एनसीपी को तोड़ने के बाद भी क्या महाराष्ट्र में बीजेपी बहुमत साबित कर पाएगी?...


user

Vikas Singh

Political Analyst

2:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें मैं आपको बता देना चाहता हूं महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी के ही मुख्यमंत्री रहेंगे पंडित जी 5 साल मुख्यमंत्री रहेंगे वहां के इसमें कोई कंफ्यूजन नहीं होना चाहिए कल जो घटना हुई यह सब घटना बस कांग्रेस और शिवसेना को भ्रमित करने के लिए की गई है जो अजीत पवार जी को विधायक दल के नेता से हटाया गया है यह सब भी एक भ्रमित करने का तरीका है और शरद पवार और अजीत पवार और पूरी एनसीपी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के समर्थन में है और 30 तारीख तक यह भी भारतीय जनता पार्टी के नेता अपना बहुमत पेश करेंगे अगर शरद पवार जी कुछ इधर-उधर करते हैं तो शिवसेना के कुछ विधायक भारतीय जनता पार्टी में आएंगे और फिर भारतीय जनता पार्टी बहुमत पेश करेगी और फंड 5 साल मुख्यमंत्री रहेंगे शिवसेना ने इस चुनाव में बहुत बड़ी गलती की है देखिए एक शॉर्ट टर्म फायदा होता है एक long-term फायदा होता है क्षेत्रीय पार्टियां होती हैं इस शॉर्ट टर्म फायदे के चक्कर में पड़कर अपना पूरा वजूद खत्म कर देती हैं वही हाल शिवसेना का है शिवसेना के दो प्रमुख हैं उधर ठाकरे जी इनको लालच हो गया था सीएम पद की कुर्सी की धृतराष्ट्र बन गए थे यह अपने बेटे को एक बार मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं और भी कुछ हद तक की जो कि जनता बिल्कुल इन्हें पसंद नहीं करेगी भविष्य में और इनका बहुत बड़ा नुकसान होने वाला है इस चुनाव में न तो इन्हीं का नुकसान होगा भविष्य में न तो कांग्रेस का नुकसान होगा भविष्य में न तो बीजेपी का नुकसान होगा भविष्य में नुकसान होगा तो शिवसेना का होगा क्योंकि शिवसेना ने बहुत बड़ी गलती की है शिवसेना ने हिंदुत्व के नाम पर वोट तो मांग लिया लेकिन उस कोर्ट का कीमत नहीं किया रही बात बहुमत की तो भारतीय जनता पार्टी और एनसीपी मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाएगी इसमें कोई दो राय नहीं है और इसमें कोई कंफ्यूजन नहीं है धन्यवाद

dekhen main aapko bata dena chahta hoon maharashtra mein bharatiya janta party ke hi mukhyamantri rahenge pandit ji 5 saal mukhyamantri rahenge wahan ke isme koi confusion nahi hona chahiye kal jo ghatna hui yah sab ghatna bus congress aur shivsena ko bharmit karne ke liye ki gayi hai jo ajit power ji ko vidhayak dal ke neta se hataya gaya hai yah sab bhi ek bharmit karne ka tarika hai aur sharad power aur ajit power aur puri ncp party bharatiya janta party ke samarthan mein hai aur 30 tarikh tak yah bhi bharatiya janta party ke neta apna bahumat pesh karenge agar sharad power ji kuch idhar udhar karte hain toh shivsena ke kuch vidhayak bharatiya janta party mein aayenge aur phir bharatiya janta party bahumat pesh karegi aur fund 5 saal mukhyamantri rahenge shivsena ne is chunav mein bahut badi galti ki hai dekhiye ek short term fayda hota hai ek long term fayda hota hai kshetriya partyian hoti hain is short term fayde ke chakkar mein padhkar apna pura wajood khatam kar deti hain wahi haal shivsena ka hai shivsena ke do pramukh hain udhar thakare ji inko lalach ho gaya tha cm pad ki kursi ki Dhritarashtra ban gaye the yah apne bete ko ek baar mukhyamantri banana chahte hain aur bhi kuch had tak ki jo ki janta bilkul inhen pasand nahi karegi bhavishya mein aur inka bahut bada nuksan hone vala hai is chunav mein na toh inhin ka nuksan hoga bhavishya mein na toh congress ka nuksan hoga bhavishya mein na toh bjp ka nuksan hoga bhavishya mein nuksan hoga toh shivsena ka hoga kyonki shivsena ne bahut badi galti ki hai shivsena ne hindutv ke naam par vote toh maang liya lekin us court ka kimat nahi kiya rahi baat bahumat ki toh bharatiya janta party aur ncp milkar maharashtra mein sarkar banayegi isme koi do rai nahi hai aur isme koi confusion nahi hai dhanyavad

देखें मैं आपको बता देना चाहता हूं महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी के ही मुख्यमंत्री रहें

Romanized Version
Likes  236  Dislikes    views  4720
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाराष्ट्र में फंसा हुआ है और राजनीतिक उठापटक का दौर में चली रोज चल रहा है किस तारीख का दिल होगा उसी दिन मालूम पड़ेगा

maharashtra mein fansa hua hai aur raajnitik uthapatak ka daur mein chali roj chal raha hai kis tarikh ka dil hoga usi din maloom padega

महाराष्ट्र में फंसा हुआ है और राजनीतिक उठापटक का दौर में चली रोज चल रहा है किस तारीख का दि

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1643
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

4:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एनसीपी को तोड़ने के बाद भी क्या महाराष्ट्र में बीजेपी बहुमत साबित कर पाएगी वैकेंसी को तोड़ने के बाद महाराष्ट्र में बीजेपी बहुमत साबित करने की जो गुंजाइश है वह काफी ज्यादा है पॉसिबिलिटी ज्यादा है कि वह साबित कर पाएगी क्योंकि जो एनसीपी या कोई भी पक्ष हो कांग्रेस हो या शिवसेना हो क्योंकि उनके जो चुने हुए जो विधानसभा 54 55 के आसपास है और अगर उसमें से दो तिहाई यानी करीब 30 35 35 के आसपास वह सौदागर पक्ष में कीबोर्ड सरकार का जो है उनके अगर 36 से कम यानी कि 10:15 ही अगर वोट देते हैं तो इसमें सरकार को तुमको गेट लाइट स्पीकर देंगे या पक्ष को जो आरक्षण को शरद पवार के निकाल सकते हैं और पक्षी रोधी कानून लागू होगा उनका धारा सभ्य ने किसान सभा का आयोजन रद्द हो जाएगा इसलिए पूरी कोशिश की जाएगी क्योंकि 4:00 मैनेजमेंट में जो हमारे प्रधानमंत्री हो या अमित शाह जी यह सब बहुत ही माहिर हैं और इन्होंने कुछ सोच समझकर ही किया होगा क्योंकि युद्ध पर सरकार ने इस तरह का कर्नाटक में हो चुका है और पुलिस से वोट के लिए दीपक जी को अपना त्यागपत्र देना पड़ा था अगर कर्नाटक की यही बात थी अगर भारत में दोहराई जाती है अगर इनको बहुमति नहीं मिलती क्या साबित नहीं तुमको कैसे अपना त्यागपत्र देना पड़ेगा धनंजय को और तेरी शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस की सरकार बनेगी लेकिन पूरी कोशिश की जाएगी और बीजेपी बहुमत साबित करने का भरपूर प्रयास करें कि देवेंद्र फडणवीस भरपूर प्रयास करें जितना से 105a तो 134 इनकी सभ्य संख्या कर सब इनके साथ आते हैं रिजल्ट 134 हो जाते हैं फिर उनको 1012 145 बहुमत का आंकड़ा है इसलिए उनको 11 सब्जियों की जान सब्जियों की जरूरत पड़ेगी लेकिन हो सकता है मैनेज करने लेकिन बहुमत साबित करने के लिए भरपूर कोशिश यही होगी कि एनसीपी का जूता इन के पाले में आकर और बहुमत साबित करने में सहयोग करेगा और क्या तो कोई भी एक पार्टी वहां से अपना वह कट कट जाएगी तो बहुमत का आंकड़ा एकदम कम हो जाएगा 105 तो बीजेपी के सदस्य हैं इसलिए अगर एंड पेशेंट रहती एनसीपी को भी बहुत आसानी से साबित हो जाएगा और कितने कुछ ना कुछ जोड़-तोड़ की राजनीति हो सकती है धन्यवाद

ncp ko todne ke baad bhi kya maharashtra mein bjp bahumat saabit kar payegi vacancy ko todne ke baad maharashtra mein bjp bahumat saabit karne ki jo gunjaiesh hai vaah kaafi zyada hai possibility zyada hai ki vaah saabit kar payegi kyonki jo ncp ya koi bhi paksh ho congress ho ya shivsena ho kyonki unke jo chune hue jo vidhan sabha 54 55 ke aaspass hai aur agar usme se do tihai yani kareeb 30 35 35 ke aaspass vaah saudagar paksh mein keyboard sarkar ka jo hai unke agar 36 se kam yani ki 10 15 hi agar vote dete hain toh isme sarkar ko tumko gate light speaker denge ya paksh ko jo aarakshan ko sharad power ke nikaal sakte hain aur pakshi rodhi kanoon laagu hoga unka dhara sabhya ne kisan sabha ka aayojan radd ho jaega isliye puri koshish ki jayegi kyonki 4 00 management mein jo hamare pradhanmantri ho ya amit shah ji yah sab bahut hi maahir hain aur inhone kuch soch samajhkar hi kiya hoga kyonki yudh par sarkar ne is tarah ka karnataka mein ho chuka hai aur police se vote ke liye deepak ji ko apna tyagpatra dena pada tha agar karnataka ki yahi baat thi agar bharat mein dohrai jaati hai agar inko bahumati nahi milti kya saabit nahi tumko kaise apna tyagpatra dena padega dhananjay ko aur teri shivsena ncp aur congress ki sarkar banegi lekin puri koshish ki jayegi aur bjp bahumat saabit karne ka bharpur prayas kare ki devendra fadnavis bharpur prayas kare jitna se 105a toh 134 inki sabhya sankhya kar sab inke saath aate hain result 134 ho jaate hain phir unko 1012 145 bahumat ka akanda hai isliye unko 11 sabjiyon ki jaan sabjiyon ki zarurat padegi lekin ho sakta hai manage karne lekin bahumat saabit karne ke liye bharpur koshish yahi hogi ki ncp ka juta in ke pale mein aakar aur bahumat saabit karne mein sahyog karega aur kya toh koi bhi ek party wahan se apna vaah cut cut jayegi toh bahumat ka akanda ekdam kam ho jaega 105 toh bjp ke sadasya hain isliye agar and patient rehti ncp ko bhi bahut aasani se saabit ho jaega aur kitne kuch na kuch jod tod ki raajneeti ho sakti hai dhanyavad

एनसीपी को तोड़ने के बाद भी क्या महाराष्ट्र में बीजेपी बहुमत साबित कर पाएगी वैकेंसी को तोड़

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  1275
WhatsApp_icon
user

Dr. Radha kant Singh

किसान

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एनसीबी सोने के बाद भी पेपर महाराष्ट्र में भाजपा बहुमत सिद्ध करती है कि को छोड़ने के बाद 50% भी विधायक अगर अजित पवार के पाले में खड़े हो जाते हैं 50% पलवल में 27 विधायक 15 विधायक हुए विधायक हैं तो अगर 20 विधायक अगर उसमें से भी अगर भारत मेरा विधायक इनके पास में आ जाते हैं तो यह जादू ही आंखों से छू सकते हैं

NCB sone ke baad bhi paper maharashtra mein bhajpa bahumat siddh karti hai ki ko chodne ke baad 50 bhi vidhayak agar ajit power ke pale mein khade ho jaate hain 50 palval mein 27 vidhayak 15 vidhayak hue vidhayak hain toh agar 20 vidhayak agar usme se bhi agar bharat mera vidhayak inke paas mein aa jaate hain toh yah jadu hi aankho se chu sakte hain

एनसीबी सोने के बाद भी पेपर महाराष्ट्र में भाजपा बहुमत सिद्ध करती है कि को छोड़ने के बाद 50

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  892
WhatsApp_icon
user

K.L.Salvi Advocate (Ret.D,C,Mp)

Seva Nivrt.Deeputy,Collector

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एनसीपी को तोड़ने के बाद महाराष्ट्र में बीजेपी बहुमत साबित करना बड़ा मुश्किल होता है हम फिर कुछ कह नहीं सकते हैं कि विधायकों का क्या भरोसा है बाकी बीजेपी बहुमत साबित नहीं कर पाई

ncp ko todne ke baad maharashtra mein bjp bahumat saabit karna bada mushkil hota hai hum phir kuch keh nahi sakte hain ki vidhayakon ka kya bharosa hai baki bjp bahumat saabit nahi kar payi

एनसीपी को तोड़ने के बाद महाराष्ट्र में बीजेपी बहुमत साबित करना बड़ा मुश्किल होता है हम फिर

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user
1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एनसीपी को छोड़ने के बाद क्या बीजेपी अपना बहुमत सिद्ध कर पाएंगे भाई बीजेपी की 104 सीटें हैं जो कि जितने बच्चे छोटे रहते हैं 5 लोग ऐसे हैं जो इन सभी के साथ में भी नहीं है या यह कहकर स्टेट्स उनसे संपर्क नहीं मिल पा रहा है अभी लोग कहां हैं एनसीपी को नहीं मालूम पर एनसीपी ने अपने बाकी सदस्यों को अपने कब्जे में कर लिया है क्योंकि 7 दिन के लिए प्ले होटल में किसी होटल में जाकर बदल गए हैं और अब वह सरिता जी के चरण में है अभी बाहर अभी इसी प्रकार से किसी से मिल नहीं पाएंगे इस कंडीशन में बीजेपी से शिवसेना तो अलग हो चुकी है कांग्रेसियों के साथ पहले ही मिल पाएगी कि एनसीपी के ही सदस्य टोटकों के साथ जुड़कर इनकी पार्टी या भ्रमित होने की संभावना थी जो अब मुझे संभावना नहीं दिखाई देती है धन्यवाद

ncp ko chodne ke baad kya bjp apna bahumat siddh kar payenge bhai bjp ki 104 seaten hai jo ki jitne bacche chote rehte hai 5 log aise hai jo in sabhi ke saath mein bhi nahi hai ya yah kehkar states unse sampark nahi mil paa raha hai abhi log kahaan hai ncp ko nahi maloom par ncp ne apne baki sadasyon ko apne kabje mein kar liya hai kyonki 7 din ke liye play hotel mein kisi hotel mein jaakar badal gaye hai aur ab vaah sarita ji ke charan mein hai abhi bahar abhi isi prakar se kisi se mil nahi payenge is condition mein bjp se shivsena toh alag ho chuki hai congressiyo ke saath pehle hi mil payegi ki ncp ke hi sadasya totakon ke saath judakar inki party ya bharmit hone ki sambhavna thi jo ab mujhe sambhavna nahi dikhai deti hai dhanyavad

एनसीपी को छोड़ने के बाद क्या बीजेपी अपना बहुमत सिद्ध कर पाएंगे भाई बीजेपी की 104 सीटें हैं

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  203
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!