक शरीर दिया जिसमें चेतना है जीवन में सबसे अच्छी चीज से ज्यादा महत्वपूर्ण के कुछ भी नहीं थैंक यू वेरी मच

aap kab tak hai ki hamare jeevan mein kya accha magar aapse prashna karo ki aapke jeevan mein kharab kya hai kuch bhi kharab nahi hai yah prakriti bhi achi hai purush bhi accha hai yah log bhi acche hain samaj bhi accha hai desh bhi achi hai accha hai yah dharti vasundhara bhi bahut power in pavitra hai is sansar mein sab kuch accha hi accha hai patak bhi achi hai aur puch bhi achi jitna bhi achi hai padarth bhi acche hain kharab kya hai aapke jeevan mein accha dekhne ka najariya hona chahiye aap jeevan mein sab accha accha hi dikhega aapko ishwar ne ek jeevan diya hai chetna yukt aapko ek sharir diya jisme chetna hai jeevan mein sabse achi cheez se zyada mahatvapurna ke kuch bhi nahi thank you very match

आप कब तक है कि हमारे जीवन में क्या अच्छा मगर आपसे प्रश्न करो कि आपके जीवन में खराब क्या है

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  586
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे जीवन में अच्छा क्या है मैं समझता हूं कि हमारे जीवन में अगर कोई चीज बहुत अच्छी या बहुत अच्छा है वह है खुद को इंसान के रूप में पहचानना और इंसान के रूप में दुनिया में व्यवहार करना एक बहुत छोटी सी बात है जब कोई आदमी पैदा होता है कोई बच्चा पैदा होता है अगर यह कहा जाए तो उसका परिवेश कैसा है उसके आसपास का वातावरण कैसा है वह किस प्रकार की शिक्षा और दीक्षा से पारंगत होकर धीरे-धीरे समाज में यूनिट के रूप में अपने को स्थापित करता है यह गलत बात दुनिया के हर समाज में चाय कैसी प्रतिकूल परिस्थितियां हूं वहां पर भी सर्व शिव कार सेक्सी पैदा हुई चाहे हिंदुस्तान हूं चीन हो अमेरिका हो फ्रांसो पाकिस्तान हो हर जगह चाहे जैसी भी प्रतिकूल परिस्थितियां हो अच्छे आदमी की वहां पर स्थापित हो गए और सिर्फ इस वजह से हुए हैं कि जीवन में एक अच्छे इंसान के रूप में शिक्षित हुए दीक्षित हुए और समभाव से लोगों से व्यवहार किया लोगों की तकलीफ जानी लोगों की तकलीफ से जुड़े रहें और एक दयालु हृदय के रूप में उन्होंने समाज के लोगों की सहायता करके सुख-दुख भागीदारी करके स्वयं को स्थापित किया दर्शन आदमी के आदमी होने इस समय क्यों दूसरे लोगों से मैंने दूसरे प्राणियों से मैंने बहुत सीधा सा प्रश्न तो सीधा साफ था कि हमें जो पांच नदियां हैं जो बोलने सोचने समझने करने की क्षमता है वह शायद दुनिया की किसी अन्य प्राणी में नहीं इसीलिए आदमी ने ज्ञान विज्ञान के माध्यम से शिक्षा के माध्यम से तर्कशक्ति के माध्यम से ऐसी ऐसी चीजों का आविष्कार किया जो या तो कभी उसके खेत में है समाज के हित में यह समाज को नष्ट करने वाली लेकिन ऐसा करके हम कई जगह समाज की सहायता करते हैं तो कई जगह समाज के लिए चुनौतियां पैदा करते हैं सरल जीवन यह है कि आदमी जिस पर यह समाज में रहे उसमें प्रेम हो दया हो सहिष्णुता हो करुणा हो एक दूसरे के प्रति अनुराग हो तो समाज में तनाव नहीं रहेगा लोग लालच यदि कहीं होता हो कोई अत्याचार होता हो तो समाज में भेज दो भी ज्ञान मिलेगा और आदिम सभ्यता से जो नुकीले पत्थरों और लाठियों को हमने जो खून सिखाया है चाहे वो किसी जानवर का हो या किसी वनमानुष का हो या किसी इंसान का हो उसकी प्यास बुझेगी नहीं और समाज में तनाव रहेगा तो जीवन में यदि अच्छा तलाशना है तो वह मानवीय गुणों से भरपूर में चाहिए किसी भी चीज पर हट करके उसको जस्टिफाइड करना हितकर नहीं है बल्कि अगर कहीं मत भिन्नता आती है तो सहमति और असहमति यों के बीच में हम एक दूसरे के प्रति परस्पर सम्मान और प्रेम के साथ जीवन के इस बहुमूल्य जीवन के अच्छे वक्त को आपस में मिलकर जिए मैं समझता हूं मेरी बात आप तक के स्पष्ट होगी

hamare jeevan mein accha kya hai samajhata hoon ki hamare jeevan mein agar koi cheez bahut achi ya bahut accha hai vaah hai khud ko insaan ke roop mein pahachanana aur insaan ke roop mein duniya mein vyavhar karna ek bahut choti si baat hai jab koi aadmi paida hota hai koi baccha paida hota hai agar yah kaha jaaye toh uska parivesh kaisa hai uske aaspass ka vatavaran kaisa hai vaah kis prakar ki shiksha aur diksha se paarangat hokar dhire dhire samaj mein unit ke roop mein apne ko sthapit karta hai yah galat baat duniya ke har samaj mein chai kaisi pratikul paristhiyaann hoon wahan par bhi surv shiv car sexy paida hui chahen Hindustan hoon china ho america ho franso pakistan ho har jagah chahen jaisi bhi pratikul paristhiyaann ho acche aadmi ki wahan par sthapit ho gaye aur sirf is wajah se hue hain ki jeevan mein ek acche insaan ke roop mein shikshit hue dixit hue aur sambhav se logo se vyavhar kiya logo ki takleef jani logo ki takleef se jude rahein aur ek dayalu hriday ke roop mein unhone samaj ke logo ki sahayta karke sukh dukh bhagidari karke swayam ko sthapit kiya darshan aadmi ke aadmi hone is samay kyon dusre logo se maine dusre praniyo se maine bahut seedha sa prashna toh seedha saaf tha ki hamein jo paanch nadiyan hain jo bolne sochne samjhne karne ki kshamta hai vaah shayad duniya ki kisi anya prani mein nahi isliye aadmi ne gyaan vigyan ke madhyam se shiksha ke madhyam se tarkshakti ke madhyam se aisi aisi chijon ka avishkar kiya jo ya toh kabhi uske khet mein hai samaj ke hit mein yah samaj ko nasht karne wali lekin aisa karke hum kai jagah samaj ki sahayta karte hain toh kai jagah samaj ke liye chunautiyaan paida karte hain saral jeevan yah hai ki aadmi jis par yah samaj mein rahe usme prem ho daya ho sahishnuta ho karuna ho ek dusre ke prati anurag ho toh samaj mein tanaav nahi rahega log lalach yadi kahin hota ho koi atyachar hota ho toh samaj mein bhej do bhi gyaan milega aur aadim sabhyata se jo nukile pattharon aur lathiyon ko humne jo khoon sikhaya hai chahen vo kisi janwar ka ho ya kisi vanmaanush ka ho ya kisi insaan ka ho uski pyaas bujhegi nahi aur samaj mein tanaav rahega toh jeevan mein yadi accha talashana hai toh vaah manviya gunon se bharpur mein chahiye kisi bhi cheez par hut karke usko justified karna hitakar nahi hai balki agar kahin mat bhinnata aati hai toh sahmati aur asahmati yo ke beech mein hum ek dusre ke prati paraspar sammaan aur prem ke saath jeevan ke is bahumulya jeevan ke acche waqt ko aapas mein milkar jiye main samajhata hoon meri baat aap tak ke spasht hogi

हमारे जीवन में अच्छा क्या है मैं समझता हूं कि हमारे जीवन में अगर कोई चीज बहुत अच्छी या बहु

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपके प्रश्न है कि हमारे जीवन में अच्छा क्या है यदि आप यह प्रश्न करते हैं सबसे पहले तो मैं आपको यह बताना चाहूंगी कि मनुष्य रूप में जन्म लेना ही आपके जीवन की सबसे बड़ी अच्छाई है क्योंकि इस रूप में आप जो भी अच्छे कार्य कर सकते हैं वह कार्य आप किसी और सृष्टि के जीवों के रूप में नहीं कर सकते हैं इसलिए जो आपको मनुष्य जीवन मानव जीवन मिला है उसमें अपने लिए अच्छे करने की बजाय आप अपने राष्ट्र अपने समाज अपने परिवार व अन्य लोगों के प्रति अच्छा व्यवहार रखें और उनका विकास करें क्योंकि खाना खाना और अपनी शारीरिक आवश्यकताओं की पूर्ति करना तो जानवर भी जानते हैं परंतु रूप में आपका जो जन्म हुआ है उसमें आप अपना विकास और अपने लोगों का विकास अपनी बुद्धि और विवेक के द्वारा कर सकते हैं धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

namaskar aapke prashna hai ki hamare jeevan mein accha kya hai yadi aap yah prashna karte hain sabse pehle toh main aapko yah bataana chahungi ki manushya roop mein janam lena hi aapke jeevan ki sabse badi acchai hai kyonki is roop mein aap jo bhi acche karya kar sakte hain vaah karya aap kisi aur shrishti ke jivon ke roop mein nahi kar sakte hain isliye jo aapko manushya jeevan manav jeevan mila hai usme apne liye acche karne ki bajay aap apne rashtra apne samaj apne parivar va anya logo ke prati accha vyavhar rakhen aur unka vikas kare kyonki khana khana aur apni sharirik avashayaktaon ki purti karna toh janwar bhi jante hain parantu roop mein aapka jo janam hua hai usme aap apna vikas aur apne logo ka vikas apni buddhi aur vivek ke dwara kar sakte hain dhanyavad aapka din shubha ho

नमस्कार आपके प्रश्न है कि हमारे जीवन में अच्छा क्या है यदि आप यह प्रश्न करते हैं सबसे पहले

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  918
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

2:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि हमारे जीवन में क्या अच्छा है इसके लिए आपको सबसे पहले एक बात यह जानना होगा कि किसी भी व्यक्ति के जीवन में सब कुछ हमेशा अच्छा नहीं होता है किसी भी व्यक्ति के अब जीवन को अगर आप बारी के से जानने का प्रयास करें तो या पिए पाएंगे कि हर व्यक्ति के जीवन में कुछ चीजों की बहुत अच्छा ही होती है लेकिन बहुत चीज नहीं होती है जो उसके जीवन में नहीं होता है किसी के जीवन में स्वास्थ्य बहुत अच्छा है परिवार बहुत अच्छा है उसकी वित्तीय एनी फाइनेंशियल स्थिति बहुत अच्छी है लेकिन कहीं ना कहीं कुछ न कुछ ऐसी चीजें हैं जो जिसकी कमी है किसी के जीवन में स्वास्थ्य नहीं ठीक है बाकी चीजें अच्छी है कुल मिलाकर आप पाएंगे कि हर व्यक्ति के जीवन में बहुत कुछ होने के बावजूद भी बहुत कुछ होता जो नहीं होता है मतलब आप ही कर सकते हैं कि किसी व्यक्ति की जो है जीवन में सब कुछ हंड्रेड परसेंट अच्छा नहीं होता है अब जहां पर अंतर यहां जाता है कि अगर व्यक्ति के पास जो है उन चीजों पर ध्यान देगा तो उसे यह लगेगा कि उसके जीवन में सब कुछ है लेकिन अगर व्यक्ति ने यह सोचना शुरू कर दिया जो उसके पास नहीं है या जो उसके पास जो है वह खराब या बेकार या गड़बड़ अवस्था में है तो उसको यह लगेगा कि उसके जीवन में सब कुछ खराब हो रहा है या उसके जीवन में सब कुछ चाहिए गलत हो रहा है इसलिए अगर आपको अपना जीवन ऐसे बनाना है कि आप इस जीवन में सब कुछ अच्छा हो तो अपना ध्यान सिर्फ जो चीजें प्रकृति ऊपर वाले ने आपको दी है उन चीजों पर ध्यान अपना दीजिए उन चीजों के बारे में सोचिए जो आपके पास नहीं है उसके बारे में ध्यान बिल्कुल ना दीजिए ऐसी धारणा आप विकसित कर लेंगे तो आप पाएंगे कि आपके जीवन में सब कुछ अच्छा ही अच्छा दिखाई पड़ना शुरू हो जाएगा जीवन में दुख का बहुत बड़ा यह कारण होता है कि अगर हमारी दृष्टि हमारे जीवन में हमारी कमियों के बारे में हमारे पास जो नहीं उसके बारे में होता है तो जो हमारे पास होता है हमारे अंदर जो अच्छाई होती है जो हमारे पास चीजें होती हैं हम उनको भी इंजॉय नहीं कर पाते हैं इसलिए अपने जीवन में जो अच्छी चीजें हैं उनको रिस्पेक्ट दीजिए उनकी इज्जत करिए और ऊपर वाले का धन्यवाद दीजिए कि उन चीजों को आपके जीवन में आपके जीवन में है और उन चीजों के बारे में अपनी ध्यान केंद्रित करके अपने जीवन की गुणवत्ता को आप बढ़ा सकते हैं

aapka prashna hai ki hamare jeevan mein kya accha hai iske liye aapko sabse pehle ek baat yah janana hoga ki kisi bhi vyakti ke jeevan mein sab kuch hamesha accha nahi hota hai kisi bhi vyakti ke ab jeevan ko agar aap baari ke se jaanne ka prayas kare toh ya piye payenge ki har vyakti ke jeevan mein kuch chijon ki bahut accha hi hoti hai lekin bahut cheez nahi hoti hai jo uske jeevan mein nahi hota hai kisi ke jeevan mein swasthya bahut accha hai parivar bahut accha hai uski vittiy any financial sthiti bahut achi hai lekin kahin na kahin kuch na kuch aisi cheezen hai jo jiski kami hai kisi ke jeevan mein swasthya nahi theek hai baki cheezen achi hai kul milakar aap payenge ki har vyakti ke jeevan mein bahut kuch hone ke bawajud bhi bahut kuch hota jo nahi hota hai matlab aap hi kar sakte hai ki kisi vyakti ki jo hai jeevan mein sab kuch hundred percent accha nahi hota hai ab jaha par antar yahan jata hai ki agar vyakti ke paas jo hai un chijon par dhyan dega toh use yah lagega ki uske jeevan mein sab kuch hai lekin agar vyakti ne yah sochna shuru kar diya jo uske paas nahi hai ya jo uske paas jo hai vaah kharab ya bekar ya gadbad avastha mein hai toh usko yah lagega ki uske jeevan mein sab kuch kharab ho raha hai ya uske jeevan mein sab kuch chahiye galat ho raha hai isliye agar aapko apna jeevan aise banana hai ki aap is jeevan mein sab kuch accha ho toh apna dhyan sirf jo cheezen prakriti upar waale ne aapko di hai un chijon par dhyan apna dijiye un chijon ke bare mein sochiye jo aapke paas nahi hai uske bare mein dhyan bilkul na dijiye aisi dharana aap viksit kar lenge toh aap payenge ki aapke jeevan mein sab kuch accha hi accha dikhai padhna shuru ho jaega jeevan mein dukh ka bahut bada yah karan hota hai ki agar hamari drishti hamare jeevan mein hamari kamiyon ke bare mein hamare paas jo nahi uske bare mein hota hai toh jo hamare paas hota hai hamare andar jo acchai hoti hai jo hamare paas cheezen hoti hai hum unko bhi enjoy nahi kar paate hai isliye apne jeevan mein jo achi cheezen hai unko respect dijiye unki izzat kariye aur upar waale ka dhanyavad dijiye ki un chijon ko aapke jeevan mein aapke jeevan mein hai aur un chijon ke bare mein apni dhyan kendrit karke apne jeevan ki gunavatta ko aap badha sakte hain

आपका प्रश्न है कि हमारे जीवन में क्या अच्छा है इसके लिए आपको सबसे पहले एक बात यह जानना होग

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  449
WhatsApp_icon
user

Vaibhav Sharma

Spiritual and Motivational Speaker

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप सभी को जय माता की आपका प्रश्न है हमारे जीवन में क्या अच्छा है तो सबसे पहले तो हमें यह समझना होगा कि यह जो मानव जीवन हमें मिला है यही सबसे अधिक दुर्लभ है जो पता नहीं कितने पुण्य कर्मों की मौत में कितने अच्छे कर्मों के बाद में हमें प्राप्त हुआ है तो जब ऐसा दुर्लभ जन्म हमें प्राप्त हुआ है तो इससे अच्छा तो हमारे लिए कुछ हो ही नहीं सकता बस प्रयास यह करना है यह जो मानव जीवन हम प्राप्त हुआ है सभी योनियों में सभी प्राणियों में दुर्लभ कहा जाता है इसको हम इतनी सजगता से जी की प्रार्थना चाहता है मानव जीवन निश्चित समय अवधि के लिए सभी को प्राप्त होता है तो इसलिए इस अमूल्य समझते हुए समय के प्रत्येक क्षण का मूल्य समझते हुए उसको सजगता से चाहिए उसे अच्छे कामों में लगाएं तो फिर मानव जीवन में कुछ बुरा है कि नहीं ना स्वयं के लिए और ना दूसरों के लिए तो अगर मानव जीवन की महत्ता को हम समझ जाते हैं तो फिर हमें कुछ भी पूरा दिखाई नहीं देता सब कुछ अच्छा ही अच्छा धन्यवाद

aap sabhi ko jai mata ki aapka prashna hai hamare jeevan mein kya accha hai toh sabse pehle toh hamein yah samajhna hoga ki yah jo manav jeevan hamein mila hai yahi sabse adhik durlabh hai jo pata nahi kitne punya karmon ki maut mein kitne acche karmon ke baad mein hamein prapt hua hai toh jab aisa durlabh janam hamein prapt hua hai toh isse accha toh hamare liye kuch ho hi nahi sakta bus prayas yah karna hai yah jo manav jeevan hum prapt hua hai sabhi yoniyon mein sabhi praniyo mein durlabh kaha jata hai isko hum itni sajgata se ji ki prarthna chahta hai manav jeevan nishchit samay awadhi ke liye sabhi ko prapt hota hai toh isliye is amuly samajhte hue samay ke pratyek kshan ka mulya samajhte hue usko sajgata se chahiye use acche kaamo mein lagaye toh phir manav jeevan mein kuch bura hai ki nahi na swayam ke liye aur na dusro ke liye toh agar manav jeevan ki mahatta ko hum samajh jaate hai toh phir hamein kuch bhi pura dikhai nahi deta sab kuch accha hi accha dhanyavad

आप सभी को जय माता की आपका प्रश्न है हमारे जीवन में क्या अच्छा है तो सबसे पहले तो हमें यह स

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  203
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं अनिल के कुमार एम प्रिंटर में फेमस लाइफ कोच आज आपके साथ जुड़ा हूं और आपका सवाल है कि आपके जीवन में क्या अच्छा है दोस्तों सब कुछ ही अच्छा है तभी तो आप इतने सक्षम हैं कि आप हमसे सवाल पूछ रहे हैं और हम आपके साथ कनेक्ट हो रहे हैं क्या अच्छा नहीं है आज चारों तरफ हरियाली है चारों तरफ सुविधाएं हैं चारों तरफ आज प्यार है मोहब्बत है लोग आगे बढ़ रहे हैं प्रोग्रेस कर रहे हैं उन्नति कर रहे नई-नई इनोवेशंस कर रहे हैं किस तरह मानव समाज के लिए कुछ सुविधाएं दी जाए किस तरह से आप घर बैठे हर चीज अवेलेबल हो रही है आपके पास आप आज डिजिटल आई जितना हो चुका है कि आप किसी भी किताब को जो फोन में लिखी गई थी फोन में पब्लिश हुई थी वो किताबे आज आप किंडल जैसी है पढ़ सकते हैं और बहुत सी एप्प है जो आज किसी भी किताब का पर लेबल करा सकते हैं ऑनलाइन मार्केटिंग से आप कहीं उनकी भी कोई भी प्रोडक्ट कहीं से भी मंगा सकते हैं तो सब कुछ तो है हमारे जियो में शांति है प्यार है मोहब्बत है पैसा है दौलत है अच्छा स्वास्थ्य है आपके पास और अच्छे सपने हैं सब कुछ है आपके पास बशर्ते कि आपको उन पर फोकस करने की जरूरत है दिखे दो तरह के व्यक्ति हैं एक है जो हमेशा सिर्फ नेगेटिव टो नेगेटिव पर फोकस करता है एक आदमी होता है जो सिर्फ पॉजिटिविटी ही फोकस करता है नजर उठा कर देखिए मैं समझ सकता हूं कुछ बच्चे होम बंधे होंगे जो हो सकता है नजर आएगी वह गलत काम कर रहे हैं लेकिन आप देखोगे तो कुछ लोग ही है जो गलत काम कर रहे हैं और आप मैक्सिमम लोग आपको दिखाई देंगे जो उन्नति की तरफ बढ़ रहे हैं हर रोज अग्रसर आगे की तरफ बढ़ रहे हैं हर रोज कोई ना कोई नया नया आयाम छू रहे हो रहा है आप भी अच्छा कर रहे हो तभी आप जहां तक हो और मैं आशा करता हूं कि आप जीवन में इतना अच्छा करेंगे कि आप अपने लिए अपने परिवार के और इस समाज के लिए एक मिसाल बनेंगे कि हां इन्होंने कुछ करके दिखाया था तुम्हें इन ज्यादा डिटेल्स के साथ ही आपको बताना चाहूंगा कि हमारे यदि आप लाइव से विनाश में हमारी वक्त उस में आना चाहते हैं तो आप अपना के गुरु डॉट कॉम पर जाकर रजिस्टर कर सकते हैं हमारे सोशल रिंग्स को सब्सक्राइब कर सकते हैं लाइक कर सकते हैं और यूट्यूब चैनल को यदि आप सर्च करके तो लाइफ चेंजिंग वीडियोस आ रही है जो आपको जीवन में बहुत बेहतरीन बनाएंगे और आप हमेशा आगे बढ़ते रहेंगे जय हिंद जय भारत

namaskar main anil ke kumar M printer me famous life coach aaj aapke saath juda hoon aur aapka sawaal hai ki aapke jeevan me kya accha hai doston sab kuch hi accha hai tabhi toh aap itne saksham hain ki aap humse sawaal puch rahe hain aur hum aapke saath connect ho rahe hain kya accha nahi hai aaj charo taraf hariyali hai charo taraf suvidhaen hain charo taraf aaj pyar hai mohabbat hai log aage badh rahe hain progress kar rahe hain unnati kar rahe nayi nayi innovations kar rahe hain kis tarah manav samaj ke liye kuch suvidhaen di jaaye kis tarah se aap ghar baithe har cheez available ho rahi hai aapke paas aap aaj digital I jitna ho chuka hai ki aap kisi bhi kitab ko jo phone me likhi gayi thi phone me publish hui thi vo kitabe aaj aap Kindle jaisi hai padh sakte hain aur bahut si app hai jo aaj kisi bhi kitab ka par lebal kara sakte hain online marketing se aap kahin unki bhi koi bhi product kahin se bhi Manga sakte hain toh sab kuch toh hai hamare jio me shanti hai pyar hai mohabbat hai paisa hai daulat hai accha swasthya hai aapke paas aur acche sapne hain sab kuch hai aapke paas basharte ki aapko un par focus karne ki zarurat hai dikhe do tarah ke vyakti hain ek hai jo hamesha sirf Negative toe Negative par focus karta hai ek aadmi hota hai jo sirf positivity hi focus karta hai nazar utha kar dekhiye main samajh sakta hoon kuch bacche home bandhe honge jo ho sakta hai nazar aayegi vaah galat kaam kar rahe hain lekin aap dekhoge toh kuch log hi hai jo galat kaam kar rahe hain aur aap maximum log aapko dikhai denge jo unnati ki taraf badh rahe hain har roj agrasar aage ki taraf badh rahe hain har roj koi na koi naya naya aayam chu rahe ho raha hai aap bhi accha kar rahe ho tabhi aap jaha tak ho aur main asha karta hoon ki aap jeevan me itna accha karenge ki aap apne liye apne parivar ke aur is samaj ke liye ek misal banenge ki haan inhone kuch karke dikhaya tha tumhe in zyada details ke saath hi aapko batana chahunga ki hamare yadi aap live se vinash me hamari waqt us me aana chahte hain toh aap apna ke guru dot com par jaakar register kar sakte hain hamare social rings ko subscribe kar sakte hain like kar sakte hain aur youtube channel ko yadi aap search karke toh life changing videos aa rahi hai jo aapko jeevan me bahut behtareen banayenge aur aap hamesha aage badhte rahenge jai hind jai bharat

नमस्कार मैं अनिल के कुमार एम प्रिंटर में फेमस लाइफ कोच आज आपके साथ जुड़ा हूं और आपका सवाल

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1213
WhatsApp_icon
user

Ritika

Teacher,life Coach,motivational Speaker

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है हमारे जीवन में क्या अच्छा है इंसान का अपना सोचने का नजरिया होता है अपनी मानसिकता होती है कुछ लोगों को कुछ चीजें पसंद आती है चाहे उनके पास कितनी भी वह कठिन परिस्थिति में हूं लेकिन तब भी वह उसके साथ डील कर लेते हैं लेकिन कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जिनके पास जितनी भी चीजें हो जितनी भी रिसोर्सेज इन तब भी वो उस में खुश नहीं रह पाते हैं तो अल्टीमेट हमारा डिसीजन होता है कि हमारे पास जो भी रिसोर्सेस हैं हम उस में खुश रहते हैं या नहीं रहते हैं क्योंकि लाइफ में जो भी मिला है वह अच्छा ही होता है बाकी मेटल हम पर करता है कि हम कैसे उसको लेकर जाते हैं उसके साथ कैसे हम डील करते हैं तो जो भी चीज है हमारी लाइफ में क्योंकि सबसे इंपॉर्टेंट रहते हैं हमारी फैमिली हमारे पेरेंट्स वह हमारे साथ हैं तो हमारे साथ सब कुछ अच्छा होता है अगर वह नहीं हमारे साथ तो कुछ भी अच्छा नहीं होता तो हमारे साथ जो कोई भी हो हम जितने भी हम रिसोर्सेज मोच आए हम गरीब हो जाएं हम अमीर हैं हमें किसी पर भी दुख नहीं करना चाहिए क्योंकि जो भी रिसोर्सेस हैं हमें उस में खुश रहना चाहिए धन्यवाद आपका दिन शुभ

namaskar aapka prashna hai hamare jeevan me kya accha hai insaan ka apna sochne ka najariya hota hai apni mansikta hoti hai kuch logo ko kuch cheezen pasand aati hai chahen unke paas kitni bhi vaah kathin paristhiti me hoon lekin tab bhi vaah uske saath deal kar lete hain lekin kuch aise log bhi hote hain jinke paas jitni bhi cheezen ho jitni bhi resources in tab bhi vo us me khush nahi reh paate hain toh ultimate hamara decision hota hai ki hamare paas jo bhi resources hain hum us me khush rehte hain ya nahi rehte hain kyonki life me jo bhi mila hai vaah accha hi hota hai baki metal hum par karta hai ki hum kaise usko lekar jaate hain uske saath kaise hum deal karte hain toh jo bhi cheez hai hamari life me kyonki sabse important rehte hain hamari family hamare parents vaah hamare saath hain toh hamare saath sab kuch accha hota hai agar vaah nahi hamare saath toh kuch bhi accha nahi hota toh hamare saath jo koi bhi ho hum jitne bhi hum resources moch aaye hum garib ho jayen hum amir hain hamein kisi par bhi dukh nahi karna chahiye kyonki jo bhi resources hain hamein us me khush rehna chahiye dhanyavad aapka din shubha

नमस्कार आपका प्रश्न है हमारे जीवन में क्या अच्छा है इंसान का अपना सोचने का नजरिया होता है

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  350
WhatsApp_icon
user

sumit agarwal

business man

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न हमारे जीवन में क्या अच्छा है लेकिन हमारे जीवन में यह जो हमें भगवान ने परम पिता परमेश्वर ने हमें जो यह जीवन दिया है यह मानव जीवन दिया है यहां पर जन्म दिया है मनुष्य के योनि में हमारे लिए सबसे बड़ा अच्छा यही है हमें कोशिश करना चाहिए कि हमें अपने से अपने आप से अपनी जीवन से अपने हाथ पैरों से किसी का बुरा नहीं करना चाहिए किसी को बुरा नहीं बोलना चाहिए हमें हमेशा दूसरों के लिए अच्छा होना चाहिए अच्छा करना चाहिए दूसरों की मदद करनी चाहिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

namaskar aapka prashna hamare jeevan me kya accha hai lekin hamare jeevan me yah jo hamein bhagwan ne param pita parmeshwar ne hamein jo yah jeevan diya hai yah manav jeevan diya hai yahan par janam diya hai manushya ke yoni me hamare liye sabse bada accha yahi hai hamein koshish karna chahiye ki hamein apne se apne aap se apni jeevan se apne hath pairon se kisi ka bura nahi karna chahiye kisi ko bura nahi bolna chahiye hamein hamesha dusro ke liye accha hona chahiye accha karna chahiye dusro ki madad karni chahiye dhanyavad aapka din shubha ho

नमस्कार आपका प्रश्न हमारे जीवन में क्या अच्छा है लेकिन हमारे जीवन में यह जो हमें भगवान ने

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  202
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!