अगर कोई व्यक्ति थीयटर आर्टिस्ट बनना चाहता है तो आप उसे क्या टिप्स देंगे?...


user

Niraj Devani

PHILOSOPHER

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

थिएटर आर्टिस्ट बनना है तो फिर इसमें टिप्स क्या देनी है अगर थिएटर आर्टिस्ट आफ बनने जा रहे तो उसका मतलब क्या आपको अभी नहीं में इंटरेस्ट है आपको एक्टिंग करना आपको पसंद है और प्ले यानी कि नाटिका वगैरह में भी आपको काम करना बहुत अच्छा लगता है तो फिर आपको जाइए और अगर आपको शौक के आप अपनी अभिनय क्षमता भी रखते हैं तो फिर आपको थिएटर आर्टिस्ट बनना ही चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए

theater artist bana hai toh phir isme tips kya deni hai agar theater artist of banne ja rahe toh uska matlab kya aapko abhi nahi mein interest hai aapko acting karna aapko pasand hai aur play yani ki natika vagera mein bhi aapko kaam karna bahut accha lagta hai toh phir aapko jaiye aur agar aapko shauk ke aap apni abhinay kshamta bhi rakhte hai toh phir aapko theater artist bana hi chahiye aur aage badhana chahiye

थिएटर आर्टिस्ट बनना है तो फिर इसमें टिप्स क्या देनी है अगर थिएटर आर्टिस्ट आफ बनने जा रहे त

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  576
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Kafeel Jafri

Actor, Bengaluru's only Dastangoi performer

4:52

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

थिएटर आर्टिस्ट थिएटर चुकी एक रंगमंच है वह भी 18 कौन है तो अगर आप देखें दूसरे आर्ट फॉर्म्स में जैसे कोई कोई कोई मान लीजिए कोई संगीतकार बनना चाहता है तो वह संगीत की लगातार प्रयास करता है मस्त करता है लगातार जो भी वह धनी व तबला बजाना चाहता है वह बड़े प्यानो बजाना चाहता हूं गिटार बजाना चाहता हूं हारमोनियम बनाना चाहता वह लगातार उसकी प्रैक्टिस करता है कोई अगर डांसर बनना चाहता तो जिस काम में भी वह नृत्य करना चाहता है वह भरतनाट्यम कथक को कोई भी ऑफिस में वह टीवी हो काम करता है दिल्ली कुछ ना कुछ बस मेरी याद करता है एक घंटा दो घंटा 4 घंटा जितना भी हो इसी तरह से कोई गाने में जाना चाहता है तो वह मौसी की बराबर अच्छी तरह से सीखता है और रेट दिल्ली उसका याद करता है कि आप शुरुआत के लिए आप जो आपके शहर में जो रंगमंच के पास जो ग्रुप हैं आप उनसे में आइए और उनके यहां मुझसे बात करिए उनके साथ हो क्यों बैठी है उनके नाटक नाटक देखने चाहिए सबसे पहले तो यह है कि आप ज्यादा से ज्यादा नाटक देखिए तो एक तो हम लोगों ने हम लोगों को इतना यूज टू कर दिया है इतना इतनी बड़ी आदत डाल दी है आज टीवी में टीवी देखने की कि हम जो लाइव परफॉर्मेंस है उसे थोड़ा हम हट गए हैं तो दो आदत भी बनाना मेरा कल पेपर है एक आर्टिस्ट 118 इंटरमीडिएट आर्ट्स में भी कई सारी चीजें सिर्फ सिर्फ एक्टिंग करना ही नहीं है आप आप लिख सकते हैं आप डायरेक्ट कर सकते हैं लिखना आना है कि वह कहानी क्या है वह जो टेक्स्ट है आप वह लिख सकते हैं इसके बाद यह है कि एक्टिंग 220 ली है ही उसके बाद बैकग्राउंड स्कोर और जो साथ में संगीत चलेगा वह ट्रांजीशन में हो गया सिंह के साथ होकर किस तरह का संगीत होगा वह नाटक कौन सा इंस्ट्रूमेंट यूज़ करेंगे वायलिन योगा या ध्यान में होगा कौन सी बात कब खाएं कही जा रही है किस बात के साथ कौन सा साउंड जाएगा या फिर ट्रांजिशन अकाउंट अकाउंट जाएगा वगैरा-वगैरा उसके बाद अपील आईटी कौन सा टीम की फ्लाइट से ज्यादा जीवंत हो जाता है ज्यादा ज्यादा जी उठता है किस तरह की लाइट से एक अलग तरह की की गणित है और अलग तरह का ही दिमाग चाहिए उसके लिए बहुत जरूरी सलमानी चाहिए उसके लिए तो यह लाइटिंग हो गई कितना शक नहीं कि अगर आप किसी एक को यह कहानी कह रहे हैं तो वह कहानी कहने के लिए आपको जो दुनिया तेज पर दिखानी पड़ेगी वह दुनिया कैसे बनाई जाए कि इंसान जो देख रहा है ऑडिटोरियम में बैठा हुआ उसको अपनी जिंदगी में कुछ देखा हुआ वह देखकर याद आ जाए तो यह सब डिजाइनें डायरेक्शन हो जाए एक्शन में के जवाब अलग-अलग कारों को लेकर यह सारे जो कलाकार हैं तेज डिज़ाइनर ब्लाउज डिज़ाइनर बैकग्राउंड स्कूल कंपोजर एंड राइटर इन सबको साथ में लेकर जो कि रोएगा एक कहानी नई नई कहानी सुनाने में इस माध्यम के जरिए वह है डायरेक्टर डायरेक्टर का काम है कि वह एक्टर्स एक्टिंग निकलवाए लाइट रेड लाइट डिज़ाइनर से जो सबसे अच्छा ट्रेक्टर * कलवारी जो म्यूजिक कंपोजर है उसे टच नीचे निकल वाली ज्योति सिंह पर सूट करें और पूरे नाटक में सूट करें तो यह सारी बातें कर आप जनाब धीरे-धीरे नाटक देखना शुरु करेंगे और ग्रुप से मिलना शुरू करेंगे उनके प्रोडक्शन कि मैं उनको हेल्प करना शुरू कीजिए कि आप बैकग्राउंड बैकस्टेज में आप लोगों की हेल्प कर रहे हैं तो आपको धीरे-धीरे लगती है कि कैसे काम करती और उसके साथ ही साथ आपको हिंदी समझ में आने लगता है कि आप किस इन पांच में से किस चीज में अपना हाथ आजमाना चाह जानना चाहते हैं तो आपको भी क्लेरिटी मिलती जाएगी और ट्विटर वालों का क्या है कि क्या क्योंकि बहुत कम लोग दिखते हैं यहां का जो लोग जितना टीचिंग उसकी उतनी ही वैल्यू होती है तो उसकी उसकी उसकी उसकी प्रेषित किया जाता है कि हां एक हेल्पिंग हैंड है मेरे पास कोई मदद करने वाला है तो जैसे जैसे आप वक्त बिताते जाएंगे आपको चीजें समझ में आती जाएंगे ओके आप चेंज करिए कि आप राइटर बनना चाहते हैं कि एक्टर डायरेक्टर डिज़ाइनर लाइट डिजाइन म्यूजिक कंपोजर क्या बनना चाहते हैं कोरियोग्राफर डांस आप क्या बनना चाहते हैं तो आपको धीरे-धीरे क्लियर होता जाएगा लेकिन देखना और लोगों से ग्रुप से जुड़े रहना यह बहुत इंपॉर्टेंट है

theater artist theater chuki ek rangamanch hai vaah bhi 18 kaun hai toh agar aap dekhen dusre art Forms mein jaise koi koi koi maan lijiye koi sangeetkar banna chahta hai toh vaah sangeet ki lagatar prayas karta hai mast karta hai lagatar jo bhi vaah dhani va tabla bajana chahta hai vaah bade pyano bajana chahta hoon guitar bajana chahta hoon Harmonium banana chahta vaah lagatar uski practice karta hai koi agar dancer banna chahta toh jis kaam mein bhi vaah nritya karna chahta hai vaah bharatnatyam kathak ko koi bhi office mein vaah TV ho kaam karta hai delhi kuch na kuch bus meri yaad karta hai ek ghanta do ghanta 4 ghanta jitna bhi ho isi tarah se koi gaane mein jana chahta hai toh vaah mausi ki barabar achi tarah se sikhata hai aur rate delhi uska yaad karta hai ki aap shuruat ke liye aap jo aapke shehar mein jo rangamanch ke paas jo group hain aap unse mein aaiye aur unke yahan mujhse baat kariye unke saath ho kyon baithi hai unke natak natak dekhne chahiye sabse pehle toh yah hai ki aap zyada se zyada natak dekhiye toh ek toh hum logo ne hum logo ko itna use to kar diya hai itna itni badi aadat daal di hai aaj TV mein TV dekhne ki ki hum jo live performance hai use thoda hum hut gaye hain toh do aadat bhi banana mera kal paper hai ek artist 118 intermediate arts mein bhi kai saree cheezen sirf sirf acting karna hi nahi hai aap aap likh sakte hain aap direct kar sakte hain likhna aana hai ki vaah kahani kya hai vaah jo text hai aap vaah likh sakte hain iske baad yah hai ki acting 220 li hai hi uske baad background score aur jo saath mein sangeet chalega vaah tranjishan mein ho gaya Singh ke saath hokar kis tarah ka sangeet hoga vaah natak kaun sa instrument use karenge violin yoga ya dhyan mein hoga kaun si baat kab khayen kahi ja rahi hai kis baat ke saath kaun sa sound jaega ya phir transition account account jaega vagaira vagaira uske baad appeal it kaun sa team ki flight se zyada jivant ho jata hai zyada zyada ji uthata hai kis tarah ki light se ek alag tarah ki ki ganit hai aur alag tarah ka hi dimag chahiye uske liye bahut zaroori salmani chahiye uske liye toh yah lighting ho gayi kitna shak nahi ki agar aap kisi ek ko yah kahani keh rahe hain toh vaah kahani kehne ke liye aapko jo duniya tez par dikhaani padegi vaah duniya kaise banai jaaye ki insaan jo dekh raha hai auditorium mein baitha hua usko apni zindagi mein kuch dekha hua vaah dekhkar yaad aa jaaye toh yah sab dijainen direction ho jaaye action mein ke jawab alag alag kaaron ko lekar yah saare jo kalakar hain tez designer blouse designer background school composer and writer in sabko saath mein lekar jo ki roega ek kahani nayi nayi kahani sunaane mein is madhyam ke jariye vaah hai director director ka kaam hai ki vaah actors acting nikalawayen light red light designer se jo sabse accha tractor kalvari jo music composer hai use touch niche nikal wali jyoti Singh par suit kare aur poore natak mein suit kare toh yah saree batein kar aap janab dhire dhire natak dekhna shuru karenge aur group se milna shuru karenge unke production ki main unko help karna shuru kijiye ki aap background baikastej mein aap logo ki help kar rahe hain toh aapko dhire dhire lagti hai ki kaise kaam karti aur uske saath hi saath aapko hindi samajh mein aane lagta hai ki aap kis in paanch mein se kis cheez mein apna hath ajamana chah janana chahte hain toh aapko bhi kleriti milti jayegi aur twitter walon ka kya hai ki kya kyonki bahut kam log dikhte hain yahan ka jo log jitna teaching uski utani hi value hoti hai toh uski uski uski uski preshit kiya jata hai ki haan ek helping hand hai mere paas koi madad karne vala hai toh jaise jaise aap waqt Bitate jaenge aapko cheezen samajh mein aati jaenge ok aap change kariye ki aap writer banna chahte hain ki actor director designer light design music composer kya banna chahte hain koriyografar dance aap kya banna chahte hain toh aapko dhire dhire clear hota jaega lekin dekhna aur logo se group se jude rehna yah bahut important hai

थिएटर आर्टिस्ट थिएटर चुकी एक रंगमंच है वह भी 18 कौन है तो अगर आप देखें दूसरे आर्ट फॉर्म्स

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  262
WhatsApp_icon
user

C M JHA

Engineer

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर कोई व्यक्ति थिएटर आर्टिस्ट बनना चाहते हैं तो उनको सर्वप्रथम अपने लक्ष्य का त्याग करना होगा अपने एजुकेशन को छोड़कर अपने घरों में आर्ट का प्रेक्टिस करें जहां व्यक्ति सुबोध के वहां अपनी कलाओं को ओपन करें और देखें क्या कल की कलाओं की ओर आकर्षित हो रहे हैं और आपकी कलाओं में किस तरह का परिवर्तन आवश्यक है जिससे आप के फलों को लोग पसंद करना आरंभ कर दें

agar koi vyakti theater artist banna chahte hain toh unko sarvapratham apne lakshya ka tyag karna hoga apne education ko chhodkar apne gharon me art ka practice kare jaha vyakti subodh ke wahan apni kalaon ko open kare aur dekhen kya kal ki kalaon ki aur aakarshit ho rahe hain aur aapki kalaon me kis tarah ka parivartan aavashyak hai jisse aap ke falon ko log pasand karna aarambh kar de

अगर कोई व्यक्ति थिएटर आर्टिस्ट बनना चाहते हैं तो उनको सर्वप्रथम अपने लक्ष्य का त्याग करना

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!