फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल से आती है?...


user

Mohammad Bilal

Accountant

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके सवाल है कि फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल से आती है तो जी हां बक्सर जेल में ही कई सालों से यह सिलसिला चला आ रहा है वहीं पर वहां के जो कैदी है वही इस धंधे को तैयार करते हैं उनका बोलने का अंदाज अलग है ताकि वह फंदा गले में डालते वक्त कहीं छूट न जाए फिसल ना जाए उसकी रस्सी इस तरह से वह बना जाता है तो मैं बिल्कुल आपका सही सोचना है कि बिहार के बक्सर जेल से ही वह फांसी का फंदा तैयार होकर आता है और बड़ा मजबूत फंदा मैं उन लोगों के द्वारा तैयार करवाया जाता है और किया जाता है धन्यवाद

aapke sawaal hai ki fansi ki rassi bihar ke buxar jail se aati hai toh ji haan buxar jail mein hi kai salon se yah silsila chala aa raha hai wahi par wahan ke jo kaidi hai wahi is dhande ko taiyar karte hai unka bolne ka andaaz alag hai taki vaah fanda gale mein daalte waqt kahin chhut na jaaye fisal na jaaye uski rassi is tarah se vaah bana jata hai toh main bilkul aapka sahi sochna hai ki bihar ke buxar jail se hi vaah fansi ka fanda taiyar hokar aata hai aur bada majboot fanda main un logo ke dwara taiyar karvaya jata hai aur kiya jata hai dhanyavad

आपके सवाल है कि फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल से आती है तो जी हां बक्सर जेल में ही कई

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दीया फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल से ही आती है यही एकलौता ऐसा जगह है जहां पर फांसी की रस्सी का निर्माण किया जाता है जिस भी जेल को उसकी आवश्यकता होती है वह जहां पर होटल देता है उसके पश्चात यहां से ही मकसद से ही बन कर फांसी की रस्सी वहां पर जाती है

diya fansi ki rassi bihar ke buxar jail se hi aati hai yahi eklauta aisa jagah hai jaha par fansi ki rassi ka nirmaan kiya jata hai jis bhi jail ko uski avashyakta hoti hai vaah jaha par hotel deta hai uske pashchat yahan se hi maksad se hi ban kar fansi ki rassi wahan par jaati hai

दीया फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल से ही आती है यही एकलौता ऐसा जगह है जहां पर फांसी की

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह सही बात है कि फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल के कैदियों द्वारा बनाई हुई ही आती है लेकिन ऐसा नहीं है क्या खास बस्ती बहुत तरीके से बनाई गई राशि होती ऐसा कुछ नहीं है वह मजबूत जरूर बनाई जाती है लेकिन बिहार के बक्सर जिले के बक्सर जेल के कैदी है वहां से आपकी यह बात बिल्कुल सच है क्योंकि अभी आज तक पर जो हिंदुस्तान का एक परिवार है वह अपने पुरखों से अपराधियों को फांसी देता चला आया है हिंदुस्तानी किसी भी जेल में किसी भी अपराधी को फांसी होती है तो एक कालूराम नाम का एक व्यक्ति है जिसके दादा भी जल्लाद से उनके पापा भी यानी उनके फादर भी जलाते हैं वह भी चलाता है और उनके इंटरव्यू में क्षमता खान आजतक के रिपोर्टर है उनके साथ इंटरव्यू देख रहा था लात कालूराम ने ही बताया था कि फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल के कैदियों द्वारा बनाई हुई आती है और अगर किसी को इस में फांसी की पूरी जानकारी चाहिए है क्या होता तो वो इंटरव्यू जरूर देखें धन्यवाद

haan yah sahi baat hai ki fansi ki rassi bihar ke buxar jail ke kaidiyo dwara banai hui hi aati hai lekin aisa nahi hai kya khaas basti bahut tarike se banai gayi rashi hoti aisa kuch nahi hai vaah majboot zaroor banai jaati hai lekin bihar ke buxar jile ke buxar jail ke kaidi hai wahan se aapki yah baat bilkul sach hai kyonki abhi aaj tak par jo Hindustan ka ek parivar hai vaah apne purakhon se apradhiyon ko fansi deta chala aaya hai hindustani kisi bhi jail mein kisi bhi apradhi ko fansi hoti hai toh ek kaluram naam ka ek vyakti hai jiske dada bhi jallad se unke papa bhi yani unke father bhi jalate hain vaah bhi chalata hai aur unke interview mein kshamta khan aajtak ke reporter hai unke saath interview dekh raha tha laat kaluram ne hi bataya tha ki fansi ki rassi bihar ke buxar jail ke kaidiyo dwara banai hui aati hai aur agar kisi ko is mein fansi ki puri jaankari chahiye hai kya hota toh vo interview zaroor dekhen dhanyavad

हां यह सही बात है कि फांसी की रस्सी बिहार के बक्सर जेल के कैदियों द्वारा बनाई हुई ही आती ह

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!