अरस्तू का राज्य सिद्धान्त क्या है?...


play
user

Shreekant

Startups

1:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरस्तु जो है या नहीं यार इस टोटल वह पुराने जमाने के प्रमुख फिलॉसफर रह चुके हैं और उनके हिसाब से जो राज्य को चलने की उपलब्धि स्तर की गवर्नमेंट होनी चाहिए उनके हिसाब से ऐसा था कि वह लोग वह लोकतंत्र के थोड़ा विरोध विरोध करते थे तो उनके सर से बतासा की सबसे सही राजनीति और लव सही शासन वहीं पर होगा जहां पर कुछ लोग के पास पावर है और बाकी लोग जो है बाकी लोग के लिए काम किया जा रहा है उस पावर से ठीक है तो उनके लिए जो आइडियल स्टेट्स आइडियल राज्य था तो वह ऐसा था कि एक ग्रुप ऑफ फ्लॉवर्स या बहुत ही कम लोग हैं और जिनके पास जो है पावर है देश में जो भी चलाना है वह चलाने की बटन को भी पता था कि यह आइडियल सिचुएशन में बहुत ज्यादा मतलब बहुत मुश्किल है क्योंकि आप कम लोगों के हाथों में ग्रह पावर दे देंगे तो उनका उसका गलत इस्तेमाल भी हो सकता है तो इसलिए एक मिक्स टाइप की गवर्नमेंट स्कूल पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स उन्होंने कहा जिसमें सारे सिटीजन जो है वह भी करते हैं फूल भी होते हैं और कोई मतलब कोई पर्टिकुलर लास्ट की जो एक मतलब मान लीजिए सिर पर चढ़ा जो लोग यह तो उसे उनके पास पावर है या फिर सिर्फ जो नेता लोग हैं उनके आसपास रहे तो ऐसा नहीं होगा उसमें उसमें हर टाइप का देसी टशन है उन सबके हॉर्स पावर होगी तो इस टाइप के थे उनके सिद्धांतों है राज्य को लेकर

arastu jo hai ya nahi yaar is total vaah purane jamane ke pramukh philosopher reh chuke hai aur unke hisab se jo rajya ko chalne ki upalabdhi sthar ki government honi chahiye unke hisab se aisa tha ki vaah log vaah loktantra ke thoda virodh virodh karte the toh unke sir se BA tasa ki sabse sahi raajneeti aur love sahi shasan wahi par hoga jaha par kuch log ke paas power hai aur BA ki log jo hai BA ki log ke liye kaam kiya ja raha hai us power se theek hai toh unke liye jo ideal states ideal rajya tha toh vaah aisa tha ki ek group of flowers ya BA hut hi kam log hai aur jinke paas jo hai power hai desh mein jo bhi chalana hai vaah chalane ki button ko bhi pata tha ki yah ideal situation mein BA hut zyada matlab BA hut mushkil hai kyonki aap kam logo ke hathon mein grah power de denge toh unka uska galat istemal bhi ho sakta hai toh isliye ek mix type ki government school politics politics unhone kaha jisme saare citizen jo hai vaah bhi karte hai fool bhi hote hai aur koi matlab koi particular last ki jo ek matlab maan lijiye sir par chadha jo log yah toh use unke paas power hai ya phir sirf jo neta log hai unke aaspass rahe toh aisa nahi hoga usme usme har type ka desi tashan hai un sabke horse power hogi toh is type ke the unke siddhanto hai rajya ko lekar

अरस्तु जो है या नहीं यार इस टोटल वह पुराने जमाने के प्रमुख फिलॉसफर रह चुके हैं और उनके हिस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  146
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
arastu ka janm kab hua tha ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!