आपको क्या लगता है कि जम्मू कश्मीर का भविष्य क्या होगा?...


user

Sanjoy Sachdev

Life Coach | Chairman Love Commandos

4:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज जो हालत है उसको देख कर के जम्मू कश्मीर का भविष्य अंधकार में नजर आ रहा है उसकी वजह साफ है वहां पर कोई चुने हुए प्रतिनिधि नहीं हैं पूरा प्रशासन ऐसी नौकरशाहों के हवाले हैं जिनको जम्मू कश्मीर का भूगोल भी नहीं पता ना संस्कृति पता है मैं लोगों के विचार करता है प्रशासन में बैठे लोग एक ही लाठी से सबको हांक रहे जिसका नतीजा लोगों के मन के अंदर क्रोध बढ़ता जा रहा है चाहे वह जम्मू हो या कश्मीर का हिस्सा हो पूछो रजौरी हो तंगधार हो आनंदपरा को दूसरी तरफ आतंकवाद ल भतार बढ़ता जा रहा है भारत ने 2 दिन में 8 महत्वपूर्ण सेना के अधिकारियों को खो दिया शहादत हुई जम्मू कश्मीर में आतंकवाद रोकने के नाम पर नोट बंदी हुई धारा 370 खत्म हुई 35 से खत्म हुआ कल्याण ब्राउन हुआ और विलाप दौर भी चल रहा है उस सब के बीच में जम्मू कश्मीर के लोगों के लिए कुछ नहीं हुआ असल में जम्मू-कश्मीर की जो मूल समस्या रही कि केंद्र से जाने वाले ब्यूरोक्रेट खाली हाथ जाते थे पूरे भर के नाते कहावत तब से चली आ रही इसमें कितनी सच्चाई है कितनी नहीं इसकी कम जांच हुई या नहीं यह भी कहना मुश्किल है इसलिए जम्मू कश्मीर का भविष्य कोई बहुत सुनहरा हो ऐसा प्रतीत नहीं होता जम्मू-कश्मीर वह हिस्सा है जहां शिक्षा और स्वास्थ्य सबसे पहले महाराजा के शासन में विभिन्न उपलब्धि उपलब्धि को पूरे देश के बीच में कभी नहीं ले गए यहां तक कि वहां के लोगों के बीच से बात नहीं की कुछ मालूम दूसरा मस्त लाता है क्षेत्रीय असंतुलन का उस पर तब भी बहस चलती थी आज भी चलती है और जब तक यह असंतुलन दूर नहीं होगा बस चलती रहेगी कि जम्मू कश्मीर का भविष्य वहां पर ना तो कोई उद्योग है ना ही कोई काम उसके बहुत कुछ है बहुत सी चीजों की कमी है वहां की अगली जनरेशन को भविष्य अंधकार में नजर आ रहा है जो व्यापार से जुड़े लोग थे चाहे वह होटल में काम करने वाला भैरव प्रसाद की दुकान पर काम करने वाला लड़का हो पूजा उठाने वाला पोर्टल हो वह भी निराश हैं क्योंकि लगातार उनके रोजगार का साधन समाप्त होता जा रहा है या बचा ही नहीं है ताजा खबर खाने वालों के लिए कुछ नजर नहीं आ रहा बाकी भारत ने तो अभी कुछ दिनों का यह लाख डोंट खेला लेकिन वहां के लोग कब से खेल रहे हैं यदि तत्काल में जम्मू-कश्मीर के नौजवानों के लिए कोई नीति नहीं बनी तो देश की स्थिति बहुत विकट हो जाएगी और जम्मू कश्मीर के हालात कब्जे से बाहर नमस्कार

aaj jo halat hai usko dekh kar ke jammu kashmir ka bhavishya andhakar me nazar aa raha hai uski wajah saaf hai wahan par koi chune hue pratinidhi nahi hain pura prashasan aisi naukarashaho ke hawale hain jinako jammu kashmir ka bhugol bhi nahi pata na sanskriti pata hai main logo ke vichar karta hai prashasan me baithe log ek hi lathi se sabko hank rahe jiska natija logo ke man ke andar krodh badhta ja raha hai chahen vaah jammu ho ya kashmir ka hissa ho pucho rajauri ho tangdhar ho anandapara ko dusri taraf aatankwad l bhatar badhta ja raha hai bharat ne 2 din me 8 mahatvapurna sena ke adhikaariyo ko kho diya shadat hui jammu kashmir me aatankwad rokne ke naam par note bandi hui dhara 370 khatam hui 35 se khatam hua kalyan brown hua aur vilap daur bhi chal raha hai us sab ke beech me jammu kashmir ke logo ke liye kuch nahi hua asal me jammu kashmir ki jo mul samasya rahi ki kendra se jaane waale Bureaucrat khaali hath jaate the poore bhar ke naate kahaavat tab se chali aa rahi isme kitni sacchai hai kitni nahi iski kam jaanch hui ya nahi yah bhi kehna mushkil hai isliye jammu kashmir ka bhavishya koi bahut sunehra ho aisa pratit nahi hota jammu kashmir vaah hissa hai jaha shiksha aur swasthya sabse pehle maharaja ke shasan me vibhinn upalabdhi upalabdhi ko poore desh ke beech me kabhi nahi le gaye yahan tak ki wahan ke logo ke beech se baat nahi ki kuch maloom doosra mast lata hai kshetriya asantulan ka us par tab bhi bahas chalti thi aaj bhi chalti hai aur jab tak yah asantulan dur nahi hoga bus chalti rahegi ki jammu kashmir ka bhavishya wahan par na toh koi udyog hai na hi koi kaam uske bahut kuch hai bahut si chijon ki kami hai wahan ki agli generation ko bhavishya andhakar me nazar aa raha hai jo vyapar se jude log the chahen vaah hotel me kaam karne vala bhairav prasad ki dukaan par kaam karne vala ladka ho puja uthane vala portal ho vaah bhi nirash hain kyonki lagatar unke rojgar ka sadhan samapt hota ja raha hai ya bacha hi nahi hai taaza khabar khane walon ke liye kuch nazar nahi aa raha baki bharat ne toh abhi kuch dino ka yah lakh dont khela lekin wahan ke log kab se khel rahe hain yadi tatkal me jammu kashmir ke naujavanon ke liye koi niti nahi bani toh desh ki sthiti bahut vikat ho jayegi aur jammu kashmir ke haalaat kabje se bahar namaskar

आज जो हालत है उसको देख कर के जम्मू कश्मीर का भविष्य अंधकार में नजर आ रहा है उसकी वजह साफ ह

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  153
KooApp_icon
WhatsApp_icon
27 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!