क्या उद्धव ठाकरे की गठबंधन सरकार 3 साल से अधिक सरकार चला पाएगी?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

4:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या उद्धव ठाकरे की गठबंधन सरकार 3 साल से अधिक सरकार चलाते हैं जो राजनैतिक पैमाने होते हैं अलग तरह के होते हैं सरकार बनाना वह एक तरह की जो जुगाड़ की दुकान सकता है और एक दूसरे का जुगाड़ करते इन्होंने सरकार बनाई है लेकिन पिछली सरकार ने 4 पॉइंट 75 लाख करोड़ का जो उनका नैतिक शिक्षा है यानी कि डिफरेंस इन कमेंट हूं बहुत ही बड़े में रखता है और ऐसी समस्या से उतरकर की सरकार कैसे सामना करेगी और कैसे हो इनकम बढ़ाएगी अपनी सरकार की और कैसे लोगों को किसानों के मुआवजे के वह लोन को माफ करेगी और फायदा पहुंचाएगी यह परीक्षा होगी उद्धव ठाकरे की लेकिन यह कहना बिल्कुल गलत होगा कि सरकार 3 साल से अधिक चला पाएगी या नहीं क्योंकि वह मुख्यमंत्री और जो गठबंधन सरकार के मंत्री हैं उनकी योग्यता और पर्सनल कम्युनिकेशन ऑफ सी पार्टी उनके विचारों और परिस्थितियों के ऊपर ही निर्भर होगा हालांकि शरद पवार जी ने एक तरह से भीष्म पितामह का जो रोल अदा किया है लेकिन सरकार गठन के लिए भीष्म पितामह का रोल जरूर अहम है पोटेंट है लेकिन सरकार चलाना अलग बात होती है ऐसा नहीं है कि कोई घर का खर्चा चलाना है यह राज्य सरकार वह भी महाराष्ट्र की सरकार उसमें मुंबई आता है और बहुत सारी कैपिटल ऑफ इकोनामी वह मुंबई है इसलिए बहुत कुछ बातों को उठा के जी को देखना पड़ेगा काली धर्म के चश्मे से या खाली हमारे जो सिद्धांत हैं हम खाली विरोध करना जानते हैं और कुछ कैसे सही हो सकता है क्योंकि सॉल्यूशन बहुत कम लोग बताते हैं प्रॉब्लम सब लोग बताते हैं लेकिन सलूशन बहुत कम लोग बताते हैं उद्धव ठाकरे जी इस अदालत में खड़े हैं कि अभी तक उन्होंने जो शिवसेना ने अभी तक खाली problem-solution अभी तक नहीं बताया है और इन्होंने अपने आप को जनता की अदालत में खड़ा कर दिया है एक तरफ से मुख्यमंत्री बनकर कि सलूशन क्या होगा वही के उनके अग्निपरीक्षा होगी और शिवसेना का भविष्य उसी के ऊपर निर्भर होगा कोई भी नेता चाहे शिवसेना का हो या बीजेपी का हो या कोई भी हो एनसीपी का हो या कांग्रेस का बड़े-बड़े देना बहुत आसान होता है लेकिन समस्याओं से जूझ कर उसका सलूशन निकालना बहुत कठिन होता है अब इस कैटेगरी में शिवसेना ने अपने आपको खुद ही प्रस्तुत कर दिया है और ईश्वर भी वेट एंड वॉच फॉर फ्यूचर लाइफ ऑफ महाराष्ट्र सरकार धन्यवाद

kya uddhav thakare ki gathbandhan sarkar 3 saal se adhik sarkar chalte hain jo rajnaitik paimane hote hain alag tarah ke hote hain sarkar banana vaah ek tarah ki jo jugaad ki dukaan sakta hai aur ek dusre ka jugaad karte inhone sarkar banai hai lekin pichali sarkar ne 4 point 75 lakh crore ka jo unka naitik shiksha hai yani ki difference in comment hoon bahut hi bade mein rakhta hai aur aisi samasya se utarakar ki sarkar kaise samana karegi aur kaise ho income badhayegi apni sarkar ki aur kaise logo ko kisano ke muawaje ke vaah loan ko maaf karegi aur fayda pahunchayegi yah pariksha hogi uddhav thakare ki lekin yah kehna bilkul galat hoga ki sarkar 3 saal se adhik chala payegi ya nahi kyonki vaah mukhyamantri aur jo gathbandhan sarkar ke mantri hain unki yogyata aur personal communication of si party unke vicharon aur paristhitiyon ke upar hi nirbhar hoga halaki sharad power ji ne ek tarah se bhishma pitamah ka jo roll ada kiya hai lekin sarkar gathan ke liye bhishma pitamah ka roll zaroor aham hai potent hai lekin sarkar chalana alag baat hoti hai aisa nahi hai ki koi ghar ka kharcha chalana hai yah rajya sarkar vaah bhi maharashtra ki sarkar usme mumbai aata hai aur bahut saree capital of economy vaah mumbai hai isliye bahut kuch baaton ko utha ke ji ko dekhna padega kali dharm ke chashme se ya khaali hamare jo siddhant hain hum khaali virodh karna jante hain aur kuch kaise sahi ho sakta hai kyonki solution bahut kam log batatey hain problem sab log batatey hain lekin salution bahut kam log batatey hain uddhav thakare ji is adalat mein khade hain ki abhi tak unhone jo shivsena ne abhi tak khaali problem solution abhi tak nahi bataya hai aur inhone apne aap ko janta ki adalat mein khada kar diya hai ek taraf se mukhyamantri bankar ki salution kya hoga wahi ke unke agnipariksha hogi aur shivsena ka bhavishya usi ke upar nirbhar hoga koi bhi neta chahen shivsena ka ho ya bjp ka ho ya koi bhi ho ncp ka ho ya congress ka bade bade dena bahut aasaan hota hai lekin samasyaon se joojh kar uska salution nikalna bahut kathin hota hai ab is category mein shivsena ne apne aapko khud hi prastut kar diya hai aur ishwar bhi wait and watch for future life of maharashtra sarkar dhanyavad

क्या उद्धव ठाकरे की गठबंधन सरकार 3 साल से अधिक सरकार चलाते हैं जो राजनैतिक पैमाने होते हैं

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  1021
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!