आज कल के बॉलीवुड गानों के बारे में आपके क्या ख्याल हैं? क्या आजकल गानों के अर्थ ख़त्म होते जा र है हैं?...


user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप पहले किस जमाने में जो बॉलीवुड के गाने बनते थे उसकी मुकाबले आगर आजकल के बॉलीवुड के गानों की बात करें तो मुझे लगता है कि यह बात सही है कि बॉलीवुड के गानों के अर्थ खत्म होते जा रहे हैं मैं आपको बताना चाहूंगा कि पहले जो आते थे पहले हमें बॉलीवुड में क्रिएटिविटी देखने को मिलती थी पहले जो बॉलीवुड के कलाकार होते थे लिरिक्स टो थे म्यूजिशियन होते थे या फिर डेज होते उनमें कहीं ना कहीं केक काट खाए क्रिएटिविटी थी कि जो लोगों को दर्शकों को अपील कर जाती थी मुझे लगता है कि आज किस जमाने में लोगों को एकदम क्विक रिस्पॉन्स चाहिए लोगों को एकदम क्विक आउटपुट चाहिए इसकी वजह से वह लोग क्या करते हैं कि आज पुराने गानों में से कॉपी कर लेते हैं या तो फिर पुराने कोई बहुत पुरानी इंग्लिश फिल्म में से या तो इस फिल्म में से कॉपी करके बॉलीवुड फिल्म की स्टोरी लिख लेते हैं तो कहीं ना कहीं ऐसा होता है क्या लिखना पड़ेगा नए गानों की कर और नए म्यूजिक देखकर लोगों को सामने दिया जाता है जिससे कि लोगों का ऐसा लगता है कि मैं यह नया गाना है वह रीक्रिएट हुआ है ऐसा लगता है पर कहीं ना कहीं मुझे लगता है कि बॉलीवुड में आज के तौर पर क्रिएटिविटी खत्म होती जा रही हो इसका सीधा असर बोल्ट किस सन में प्रतिमा पर देखने को मिलता है और साथ में उनके गाने जो आ रहे हैं उनके ऊपर भी क्रिएटिविटी ना के बराबर देख रही है

aap pehle kis jamaane mein jo bollywood ke gaane bante the uski muqable aagar aajkal ke bollywood ke gaano ki baat karen toh mujhe lagta hai ki yah baat sahi hai ki bollywood ke gaano ke arth khatam hote ja rahe hain main aapko bataana chahunga ki pehle jo aate the pehle hamein bollywood mein creativity dekhne ko milti thi pehle jo bollywood ke kalakar hote the lyrics toe the musician hote the ya phir days hote unmen kahin na kahin cake kaat khaye creativity thi ki jo logon ko darshakon ko appeal kar jaati thi mujhe lagta hai ki aaj kis jamaane mein logon ko ekdam quick rispans chahiye logon ko ekdam quick output chahiye iski wajah se vaah log kya karte hain ki aaj purane gaano mein se copy kar lete hain ya toh phir purane koi bahut purani english film mein se ya toh is film mein se copy karke bollywood film ki story likh lete hain toh kahin na kahin aisa hota hai kya likhna padega naye gaano ki kar aur naye music dekhkar logon ko saamne diya jata hai jisse ki logon ka aisa lagta hai ki main yah naya gaana hai vaah rikriet hua hai aisa lagta hai par kahin na kahin mujhe lagta hai ki bollywood mein aaj ke taur par creativity khatam hoti ja rahi ho iska seedha asar bolt kis san mein pratima par dekhne ko milta hai aur saath mein unke gaane jo aa rahe hain unke upar bhi creativity na ke barabar dekh rahi hai

आप पहले किस जमाने में जो बॉलीवुड के गाने बनते थे उसकी मुकाबले आगर आजकल के बॉलीवुड के गानों

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  219
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
cisce login ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!