हरित क्रांति का पर्यावरण पर क्या प्रभाव पड़ा?...


user

Dr. Radha kant Singh

किसान

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ने पूछा कि हरित क्रांति का पर्यावरण पर क्या प्रभाव पड़ा हरित क्रांति का तो विशेष प्रभाव नहीं पड़ा लेकिन उत्पादन की जो अंधाधुंध हमारी चषक बड़ी एक नशा बड़ा कि हम अधिक उत्पादन उत्पादन लेने के उसमें हम लोग इतने अंधे हो गए कि हमने सब कुछ खो दिया बैंक किस की साइड बैंकर बैंकर सभी साइट्स भयंकर भयंकर केमिकल हमने इस्तेमाल कर डाले जिससे पर्यावरण पर इसका विपरीत फर्क बैठा जमीन में वातावरण में CO2 की मात्रा बढ़ गई मीथेन की मात्रा बढ़ गई ऑक्सीजन की मात्रा कम होने लगी जमीन के अंदर पानी की मात्रा कम होने लगी जमीन में ऑक्सीजन की मात्रा कम होने लगी जमीने कठोर होने लगी बंजर होने लगी तो इसका बहुत बड़े दुष्प्रभाव हमारे यहां पर पड़े हैं लेकिन यह फसल खरीफ फसल क्रांति के नहीं है यह हमारे लालच की क्रांति के

ne poocha ki harit kranti ka paryavaran par kya prabhav pada harit kranti ka toh vishesh prabhav nahi pada lekin utpadan ki jo andhadhundh hamari chashak badi ek nasha bada ki hum adhik utpadan utpadan lene ke usme hum log itne andhe ho gaye ki humne sab kuch kho diya bank kis ki side banker banker sabhi sites bhayankar bhayankar chemical humne istemal kar dale jisse paryavaran par iska viprit fark baitha jameen mein vatavaran mein CO2 ki matra badh gayi methane ki matra badh gayi oxygen ki matra kam hone lagi jameen ke andar paani ki matra kam hone lagi jameen mein oxygen ki matra kam hone lagi jamine kathor hone lagi banjar hone lagi toh iska bahut bade dushprabhav hamare yahan par pade hain lekin yah fasal kharif fasal kranti ke nahi hai yah hamare lalach ki kranti ke

ने पूछा कि हरित क्रांति का पर्यावरण पर क्या प्रभाव पड़ा हरित क्रांति का तो विशेष प्रभाव नह

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  853
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Satendra Dhakar

Railway Engineering Department

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में हरित क्रांति का जब आगमन 1966 दशक में हुआ आज जिसके पिता भारत में डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन को कहा जाता है हरित क्रांति के आने से भारत में जो है खाद्यान्न उत्पादन में तेजी से वृद्धि हुई फसलों के उत्पादन में तेजी से वृद्धि तो हुई लेकिन वहीं दूसरी तरफ दूसरी तरफ जो है पर्यावरण को इससे काफी नुकसान हुआ क्योंकि इसके अंतर्गत हमने जो है उर्वरकों का यूज किया उन्नत बीजों का यूज किया जिससे मृदा की उर्वरता सकती है वह कम हो गई क्योंकि तेजी से जब प्रोडक्शन करोगे उर्वरकों का यूज करोगे जैविक खादों के स्थान पर तू कहीं ना कहीं प्रकृति को नुकसान होगा कीटनाशकों के प्रयोग की वजह से भी जो है पर्यावरण को खतरा हुआ इस प्रकार से इस हरित क्रांति ने पर्यावरण के चरण का कार्य किया था

bharat me harit kranti ka jab aagaman 1966 dashak me hua aaj jiske pita bharat me doctor M S swaminathan ko kaha jata hai harit kranti ke aane se bharat me jo hai khadyann utpadan me teji se vriddhi hui fasalon ke utpadan me teji se vriddhi toh hui lekin wahi dusri taraf dusri taraf jo hai paryavaran ko isse kaafi nuksan hua kyonki iske antargat humne jo hai urvarakon ka use kiya unnat beejon ka use kiya jisse mrida ki urvarta sakti hai vaah kam ho gayi kyonki teji se jab production karoge urvarakon ka use karoge Jaivik khadon ke sthan par tu kahin na kahin prakriti ko nuksan hoga kitnashakon ke prayog ki wajah se bhi jo hai paryavaran ko khatra hua is prakar se is harit kranti ne paryavaran ke charan ka karya kiya tha

भारत में हरित क्रांति का जब आगमन 1966 दशक में हुआ आज जिसके पिता भारत में डॉक्टर एम एस स्वा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  53
WhatsApp_icon
user

tej

Teacher

0:27
Play

Likes  13  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user

हसन

Teacher

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरित क्रांति के माध्यम से भारत में जहां एक तरफ अनाजों के उत्पादन में बेतहाशा वृद्धि हुई वहीं दूसरी तरफ अनाज उत्पादन की प्रक्रिया में प्रयोग होने वाले रासायनिक खाद बीज आदि कीटनाशक दवाइयां आदि के प्रयोग से वायु और खास करके हमारे खेत की मिट्टी प्रदूषित हो गए

harit kranti ke madhyam se bharat mein jaha ek taraf anaajon ke utpadan mein bethasha vriddhi hui wahi dusri taraf anaaj utpadan ki prakriya mein prayog hone waale Rasayanik khad beej aadi keetnashak davaiyan aadi ke prayog se vayu aur khas karke hamare khet ki mitti pradushit ho gaye

हरित क्रांति के माध्यम से भारत में जहां एक तरफ अनाजों के उत्पादन में बेतहाशा वृद्धि हुई वह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user

Gautam

Political Science Honours

3:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरित क्रांति आप सब जानते हैं क्रांति क्या है हरित क्रांति ने छह छह से छह-सात के बीच के काल को कहा जाता है इसमें क्या हुआ सरकार ने बहुत ही उन्नत बीज और आदमी को बोलते एसवाईवी टिकट हाइब्रिड बीज होता है उसका अपनी जगह उपभोग किया 7:30 किसानों को प्रेरित किया हरित क्रांति सबसे पहले मेक्सिको में हुई थी मेक्सिको से सशक्त व मैक्सी पहुंचाता है अमेरिका और ब्राजील के कुछ भागों में पहुंचा लिए निकली रोमन रोमन रिंग रॉन्ग रिंग सीरियल किसर दुबई में पहुंचे क्रांति श्री होती पाकिस्तान की तरफ से इंडिया में अंतर का पैसा इन्वेस्ट किया जैसे कि आप मान लीजिए हरियाणा पंजाबी सबसे राज्य थे इनमें चावल नहीं होता था नाम का भी लोगों को बहुत ही अच्छी क्वालिटी के बीज दिए अली सेलिंग बोलते हैं उसको अनुभव बोलता ट्रैक्टर बहुत ही सब्सिडी रेट पर कि तुझसे क्या हुआ कि जितना आपने बन गया है पर इसका उल्टा प्रभाव यह पड़ा कि इन राज्यों में आज पानी की बहुत किल्लत है हरियाणा पंजाब कुछ हिस्सों में पानी की बहुत परेशानी है तो उसका क्या प्रभाव पड़ा मारे पर्यावरण के अग्रवाल और मेंडिस को अगर सही तरीके से फूल ही अगर करती ऐसी हरित क्रांति का प्रभाव है सब राज्य अलग अलग है अब बिहार साइड में चाहिए मध्य प्रदेश में कहां उसका क्या प्रभाव नहीं पड़ा कि भी गवर्नमेंट का फोकस छोटे राज्यों का छोटे राज्यों पंजाब हरियाणा पंजाब से छोटे राज्य होते हैं इन राज्यों में जरा प्लैटिनम बहुत पैसा कमाया पर आप कह सकते हैं कि क्रांति का जो चरथावल में मिलाजुला था कि कुछ राज्यों के लिए फायदे का सौदा साबित हो और कुछ राज्यों के लिए शुभ बिल्कुल फायदे का सौदा नहीं था और उसका प्रोग्राम लीजिए कितना पानी हरियाणा पंजाब में आज काम हो चुका है दुबई का भी पानी सूख चुका है तकरीबन दवाई खानी की शुरुआत हुई थी और दुनिया का सबसे बड़ा उत्पादक देश बन गया था जिसकी वजह से बिजली कैसे गिरती हुई वस्तु पर अपनी चर्चित और प्राकृतिक तौर पर गेहूं के कारण अर्जुन की जो फांसी के लाले पड़ चुकी और संबंधों से पानी फिल्टर करते मेमोरिन के द्वारा और बौद्धिक आपको लगता है कि इंफॉर्मेशन ऑफ लिप बहुत हो गई अगर आपको चाहिए तो बताइए मैं कोशिश करूंगा अपनी सोच अच्छा थैंक यू

harit kranti aap sab jante hain kranti kya hai harit kranti ne cheh cheh se cheh saat ke beech ke kaal ko kaha jata hai isme kya hua sarkar ne bahut hi unnat beej aur aadmi ko bolte SYV ticket hybrid beej hota hai uska apni jagah upbhog kiya 7 30 kisano ko prerit kiya harit kranti sabse pehle mexico mein hui thi mexico se sashakt va maxi pohchta hai america aur brazil ke kuch bhaagon mein pohcha liye nikli roman roman ring wrong ring serial kisar dubai mein pahuche kranti shri hoti pakistan ki taraf se india mein antar ka paisa invest kiya jaise ki aap maan lijiye haryana punjabi sabse rajya the inme chawal nahi hota tha naam ka bhi logo ko bahut hi achi quality ke beej diye ali selling bolte hain usko anubhav bolta tractor bahut hi subsidy rate par ki tujhse kya hua ki jitna aapne ban gaya hai par iska ulta prabhav yah pada ki in rajyo mein aaj paani ki bahut killat hai haryana punjab kuch hisson mein paani ki bahut pareshani hai toh uska kya prabhav pada maare paryavaran ke agrawal aur mendis ko agar sahi tarike se fool hi agar karti aisi harit kranti ka prabhav hai sab rajya alag alag hai ab bihar side mein chahiye madhya pradesh mein kahaan uska kya prabhav nahi pada ki bhi government ka focus chote rajyo ka chote rajyo punjab haryana punjab se chote rajya hote hain in rajyo mein zara platinum bahut paisa kamaya par aap keh sakte hain ki kranti ka jo charthaval mein milajula tha ki kuch rajyo ke liye fayde ka sauda saabit ho aur kuch rajyo ke liye shubha bilkul fayde ka sauda nahi tha aur uska program lijiye kitna paani haryana punjab mein aaj kaam ho chuka hai dubai ka bhi paani sukh chuka hai takareeban dawai khaani ki shuruat hui thi aur duniya ka sabse bada utpadak desh ban gaya tha jiski wajah se bijli kaise girti hui vastu par apni charchit aur prakirtik taur par gehun ke karan arjun ki jo fansi ke lale pad chuki aur sambandhon se paani filter karte memorin ke dwara aur baudhik aapko lagta hai ki information of lip bahut ho gayi agar aapko chahiye toh bataye main koshish karunga apni soch accha thank you

हरित क्रांति आप सब जानते हैं क्रांति क्या है हरित क्रांति ने छह छह से छह-सात के बीच के काल

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!