हम एक भारतीय आर्थिक सेवा अधिकारी और एक IAS अधिकारी की भूमिकाओं और प्रचार पहलुओं की तुलना कैसे कर सकते हैं दोनों सेवा अधिकारियों द्वारा की जाने वाली भूमिकाएँ कितनी अलग हैं?...


user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

5:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने पूछा है कि एक भारतीय आर्थिक सेवा और यह काम के आईएएस अधिकारी का भूमिका है और उसके 50 फलों के बारे में डिप्रेशन एक तो भारतीय आर्थिक सेवा बत्रा ऑफ इंडियन रेवेन्यू सर्विस को मीन करते हो वह भी हो सकता है और एक इंडियन इकोनामिक सर्विस से बट मेरे खेल में आप मुझे मूंदकर इंडियन रेवेन्यू सर्विस के बारे में बताइए सरकार का चाहे जो भी कार्यक्रम है सभी कार्यक्रम में उन्होंने प्रशासन भूमिका निभाता है और उनका पोस्टिंग कब होती है तो जलेसर में कलेक्टर से लेकर प्रशासनिक स्तर पर होती है सभी विभाग के साथ को रिजेक्ट करना डिस्ट्रिक्ट लेवल कलेक्टर के हिसाब से लोन रतन के पास रहते हैं इसलिए लेटेस्ट मास्टर कराता है उसके साथ-साथ सभी विभाग के साथ को डिनर करना और जितने प्रदाता डेवलपमेंट काम जिले में आ रहा है उस सभी को क्रियान्वित करने काम जिला कलेक्टर के पास होता है और सभी का प्रशासन के देवता ऊपर ऊपर कलेक्टर के सुपरवाइजर को सुनाते हैं फिर जब सेक्रेटरी डिपार्टमेंट में जाते डिपार्टमेंट का पर्सनल होती है और सरकार और डिफेंस लकड़ी का काम करते हैं सरकार होती है उसको करना और उसको तुरंत करना बोलता हूं वह मैं करता है सो जाते ज्योति और जो भारत का सर्वोच्च पद होती है कैबिनेट सेक्रेटरी उसमें भी आई है मैं मिलने आ जाता है और बता सकते हैं कोई भी मां का काम संभाल सकते तो इनका जैक्सन से सेक्स पर हो जाता है दूसरे सर्विस के हिसाब से थोड़ा ज्यादा रहता है और जनता के साथ उनके जुड़ाव बहुत पास से एक एकदम एवं उसमें जुड़े रहते हैं आपने सब बिजली गुल से जिला स्तर से संभागीय स्तर से लेकर जेड तक से लेकर सभी लेवल पर उनके बाद को सुनना बात का समाधान करना और सरकार का प्रोग्राम को क्रियान्वित करना यह सब काम में उनका हम रहते हैं तो मैं बताऊंगा कि सरकारी मेरे हिसाब से सबसे बड़ा चल नहीं लगता है रेस्पॉन्सिविटी ई-मेल से और लौटो ब्रिटिश किस प्रकार का असाइनमेंट उनको मिल जाता है कोई कंपनी है कंपनी का भारत सरकार और राज्य सरकार को उनके पति मिल जाता है गणेश वसूलते प्रशासन छठ के हिसाब से उनका और सरकार का प्रतिनिधि के रूप में मुख्य पद के दुरुपयोग और बाकी आपने जो बताया अभी मेरे बिना सर्विस आपके उस में होती है आपके इनकम टैक्स और एक ओके कस्टम जिसको भी जीएसटी बिल आ गया गुड्स गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स इनकम टैक्स अधिकारी का रोल आयुष के मुकाम खो जाता है कि उनका काम सिर्फ इनकम टैक्स पेयर के साथ जुड़े होते हैं इंडिया में कितने होंगे उनके अलावा बाकी लोग के साथ उनका कोई रिश्ता नहीं देता है और उन्हें कैसे रेवेन्यू को बढ़ाएंगे कोई इनकम टैक्स का क्या मॉनिटरिंग करेंगे उनको जरूर सरकुलेशन इनकम टैक्स का कुकर एवं कई प्रकार के पास आता है नहीं होता है उसको करवाते उसी दिमाग में रहते हैं दूसरों को सबसे स्कूल ज्योतिराज आंसर की लेवल में स्टाफ का जो आपके गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स से पहले उसको सेंट्रल एक्साइज कहा जाता था कोई भी आपको उत्पाद होती है उस पर क्या सूरत लगता है उसको निर्धारित करना और ओशो अरे मीनू सरकार के पास आते हैं तो उनको कंट्रोल करना मॉनिटरिंग करना रेगुलेट करना उनका शमिताभ माता केरीनता भूमिका बहुत अहम होती है क्योंकि सरकार का तेरे बिन का मैटर उसको डील करते हैं लोगों के साथ होती है इसमें थोड़ा कम है और बाकी जो इंडियन इकोनॉमिक सर्विस से यह तो शुरु से आपका इकोनॉमिक्स क्वेश्चन डायरेक्टर डाक्टर के ब्रांड भाई जब तक इस तरह के विभिन्न प्रकार में विभाजित बारे में इसके बारे में उनको सलाह देने के लिए होती है आपके बिना विभाग में उनका धन्यवाद

namaskar aapne poocha hai ki ek bharatiya aarthik seva aur yah kaam ke IAS adhikari ka bhumika hai aur uske 50 falon ke bare mein depression ek toh bharatiya aarthik seva batra of indian revenue service ko meen karte ho vaah bhi ho sakta hai aur ek indian economic service se but mere khel mein aap mujhe mundakar indian revenue service ke bare mein bataye sarkar ka chahen jo bhi karyakram hai sabhi karyakram mein unhone prashasan bhumika nibhata hai aur unka posting kab hoti hai toh jalesar mein collector se lekar prashaasnik sthar par hoti hai sabhi vibhag ke saath ko reject karna district level collector ke hisab se loan ratan ke paas rehte hai isliye latest master karata hai uske saath saath sabhi vibhag ke saath ko dinner karna aur jitne pradaata development kaam jile mein aa raha hai us sabhi ko kriyanwit karne kaam jila collector ke paas hota hai aur sabhi ka prashasan ke devta upar upar collector ke supervisor ko sunaate hai phir jab secretary department mein jaate department ka personal hoti hai aur sarkar aur defence lakdi ka kaam karte hai sarkar hoti hai usko karna aur usko turant karna bolta hoon vaah main karta hai so jaate jyoti aur jo bharat ka sarvoch pad hoti hai cabinet secretary usme bhi I hai milne aa jata hai aur bata sakte hai koi bhi maa ka kaam sambhaal sakte toh inka jackson se sex par ho jata hai dusre service ke hisab se thoda zyada rehta hai aur janta ke saath unke judav bahut paas se ek ekdam evam usme jude rehte hai aapne sab bijli gul se jila sthar se sambhagiye sthar se lekar z tak se lekar sabhi level par unke baad ko sunana baat ka samadhan karna aur sarkar ka program ko kriyanwit karna yah sab kaam mein unka hum rehte hai toh main bataunga ki sarkari mere hisab se sabse bada chal nahi lagta hai respansiviti ee male se aur lauto british kis prakar ka assignment unko mil jata hai koi company hai company ka bharat sarkar aur rajya sarkar ko unke pati mil jata hai ganesh vasulate prashasan chhath ke hisab se unka aur sarkar ka pratinidhi ke roop mein mukhya pad ke durupyog aur baki aapne jo bataya abhi mere bina service aapke us mein hoti hai aapke income tax aur ek ok custom jisko bhi gst bill aa gaya goods goods and services tax income tax adhikari ka roll ayush ke mukam kho jata hai ki unka kaam sirf income tax pair ke saath jude hote hai india mein kitne honge unke alava baki log ke saath unka koi rishta nahi deta hai aur unhe kaise revenue ko badhaenge koi income tax ka kya monitoring karenge unko zaroor sarakuleshan income tax ka cooker evam kai prakar ke paas aata hai nahi hota hai usko karwaate usi dimag mein rehte hai dusro ko sabse school jyotiraj answer ki level mein staff ka jo aapke goods and services tax se pehle usko central excise kaha jata tha koi bhi aapko utpaad hoti hai us par kya surat lagta hai usko nirdharit karna aur osho are meenu sarkar ke paas aate hai toh unko control karna monitoring karna regulate karna unka shamitabh mata kerinata bhumika bahut aham hoti hai kyonki sarkar ka tere bin ka matter usko deal karte hai logo ke saath hoti hai isme thoda kam hai aur baki jo indian economic service se yah toh shuru se aapka economics question director doctor ke brand bhai jab tak is tarah ke vibhinn prakar mein vibhajit bare mein iske bare mein unko salah dene ke liye hoti hai aapke bina vibhag mein unka dhanyavad

नमस्कार आपने पूछा है कि एक भारतीय आर्थिक सेवा और यह काम के आईएएस अधिकारी का भूमिका है और उ

Romanized Version
Likes  365  Dislikes    views  4093
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jitendra Singh

Social Worker

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह क्वेश्चन आपका आर्थिक सेवा अधिकारी और आईएएस अधिकारी की भूमिकाओं से तुलना करता है दोनों सेवा अधिकारियों द्वारा की जाने वाली आपने पूछा है इसमें क्या अंतर है देखिए यह आर्थिक जगत से जुड़ा हुआ पसंद है और आर्थिक जगत का सेवा अधिकारी हो चाहे आईएएस अधिकारी हूं उसने पढ़ रखा है यही आर्थिक जगत का ही ज्ञान जो एक अंधा ज्ञान है उस ज्ञान के स्वरूप आप सिर्फ और सिर्फ किताबी ज्ञान प्राप्त किया है आपको शब्द ज्ञान प्राप्त करने में बहुत समय लगेगा जब अर्थ ज्ञान आ जाएगा तब इन दोनों के हम तुलना कर सकते हैं अभी तो यह अर्थ ज्ञान के अधिकारी हैं दोनों ही और मैं अर्थ ज्ञान पड़ा तो हूं लेकिन मैंने उसको धारण नहीं किया है मैं शब्द ज्ञान से प्रश्न का उत्तर देता हूं तो अगर आप उचित समझे तो शब्द ज्ञान प्रशन से मिले उसे तो मैं उसका उत्तर साहसी दूंगा जो वेद जो शास्त्र कहता है उसी संबंध में उत्तर होना चाहिए जो शब्द बोलता है सब भ्रम है वही उत्तर होना चाहिए तर्क कुतर्क यह उत्तर नष्ट फिट बैठता है ना देना चाहिए इसीलिए उन दोनों के कार्य में कितना अंतर है यह मैं नहीं जान पाया धन्यवाद

yah question aapka aarthik seva adhikari aur IAS adhikari ki bhoomikaon se tulna karta hai dono seva adhikaariyo dwara ki jaane wali aapne poocha hai isme kya antar hai dekhiye yah aarthik jagat se juda hua pasand hai aur aarthik jagat ka seva adhikari ho chahen IAS adhikari hoon usne padh rakha hai yahi aarthik jagat ka hi gyaan jo ek andha gyaan hai us gyaan ke swaroop aap sirf aur sirf kitabi gyaan prapt kiya hai aapko shabd gyaan prapt karne me bahut samay lagega jab arth gyaan aa jaega tab in dono ke hum tulna kar sakte hain abhi toh yah arth gyaan ke adhikari hain dono hi aur main arth gyaan pada toh hoon lekin maine usko dharan nahi kiya hai main shabd gyaan se prashna ka uttar deta hoon toh agar aap uchit samjhe toh shabd gyaan prashn se mile use toh main uska uttar sahasi dunga jo ved jo shastra kahata hai usi sambandh me uttar hona chahiye jo shabd bolta hai sab bharam hai wahi uttar hona chahiye tark kutark yah uttar nasht fit baithta hai na dena chahiye isliye un dono ke karya me kitna antar hai yah main nahi jaan paya dhanyavad

यह क्वेश्चन आपका आर्थिक सेवा अधिकारी और आईएएस अधिकारी की भूमिकाओं से तुलना करता है दोनों स

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे दोनों की भूमिकाएं बहुत अलग-अलग है एक आईएएस अधिकारी होता है वह अपने डिस्ट्रिक्ट को देखता है डीएम होता है लड़का डिस्टिक मजिस्ट्रेट जैसे बोलते हैं वह संभालता है और यह जो आर्थिक सेवा अधिकारी है वह भी अपना काम है वह अच्छे से करता है दोनों ही इंडिया की ऑफिस रहमतुल्ला कर्ज हो सकते लेकिन उनके फील्ड अलग अलग हो गई तो आपको इसे कंपैरिजन भी नहीं करना चाहिए आप कल को अपने घर कहेंगे कि इंडियन आर्मी राजस्थान पुलिस

likhe dono ki bhumikaen bahut alag alag hai ek IAS adhikari hota hai vaah apne district ko dekhta hai dm hota hai ladka district magistrate jaise bolte hain vaah sambhalata hai aur yah jo aarthik seva adhikari hai vaah bhi apna kaam hai vaah acche se karta hai dono hi india ki office rahamtulla karj ho sakte lekin unke field alag alag ho gayi toh aapko ise kampairijan bhi nahi karna chahiye aap kal ko apne ghar kahenge ki indian army rajasthan police

लिखे दोनों की भूमिकाएं बहुत अलग-अलग है एक आईएएस अधिकारी होता है वह अपने डिस्ट्रिक्ट को देख

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा मीका आती आशिक सेवा अधिकारी और एक आईएएस अधिकारी की भूमिका और प्रचार पैरों की तुलना कैसे कर सकते हैं दोनों सेवा द्वारा की जाने वाली सेवाएं स्टेशनों के कार्यक्षेत्र दोनों की आईएएस अधिकारी प्रशासनिक कार्य देखते हैं और भारतीय आर्थिक सेवा बने अर्थव्यवस्था को जितने प्रशासनिक अधिकारी का काम प्रशासन से स्टेशन से संबंधित है किस गति से जा रही है या फिर था में उनका क्या योगदान है इसका कोई भी लिंक नहीं है अर्थव्यवस्था की भूमिका को अप्रत्यक्ष रूप से संभाल ले अपने कर्तव्य करने में एक आईएस की बहुत बड़ी भूमिका होती है क्योंकि का इस अगर ईमानदार कर्तव्यनिष्ठ और सभी कामों को सिस्टमैटिक नीचे करना और सरकार की नीतियों और पुनीत इन दोनों की विषय में विश्लेषण करना और क्या आधार पर काम करना यह बहुत हद तक अर्थव्यवस्था को एक मार्गदर्शन देता है और अर्थव्यवस्था में योगदान करते हैं जबकि इसके ठीक विपरीत भारतीय आर्थिक सेवा अधिकारी धोने हैं जिनका काम अर्थव्यवस्था से ही जुड़ा हुआ है अगर वह सही डाटा कनेक्ट करते हैं और पर सही विश्लेषण करते हैं और विश्लेषण को चाही नजरिए से प्रस्तुत करते हैं तो निश्चित रूप से देश के टांके चढ़ती चढ़ती है प्रशासन में भी बहुत बड़ा सुधार आता है क्योंकि जब प्रशासन में भ्रष्टाचार होगा तो रिश्ता जरूर लड़खड़ आएगी और जब अर्थव्यवस्था मजबूत होगी शुद्र शासन में भ्रष्टाचार का सवाल ही नहीं उठता अप्रत्यक्ष रूप से एक दूसरे के लिए मददगार होते हैं और शायद नहीं पता भी नहीं चलता कि इनकी कार्यशैली से कितना एक दूसरे को सहयोग कर रही हैं या गलत रास्ता बना लेने पर कितना एक इन दोनों की क्रियाकलाप के बहुत कुछ निर्भर करता है अगर दोनों में से कोई एक नीच विरोधी या कर्तव्य हीन भावना से कार्य करते हैं तो उसे प्रशासन और पैसा दोनों बिगड़ती है

aapne kaha mika aati aashik seva adhikari aur ek IAS adhikari ki bhumika aur prachar pairon ki tulna kaise kar sakte hai dono seva dwara ki jaane wali sevayen stationo ke karyakshetra dono ki IAS adhikari prashaasnik karya dekhte hai aur bharatiya aarthik seva bane arthavyavastha ko jitne prashaasnik adhikari ka kaam prashasan se station se sambandhit hai kis gati se ja rahi hai ya phir tha mein unka kya yogdan hai iska koi bhi link nahi hai arthavyavastha ki bhumika ko apratyaksh roop se sambhaal le apne kartavya karne mein ek ias ki bahut baadi bhumika hoti hai kyonki ka is agar imaandaar kartavyanishth aur sabhi kaamo ko systematic niche karna aur sarkar ki nitiyon aur puneeth in dono ki vishay mein vishleshan karna aur kya aadhaar par kaam karna yah bahut had tak arthavyavastha ko ek margdarshan deta hai aur arthavyavastha mein yogdan karte hai jabki iske theek viprit bharatiya aarthik seva adhikari dhone hai jinka kaam arthavyavastha se hi juda hua hai agar vaah sahi data connect karte hai aur par sahi vishleshan karte hai aur vishleshan ko chahi nazariye se prastut karte hai toh nishchit roop se desh ke tanken chadhati chadhati hai prashasan mein bhi bahut bada sudhaar aata hai kyonki jab prashasan mein bhrashtachar hoga toh rishta zaroor ladkhad aayegi aur jab arthavyavastha majboot hogi shudra shasan mein bhrashtachar ka sawaal hi nahi uthata apratyaksh roop se ek dusre ke liye madadgaar hote hai aur shayad nahi pata bhi nahi chalta ki inki karyashaili se kitna ek dusre ko sahyog kar rahi hai ya galat rasta bana lene par kitna ek in dono ki kriyakalap ke bahut kuch nirbhar karta hai agar dono mein se koi ek neech virodhi ya kartavya heen bhavna se karya karte hai toh use prashasan aur paisa dono bigadati hai

आपने कहा मीका आती आशिक सेवा अधिकारी और एक आईएएस अधिकारी की भूमिका और प्रचार पैरों की तुलना

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  1420
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:44
Play

Likes  539  Dislikes    views  7469
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  10  Dislikes    views  175
WhatsApp_icon
user

Indian Civil Servant

This account is handled by a serving Indian civil servant.

1:38
Play

Likes  72  Dislikes    views  1558
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!