साधु का स्वभाव कैसा होना चाहिए?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहां गया सर्व भूतही तरसा अधूरा सा दूर निर्दय सा जो सभी प्राणियों का कल्याण चाहे उसे साधु कहते हैं और जो निर्दई हो किसी के प्रति दया का भाव जिसके अंदर नहीं हो उसे असदु कहते हैं दुर्जन कहते हैं सज्जन यानी न सिर्फ मनुष्य मात्र का बल्कि जीव मात्र का कल्याण चाहे और दुर्जन यानी कि नहीं बताइए निष्ठा बहुत-बहुत धन्यवाद

kahaan gaya surv bhuthi tarasa adhura sa dur nirday sa jo sabhi praniyo ka kalyan chahen use sadhu kehte hain aur jo nirdayi ho kisi ke prati daya ka bhav jiske andar nahi ho use asadu kehte hain durjan kehte hain sajjan yani na sirf manushya matra ka balki jeev matra ka kalyan chahen aur durjan yani ki nahi bataiye nishtha bahut bahut dhanyavad

कहां गया सर्व भूतही तरसा अधूरा सा दूर निर्दय सा जो सभी प्राणियों का कल्याण चाहे उसे साधु क

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  1116
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Karan Janwa

Automobile Engineer

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक साधु को हमेशा सुख और दुख में और प्रत्येक परिस्थिति में एचडी में दिखाना चाहिए और उस स्थिति में एक समान बुद्धि का व्यक्ति होता है और दुष्कर्म का शिकार करता है और कहा गया कि सर्वोत्तम साधन जाने वाला होता है उसका गया किस से लेना तो सब जगह नहीं होता है ऐसा अधिकारी होता है कि भूतों की इच्छा ना और हमेशा प्रतिकृति में एक समान बने रहना

ek sadhu ko hamesha sukh aur dukh mein aur pratyek paristithi mein hd mein dikhana chahiye aur us sthiti mein ek saman buddhi ka vyakti hota hai aur dushkarm ka shikaar karta hai aur kaha gaya ki sarvottam sadhan jaane vala hota hai uska gaya kis se lena toh sab jagah nahi hota hai aisa adhikari hota hai ki bhooton ki iccha na aur hamesha pratikriti mein ek saman bane rehna

एक साधु को हमेशा सुख और दुख में और प्रत्येक परिस्थिति में एचडी में दिखाना चाहिए और उस स्थि

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  329
WhatsApp_icon
user

Dr Kanahaiya

Dr Kanahaiya Reki Grand Masstr Apt .Sujok .Homyopathy .

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेपाल का राष्ट्रपति

nepal ka rashtrapati

नेपाल का राष्ट्रपति

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user

Vaibhav Sharma

Spiritual and Motivational Speaker

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साधु का और संत का स्वभाव कैसा होना चाहिए एक मन में हमारे कई धार्मिक ग्रंथों में बहुत सी बातें बताई गई हैं जिसमें से एक बहुत ही महत्वपूर्ण बताया गया है संत हृदय नवनीत समाना नवनीत अर्थात मक्खन के साथ होगा जो हृदय है उसका जो स्वभाव है वह नवनीत मक्खन के समान होता है जो किसी भी व्यक्ति किसी भी जीव के दुख और कष्ट को देखकर पिघल जाता है और सही रूप में यही एक्शन 1 सालों की पहचान भी है जो किसी के कष्ट को ना देख सके और यदि वह समझ तो हर संभव प्रयास करें कि उसके कष्टों से मुक्ति मिल सकेगी जो नवनीत की संज्ञा साधु किस स्वभाव को दी गई है यह पूर्णता सत्य है और यदि किसी का हृदय नवनीत के समान है आवश्यक नहीं है कि वह गेरुआ वस्त्र में हो वह ह्रदय से संतोष साधु की श्रेणी में आता है

sadhu ka aur sant ka swabhav kaisa hona chahiye ek man mein hamare kai dharmik granthon mein bahut si batein batai gayi hain jisme se ek bahut hi mahatvapurna bataya gaya hai sant hriday navneet samaana navneet arthat makhan ke saath hoga jo hriday hai uska jo swabhav hai vaah navneet makhan ke saman hota hai jo kisi bhi vyakti kisi bhi jeev ke dukh aur kasht ko dekhkar pighal jata hai aur sahi roop mein yahi action 1 salon ki pehchaan bhi hai jo kisi ke kasht ko na dekh sake aur yadi vaah samajh toh har sambhav prayas kare ki uske kaston se mukti mil sakegi jo navneet ki sangya sadhu kis swabhav ko di gayi hai yah purnata satya hai aur yadi kisi ka hriday navneet ke saman hai aavashyak nahi hai ki vaah gerua vastra mein ho vaah hriday se santosh sadhu ki shreni mein aata hai

साधु का और संत का स्वभाव कैसा होना चाहिए एक मन में हमारे कई धार्मिक ग्रंथों में बहुत सी बा

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  4  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user
0:10
Play

Likes  4  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user

Ummed singh

Study📚✏

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड आप का सवाल है साधु का स्वभाव कैसा होना चाहिए आदमी का सरल होना चाहिए उसमें वीर दया करुणा की भावना से और अपने शिष्यों के प्रति आदर थैंक यू

hello friend aap ka sawaal hai sadhu ka swabhav kaisa hona chahiye aadmi ka saral hona chahiye usme veer daya karuna ki bhavna se aur apne shishyon ke prati aadar thank you

हेलो फ्रेंड आप का सवाल है साधु का स्वभाव कैसा होना चाहिए आदमी का सरल होना चाहिए उसमें वीर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साधु का स्वभाव एक साधारण व्यक्ति जैसा होना चाहिए जो कोई भी चीज हो जी हो या मानो सब कुछ करती भला और भाटी चाहता हो वही होता है सदा साधु का स्वभाव और शादी का स्वभाव तथा राजस्थान की तरह होना चाहिए

sadhu ka swabhav ek sadhaaran vyakti jaisa hona chahiye jo koi bhi cheez ho ji ho ya maano sab kuch karti bhala aur bhati chahta ho wahi hota hai sada sadhu ka swabhav aur shaadi ka swabhav tatha rajasthan ki tarah hona chahiye

साधु का स्वभाव एक साधारण व्यक्ति जैसा होना चाहिए जो कोई भी चीज हो जी हो या मानो सब कुछ करत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू हा भी नहीं किया आपने इतने पढ़े लिखे हो या ना हो कोई मैंने देखने का मतलब होता है किसी किसी को मां समझे किसी को अपनी बहन से और लालच और मैं तो दुनिया से कुछ मतलब ही नहीं किसी भगवान या किसी ने भी वह दिन हो जाए और मैं किसी का बुरा हो किसी गलत हो आप उसे मार भी तो बताओ समाचार

tu ha bhi nahi kiya aapne itne padhe likhe ho ya na ho koi maine dekhne ka matlab hota hai kisi kisi ko maa samjhe kisi ko apni behen se aur lalach aur main toh duniya se kuch matlab hi nahi kisi bhagwan ya kisi ne bhi vaah din ho jaaye aur main kisi ka bura ho kisi galat ho aap use maar bhi toh batao samachar

तू हा भी नहीं किया आपने इतने पढ़े लिखे हो या ना हो कोई मैंने देखने का मतलब होता है किसी कि

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
Likes  3  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user
0:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें साधु का स्वभाव की हो तो कैसा भी हो सकता है कोई है तो ऐसा दो इंसान ही तो वैसे वह लोग भगवान और की पूजा करते रहते हैं और मंत्र जप स्वभाव होता है

dekhen sadhu ka swabhav ki ho toh kaisa bhi ho sakta hai koi hai toh aisa do insaan hi toh waise vaah log bhagwan aur ki puja karte rehte hain aur mantra jap swabhav hota hai

देखें साधु का स्वभाव की हो तो कैसा भी हो सकता है कोई है तो ऐसा दो इंसान ही तो वैसे वह लोग

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!