महात्मा गांधी किसकी कीर्ति से अत्यधिक प्रभावित थे?...


user
0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पर्सनल महात्मा गांधी किसकी कृति से अधिक प्रभावित है तो महात्मा गांधी खुद के द्वारा लिखी गई जो भी किताबें थी जिसमें उन्होंने सत्य और अहिंसा का शब्दों का उच्चारण किया था उसको लिखा था उसको दिल से लिखा था तो उन्होंने खुद भी कहा था कि मेरी किताबों ने ही मेरी जिंदगी अधूरी है क्योंकि उसने उन्होंने 17 हिंसा का जो भी विवरण दिया है वह तारीफ के काबिल है और उनकी बुक्स जो भी है वह गुजराती में लिखी गई हैं तो उनकी किताबों ने उन्हें सबसे अधिक प्रभावित किया

aapka personal mahatma gandhi kiski kriti se adhik prabhavit hai toh mahatma gandhi khud ke dwara likhi gayi jo bhi kitaben thi jisme unhone satya aur ahinsa ka shabdon ka ucharan kiya tha usko likha tha usko dil se likha tha toh unhone khud bhi kaha tha ki meri kitabon ne hi meri zindagi adhuri hai kyonki usne unhone 17 hinsa ka jo bhi vivran diya hai vaah tareef ke kaabil hai aur unki books jo bhi hai vaah gujarati me likhi gayi hain toh unki kitabon ne unhe sabse adhik prabhavit kiya

आपका पर्सनल महात्मा गांधी किसकी कृति से अधिक प्रभावित है तो महात्मा गांधी खुद के द्वारा लि

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  499
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है महात्मा गांधी किसकी कृति से सर्वाधिक प्रभावित हुए थे तो बताना चाहता हूं महात्मा गांधी खुद लिखी गई कृति आत्मकथा ज्योति वह सत्य का प्रयोग थी जिससे वह सबसे ज्यादा प्रभावित सत्य के प्रयोग महात्मा गांधी द्वारा लिखी गई पुस्तक है जिसे उनकी आत्मकथा का दर्जा हासिल हुआ जिससे वह सबसे ज्यादा प्रभावित हुए थे और उन्होंने खुद भी कहा था कि एक किताब जिसने मेरी जिंदगी बदल दी और यह मूल रूप से गुजराती में लिखी गई है धन्यवाद

aapne poocha hai mahatma gandhi kiski kriti se sarvadhik prabhavit hue the toh batana chahta hoon mahatma gandhi khud likhi gayi kriti atmakatha jyoti vaah satya ka prayog thi jisse vaah sabse zyada prabhavit satya ke prayog mahatma gandhi dwara likhi gayi pustak hai jise unki atmakatha ka darja hasil hua jisse vaah sabse zyada prabhavit hue the aur unhone khud bhi kaha tha ki ek kitab jisne meri zindagi badal di aur yah mul roop se gujarati me likhi gayi hai dhanyavad

आपने पूछा है महात्मा गांधी किसकी कृति से सर्वाधिक प्रभावित हुए थे तो बताना चाहता हूं महात्

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  609
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
mahatma gandhi kiski kritiyon se atyadhik prabhavit the ; mahatma gandhi kiski kritiyon se adhik prabhavit the ; mahatma gandhi ki kriti kya hai ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!