बक्सर के युद्ध के कारणों की विवेचना कीजिए?...


user

tej

Teacher

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बक्सर के युद्ध के कारण की विवेचना कीजिए बक्सर के युद्ध युद्ध के कारण बंगाल के प्रवृति की समस्या अंग्रेजों की में हुआ समझौते के अनुसार मेट्रो सेवा में अपने भविष्य को पूरा दिया था संरक्षण के नीति का त्याग एलिस की नीति अंग्रेजों की व्यवहारिक विभाग और मैक्सवेल के विरूद्ध संस्कृत पाठ्यक्रम और मेरी कश्मीर के प्रभाव में पर जाकर पटना का हत्याकांड

buxar ke yudh ke karan ki vivechna kijiye buxar ke yudh yudh ke karan bengal ke pravirti ki samasya angrejo ki me hua samjhaute ke anusaar metro seva me apne bhavishya ko pura diya tha sanrakshan ke niti ka tyag alice ki niti angrejo ki vyavaharik vibhag aur maxwell ke virudh sanskrit pathyakram aur meri kashmir ke prabhav me par jaakar patna ka hatyakand

बक्सर के युद्ध के कारण की विवेचना कीजिए बक्सर के युद्ध युद्ध के कारण बंगाल के प्रवृति की स

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

TASMEENA MIRZA

Senior Secondary Teacher/ Admin Advisor

2:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बैटल ऑफ़ बक्सर या बक्सर का युद्ध 1764 में एक तरफ से मीर कासिम जो कि बंगाल के नवाब थे उनके साथ थे शुजा उड दौलाह ज्योति अवध के नवाब थे और उनके साथ तीसरे थे का आलम सेकंड जो कि मुगल एंपरर थी उस वक्त दिल्ली पर धूल कर रहे थे इन तीनों ने मिलकर अंग्रेजो के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी बक्सर के मैदान में जिसे बैटल ऑफ़ बक्सर उसके कारण या उसके रीजन होते हैं क्लास सी में सिराजुद्दौला की हां जब सिराजुद्दौला हार गए तो अंग्रेजों ने मीर जाफर को बंगाल का नवाब बढ़ाने के बाद अंग्रेजों की मांगों को पूरा करने में असमर्थ है उसके बाद अंग्रेजों ने मीर जाफर को हटा की मीर कासिम को बंगाल का नवाब की तरह इस्तेमाल करना है अंग्रेजों के इरादों को बहुत अच्छी तरह बैठे और उन्होंने सिंह की इन भर्ती ही डिमांड को पूरा नहीं करेंगे साथ में उन्होंने यह भी तय कर लिया था कि वह अंग्रेजों को खदेड़ने इसलिए उन्होंने वाकई इसका नतीजा यह निकला दिया यानी बैटल ऑफ़ बक्सर में अंग्रेजों की चील और हिंदुस्तानियों की हार

battle of buxar ya buxar ka yudh 1764 me ek taraf se meer kashim jo ki bengal ke nawab the unke saath the shuja ud daulah jyoti awadh ke nawab the aur unke saath teesre the ka aalam second jo ki mughal emperor thi us waqt delhi par dhul kar rahe the in tatvo ne milkar angrejo ke khilaf ladai ladi thi buxar ke maidan me jise battle of buxar uske karan ya uske reason hote hain class si me Sirajuddaula ki haan jab Sirajuddaula haar gaye toh angrejo ne meer jaafar ko bengal ka nawab badhane ke baad angrejo ki maangon ko pura karne me asamarth hai uske baad angrejo ne meer jaafar ko hata ki meer kashim ko bengal ka nawab ki tarah istemal karna hai angrejo ke iradon ko bahut achi tarah baithe aur unhone Singh ki in bharti hi demand ko pura nahi karenge saath me unhone yah bhi tay kar liya tha ki vaah angrejo ko khadedane isliye unhone vaakai iska natija yah nikala diya yani battle of buxar me angrejo ki chil aur hindustaniyon ki haar

बैटल ऑफ़ बक्सर या बक्सर का युद्ध 1764 में एक तरफ से मीर कासिम जो कि बंगाल के नवाब थे उनके

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user

Vikash Babu

UPSC Coach

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकास बाबू कल पर आपका स्वागत करता हूं बक्सर की लड़ाई के माध्यम से अंग्रेजों ने बंगाल पर पूर्ण विजय पूर्व राजनीतिक स्थापित कि वास्तव में सांसद की प्रक्रिया का अलार्म प्लासी की लड़ाई से हुआ था उसकी चरम परिणति बक्सर के युद्ध में हुई बक्सर की लड़ाई ने बंगाल के नवाब के भागेश्वरी कौशिक कर दिया और अंग्रेजों को बंगाल में सा शासक शक्ति के रूप में उदय हुआ मीर कासिम ने बादशाह शाह आलम और नमक अवध के नवाब सुझावों के साथ मिलकर अंग्रेजों के विरुद्ध सफलतापूर्वक संघ का गठन किया अंग्रेजो के सम्मुख असफलता इस युद्ध में अंग्रेजो की जीत ने ब्रिटिश शक्ति की सर्वोच्च संस्था को सिद्ध कर दिया और उनके विश्वास को अधिक सख्त किया धन्यवाद

vikas babu kal par aapka swaagat karta hoon buxar ki ladai ke madhyam se angrejo ne bengal par purn vijay purv raajnitik sthapit ki vaastav me saansad ki prakriya ka alarm plassey ki ladai se hua tha uski charam parinati buxar ke yudh me hui buxar ki ladai ne bengal ke nawab ke bhageshwari kaushik kar diya aur angrejo ko bengal me sa shasak shakti ke roop me uday hua meer kashim ne badshah shah aalam aur namak awadh ke nawab sujhavon ke saath milkar angrejo ke viruddh safaltaapurvak sangh ka gathan kiya angrejo ke sammukh asafaltaa is yudh me angrejo ki jeet ne british shakti ki sarvoch sanstha ko siddh kar diya aur unke vishwas ko adhik sakht kiya dhanyavad

विकास बाबू कल पर आपका स्वागत करता हूं बक्सर की लड़ाई के माध्यम से अंग्रेजों ने बंगाल पर पू

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
play
user

Prabhat Kumar

Teacher at Oxford English High School 7 year experience

2:04

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्लासी की लड़ाई के बाद अंग्रेजों ने अपनी पसंद के नवाब मीर जाफर को बंगाल की गद्दी पर बैठा दिया इसके बदले में मीर जाफर को कंपनी की हर बात माननी पड़ती थी उन्हें ढेरों रिश्वत देने पड़ते थे उनकी हर मांग को पूरा करना होता था लेकिन अंग्रेजों की मांग खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही थी कंपनी के निरंतर मांगों से मिर्जापुर काफी दुखी हो गया था वह कंपनी की मांग को अनदेखी करने लगा इससे अंग्रेज उसकी आलोचना करने लगे तथा उसे मजबूर किया कि मीर कासिम मीर जाफर का दामाद के हक में नवाब का पद खाली कर दे नवाब बनने के बाद मीर कासिम ने कंपनी को काफी लाभ पहुंचाया जैसे उसने अंग्रेजों को वर्धमान मिदनापुर का चार्ट गांव की जमीन दारी दे दी थी अंग्रेज अधिकारियों की बड़ी-बड़ी सोते दी तूने के व्यापार में कंपनी को आधा लाभ दिया उसने कंपनी को वचन दिया था कि कंपनी के मित्र उसके मित्र और कंपनी के दुश्मन उसके दुश्मन होंगे बदले में कंपनी ने नवाब को वचन दिया था कि वह उसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेंगे हालांकि कंपनी के लिए सिर्फ एक दिखावा था अंग्रेज अपेक्षा कर रहे थे कि अमीर काशी में कठपुतली नवाब की तरह कार्य करेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ मीर कासिम ने आधुनिक सेना खड़ी करने की कोशिश की राजस्व संबंधी सुधार करके राज्य को मजबूत बनाने की कोशिश की उसने पहले तो अंग्रेजों को 10:00 तक किया निफ्टी पास के दुरुपयोग से रोकने की कोशिश की लेकिन जब अंग्रेज नहीं माने तो उसने देसी व्यापार को भी खुली छूट दे दी यह घटना बक्सर के युद्ध का तत्कालीन कारण बना बक्सर के युद्ध में पूर्व मीर कासिम की अंग्रेजों से अनेक लड़ाई हुई 1763 में हारने के बाद वह अवध भाग गया मीर जाफ़र ने वहां अवध के नवाब सिराजुद्दौला और भगोड़े मुगल बादशाह शाह आलम द्वितीय के साथ एक समझौता किया इन तीनों को संयुक्त सेना नियम सर के युद्ध में अंग्रेजो के खिलाफ शिरकत की

plassey ki ladai ke baad angrejo ne apni pasand ke nawab meer jaafar ko bengal ki gaddi par baitha diya iske badle mein meer jaafar ko company ki har baat maanani padti thi unhe dheron rishwat dene padte the unki har maang ko pura karna hota tha lekin angrejo ki maang khatam hone ka naam hi nahi le rahi thi company ke nirantar maangon se mirzapur kaafi dukhi ho gaya tha vaah company ki maang ko andekha karne laga isse angrej uski aalochana karne lage tatha use majboor kiya ki meer kashim meer jaafar ka damaad ke haq mein nawab ka pad khaali kar de nawab banne ke baad meer kashim ne company ko kaafi labh pahunchaya jaise usne angrejo ko vardhman midnapore ka chart gaon ki jameen dari de di thi angrej adhikaariyo ki baadi badi sote di tune ke vyapar mein company ko aadha labh diya usne company ko vachan diya tha ki company ke mitra uske mitra aur company ke dushman uske dushman honge badle mein company ne nawab ko vachan diya tha ki vaah uske aantarik mamlon mein hastakshep nahi karenge halaki company ke liye sirf ek dikhawa tha angrej apeksha kar rahe the ki amir kashi mein kathaputali nawab ki tarah karya karega lekin aisa nahi hua meer kashim ne aadhunik sena khadi karne ki koshish ki rajaswa sambandhi sudhaar karke rajya ko majboot banane ki koshish ki usne pehle toh angrejo ko 10 00 tak kiya nifti paas ke durupyog se rokne ki koshish ki lekin jab angrej nahi maane toh usne desi vyapar ko bhi khuli chhut de di yah ghatna buxar ke yudh ka tatkalin karan bana buxar ke yudh mein purv meer kashim ki angrejo se anek ladai hui 1763 mein haarne ke baad vaah awadh bhag gaya meer jafar ne wahan awadh ke nawab Sirajuddaula aur bhagode mughal badshah shah aalam dwitiya ke saath ek samjhauta kiya in tatvo ko sanyukt sena niyam sir ke yudh mein angrejo ke khilaf shirakat ki

प्लासी की लड़ाई के बाद अंग्रेजों ने अपनी पसंद के नवाब मीर जाफर को बंगाल की गद्दी पर बैठा द

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!