पाकिस्तान अमेरिका के कहने पर कब से चल रहा है?...


user

Rakesh Sharma

Journalist

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत का भारत का और पाकिस्तान की जो आपसी झगड़े वगैरह है ना जी अमेरिका का अपना रुतबा है भारत का मैच आज अमेरिका और भारत एक चैनल के और पाकिस्तान उन को साथ रखना पड़ता है ताकि वह भारत को थोड़ा डरा सके वह करते नहीं जो समझौते जो डबल अमेरिका और भारत के साथ हुआ शायद पहले ना हो सकता हूं

bharat ka bharat ka aur pakistan ki jo aapasi jhagde vagera hai na ji america ka apna rutbaa hai bharat ka match aaj america aur bharat ek channel ke aur pakistan un ko saath rakhna padta hai taki vaah bharat ko thoda dara sake vaah karte nahi jo samjhaute jo double america aur bharat ke saath hua shayad pehle na ho sakta hoon

भारत का भारत का और पाकिस्तान की जो आपसी झगड़े वगैरह है ना जी अमेरिका का अपना रुतबा है भारत

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vatsal

Engineering Student

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंडिया-पाकिस्तान जो है वह अमेरिका के कहने पर नहीं चल रहा है बिल्कुल नहीं चल रहा है क्योंकि पाकिस्तान जो है वह भारत को सबसे बड़ा दुश्मन मानता है केवल और केवल भारत को दुश्मन मानता है अब भारत और अमेरिका के बीच में जो नज़दीकियां हैं उसके कारण से आहत होकर पाकिस्तान ने चाइना को प्रपोज किया और चाइना की जो भारत से दुश्मनी है उसके कारण चाइना पाकिस्तान को मदद कर रहा है जिस से पाकिस्तान जो है वह भारत को डरा सके और भारत और दवा बना सके इसलिए चाइना और पाकिस्तान में गरीबी और अमेरिका और भारत और अमेरिका जो है वह किसी का नहीं है और चाइना भी किसी का नहीं इस सुपरपावर बनेगा कि नहीं बनेगा तो बहुत समझदारी से काम लेते हैं तो यह अगर किसी को सपोर्ट कर रहे हैं तो अपनी किसी फायदे के लिए करते हैं दूसरी जी पाकिस्तान अमेरिका के कहने पर नहीं चल रहा है लेकिन जिससे की अवधि का उसे हंसना कर दिया करता है और अन्यथा कुछ नहीं है

india pakistan jo hai vaah america ke kehne par nahi chal raha hai bilkul nahi chal raha hai kyonki pakistan jo hai vaah bharat ko sabse bada dushman manata hai keval aur keval bharat ko dushman manata hai ab bharat aur america ke beech mein jo nazadikiyan hain uske karan se aahat hokar pakistan ne china ko propose kiya aur china ki jo bharat se dushmani hai uske karan china pakistan ko madad kar raha hai jis se pakistan jo hai vaah bharat ko dara sake aur bharat aur dawa bana sake isliye china aur pakistan mein garibi aur america aur bharat aur america jo hai vaah kisi ka nahi hai aur china bhi kisi ka nahi is superpower banega ki nahi banega toh bahut samajhdari se kaam lete hain toh yah agar kisi ko support kar rahe hain toh apni kisi fayde ke liye karte hain dusri ji pakistan america ke kehne par nahi chal raha hai lekin jisse ki awadhi ka use hansana kar diya karta hai aur anyatha kuch nahi hai

इंडिया-पाकिस्तान जो है वह अमेरिका के कहने पर नहीं चल रहा है बिल्कुल नहीं चल रहा है क्योंकि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आधी कि अगर हम पाकिस्तान और अमेरिका के रिश्ते की बात करें तो गाना कहां पर यह रिश्ता देखी बहुत ही पुराना है अगर हम देखें तो जिस प्रकार से इस पाकिस्तान जो कि अभी बांग्लादेश हुआ करता है प्लीज पाकिस्तान वस पाकिस्तान हुआ करता था तो उस समय से देखिए पाकिस्तान का रिश्ता जो है वह अमेरिका के साथ बहुत ही अच्छा और खाना कहां पर सर्विस पाकिस्तान अवस्था किसे पाकिस्तान का पार्टीशन हो रहा था जब भारतीय आर्मी देखे वस पाकिस्तान में घुस रही थी और इस पाकिस्तान में भी कुछ ऐसी थी जो कि अभी पाकिस्तानी बांग्लादेश के नाम से जाना जाता है तो तभी पाकिस्तान ने देखी अमेरिका की मदद ली थी कि अमेरिका को यह बताते किस प्रकार से भारत जो है उनको सेटिंग कर रहा था अमेरिका में अमेरिका उसमें देखिए और न्यू पावर वाला देश हुआ करता था तो खाना खा पर उस समय से अमेरिका और पाकिस्तान के बीच के रिश्ते बहुत अच्छे अमेरिका देखिए हर साल करोड़ों जो पाकिस्तान को देता है उसे स्टेट्स में या फिर टेररिज्म को लड़ने की एड्स में और सफाई नहीं आ न्यू पावर के किड्स में भी जो है पाकिस्तान पाकिस्तान को अमेरिका से पैसा मिलता है तो कहां कहां पर आ पाकिस्तान अमेरिका के कहने पर देख के बहुत पुराने समय से चल रहा है ऐसा नहीं है कि 20 से 10 साल में रिश्ता अच्छा हुआ पिछले 20 या 30 साल से देख कर ऐसा चलता रहा लेकिन जिस प्रकार से डोनाल्ड ट्रंप जो है वह आतंकवाद के खिलाफ सख्त जो है अपना रवैया ले रहे तो खाना खा पर मुझे नहीं लगता आप ज्यादा देर तक पाकिस्तान अमेरिका के कहने पर जो है सब चाल चला कि कि हमारा को हाफिज सईद से बहुत ही बड़ा प्रॉब्लम है का नाका पर पाकिस्तान को ऑफिस इतना बड़ा प्रॉब्लम नहीं है तो आप मुझे नहीं लगेगा कि आने वाले समय में पाकिस्तान अमेरिका के कहने पर जो है वह कुछ काम करेगा लेकिन पाकिस्तान अमेरिका के कहने पर बहुत लंबे समय से चलते आ रहा है और पाकिस्तान का फायदा भी मिल रहा है अमेरिका से इसलिए वह अमेरिका के कहने पर बड़े लंबे समय से चलते आ रहा है

aadhi ki agar hum pakistan aur america ke rishte ki baat kare toh gaana kahaan par yah rishta dekhi bahut hi purana hai agar hum dekhen toh jis prakar se is pakistan jo ki abhi bangladesh hua karta hai please pakistan vas pakistan hua karta tha toh us samay se dekhiye pakistan ka rishta jo hai vaah america ke saath bahut hi accha aur khana kahaan par service pakistan avastha kise pakistan ka partition ho raha tha jab bharatiya army dekhe vas pakistan mein ghus rahi thi aur is pakistan mein bhi kuch aisi thi jo ki abhi pakistani bangladesh ke naam se jana jata hai toh tabhi pakistan ne dekhi america ki madad li thi ki america ko yah batatey kis prakar se bharat jo hai unko setting kar raha tha america mein america usme dekhiye aur new power vala desh hua karta tha toh khana kha par us samay se america aur pakistan ke beech ke rishte bahut acche america dekhiye har saal karodo jo pakistan ko deta hai use states mein ya phir terrorism ko ladane ki aids mein aur safaai nahi aa new power ke kids mein bhi jo hai pakistan pakistan ko america se paisa milta hai toh kahaan kahaan par aa pakistan america ke kehne par dekh ke bahut purane samay se chal raha hai aisa nahi hai ki 20 se 10 saal mein rishta accha hua pichle 20 ya 30 saal se dekh kar aisa chalta raha lekin jis prakar se donald trump jo hai vaah aatankwad ke khilaf sakht jo hai apna ravaiya le rahe toh khana kha par mujhe nahi lagta aap zyada der tak pakistan america ke kehne par jo hai sab chaal chala ki ki hamara ko haafiz saeed se bahut hi bada problem hai ka naka par pakistan ko office itna bada problem nahi hai toh aap mujhe nahi lagega ki aane waale samay mein pakistan america ke kehne par jo hai vaah kuch kaam karega lekin pakistan america ke kehne par bahut lambe samay se chalte aa raha hai aur pakistan ka fayda bhi mil raha hai america se isliye vaah america ke kehne par bade lambe samay se chalte aa raha hai

आधी कि अगर हम पाकिस्तान और अमेरिका के रिश्ते की बात करें तो गाना कहां पर यह रिश्ता देखी बह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
play
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान अमेरिका के नीचे कब तक चल रहा है तो अधिक बिल्कुल ऐसा माना जाता है ऐसा हम बोल सकते हैं कि जो पाकिस्तान जो है हमेशा हमें क्या कहने पर लाइक फॉलो करता अमेरिका जो है सो कंट्रोल करिए पाकिस्तान पाकिस्तान को समर्थन करती है कोचिंग करती थी लेकिन जब से ढूंढ अमेरिका पाकिस्तान मुस्लिम समुदाय को काट कर पाकिस्तान को कंट्रोल करती है अमेरिका

pakistan america ke niche kab tak chal raha hai toh adhik bilkul aisa mana jata hai aisa hum bol sakte hain ki jo pakistan jo hai hamesha hamein kya kehne par like follow karta america jo hai so control kariye pakistan pakistan ko samarthan karti hai coaching karti thi lekin jab se dhundh america pakistan muslim samuday ko kaat kar pakistan ko control karti hai america

पाकिस्तान अमेरिका के नीचे कब तक चल रहा है तो अधिक बिल्कुल ऐसा माना जाता है ऐसा हम बोल सकते

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!