ग्लोबल वार्मिंग से बचने का सबसे महत्वपूर्ण उपाय क्या है?...


user

B San

Entrepreneur | Management | Consultant | Advisor

3:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण है ग्लोबल वार्मिंग से बचने के सबसे महत्वपूर्ण उपाय क्या है ग्लोबल वार्मिंग से बचने के लिए पहले जरा ग्लोबल वार्मिंग के बारे में बताना चाहूंगा कि पृथ्वी में औसत तापमान में वृद्धि ग्लोबल वार्मिंग गई प्रारूप बीसवीं शताब्दी के आरंभ से ही पृथ्वी में तापमान में बढ़ोतरी की शुरुआत हो गई थी जो सतत गतिमान और जनमानस के लिए अत्यधिक गंभीर विषय बने ग्लोबल वार्मिंग के लिए प्रत्येक व्यक्ति को जागरूक होना है अर्थात पर्यावरणीय शिक्षा को जानना है कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण का कार्य क्या है किस कारण हुई ब्लू भगवान उन कारणों में जैसे वनों का कटाव हो गया है तो मैं पेड़ लगाने दोनों के चरणों का कटा हुआ वहां फैक्ट्री में लग गई है फैक्ट्रियों का संचालन हो रहा है और जिन व्यक्तियों द्वारा अनियंत्रित प्रदूषण प्रति सेकेंड की दर से प्रवाहित किया जा रहा है पॉलिथीन का प्रयोग हो रहा है इस पर कुछ सुझाव देना चाहूंगा जिसे हम उनके प्रति अपनी कृतज्ञता प्रमाणित कर सकते हैं जैसे बाजार बाजार जाते समय कपड़े के थैले का जूट के थैले का बास्केट का प्रयोग कर सकते हैं तेरी पॉलीथिन थैली की इस्तेमाल के अलावा कोई विकल्प न बजे पॉलिथीन की आपको ठेले की जरूरत है तो एक समान के लिए अलग-अलग पॉलीथिन थैलों की प्रयोग ना करें एक ही चेहरे में अन्य सामानों को रखकर उसे प्रयोग में लाएं इसे आप पुलिसिंग का कम प्रयोग करेंगे घर में पॉलिथीन की थैली को काफी उपयोग किया जाता है जिसे लंच पैक करने में कपड़े रखने में करने घरेलू सामान रखने में तो इसमें कम करने का प्रयास करें तुम पॉलिथीन पर भेजो कम कर सकते हैं पॉलीथिन के थैलों से जितना हो सके उतना बचे हैं पॉलीथिन के थैलों में एक बार इस्तेमाल करके उसे फेंकने की जगह पप्पू नथमल करेंगे तो कुछ होने वाली चीज नहीं है वह अक्षय उसका वह नष्ट नहीं होती है तो इसलिए अगर आप उसे फेंक देंगे तो पर्यावरण को दूषित किया था इसलिए अगर आपको अनिवार्य समय कुछ ही पलों में लिख कर सकते हैं स्कूल में पोस्टर द्वारा प्रजेंटेशन देखिए जागरूकता फैलाई जा सकती है और सबसे पारिवारिक दृष्टि से हम अपने बच्चों को प्रोत्साहित कर सकते हैं कि वह अपने पुराने खिलौने जैसे जैसे छोटे बच्चों के होते हैं कोई भी टॉयज हम लेकर आते हैं उनका उपयोग कर सकते हैं उन्हें विषय के लिए ने किसी अन्य व्यक्ति को बच्चों को दे सकते हैं तो सामग्री नष्ट होने से बच जाएगी उसको मैं तो होना ही नहीं प्लास्टिक है दो अन्य बच्चों को खरीदना ना पड़े अब उन्हें दे सकते हैं वह लोग उसको अपने प्रयोग में ला सकते हैं तो इससे बच्चों में पर्यावरण के प्रति भी भावना बढ़ेगी कि हमें प्लास्टिक का प्रयोग को कंगन से सारी चीजों का ध्यान रखें हम ग्लोबल वार्मिंग से लड़ सकते हैं और एक सामाजिक व्यक्तित्व की छवि बना सकते हैं धन्यवाद

krishna hai global warming se bachne ke sabse mahatvapurna upay kya hai global warming se bachne ke liye pehle zara global warming ke bare me batana chahunga ki prithvi me ausat taapman me vriddhi global warming gayi prarup biswin shatabdi ke aarambh se hi prithvi me taapman me badhotari ki shuruat ho gayi thi jo satat gatiman aur janmanas ke liye atyadhik gambhir vishay bane global warming ke liye pratyek vyakti ko jagruk hona hai arthat paryavaraniye shiksha ko janana hai ki global warming ke karan ka karya kya hai kis karan hui blue bhagwan un karanon me jaise vano ka kataav ho gaya hai toh main ped lagane dono ke charno ka kata hua wahan factory me lag gayi hai faiktriyon ka sanchalan ho raha hai aur jin vyaktiyon dwara aniyantrit pradushan prati second ki dar se pravahit kiya ja raha hai polythene ka prayog ho raha hai is par kuch sujhaav dena chahunga jise hum unke prati apni kritagyata pramanit kar sakte hain jaise bazaar bazaar jaate samay kapde ke thaile ka jute ke thaile ka basket ka prayog kar sakte hain teri polythene theli ki istemal ke alava koi vikalp na baje polythene ki aapko thele ki zarurat hai toh ek saman ke liye alag alag polythene thailon ki prayog na kare ek hi chehre me anya samanon ko rakhakar use prayog me laye ise aap pulisingh ka kam prayog karenge ghar me polythene ki theli ko kaafi upyog kiya jata hai jise lunch pack karne me kapde rakhne me karne gharelu saamaan rakhne me toh isme kam karne ka prayas kare tum polythene par bhejo kam kar sakte hain polythene ke thailon se jitna ho sake utana bache hain polythene ke thailon me ek baar istemal karke use fenkne ki jagah pappu nathamal karenge toh kuch hone wali cheez nahi hai vaah akshay uska vaah nasht nahi hoti hai toh isliye agar aap use fenk denge toh paryavaran ko dushit kiya tha isliye agar aapko anivarya samay kuch hi palon me likh kar sakte hain school me poster dwara prajenteshan dekhiye jagrukta failai ja sakti hai aur sabse parivarik drishti se hum apne baccho ko protsahit kar sakte hain ki vaah apne purane khilone jaise jaise chote baccho ke hote hain koi bhi toys hum lekar aate hain unka upyog kar sakte hain unhe vishay ke liye ne kisi anya vyakti ko baccho ko de sakte hain toh samagri nasht hone se bach jayegi usko main toh hona hi nahi plastic hai do anya baccho ko kharidna na pade ab unhe de sakte hain vaah log usko apne prayog me la sakte hain toh isse baccho me paryavaran ke prati bhi bhavna badhegi ki hamein plastic ka prayog ko kangan se saari chijon ka dhyan rakhen hum global warming se lad sakte hain aur ek samajik vyaktitva ki chhavi bana sakte hain dhanyavad

कृष्ण है ग्लोबल वार्मिंग से बचने के सबसे महत्वपूर्ण उपाय क्या है ग्लोबल वार्मिंग से बचने क

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  166
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!