आपने हैदराबाद रेप केस के बारे में सुना, बिहार में ऐसे केसेज़ के बारे में आपके क्या विचार हैं?...


user

Saurav Anuraj

Award winning photographer

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सब ऐसा ऐसा है कि यह लोगों के मेंटालिटी पर काफी ज्यादा डिपेंड करता है लोगों के अंदर में एक्सेल में दर्द होता है ना कि अगर हम कुछ बुरा कर रहे हैं तो वह खत्म हो गया कि करप्शन के मामले में अगर आप देखोगे तो बिहार इंडिया में राजस्थान के बाद कोई भी होता है आपसे ना तू अगर पैसे वाले होते तो ऐसे ही पैसा देकर छूट जाते हैं उनका क्राइम तक नहीं होता और जो आजकल ऐसे कितने सारे रेप केसेस है जो कि मतलब ऐसे ही पड़ा हुआ जिससे कोई रिजल्ट नहीं आया ऊपर अगर ऐसा कुछ ना बनाया जाए या फिर अब बाहर कहीं देखो से बाहर कितनी जगह है सालो है जो कि कितना स्टेट है इन सब चीजों को छोड़ दें लोग कुछ भी गलत करने से मतलब दुबई जाओगे तो आप लोग थूकने से डरते हैं एक डर है कि कुछ भी आप गलत कर रहे हो ना तो आपके अंदर होना चाहिए लोगों के अंदर से जुड़े रहना भाई खत्म हो गया किसी और को इंपॉर्टेंट सेल्फ मिल सके क्योंकि हर जगह हर कोई होता नहीं है उनको निकलती है कहीं निकलती है तो कम से कम उनको सिर्फ रखने के लिए कुछ करना चाहिए ना सके

yah sab aisa aisa hai ki yah logo ke mentalaity par kaafi zyada depend karta hai logo ke andar mein excel mein dard hota hai na ki agar hum kuch bura kar rahe hain toh vaah khatam ho gaya ki corruption ke mamle mein agar aap dekhoge toh bihar india mein rajasthan ke baad koi bhi hota hai aapse na tu agar paise waale hote toh aise hi paisa dekar chhut jaate hain unka crime tak nahi hota aur jo aajkal aise kitne saare rape cases hai jo ki matlab aise hi pada hua jisse koi result nahi aaya upar agar aisa kuch na banaya jaaye ya phir ab bahar kahin dekho se bahar kitni jagah hai saalo hai jo ki kitna state hai in sab chijon ko chod de log kuch bhi galat karne se matlab dubai jaoge toh aap log thookane se darte hain ek dar hai ki kuch bhi aap galat kar rahe ho na toh aapke andar hona chahiye logo ke andar se jude rehna bhai khatam ho gaya kisi aur ko important self mil sake kyonki har jagah har koi hota nahi hai unko nikalti hai kahin nikalti hai toh kam se kam unko sirf rakhne ke liye kuch karna chahiye na sake

यह सब ऐसा ऐसा है कि यह लोगों के मेंटालिटी पर काफी ज्यादा डिपेंड करता है लोगों के अंदर में

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1078
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!