user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है सूट कैसे होती है आज के वर्तमान परिदृश्य में सूत जैसे विषयों पर चिंतन करना यह सोचना बहुत अप्रासंगिक और अनुचित है क्योंकि आज विज्ञान का युग है और वैज्ञानिक दृष्टिकोण से अध्यात्म की ओर अग्रसर है ऐसे समय में जब समानता की बात हो इक्विटी की बात हो तो छुआछूत किस बात की और चूत किस बात की जब ईश्वर ने ऊपर से ही कोई भेद करके कोई अंतर करके नहीं भेजा हम ऐसे संकुचित दायरे में संकुचित दृष्टिकोण थे सूत जैसी विचारधारा को अपने मन में कैसे पोषित कर रहे हैं हकीकत यह है कि ईश्वर ने सबके अंदर एक ही चित्र भेजिए सबके अंदर ईश्वर का अंश है उसका रूप स्वरूप कुछ भी हो उसका धर्म कुछ भी हो उसका रंग कुछ भी हो उसकी नस्ल कैसी भी हो लेकिन सब ईश्वर के वंशज ईश्वर की संतान हैं और हमारे सब भाई बहन हैं ऐसा समतामूलक दृष्टिकोण हम रखें जिससे हमारे अंदर से प्राणी विस्ता हो न मनुष्य के प्रति हमारे अंदर घृणा का भाव पैदा हो हम इतने के लिए प्रेम के लिए हमारा जीवन है सबसे हम प्रेम से मिले प्रेम हमारा व्यवहार और आचरण रहे निश्चित रूप से अगर ऐसा आश्रम हम करते हैं तो खुद के लिए भी अच्छा है परिवार की प्रतिष्ठा होती है और समाज में भी आप एक प्रतिष्ठा प्राप्त करते हैं तो बेहतर है कि ऐसे विचार छूट जैसे विचार आज के परिदृश्य में अप्रासंगिक है इनका कोई अस्तित्व नहीं है झूठ नहीं होती है सब एक हैं सबके अंदर एक चेतना है एक प्राण है मनुष्य उसमें कोई भेद नहीं है थैंक यू वेरी मच

aapka prashna hai suit kaise hoti hai aaj ke vartaman paridrishya mein sut jaise vishyon par chintan karna yah sochna bahut aprasangik aur anuchit hai kyonki aaj vigyan ka yug hai aur vaigyanik drishtikon se adhyaatm ki aur agrasar hai aise samay mein jab samanata ki baat ho equity ki baat ho toh chuachut kis baat ki aur chut kis baat ki jab ishwar ne upar se hi koi bhed karke koi antar karke nahi bheja hum aise sankuchit daayre mein sankuchit drishtikon the sut jaisi vichardhara ko apne man mein kaise poshit kar rahe hai haqiqat yah hai ki ishwar ne sabke andar ek hi chitra bhejiye sabke andar ishwar ka ansh hai uska roop swaroop kuch bhi ho uska dharm kuch bhi ho uska rang kuch bhi ho uski nasl kaisi bhi ho lekin sab ishwar ke vanshaj ishwar ki santan hai aur hamare sab bhai behen hai aisa samatamulak drishtikon hum rakhen jisse hamare andar se prani vista ho na manushya ke prati hamare andar ghrina ka bhav paida ho hum itne ke liye prem ke liye hamara jeevan hai sabse hum prem se mile prem hamara vyavhar aur aacharan rahe nishchit roop se agar aisa ashram hum karte hai toh khud ke liye bhi accha hai parivar ki prathishtha hoti hai aur samaj mein bhi aap ek prathishtha prapt karte hai toh behtar hai ki aise vichar chhut jaise vichar aaj ke paridrishya mein aprasangik hai inka koi astitva nahi hai jhuth nahi hoti hai sab ek hai sabke andar ek chetna hai ek praan hai manushya usme koi bhed nahi hai thank you very match

आपका प्रश्न है सूट कैसे होती है आज के वर्तमान परिदृश्य में सूत जैसे विषयों पर चिंतन करना य

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1353
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोनों के मन के भागों से छुआछूत की भावना काटना पड़ेगा मिटाना पड़ेगा लोग सच्चे मन से कार्य करें तो कहीं छुआछूत हैं लेकिन जहां विश्वास है जानू री वार्ता है उसे लोगों को छुआछूत से बचना चाहिए हर काम सही तरह से होना चाहिए जो व्यक्ति हमेशा से दूर रहता है यह बात थी समाज सनम शिकार करता हुआ व्यक्ति महान लोगों को सुरक्षित की भावना नहीं माननी चाहिए

dono ke man ke bhaagon se chuachut ki bhavna kaatna padega mitana padega log sacche man se karya kare toh kahin chuachut hai lekin jaha vishwas hai janu ri varta hai use logo ko chuachut se bachna chahiye har kaam sahi tarah se hona chahiye jo vyakti hamesha se dur rehta hai yah baat thi samaj sanam shikaar karta hua vyakti mahaan logo ko surakshit ki bhavna nahi maanani chahiye

दोनों के मन के भागों से छुआछूत की भावना काटना पड़ेगा मिटाना पड़ेगा लोग सच्चे मन से कार्य क

Romanized Version
Likes  235  Dislikes    views  1797
WhatsApp_icon
user

656 Mangal Singh Thakur

Teacher/Operator

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

छूत कैसी होती चुटकुले कैसे संपर्क सूत्र लोग कहते हैं धन्यवाद

chut kaisi hoti chutkule kaise sampark sutra log kehte hain dhanyavad

छूत कैसी होती चुटकुले कैसे संपर्क सूत्र लोग कहते हैं धन्यवाद

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  323
WhatsApp_icon
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि के नमस्कार गुड इवनिंग आप ने पूछ रहा है छूत कैसी होती जी की चूत नहीं आप पूछना चाह रहे ठीक है जिसको योनि बोलते हैं ठीक है यूज़ होता है यह एक पत्ते का आकार का होता है ठीक है आप इसे जो है गूगल इधर यह पॉर्न वीडियोस में देख सकते हैं इसी से जून में संभोग किया था और यहीं से बच्चे का जन्म होता है

aadi ke namaskar good evening aap ne puch raha hai chut kaisi hoti ji ki chut nahi aap poochna chah rahe theek hai jisko yoni bolte hain theek hai use hota hai yah ek patte ka aakaar ka hota hai theek hai aap ise jo hai google idhar yah porn videos me dekh sakte hain isi se june me sambhog kiya tha aur yahin se bacche ka janam hota hai

आदि के नमस्कार गुड इवनिंग आप ने पूछ रहा है छूत कैसी होती जी की चूत नहीं आप पूछना चाह रहे ठ

Romanized Version
Likes  102  Dislikes    views  2667
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
छूत कैसी होती है ; छूत कैसी होती ; chut kaisi hai ; chut kaisi hoti ; छूत कैसी है ; chut kaisi kaisi hoti hai ; choot kaisi hoti hai ; छूत कैसी ; chut kaisi hoti hai ; छूत कैसी दिखती है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!