मांग की लोच का नियम क्या है?...


play
user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

1:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मांग की लोच नियम क्या है इसकी परिभाषा समझे मांग का नियम है बताता है कि वस्तु के मूल में परिवर्तन होने से किस मांग की प्रवृत्ति किस दिशा में होगी लेकिन मांग का नियम या नहीं बताता है कि वस्तु के मूल्य में अर्थ परिवर्तन होने से उसकी मांग में अधिक परिवर्तन क्यों होता है जबकि वस्तु के मूल में उतना ही परिवर्तन की मांग पर कुछ प्रभाव नहीं होता है इस आरती घटना की व्याख्या करने तो मार्शल मार्शल ने अर्थशास्त्र के क्षेत्र में एक नया विचार दिया जिसे मांग की लोच का नाम दिया गया लौटते अर्थ है किसी वस्तु में घुटने बढ़ने की शक्ति होने से है उदाहरण के लिए रब्बर के लोचदार कहते हैं क्योंकि दबाव पड़ने पर वह मर जाता है और दबाव हटने से सिकुड़ जाता है दो बातों पर निर्भर करती है बस तू कैसा ऊपर और उस पर पड़ने वाले दबाव यदि किसी वस्तु का स्वभाव लचीला नहीं है अपने पर कम बढ़ेगा यही बात वस्तुओं की मांग के संबंध में है कुछ वस्तु ऐसी होती है कि मूल परिवर्तन पर उन्हें मांग कर बहुत अधिक असर पड़ता है जबकि कुछ वस्तुओं की मांग पर कम प्रभाव पड़ता है किसी वस्तु की मांग पर मूल लोचदार मांग और यदि मांग पर मूल परिवर्तन का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है तो उसे ब्लॉक छुड़ाएं कहते हैं

maang ki loch niyam kya hai iski paribhasha samjhe maang ka niyam hai batata hai ki vastu ke mul me parivartan hone se kis maang ki pravritti kis disha me hogi lekin maang ka niyam ya nahi batata hai ki vastu ke mulya me arth parivartan hone se uski maang me adhik parivartan kyon hota hai jabki vastu ke mul me utana hi parivartan ki maang par kuch prabhav nahi hota hai is aarti ghatna ki vyakhya karne toh marshall marshall ne arthashastra ke kshetra me ek naya vichar diya jise maang ki loch ka naam diya gaya lautate arth hai kisi vastu me ghutne badhne ki shakti hone se hai udaharan ke liye rubber ke lochadar kehte hain kyonki dabaav padane par vaah mar jata hai aur dabaav hatane se sikud jata hai do baaton par nirbhar karti hai bus tu kaisa upar aur us par padane waale dabaav yadi kisi vastu ka swabhav lachila nahi hai apne par kam badhega yahi baat vastuon ki maang ke sambandh me hai kuch vastu aisi hoti hai ki mul parivartan par unhe maang kar bahut adhik asar padta hai jabki kuch vastuon ki maang par kam prabhav padta hai kisi vastu ki maang par mul lochadar maang aur yadi maang par mul parivartan ka koi prabhav nahi padta hai toh use block chhudaen kehte hain

मांग की लोच नियम क्या है इसकी परिभाषा समझे मांग का नियम है बताता है कि वस्तु के मूल में पर

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  1015
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!