हैदराबाद एनकाउंटर पर क्यूँ उठ रहे हैं सवाल? ...


play
user

Liyakat Ali Gazi

MOTIVATIONAL SPEAKER|| LIFE COACH || CORPORATE TRAINER|| EDUCATOR||

2:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हैदराबाद इन काउंटर पर जो सवाल उठ रहे थे कि जनता का काम है लोगों का काम है लाजिमी शिवा थे के सवाल उठाना लेकिन अगर मानवता इंसानियत और सच्चाई की तहकीकात से उसको देखा जाए तो जो हैदराबाद में यह चार शैतानों दान वो राक्षसों का एनकाउंटर किया गया है यह मानवता इंसानियत की भावनाओं के प्रति सहानुभूति दिखाते हुए दया दिखाते हुए बहुत ही आवश्यक था और सही किया गया है बात सवालों की आती है तो जनता के मन में यह सवाल आते हैं चाहे कोई अच्छा काम हो या बुरा काम हो सवाल तो जनता का काम सवाल उठाना लोगों का काम है सवाल उठाना लेकिन जैसी करनी वैसी भरनी वाला जो कहावत है उसके तर्ज पर एनकाउंटर बहुत ही सही किया गया है क्योंकि इससे जो लिखकर टाइप के जो गलत आरोपी हैं यह जो गलत सोच की प्रवृति के आदमी हैं उनके मन में मौत का खौफ का डर पैदा होगा जब डर पैदा होगा जब किसी चीज का भी डर पैदा होता है इंसान के दिल और दिमाग में तभी इंसान उस काम को करने से बचता है खुद को रोकता है जाहिर सी बात है इससे एक ऐसा माहौल तैयार होगा समाज में कि पूरे देश में इसके महिलाएं अपने आप को सुरक्षित समझेंगे औरतें लड़कियां अपने आप को सुरक्षित समझेंगे और साथ ही साथ में वह जो है उनके अंदर हिम्मत आएगी कि हां हमें भी न्याय दिलाने वाला कोई है मेरे साथ जो अन्याय होता है वह अब नहीं होगा वह बाहर मार्केट में ऑफिस में समाज में घर परिवार में आने जाने में अपने आप को महफूज महसूस करेंगी हम 22:00 बजे के डर पैदा हुआ था वह खत्म होगा

hyderabad in counter par jo sawaal uth rahe the ki janta ka kaam hai logo ka kaam hai lazmi shiva the ke sawaal uthana lekin agar manavta insaniyat aur sacchai ki tahkikat se usko dekha jaaye toh jo hyderabad mein yah char shaitanon daan vo rakshason ka encounter kiya gaya hai yah manavta insaniyat ki bhavnao ke prati sahanubhuti dikhate hue daya dikhate hue bahut hi aavashyak tha aur sahi kiya gaya hai baat sawalon ki aati hai toh janta ke man mein yah sawaal aate hain chahen koi accha kaam ho ya bura kaam ho sawaal toh janta ka kaam sawaal uthana logo ka kaam hai sawaal uthana lekin jaisi karni vaisi bharani vala jo kahaavat hai uske tarj par encounter bahut hi sahi kiya gaya hai kyonki isse jo likhkar type ke jo galat aaropi hain yah jo galat soch ki pravirti ke aadmi hain unke man mein maut ka khauf ka dar paida hoga jab dar paida hoga jab kisi cheez ka bhi dar paida hota hai insaan ke dil aur dimag mein tabhi insaan us kaam ko karne se bachta hai khud ko rokta hai jaahir si baat hai isse ek aisa maahaul taiyar hoga samaj mein ki poore desh mein iske mahilaye apne aap ko surakshit samjhenge auraten ladkiyan apne aap ko surakshit samjhenge aur saath hi saath mein vaah jo hai unke andar himmat aayegi ki haan hamein bhi nyay dilaane vala koi hai mere saath jo anyay hota hai vaah ab nahi hoga vaah bahar market mein office mein samaj mein ghar parivar mein aane jaane mein apne aap ko mahfuz mehsus karengi hum 22 00 baje ke dar paida hua tha vaah khatam hoga

हैदराबाद इन काउंटर पर जो सवाल उठ रहे थे कि जनता का काम है लोगों का काम है लाजिमी शिवा थे क

Romanized Version
Likes  96  Dislikes    views  1991
KooApp_icon
WhatsApp_icon
14 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
sawal ta bade ne par puchne mp3 ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!