जल की संरचना एवं पौधों में इसके महत्व का संक्षिप्त विवरण दीजिए?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जल की संरचना पृथ्वीचे होती है पृथ्वी और सूर्य के समान मिलन अपन से पृथ्वी के अंदर कितनी बीकानेर वह वाष्पीकरण बनकर हवा के माध्यम से जन्म लेते हैं और फिर वायुमंडल में वह करण या तो उसके करण या वह जल के कानपुर के रूप में चित्रित होते हैं और फिर पुणे पृथ्वी में लोटा जल पौधों का जीवन है बिना जल के पौधों को जीवन नहीं मिलेगा क्योंकि जैन उनका भोजन है और सूर्य की गर्मी दे फोटोसिंथेसिस होता है बनता है वह भोजन के रूप में काम करता है तो इन दोनों पत्रिकाओं के दौरान दल की संरचना होती है और उस संरचना ऊंचे पौधों को जीवन मिलता है और पौधों के जीवन से एक नया रूप जो कि पेड़ों के लिए पौधों के लिए इंटक के लिए महत्वपूर्ण होता है

jal ki sanrachna prithwiche hoti hai prithvi aur surya ke saman milan apan se prithvi ke andar kitni bikaner vaah vaashpeekaran bankar hawa ke madhyam se janam lete hain aur phir vayumandal mein vaah karan ya toh uske karan ya vaah jal ke kanpur ke roop mein chitrit hote hain aur phir pune prithvi mein lota jal paudho ka jeevan hai bina jal ke paudho ko jeevan nahi milega kyonki jain unka bhojan hai aur surya ki garmi de Photosynthesis hota hai banta hai vaah bhojan ke roop mein kaam karta hai toh in dono patrikaon ke dauran dal ki sanrachna hoti hai aur us sanrachna unche paudho ko jeevan milta hai aur paudho ke jeevan se ek naya roop jo ki pedon ke liye paudho ke liye intak ke liye mahatvapurna hota hai

जल की संरचना पृथ्वीचे होती है पृथ्वी और सूर्य के समान मिलन अपन से पृथ्वी के अंदर कितनी बीक

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  1245
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!