IAS की तैयारी क्या बिना कोचिंग के हो सकती?...


user

Sanjeev Singh

Career Coach for Civil Services and Other Competitive Examinations

5:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

टेक्नोलॉजी के इस युग में किसी भी कोचिंग की आवश्यकता किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए नहीं है किसी परीक्षा की तैयारी के लिए आपको किसी कोचिंग पर निर्भर होने की आवश्यकता नहीं है आज के युग में जहां पर टेक्नोलॉजी अब घर-घर पहुंच चुकी है टेक्नोलॉजी के माध्यम से हम एक दूसरे से जुड़ रहे हैं एक दूसरे से बातें कर रहे हैं एक दूसरे से संदेश पहुंचा रहे हैं तो टेक्नोलॉजी के ही माध्यम से हम सब लोग एक दूसरे स्थान का स्टडी मैटेरियल भी एक्सेस कर सकते हैं जो 30 आईएएस के लिए दिल्ली के बड़े-बड़े कोचिंग संस्थाओं में पढ़ाई जा रही है और बड़ी मूर्ति भारी-भरकम रकम लेकर चीजों को पढ़ाया जा रहा कि हमारे सबों के मोबाइल में इंटरनेट के माध्यम से उपलब्ध है यूट्यूब पर कैसे चैनल से जिस पर किसी भी टॉपिक को आप टाइप करें तो दर्जनों छोटू का लेक्चर आता है आप जिसका नेचर चाहे सुन ले एक या अधिक से अधिक लोगों का लेक्चर आप सुन सकते हैं प्राप्त कर सकते हैं के रूप में सभी जगह उपलब्ध है टेक्नॉलॉजी के माध्यम से अनेक प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए स्टडी मैटेरियल्स उपलब्ध करा रहे हैं और ऐसे ही आवश्यक कोई कोचिंग गए बिना आज ऐसे दर्जनों रिजल्ट से हर वर्ष कि लोग बिना किसी कोचिंग को गए हुए स्टडी मैटेरियल लेते हैं प्रीवियस ईयर क्वेश्चन एनालिसिस करते हैं परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं उसे अटेंड को फॉलो करते हैं उसका टंकी एनालिसिस करते हैं उस बटन को फॉलो करके आगे अपनी तैयारी की स्ट्रैटेजी बनाते हैं स्ट्रेटजी के रिकॉर्डिंग जो पूरे सिलेबस है उस सिलेबस को पहले पेपर में बांटा गया है पेपर्स के अंदर फिर जितने टॉपिक से उस टॉपिक को क्लासिफाई करते हैं वर्गीकृत करते हैं उस टॉपिक सोशल टॉपिक्स छोटे छोटे छोटे छोटे टॉपिक में भागते हैं फिर सभी टॉपिक्स जितने भी टॉपिक से जैसे जनरल स्टडीज पेपर है पेपर में दर्जनों टॉपिक से उन दिनों के अंदर सब टॉपिक्स में दर्जनों टॉपिक ऑन सारे टॉपिक टॉपिक छोटे छोटे छोटे छोटे हेडिंग बनाकर हम सब लोग लिख सकते उसके बाद जो हमारा छोटा हेडिंग बना है उसे हम लोग क्वेश्चन ना करते कि कहां से क्या प्रश्न पूछे जाते हैं कहां से प्रश्न पूछे जाते हैं उसके बाद आप उनको थोड़ी ज्यादा गहनता के साथ ऐसे ही सब टॉपिक से छोटे-छोटे सब टॉपिक से उसके लिए हम गूगल के माध्यम से सर्च करेंगे कि मैटेरियल्स कहां कहां उपलब्ध है उसमें चढ़ी उसको हम लोग स्टडी करेंगे उसको नोट डाउन करेंगे आवश्यकता पड़ेगी तो यूट्यूब चैनल्स बहुत सारे उपलब्ध है आज के समय में सारे सॉफ्ट टॉपिक्स को टाइप करेंगे यूट्यूब में जाकर जो भी अलग-अलग चैनल्स लेंगे उसमें से हम अलग-अलग लोगों का लेक्चर सुनेंगे उसे अपना कंसेप्ट बिल्ड कर सकते करके उसको भी लिख सकते हैं इन दोनों चीजों को लिखने के बाद हम लोग एनालिसिस कर सकते हैं कि आप इसलिए किसी परीक्षा में पूछा गया है या नहीं पूछा क्या अगर पूछा गया है तो उसका क्या उत्तर होगा आंसर राइटिंग कब तक कर सकते हैं और इस बार कौन सा प्रश्न पूछे जाने की संभावना है इसका आकलन भी हम संग से कर सकते हैं और उत्तर देने का अभ्यास भी कर सकते हैं बाद में हम देखेंगे कि हमारे में कितना क्वांटिटी कितना परिमाणात्मक परिवर्तन हुआ है कितना क्वालिटी चेंज हुआ या नहीं सिर्फ अटेंड कर सकते हैं टेस्ट देकर देखेंगे देखेंगे हम अपना मूल्यांकन कहां तक पहुंचे हम क्या देश में है यार ऐसे कितना पीछे अगर ज्यादा पीछे हैं तो हमको और कितना ज्यादा एयरपोर्ट लगाने की आवश्यकता है अगर ठीक है तो उस अभ्यास को कितना निरंतरता बनाए रखने की जरूरत है तो इस हिसाब से हम यूपीएससी की तैयारी बिना कोचिंग के भी कर सकते हैं और मैंने एक बार इस बात को पूरा रिपीट करता हूं कि ऐसे दर्जनों उदाहरण है प्रतिबल ऐसे दर्जनों ऐसे छात्र छात्रा हैं जिन्होंने कोई कोचिंग नहीं लिया और सफल हुआ है रस्मों को आईएस मिला है इसलिए मेरा पूरा विश्वास है कि कोचिंग तो आवश्यक है परंतु कोचिंग के बिना नहीं हो सकता है ऐसा मैं नहीं मांगता हूं कोचिंग करके भी लोग सफल होते हैं और कोचिंग किए बिना भी लोग सफल होते हैं इसलिए आप इस बात को अपने मन में बैठा ले कि आप अगर कोचिंग नहीं करते तब भी आप सफल हो सकते हैं बस को कंटिन्यू करना है कि आपकी पढ़ाई में नियमित निरंतरता कितनी लगती कर सकते हैं तो कोई आवश्यक तत्व नहीं है

technology ke is yug mein kisi bhi coaching ki avashyakta kisi bhi pariksha ki taiyari ke liye nahi hai kisi pariksha ki taiyari ke liye aapko kisi coaching par nirbhar hone ki avashyakta nahi hai aaj ke yug mein jaha par technology ab ghar ghar pohch chuki hai technology ke madhyam se hum ek dusre se jud rahe hain ek dusre se batein kar rahe hain ek dusre se sandesh pohcha rahe hain toh technology ke hi madhyam se hum sab log ek dusre sthan ka study material bhi access kar sakte hain jo 30 IAS ke liye delhi ke bade bade coaching sasthaon mein padhai ja rahi hai aur badi murti bhari bharakam rakam lekar chijon ko padhaya ja raha ki hamare sabon ke mobile mein internet ke madhyam se uplabdh hai youtube par kaise channel se jis par kisi bhi topic ko aap type kare toh darjanon chotu ka lecture aata hai aap jiska nature chahen sun le ek ya adhik se adhik logo ka lecture aap sun sakte hain prapt kar sakte hain ke roop mein sabhi jagah uplabdh hai technology ke madhyam se anek pratiyogi parikshao ke liye study Materials uplabdh kara rahe hain aur aise hi aavashyak koi coaching gaye bina aaj aise darjanon result se har varsh ki log bina kisi coaching ko gaye hue study material lete hain previous year question analysis karte hain pariksha mein kis prakar ke prashna pooche jaate hain use attend ko follow karte hain uska tanki analysis karte hain us button ko follow karke aage apni taiyari ki straiteji banate hain strategy ke recording jo poore syllabus hai us syllabus ko pehle paper mein baata gaya hai papers ke andar phir jitne topic se us topic ko klasifai karte hain vargikrit karte hain us topic social topics chote chhote chote chhote topic mein bhagte hain phir sabhi topics jitne bhi topic se jaise general studies paper hai paper mein darjanon topic se un dino ke andar sab topics mein darjanon topic on saare topic topic chote chhote chote chhote heading banakar hum sab log likh sakte uske baad jo hamara chota heading bana hai use hum log question na karte ki kahaan se kya prashna pooche jaate hain kahaan se prashna pooche jaate hain uske baad aap unko thodi zyada gahanata ke saath aise hi sab topic se chote chhote sab topic se uske liye hum google ke madhyam se search karenge ki Materials kahaan kahaan uplabdh hai usme chadhi usko hum log study karenge usko note down karenge avashyakta padegi toh youtube channels bahut saare uplabdh hai aaj ke samay mein saare soft topics ko type karenge youtube mein jaakar jo bhi alag alag channels lenge usme se hum alag alag logo ka lecture sunenge use apna concept build kar sakte karke usko bhi likh sakte hain in dono chijon ko likhne ke baad hum log analysis kar sakte hain ki aap isliye kisi pariksha mein poocha gaya hai ya nahi poocha kya agar poocha gaya hai toh uska kya uttar hoga answer writing kab tak kar sakte hain aur is baar kaun sa prashna pooche jaane ki sambhavna hai iska aakalan bhi hum sang se kar sakte hain aur uttar dene ka abhyas bhi kar sakte hain baad mein hum dekhenge ki hamare mein kitna quantity kitna parimanatmak parivartan hua hai kitna quality change hua ya nahi sirf attend kar sakte hain test dekar dekhenge dekhenge hum apna mulyankan kahaan tak pahuche hum kya desh mein hai yaar aise kitna peeche agar zyada peeche hain toh hamko aur kitna zyada airport lagane ki avashyakta hai agar theek hai toh us abhyas ko kitna nirantarata banaye rakhne ki zarurat hai toh is hisab se hum upsc ki taiyari bina coaching ke bhi kar sakte hain aur maine ek baar is baat ko pura repeat karta hoon ki aise darjanon udaharan hai pratibal aise darjanon aise chatra chatra hain jinhone koi coaching nahi liya aur safal hua hai rasmon ko ias mila hai isliye mera pura vishwas hai ki coaching toh aavashyak hai parantu coaching ke bina nahi ho sakta hai aisa main nahi mangta hoon coaching karke bhi log safal hote hain aur coaching kiye bina bhi log safal hote hain isliye aap is baat ko apne man mein baitha le ki aap agar coaching nahi karte tab bhi aap safal ho sakte hain bus ko continue karna hai ki aapki padhai mein niyamit nirantarata kitni lagti kar sakte hain toh koi aavashyak tatva nahi hai

टेक्नोलॉजी के इस युग में किसी भी कोचिंग की आवश्यकता किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए नहीं

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  487
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!