समाजिक अंतर कब और कैसे सामाजिक विभाजन ओं का रूप लें लेते हैं?...


play
user

656 Mangal Singh Thakur

Teacher/Operator

1:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने बहुत अच्छा प्रश्न किया कि सामाजिक अंतर कब और कैसे समाज में विभाजन का रूप लेती है और समाजिक अंतर आने का कार्य होता है आज क्या पुराने समय में भी विचारों का सामंजस्य जब तक एक सामाजिक स्थिरता तब तक रहती है जब तक विचारों का एक समान विचार है अगर जैसे ही समाज में अलग-अलग विचार दुग्ध संघ बन चुके हैं और एक दूसरे एक दूसरे के विचार करने के लिए तैयार नहीं होते हैं ऐसी विचारधारा वाले व्यक्ति का नाम आने वाली विचारधारा धर्म कभी विखंडन व अनेक धर्म बाद में बने हैं उनके अनुयाई अलग-अलग रहे और उन्होंने दूसरे धर्म बनाए उसी प्रकार सामाजिक प्रक्रिया यह केवल विचारों का एक साथ ना होना पाया जाता धन्यवाद

aapne bahut accha prashna kiya ki samajik antar kab aur kaise samaj mein vibhajan ka roop leti hai aur samajik antar aane ka karya hota hai aaj kya purane samay mein bhi vicharon ka samanjasya jab tak ek samajik sthirta tab tak rehti hai jab tak vicharon ka ek saman vichar hai agar jaise hi samaj mein alag alag vichar dugdh sangh ban chuke hain aur ek dusre ek dusre ke vichar karne ke liye taiyar nahi hote hain aisi vichardhara waale vyakti ka naam aane wali vichardhara dharm kabhi vikhandan va anek dharm baad mein bane hain unke anuyayi alag alag rahe aur unhone dusre dharm banaye usi prakar samajik prakriya yah keval vicharon ka ek saath na hona paya jata dhanyavad

आपने बहुत अच्छा प्रश्न किया कि सामाजिक अंतर कब और कैसे समाज में विभाजन का रूप लेती है और स

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  276
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
samajik antar kab aur kaise samajik vibhajan ka roop le lete hain ; samajik antar kab aur kaise samajik vibhajan ka roop le leta hai ; सामाजिक अंतर कब और कैसे सामाजिक विभाजन का रूप लेते हैं ; सामाजिक अंतर कब और कैसे सामाजिक विभाजन का रूप ले लेते हैं ; samajik antar kab aur kaise ; samajik antar kab aur kaise samajik vibhajan ka roop le leti hai ; magic antar kab aur kaise samajik vibhajan ka roop le lete hain ; samajik antar kab aur kaise samajik ; samajik antar kab aur kaise samajik vibhajan ka roop lete hain ; samajik antar kab aur kaise vibhajan ka roop le lete hain ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!