हाईकोर्ट ने आरोपियों के शव 13 दिसंबर तक सुरक्षित रखने का आदेश क्यूँ दिया?...


user

Sudhir Kumar

Life Coach

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई कोर्ट ने आरोपियों के शो 13 दिसंबर तक सुरक्षित रखने का आदेश क्यों दिया जहां तक मुझे समझ में आ रहा है आपको डंका रेड्डी दिशा जो हैदराबाद की डॉक्टर की उस के आरोपियों के चार आरोपियों के एनकाउंटर हुआ है उनके शवों की बात कर रहे हैं जहां तक मैं समझता हूं आपको बताना चाहूंगा कि हाईकोर्ट ने ऐसा इसलिए आदेश दिया है क्योंकि इन सब की जांच की जाएगी एक तो इनके इन पर बलात्कार का आरोप था तो इसलिए तो इनका जो है वह से संबंध रखने के लिए हालांकि डीएनए बगैरा का मिलान पहले ही कर लिया गया होगा लेकिन यह जांच करने के लिए कि इनको एन का एनकाउंटर हुआ है वह किस तरह का एनकाउंटर है क्या वह वास्तविक एनकाउंटर है और या फिर वह फेक एनकाउंटर फर्जी एनकाउंटर है तो अगर स्वस्थ रखे रहेंगे तो उनका जो पोस्टमार्टम है और जो तमाम तरह की जो जाते हैं संभव हो सकेंगे उन बातों से कोर्ट को जो है निर्णय लेने में आसान करने वाले निष्कर्ष मिल सकेंगे इसलिए कोर्ट ने जो है शवों को सुरक्षित

high court ne aaropiyon ke show 13 december tak surakshit rakhne ka aadesh kyon diya jaha tak mujhe samajh mein aa raha hai aapko danka reddy disha jo hyderabad ki doctor ki us ke aaropiyon ke char aaropiyon ke encounter hua hai unke shavon ki baat kar rahe hain jaha tak main samajhata hoon aapko bataana chahunga ki highcourt ne aisa isliye aadesh diya hai kyonki in sab ki jaanch ki jayegi ek toh inke in par balatkar ka aarop tha toh isliye toh inka jo hai vaah se sambandh rakhne ke liye halaki DNA bagaira ka milaan pehle hi kar liya gaya hoga lekin yah jaanch karne ke liye ki inko N ka encounter hua hai vaah kis tarah ka encounter hai kya vaah vastavik encounter hai aur ya phir vaah fake encounter farji encounter hai toh agar swasthya rakhe rahenge toh unka jo postmortem hai aur jo tamaam tarah ki jo jaate hain sambhav ho sakenge un baaton se court ko jo hai nirnay lene mein aasaan karne waale nishkarsh mil sakenge isliye court ne jo hai shavon ko surakshit

हाई कोर्ट ने आरोपियों के शो 13 दिसंबर तक सुरक्षित रखने का आदेश क्यों दिया जहां तक मुझे समझ

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  308
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ajay Pratap Singh

Agriculturist

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एनकाउंटर हुआ है एनकाउंटर के उपरांत उसको रखा गया है पोस्टमार्टम होगा अभी मैं जांच कर रहा है पर यदि तुम्हारे रामदेव द्वारा बताए जाएंगे समाज में यह चीज जाएगी कि जो हुआ है यह सही है या गलत इसके ऊपर डिसीजन लेगा और जांच होना तो सब आगे क्या होता है दिखने में काउंटर होते हैं देश भर में सबकी जांच होती है

encounter hua hai encounter ke uprant usko rakha gaya hai postmortem hoga abhi main jaanch kar raha hai par yadi tumhare ramdev dwara bataye jaenge samaj mein yah cheez jayegi ki jo hua hai yah sahi hai ya galat iske upar decision lega aur jaanch hona toh sab aage kya hota hai dikhne mein counter hote hain desh bhar mein sabki jaanch hoti hai

एनकाउंटर हुआ है एनकाउंटर के उपरांत उसको रखा गया है पोस्टमार्टम होगा अभी मैं जांच कर रहा है

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  235
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!