जीवन में आपका सबसे बड़ा पछतावा क्या है?...


user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

3:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की देखिए आपका पर्सेंट जीवन में आप का सबसे बड़ा पछतावा क्या है जीवन का सबसे बड़ा पछतावा यह है कि मैं अपने मृत्यु के समय उनके अंतिम क्षणों में अपने पिताजी के पास नहीं दे पाया देखिए मेरा सिलेक्शन 1987 में यूपी के लड़की के पद पर हुआ था मध्यप्रदेश में हम लोग यूपी इटावा के रहने वाले थे मेरे पिताजी बीमार थी लेकिन गुस्सा छोड़ कर गया था वह हृदय रोगी थी और मैंने 13 जून 1988 को रिपीट रिकी चिलिंग प्लांट की थी भोपाल में प्रशासन अकैडमी भोपाल और मुझे मेरे घर वालों ने मेरे छोटे भाई भी थी वह सब बताइए चलना चाहिए वहां पर की गई तुम मुझे मैं नाश्ता कर रहा था सुबह कैंटीन में अपने मित्रों के साथ में तब मुझे एक पुलिस वाला चावल दाल आया और उसने मुझे ही दुखद मैसेज दिया जावा की पुलिस ने गोपालपुर उसको समाचार दिया है कि प्रशासन ने कड़ी में में मुझे मेरा नाम बता कर बताया शिव कुमार बाजपेई को सूचित किया जाए तुरंत आ जाए तुम्हें नागपुर छोड़ दे तुरंत प्लीज दे इटावा के लिए रवाना हुआ ग्वालियर तक ट्रेन थी उसके बाद बागियों से बस्ती चाहता हूं और श्मशान घाट पर मिनट में पिताजी के अंतिम दर्शन किए क्योंकि मेरी भोपाल से इटावा तक आने में साकार घंटी लग गई थी और हमारी मेरी पिताजी की बॉडी की श्मशान घाट पर पहुंच गई थी बस मैं इतना ही भाषा लीला कि मैंने अंतिम उनके दर्शन कर दिए लेकिन मैं अंतिम समय में उनके पास न पाया इसका मुझे जीवन भर रहा है कश्मीरी प्रभाव जन मेरी भावनाओं को समझकर मुझे पहले सूचित करती थी तो मैं अंतिम समय में उनके पास जाता है संभवत उनको भी खबर नहीं हूं मेरे पिताजी का इस तरह करना कि हम जीवन भर मुझे इस बात का पछतावा रहा और मेरी पिताजी की मृत्यु 10 जुलाई 1988 को हुई और 10 जुलाई मेरा जन्म दिवस है मैं अपना उस दिन के बाद से मैंने अपना जन्म दिवस कभी नहीं मनाया यही नीरज जी मैं अपने पिताजी को

ram ram ji ki dekhiye aapka percent jeevan me aap ka sabse bada pachtava kya hai jeevan ka sabse bada pachtava yah hai ki main apne mrityu ke samay unke antim kshanon me apne pitaji ke paas nahi de paya dekhiye mera selection 1987 me up ke ladki ke pad par hua tha madhya pradesh me hum log up itawa ke rehne waale the mere pitaji bimar thi lekin gussa chhod kar gaya tha vaah hriday rogi thi aur maine 13 june 1988 ko repeat riki chilling plant ki thi bhopal me prashasan academy bhopal aur mujhe mere ghar walon ne mere chote bhai bhi thi vaah sab bataiye chalna chahiye wahan par ki gayi tum mujhe main nashta kar raha tha subah canteen me apne mitron ke saath me tab mujhe ek police vala chawal daal aaya aur usne mujhe hi dukhad massage diya java ki police ne gopalpur usko samachar diya hai ki prashasan ne kadi me me mujhe mera naam bata kar bataya shiv kumar baajpayee ko suchit kiya jaaye turant aa jaaye tumhe nagpur chhod de turant please de itawa ke liye rawana hua gwalior tak train thi uske baad bagiyon se basti chahta hoon aur shmashan ghat par minute me pitaji ke antim darshan kiye kyonki meri bhopal se itawa tak aane me saakar ghanti lag gayi thi aur hamari meri pitaji ki body ki shmashan ghat par pohch gayi thi bus main itna hi bhasha leela ki maine antim unke darshan kar diye lekin main antim samay me unke paas na paya iska mujhe jeevan bhar raha hai kashmiri prabhav jan meri bhavnao ko samajhkar mujhe pehle suchit karti thi toh main antim samay me unke paas jata hai sambhavat unko bhi khabar nahi hoon mere pitaji ka is tarah karna ki hum jeevan bhar mujhe is baat ka pachtava raha aur meri pitaji ki mrityu 10 july 1988 ko hui aur 10 july mera janam divas hai main apna us din ke baad se maine apna janam divas kabhi nahi manaya yahi Neeraj ji main apne pitaji ko

राम राम जी की देखिए आपका पर्सेंट जीवन में आप का सबसे बड़ा पछतावा क्या है जीवन का सबसे बड

Romanized Version
Likes  521  Dislikes    views  3843
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!