यदि बात ना करें तो उसे कैसे समझा सकते हैं?...


user

Suruchi Sharma

Professional Psycho Social / Health / Career Counsellor

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि कोई व्यक्ति आपसे बात नहीं करना चाहता तो इसके लिए आवश्यक नहीं है कि उसे बार-बार किसी चीज के लिए बातें करें मैं तरह कि आप अच्छे समय की प्रतीक्षा करें और अच्छा समय आने पर उनसे बात करें अपने विचार रखे हरिया हो सकता है कि आप अपने विचारों को किसी एक पेपर पर लिख कर समझा सकते हैं बता सकते हैं अपनी भावनाएं उन तक पहुंचा सकते हैं

yadi koi vyakti aapse baat nahi karna chahta toh iske liye aavashyak nahi hai ki use baar baar kisi cheez ke liye batein kare main tarah ki aap acche samay ki pratiksha kare aur accha samay aane par unse baat kare apne vichar rakhe hariya ho sakta hai ki aap apne vicharon ko kisi ek paper par likh kar samjha sakte hain bata sakte hain apni bhaavnaye un tak pohcha sakte hain

यदि कोई व्यक्ति आपसे बात नहीं करना चाहता तो इसके लिए आवश्यक नहीं है कि उसे बार-बार किसी ची

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारी बॉडी लैंग्वेज संकेत भाषा सब लोग सदस्य समाजवादी लैंग्वेज होती है उसे प्रदर्शित होता है हम करते हैं और क्या चाहते हैं पहले भाषा नहीं होती थी वैसे भी जीवन होता है जनरल बाद बातें नहीं करते लेकिन फिर भी उन्हें संबंध होते हैं संभोग होते हैं अच्छे भी होते हैं हम को पालते भी हैं तो वर्बल और नॉन वेज दोनों तरह की कम्युनिकेशन स्किल्स होती हैं रिलेशनशिप दमन में खर्च होते हैं आप कुछ बोले बिना भी अपनी बात किसी को समझा सकते हैं बता सकते हैं संख्या देख इंडिकेशन के सपने और दूसरा व्यक्ति अगर उसमें पोस्टर होगा सकारात्मक होगा तो वह भी उसी लैंग्वेज में उसी तरीके से बिना शब्दों का उपयोग किए हुए अपनी बात आपको बताएगा

hamari body language sanket bhasha sab log sadasya samajwadi language hoti hai use pradarshit hota hai hum karte hain aur kya chahte hain pehle bhasha nahi hoti thi waise bhi jeevan hota hai general baad batein nahi karte lekin phir bhi unhe sambandh hote hain sambhog hote hain acche bhi hote hain hum ko palate bhi hain toh verbal aur non veg dono tarah ki communication skills hoti hain Relationship daman mein kharch hote hain aap kuch bole bina bhi apni baat kisi ko samjha sakte hain bata sakte hain sankhya dekh indication ke sapne aur doosra vyakti agar usme poster hoga sakaratmak hoga toh vaah bhi usi language mein usi tarike se bina shabdon ka upyog kiye hue apni baat aapko batayega

हमारी बॉडी लैंग्वेज संकेत भाषा सब लोग सदस्य समाजवादी लैंग्वेज होती है उसे प्रदर्शित होता ह

Romanized Version
Likes  260  Dislikes    views  6214
WhatsApp_icon
user

munmun

Volunteer

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि कोई बात ना करें तो

yadi koi baat na kare toh

यदि कोई बात ना करें तो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!