मेरा मानना है कि सरकारी विभाग में ही सबसे ज़्यादा भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारी पैदा हुआ है?...


user

Mohd Riyaz

Social Worker

2:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां हम यह कह सकते हैं कि सरकारी विभाग में लगभग सभी के सभी कर्मचारी अधिकारी भ्रष्टाचार और बिना भ्रष्टाचार के अरमान जी आपको छोटी सी फाइल पेश करते हैं आप तो समझ लीजिए बिना करप्शन के बिना भ्रष्टाचार के बिना पैसे के पीछे पूरा प्रशासन जो है भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए खाना चाहिए जिससे कि भ्रष्टाचार खत्म हो सके ऐसी टीम का गठन करने चाहिए जिससे की शिकायत हो सके और शिकायत के तुरंत बाद उसका काम जो है रुकना नहीं चाहिए भाई सिस्टम उसका काम हो जाना चाहिए और सरकार जो है अगर एक तरह से प्रशासन के अंदर से भ्रष्टाचार खत्म होती है तो एक बहुत बड़ा कदम होगा एक परसेंट भ्रष्टाचार खत्म क्योंकि यह जो है यह कर्मचारी जो है अधिकारी के लिए गरीब जनता की खून चूसते खून चूसने का काम करते कि एक गरीब आदमी किसान आदमी अपने काम को कराने के लिए तहसील जाता है ब्लॉक जाता है तो उससे कोई भी काम करवाना हो तो उसे भ्रष्टाचार का सामना करना पड़ता है और कहीं ना कहीं तो बहुत दुखी होता है लेकिन क्या किया जाए पूरा सिस्टम करप्ट इसको जैसा मैंने कहा कि एक अलग टीम बननी चाहिए जिससे यह शिकायत दर्ज हो उसके बाद में तुरंत उसके खिलाफ कार्रवाई हो उसका काम रुकना नहीं चाहिए काम के रुपए के डर से जो है शिकायत नहीं करता जय हिंद जय

haan hum yah keh sakte hain ki sarkari vibhag me lagbhag sabhi ke sabhi karmchari adhikari bhrashtachar aur bina bhrashtachar ke armaan ji aapko choti si file pesh karte hain aap toh samajh lijiye bina corruption ke bina bhrashtachar ke bina paise ke peeche pura prashasan jo hai bhrashtachar khatam karne ke liye khana chahiye jisse ki bhrashtachar khatam ho sake aisi team ka gathan karne chahiye jisse ki shikayat ho sake aur shikayat ke turant baad uska kaam jo hai rukna nahi chahiye bhai system uska kaam ho jana chahiye aur sarkar jo hai agar ek tarah se prashasan ke andar se bhrashtachar khatam hoti hai toh ek bahut bada kadam hoga ek percent bhrashtachar khatam kyonki yah jo hai yah karmchari jo hai adhikari ke liye garib janta ki khoon chuste khoon chusne ka kaam karte ki ek garib aadmi kisan aadmi apne kaam ko karane ke liye tehsil jata hai block jata hai toh usse koi bhi kaam karwana ho toh use bhrashtachar ka samana karna padta hai aur kahin na kahin toh bahut dukhi hota hai lekin kya kiya jaaye pura system corrupt isko jaisa maine kaha ki ek alag team banani chahiye jisse yah shikayat darj ho uske baad me turant uske khilaf karyawahi ho uska kaam rukna nahi chahiye kaam ke rupaye ke dar se jo hai shikayat nahi karta jai hind jai

हां हम यह कह सकते हैं कि सरकारी विभाग में लगभग सभी के सभी कर्मचारी अधिकारी भ्रष्टाचार और ब

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  82
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!