गांधीजी के विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार के आंदोलन का लक्ष्य था?...


play
user

Vikas Singh

Political Analyst

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गांधी जी का जो आंदोलन था विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार के लिए वह बहुत ही बढ़िया था हमारे देश हित के लिए था अगर हम विदेशी वस्तुओं का शुरू से अगर बहिष्कार करते आए होते तो आज हमारे देश के लोग सब कुछ मैन्युफैक्चरिंग करते सब कुछ बनाते और हमारे देश में रोजगार की कमी नहीं होती हमारे हमारी जो करेंसी है हमारा जो रुपया है उसका आज भी डॉलर के बराबर होता है उसका महत्व खत्म होता गया हमारे रुपए का क्योंकि हम लोग विदेशी वस्तुओं के ऊपर निर्भर हो गए विदेशी कंपनियों के ऊपर निर्भर हो गए लेकिन फिर बाद में अब निर्भर हो गए तो उसे हटाना भी बहुत कठिन कार्य है धीरे-धीरे कार्य हो रहा है जैसे कि विद्यालय बनारस का जो रेलवे स्टेशन है वहां पर आज के डेट में जो मिट्टी का बर्तन होता है मिट्टी के बर्तन में सब कुछ मिलेगा सरकार ने नियम बनाया अब स्टेशन पर मिट्टी के बर्तन में चाय मिलेगा मिट्टी के बर्तन में सब कुछ मिलेगा तो इससे क्या होगा कि विदेशी चीजों का बहिष्कार होगा वैसे मोदी जी ने शुरू किया एफडीआई फर्स्ट डेवलपमेंट ऑफ इंडिया फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट होता है एफडीआई का मतलब लेकिन मोदी जी ने उसको बोला फर्स्ट डेवलपमेंट ऑफ इंडिया और फर्स्ट डेवलपमेंट इंडिया का मतलब यह हुआ है कि विदेशी कंपनियां हमारे देश में कंपनियां बनाएंगी उससे हमारे देश के लोगों को रोजगार मिलेगा तो एफडीआई का मतलब अब सही है 2014 के बाद काफी अच्छे से कार्य हो रहा है उसके ऊपर विदेशी लोग काफी पैसा लगा रहे हैं हमारे देश में जिससे दिन पर दिन बेरोजगारी खत्म होती जा रही है थोड़ा खत्म होने में बेरोजगारी टाइम लगेगा क्योंकि कांग्रेस ने 70 साल हमारे देश में कूड़े का ढेर बना के रखा है तो ढेर को हटाने में थोड़ा टाइम लगेगा आइए हम सभी लोग मिलजुलकर अपना वोट भारतीय जनता पार्टी को करें ताकि कांग्रेस नाम की बीमारी से हमार

gandhi ji ka jo andolan tha videshi vastuon ke BA hishkar ke liye vaah BA hut hi BA dhiya tha hamare desh hit ke liye tha agar hum videshi vastuon ka shuru se agar BA hishkar karte aaye hote toh aaj hamare desh ke log sab kuch manufacturing karte sab kuch BA nate aur hamare desh mein rojgar ki kami nahi hoti hamare hamari jo currency hai hamara jo rupya hai uska aaj bhi dollar ke BA rabar hota hai uska mahatva khatam hota gaya hamare rupaye ka kyonki hum log videshi vastuon ke upar nirbhar ho gaye videshi companion ke upar nirbhar ho gaye lekin phir BA ad mein ab nirbhar ho gaye toh use hatana bhi BA hut kathin karya hai dhire dhire karya ho raha hai jaise ki vidyalaya BA naras ka jo railway station hai wahan par aaj ke date mein jo mitti ka BA rtan hota hai mitti ke BA rtan mein sab kuch milega sarkar ne niyam BA naya ab station par mitti ke BA rtan mein chai milega mitti ke BA rtan mein sab kuch milega toh isse kya hoga ki videshi chijon ka BA hishkar hoga waise modi ji ne shuru kiya IFDI first development of india foreign direct investment hota hai IFDI ka matlab lekin modi ji ne usko bola first development of india aur first development india ka matlab yah hua hai ki videshi companiya hamare desh mein companiya BA naengi usse hamare desh ke logo ko rojgar milega toh IFDI ka matlab ab sahi hai 2014 ke BA ad kaafi acche se karya ho raha hai uske upar videshi log kaafi paisa laga rahe hai hamare desh mein jisse din par din berojgari khatam hoti ja rahi hai thoda khatam hone mein berojgari time lagega kyonki congress ne 70 saal hamare desh mein koode ka dher BA na ke rakha hai toh dher ko hatane mein thoda time lagega aaiye hum sabhi log miljulakar apna vote bharatiya janta party ko kare taki congress naam ki bimari se hamar

गांधी जी का जो आंदोलन था विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार के लिए वह बहुत ही बढ़िया था हमारे देश

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
videshi vastuon ka bahishkar ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!