क्या हैदराबाद के रेपिस्ट का एनकाउंटर करना कानून सही मानता है?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानूनों की बात मत कीजिए कि भारत की कानून समझो हैं बहुत ही धीमी गति से चलने वाले हैं जिसके कारण कुछ भी रहे हो आप यह भी कह सकते हैं कि वह अपनी मात्रा में जज न्यायाधीश आधी नहीं है कि सरकारी कमियां भी कह सकते हो कुछ हमारे कानूनों की डील भी कह सकते हो वह पिक्चर में एक डायलॉग सनी देओल का सही है कि डेट बर्थ डिटेल दी जाती हैं लेकिन कानून सही समय पर नहीं हो पाता है 40 साल तक 11 केस को निपटाने में लग जाते हैं ऐसे में क्या दें पिस्टों को बैठ कर के इनको बिरयानी खिलाना उनकी डिमांड पूरी की जाए जितना जगन ने अपराध अपराध किया वह रेप का उस व्यक्ति को एक काउंटर ही शुभ करना चाहिए यह होना चाहिए क्योंकि तुम को जीने का कोई हक नहीं तुमको कोई ह्यूमन राइट्स नहीं होनी चाहिए जो देशद्रोह करें जो देव करे किडनेपिंग करे मर्डर करे ऐसे व्यक्तियों को घमंड किस बात के देना इस बात के लिए यही कारण है कि हमारे जो प्रजातांत्रिक शासन है उसमें राजाओं से गया बीता शासन राजाओं के समय में इनको शक्ति सिंह उनको जीने का देना इनको तो चौराहे पर खड़ा करके शूट किया जाए जिससे कि अन्य जो अपराध करने वाले लोग हैं उनको एक सबक मिल सके बस समझ सके और अपराध करने की के बारे में सोच भी नहीं सकेंगे इसलिए जनता की भावना के अनुरूप उन्हें हैदराबाद के लिए पिस्टों को एनकाउंटर किया गया वह सही किया गया और जनता ने कुश्ती को आंखों पर बिठा लिया और आपने देखा हुआ फिर आपने पढ़ा हुआ अखबार में पढ़ा हुआ चंपा नाम का तहे दिल से स्वागत किया क्योंकि ऐसे लोग दूसरों को जीवन बर्बाद करते हैं उनको जीने का कोई हक नहीं है उन को सख्त सजा मिलनी चाहिए जब तक सप्लाई नहीं होंगी भारत में अपराध इसी तरह होते रहेंगे और सरकार तुष्टिकरण की नीतियों के कारण से ऐसे लोगों को सजा नहीं दे पाती है और सजा मिलती भी है तो बहुत समय बाद मिलती है जब उसका कोई महत्व नहीं रह जाता है मेरे बिल्कुल सही था और मैं इसका समर्थन करूंगा

kanuno ki baat mat kijiye ki bharat ki kanoon samjho hain bahut hi dheemi gati se chalne waale hain jiske karan kuch bhi rahe ho aap yah bhi keh sakte hain ki vaah apni matra me judge nyayadhish aadhi nahi hai ki sarkari kamiyan bhi keh sakte ho kuch hamare kanuno ki deal bhi keh sakte ho vaah picture me ek dialogue sunny deol ka sahi hai ki date birth detail di jaati hain lekin kanoon sahi samay par nahi ho pata hai 40 saal tak 11 case ko niptane me lag jaate hain aise me kya de piston ko baith kar ke inko biryani khilana unki demand puri ki jaaye jitna jagan ne apradh apradh kiya vaah rape ka us vyakti ko ek counter hi shubha karna chahiye yah hona chahiye kyonki tum ko jeene ka koi haq nahi tumko koi human rights nahi honi chahiye jo deshdroh kare jo dev kare kidneping kare murder kare aise vyaktiyon ko ghamand kis baat ke dena is baat ke liye yahi karan hai ki hamare jo prajatantrik shasan hai usme rajaon se gaya bita shasan rajaon ke samay me inko shakti Singh unko jeene ka dena inko toh chauraahe par khada karke choot kiya jaaye jisse ki anya jo apradh karne waale log hain unko ek sabak mil sake bus samajh sake aur apradh karne ki ke bare me soch bhi nahi sakenge isliye janta ki bhavna ke anurup unhe hyderabad ke liye piston ko encounter kiya gaya vaah sahi kiya gaya aur janta ne kushti ko aakhon par bitha liya aur aapne dekha hua phir aapne padha hua akhbaar me padha hua champa naam ka tahe dil se swaagat kiya kyonki aise log dusro ko jeevan barbad karte hain unko jeene ka koi haq nahi hai un ko sakht saza milani chahiye jab tak supply nahi hongi bharat me apradh isi tarah hote rahenge aur sarkar Tustikaran ki nitiyon ke karan se aise logo ko saza nahi de pati hai aur saza milti bhi hai toh bahut samay baad milti hai jab uska koi mahatva nahi reh jata hai mere bilkul sahi tha aur main iska samarthan karunga

कानूनों की बात मत कीजिए कि भारत की कानून समझो हैं बहुत ही धीमी गति से चलने वाले हैं जिसके

Romanized Version
Likes  424  Dislikes    views  5092
KooApp_icon
WhatsApp_icon
18 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!