ठोस अवस्था को परिभाषित करें?...


play
user

Chandrawat sir

Teacher - Chemistry

0:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है और अवस्था को परिभाषित करें तो पदार्थ की ऐसी अवस्था जिनमें और यह भी कर परस्पर निबंध संकलित अवस्था में पाए जाते हैं अर्थात ऐसी अवस्था जिसमें अमेरिकन बिल्कुल पास पास स्थित होते हैं जिनमें अंतर आणविक आकर्षण बल प्रबल होता है अंतर आणविक दूरियां सबसे कम होती है वह अवस्था ठोस अवस्था कहलाती है इस अवस्था में घनत्व सबसे अधिक होता है इसमें मिश्रण की प्रवृत्ति सबसे कम पाई जाती है और सभ्यता की प्रवृत्ति भी नगर नहीं होती है

aapka prashna hai aur avastha ko paribhashit kare toh padarth ki aisi avastha jinmein aur yah bhi kar paraspar nibandh sankalit avastha mein paye jaate hain arthat aisi avastha jisme american bilkul paas paas sthit hote hain jinmein antar aanvik aakarshan bal prabal hota hai antar aanvik duriyan sabse kam hoti hai vaah avastha thos avastha kahalati hai is avastha mein ghanatva sabse adhik hota hai isme mishran ki pravritti sabse kam payi jaati hai aur sabhyata ki pravritti bhi nagar nahi hoti hai

आपका प्रश्न है और अवस्था को परिभाषित करें तो पदार्थ की ऐसी अवस्था जिनमें और यह भी कर परस्

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी किसी भी पदार्थ की तीन अवस्थाएं होती है चौथी अवस्था भी मानी जाती है पहली अवस्था होती हैं उनके स्थान पर लगाओ ठोस अवस्था होती हैं वो एकदम से नजदीक नजदीक होते हैं अनुमति बिल्कुल नजदीक नजदीक होते हैं यही कारण है कि वस्तुएं कठोर हो जाती हैं तरल अवस्था में थोड़े कम थोड़े ज्यादा थोड़ी से दूर होते हैं और फिर कैसे अवस्था में काफी दूर होते हैं तो ठोस अवस्था मतलब कड़क था मजबूत होता प्लाट की जिसमें है जो अनु होते हैं वह एकदम से नजदीक बांड में बंधे हुए हो

dekhi kisi bhi padarth ki teen avasthae hoti hai chauthi avastha bhi maani jaati hai pehli avastha hoti hain unke sthan par lagao thos avastha hoti hain vo ekdam se nazdeek nazdeek hote hain anumati bilkul nazdeek nazdeek hote hain yahi karan hai ki vastuyen kathor ho jaati hain taral avastha mein thode kam thode zyada thodi se dur hote hain aur phir kaise avastha mein kaafi dur hote hain toh thos avastha matlab kadak tha majboot hota plot ki jisme hai jo anu hote hain vaah ekdam se nazdeek bond mein bandhe hue ho

देखी किसी भी पदार्थ की तीन अवस्थाएं होती है चौथी अवस्था भी मानी जाती है पहली अवस्था होती ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!