अशोक गहलोत कहते हैं ‘एक्स्ट्रा कांस्टीट्यूशनल अथॉरिटी’ के रूप में काम कर रहा है RSS।क्या है ये ‘एक्स्ट्रा कांस्टीट्यूशनल अथॉरिटी’?...


play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अशोक गहलोत करते हैं क्या कल से चुनौती के रूप में काम कर रहा है क्या यह अच्छा राज्य सूचना होती है कि कोई भी जो मत छत्र है उसके बाहर और कोई भी ताकत या कोई भी संस्था वह उससे बाहर रहकर और सभी क्षेत्रों के मतदाताओं को और उनके द्वारा चुनी गई सरकार को प्रभावित यह है एक्स्ट्रा कर सकती लेकिन यह अशोक गहलोत जी का जो विधान है वह कुछ गलत तरह की दिशा दिखाता है r.s.s. में ऐसा कभी किया नहीं है आर एस एस में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उनके जो प्रमुख है भागवत जी नागपुर में बैठे हैं भले ही उसके विचार रखते हैं और समय-समय पर कोई स्टेटमेंट देते हैं लेकिन वहीं पर वह परंपरा मुखर्जी जैसे विद्वान राष्ट्रपति को भी आमंत्रित करते हैं इसलिए अशोक गहलोत जी का यह कहना यह से पब्लिक कहां तक सेट कर पाएगी यह भी देखना होगा बाकी लोग सही है सब कुछ सब कुछ करने की छूट है कोई कुछ भी कह सकता है लेकिन पब्लिक एक्सेप्टेंस क्या होता है उसके ऊपर सब बातें निर्भर करती है पर इस तरह का टिकट फुल करना यह मेरे ख्याल से सही नहीं होगा क्योंकि आर एस में जो सेवा के कार्य किए और जो देश राज्य को कहते हैं कि देश भक्ति की जो भावना जगाई वह अपने आप में अप्रतिम है लेकिन जो कि बीजेपी से आगे से जुड़ी हुई है इसलिए ब्लेम करना चाहते हैं और बीजेपी के ऊपर और लेकिन वह बोल रहे हैं ताकि कुछ ना कुछ बीजेपी के ऊपर असर देखा जाएगा कि भविष्य में इस स्टेटमेंट का क्या प्रभाव पड़ता है धन्यवाद

ashok gehlot karte hai kya kal se chunauti ke roop mein kaam kar raha hai kya yah accha rajya soochna hoti hai ki koi bhi jo mat chatr hai uske bahar aur koi bhi takat ya koi bhi sanstha vaah usse bahar rahkar aur sabhi kshetro ke matdataon ko aur unke dwara chuni gayi sarkar ko prabhavit yah hai extra kar sakti lekin yah ashok gehlot ji ka jo vidhan hai vaah kuch galat tarah ki disha dikhaata hai r s s mein aisa kabhi kiya nahi hai R s s mein rashtriya swayamsevak sangh unke jo pramukh hai bhagwat ji nagpur mein baithe hai bhale hi uske vichar rakhte hai aur samay samay par koi statement dete hai lekin wahi par vaah parampara mukherjee jaise vidhwaan rashtrapati ko bhi aamantrit karte hai isliye ashok gehlot ji ka yah kehna yah se public kahaan tak set kar payegi yah bhi dekhna hoga baki log sahi hai sab kuch sab kuch karne ki chhut hai koi kuch bhi keh sakta hai lekin public acceptance kya hota hai uske upar sab batein nirbhar karti hai par is tarah ka ticket full karna yah mere khayal se sahi nahi hoga kyonki R s mein jo seva ke karya kiye aur jo desh rajya ko kehte hai ki desh bhakti ki jo bhavna jagai vaah apne aap mein apratim hai lekin jo ki bjp se aage se judi hui hai isliye blame karna chahte hai aur bjp ke upar aur lekin vaah bol rahe hai taki kuch na kuch bjp ke upar asar dekha jaega ki bhavishya mein is statement ka kya prabhav padta hai dhanyavad

अशोक गहलोत करते हैं क्या कल से चुनौती के रूप में काम कर रहा है क्या यह अच्छा राज्य सूचना ह

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1111
KooApp_icon
WhatsApp_icon
7 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!