राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के बारे में बताइए?...


user
2:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय मानवाधिकार के घर बात किया जाए तो मानवाधिकार के अध्यक्ष जो होते हैं वह सर्वोच्च न्यायालय से मनोनीत किया जाए मनोनीत किए जाते हैं और मानवाधिकार जो होता है वह मानव जीवन के विकास के लिए स्वतंत्रता यह सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध होता है यानी अगर आपको किसी भी प्रकार की ही नेता या अपने आप की अस्मिता पर कोई छोटा केसी करता है या आपके जीवन में किसी भी प्रकार का अपमान या दुर्व्यवहार करता है तो इसके लिए आप मानवाधिकार का मदद ले सकते हैं मानव अधिकार की अगर बात की जाए तो मानवाधिकार एक प्रकार का आपका यह कह सकते हैं कि यह आयोग है जो आपके मानवीय मूल्यों मूल्यों के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध होता है या नहीं आपके जो मूल उनकी उनकी गरिमा की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध होता है और इसकी जो विशेषताएं होती हैं वह मानव को जन्म लेते ही प्राप्त हो जाते हैं यानी कि पृथ्वी पर आजन दुनिया में आने से ही लिए अधिकार उसको स्वता मिल जाते हैं और यह जो अधिकार होते हैं वह भेदभाव लिंग जाति धर्म या पंथ सबसे ऊपर होते हैं या नहीं ऐसा नहीं है कि किसी व्यक्ति विशेष को ही है दिया जाता है कह सकते हैं कि आप पर संवैधानिक रूप से स्वतंत्र रूप से इसमें आपको अधिकार दिया जाता है और इसका जो देश होता है वह सिर्फ और सिर्फ मानव विकास होता है यानी मानवाधिकार सार्वभौमिक है यह कालू और परिस्थितियों में मानव को प्राप्त हो जाता है ठीक है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बात किया जाए तो 1966 एसपी में राजनैतिक एवं नागरिक अधिकार समझौता संपन्न किया गया मानव अधिकार के परिपेक्ष में अगर बात किया जाए और वहीं अगर मौतों की बात किया जाए तो महत्त्व में यह आपको चैतन्य एवं जागरूक बनाता है और आपके सभी जो भी अनियंत्रित आवाज निकला के क्रियाकलाप है उस पर या कंट्रोल करता है और शासन प्रकाश प्रसाद प्रशासन में अपने कार्यों को लायबिलिटी पूर्वक पूरा करता है और विभिन्न प्रकार की जो भी सूचनाएं होती हैं वह अधिकारियों को प्रेषित की जाती हैं आपके गरिमा को अटूट रखने के लिए ठीक है और इसमें किसी प्रकार की अनियमितता या किसी प्रकार रहे हैं का दुर्व्यवहार पाया जाता है तो आप संबंधित विभाग को या कर्मचारी को आप इसको इसकी शिकायत भी आप कर सकते हैं वर्तमान में मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जो हैं आपके गुटेरेस हैं थैंक यू सो मच

bharatiya manavadhikar ke ghar baat kiya jaaye toh manavadhikar ke adhyaksh jo hote hain vaah sarvoch nyayalaya se manonit kiya jaaye manonit kiye jaate hain aur manavadhikar jo hota hai vaah manav jeevan ke vikas ke liye swatantrata yah suvidhaen pradan karne ke liye pratibaddh hota hai yani agar aapko kisi bhi prakar ki hi neta ya apne aap ki asmita par koi chota kaisi karta hai ya aapke jeevan me kisi bhi prakar ka apman ya durvyavahar karta hai toh iske liye aap manavadhikar ka madad le sakte hain manav adhikaar ki agar baat ki jaaye toh manavadhikar ek prakar ka aapka yah keh sakte hain ki yah aayog hai jo aapke manviya mulyon mulyon ke utthan ke liye pratibaddh hota hai ya nahi aapke jo mul unki unki garima ki raksha ke liye pratibaddh hota hai aur iski jo visheshtayen hoti hain vaah manav ko janam lete hi prapt ho jaate hain yani ki prithvi par ajan duniya me aane se hi liye adhikaar usko swata mil jaate hain aur yah jo adhikaar hote hain vaah bhedbhav ling jati dharm ya panth sabse upar hote hain ya nahi aisa nahi hai ki kisi vyakti vishesh ko hi hai diya jata hai keh sakte hain ki aap par samvaidhanik roop se swatantra roop se isme aapko adhikaar diya jata hai aur iska jo desh hota hai vaah sirf aur sirf manav vikas hota hai yani manavadhikar sarvabhaumik hai yah kalu aur paristhitiyon me manav ko prapt ho jata hai theek hai ki antararashtriya sthar par baat kiya jaaye toh 1966 SP me rajnaitik evam nagarik adhikaar samjhauta sampann kiya gaya manav adhikaar ke paripeksh me agar baat kiya jaaye aur wahi agar mauton ki baat kiya jaaye toh mahatva me yah aapko chaitanya evam jagruk banata hai aur aapke sabhi jo bhi aniyantrit awaaz nikala ke kriyakalap hai us par ya control karta hai aur shasan prakash prasad prashasan me apne karyo ko Liability purvak pura karta hai aur vibhinn prakar ki jo bhi suchnaen hoti hain vaah adhikaariyo ko preshit ki jaati hain aapke garima ko atut rakhne ke liye theek hai aur isme kisi prakar ki aniyamitta ya kisi prakar rahe hain ka durvyavahar paya jata hai toh aap sambandhit vibhag ko ya karmchari ko aap isko iski shikayat bhi aap kar sakte hain vartaman me manavadhikar aayog ke adhyaksh jo hain aapke guterres hain thank you so match

भारतीय मानवाधिकार के घर बात किया जाए तो मानवाधिकार के अध्यक्ष जो होते हैं वह सर्वोच्च न्या

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  199
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!