क्या था वो मास्टर स्ट्रोक जिससे सबको ठिकाने लगा गए शरद पवार?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है कि शरद पवार का जो मास्टर स्टॉक था हुई यह रहा कि मेरी मेरी अपनी सोच है जब भाजपा शिवसेना और कांग्रेस इन चारों दलों को सरकार बनाने वाले जादुई आंकड़ा नहीं छू सके तो यह स्पष्ट था कि खरीद-फरोख्त होगी जिस प्रकार कर गोवा में और दूसरे राज्यों में बीजेपी ने लोकतंत्र को एक तरह से कहना चाहिए कि धत्ता बताते हुए जो दूसरे और तीसरे नंबर पर थे उन्हें सरकार बनाने के लिए राज्यपाल आमंत्रित कर रहे हैं और वह सरकार बनाने हैं जबकि सबसे बड़ा दल सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाता है ऐसे ही पूरे देश में माहौल बना हुआ था महाराष्ट्र में जो स्थिति बनी उससे सभी लोगों को ही था यहां पर और बीजेपी ने तो स्पष्ट दावा किया था वह शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे लेकिन जब शिवसेना ने शिवसेना और बीजेपी की जब अंदरूनी लड़ाई जब सड़क पर आई उस समय लगने लगा कि अब बीजेपी हमेशा कुछ न कुछ नया करेंगे और इसी रणनीति को भेजने के लिए मुझे जहां तक लगता है कि शरद पवार शरद पवार एक प्लान तैयार किया और उस प्लान में बीजेपी के अमीषा फंसे हुए उन्होंने यह देखा कि बीजेपी सरकार बनाने के लिए लालायित है और वह किसी भी हद तक जा सकती है तो उन्होंने अजित पवार के माध्यम से बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बातचीत में लगाया और मुझे ऐसा लगता है कि अजीत पवार ने बीजेपी से संपर्क कर शपथ ग्रहण भी हो चुका था इसके बाद लगी रहा था शरद पवार जी को कि अगर ऐसा नहीं करेंगे तो अंडर ग्राउंड विधायकों की खरीद-फरोख्त चलेगी जिसमें रांका पर कांग्रेस के विधायक टूट सकते हैं जा सकते हैं तो अजित पवार सी सरकार बनने और दूसरी तरफ उधर उद्धव ठाकरे जिस दिन आप देखें कि बीजेपी के मुख्यमंत्री ने शपथ ली तो उद्धव ठाकरे के खिलाफ कई अखबारों ने और कुछ लिखा कि यह नहीं बन पाए तो उद्धव ठाकरे को एक मलाल और दूसरी तरफ शरद पवार जी ने अजीत पवार को पार्टी के विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया उनके हटाते ही दूसरे जो विधायक थे वह सारे सकते में थे उन्हें पर जब भतीजे को बाहर किया है तो हमारा क्या हश्र होगा तो उनमें टेटस होता आ गई और जो शरद पवार लाना चाह रहे थे उसके बाद उधर शिवसेना में खलबली कि हमारे विधायक न टूटे कांग्रेसमें खलबली हमारे विधायक ना टूटे सब एकदम खुश होकर मजबूर हो गए जिसके बाद फिर एक शक्ति प्रदर्शन जो अजीत पवार ने समर्थन दिया उसी अजित पवार के साथी 50 विधायक परेड में उपस्थित हुए कांग्रेश और शिवसेना का आंकड़ा बनके 162 हो गए जो उनकी रणनीति के तहत वह कामयाब रहे अजित पवार की घर वापसी भी हो गई शिवसेना के नेतृत्व में सरकार ने शपथ भी ले ली और जो अपने को धुरंधर कहना चाहिए कि रणनीतिकार बताते थे उनकी रणनीति भी फ्लॉप होगी और पूरा गेम शरद यादव ने शुरू किया शरद पवार ने शुरू किया और शरद पवार ने ही अंतिम रूप दिया शिवसेना के उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाकर और महाराष्ट्र प्रदेश में शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस की सरकार बनाकर और वह अपनी रणनीति में कामयाब रहे

mujhe aisa lagta hai ki sharad power ka jo master stock tha hui yah raha ki meri meri apni soch hai jab bhajpa shivsena aur congress in charo dalon ko sarkar banane waale jaduii akanda nahi chu sake toh yah spasht tha ki kharid farokht hogi jis prakar kar goa mein aur dusre rajyo mein bjp ne loktantra ko ek tarah se kehna chahiye ki dhatta batatey hue jo dusre aur teesre number par the unhe sarkar banne liye rajyapal aamantrit kar rahe hain aur vaah sarkar banane hain jabki sabse bada dal sarkar banne liye aamantrit kiya jata hai aise hi poore desh mein maahaul bana hua tha maharashtra mein jo sthiti bani usse sabhi logo ko hi tha yahan par aur bjp ne toh spasht daawa kiya tha vaah shivsena ke saath milkar sarkar banayenge lekin jab shivsena ne shivsena aur bjp ki jab andaruni ladai jab sadak par I us samay lagne laga ki ab bjp hamesha kuch na kuch naya karenge aur isi rananiti ko bhejne ke liye mujhe jaha tak lagta hai ki sharad power sharad power ek plan taiyar kiya aur us plan mein bjp ke amisha fanse hue unhone yah dekha ki bjp sarkar banne liye lalayit hai aur vaah kisi bhi had tak ja sakti hai toh unhone ajit power ke madhyam se bjp ko sarkar banne liye batchit mein lagaya aur mujhe aisa lagta hai ki ajit power ne bjp se sampark kar shapath grahan bhi ho chuka tha iske baad lagi raha tha sharad power ji ko ki agar aisa nahi karenge toh under ground vidhayakon ki kharid farokht chalegi jisme ranka par congress ke vidhayak toot sakte hain ja sakte hain toh ajit power si sarkar banne aur dusri taraf udhar uddhav thakare jis din aap dekhen ki bjp ke mukhyamantri ne shapath li toh uddhav thakare ke khilaf kai akhbaron ne aur kuch likha ki yah nahi ban paye toh uddhav thakare ko ek malal aur dusri taraf sharad power ji ne ajit power ko party ke vidhayak dal ke neta ke pad se hata diya unke hatate hi dusre jo vidhayak the vaah saare sakte mein the unhe par jab bhatije ko bahar kiya hai toh hamara kya hashra hoga toh unmen tetas hota aa gayi aur jo sharad power lana chah rahe the uske baad udhar shivsena mein khalbali ki hamare vidhayak na tute kangresamen khalbali hamare vidhayak na tute sab ekdam khush hokar majboor ho gaye jiske baad phir ek shakti pradarshan jo ajit power ne samarthan diya usi ajit power ke sathi 50 vidhayak parade mein upasthit hue congress aur shivsena ka akanda banke 162 ho gaye jo unki rananiti ke tahat vaah kamyab rahe ajit power ki ghar wapsi bhi ho gayi shivsena ke netritva mein sarkar ne shapath bhi le li aur jo apne ko dhurandhar kehna chahiye ki rananitikar batatey the unki rananiti bhi flop hogi aur pura game sharad yadav ne shuru kiya sharad power ne shuru kiya aur sharad power ne hi antim roop diya shivsena ke uddhav thakare ko mukhyamantri pad ki shapath dilakar aur maharashtra pradesh mein shivsena ncp aur congress ki sarkar banakar aur vaah apni rananiti mein kamyab rahe

मुझे ऐसा लगता है कि शरद पवार का जो मास्टर स्टॉक था हुई यह रहा कि मेरी मेरी अपनी सोच है जब

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  712
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!