ई टेंडर घोटाले पर मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री ने कहा- अफसर हो या नेता कार्रवाई ज़रूर करेंगे। आपकी क्या राय है?...


user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गाने के बोल हैं क्योंकि कहीं नहीं बहुत ऊपर तक होती है और सभी लोग एक दूसरे से जुड़े हुए होते हैं उनके पास पहुंचे डायरेक्ट लिखा हुआ कुछ और है 10 दिन 5 महीने 2 महीने के बाद सभी लोग भूल जाते हैं रेसिपी डोसा

gaane ke bol hain kyonki kahin nahi bahut upar tak hoti hai aur sabhi log ek dusre se jude hue hote hain unke paas pahuche direct likha hua kuch aur hai 10 din 5 mahine 2 mahine ke baad sabhi log bhool jaate hain recipe dosha

गाने के बोल हैं क्योंकि कहीं नहीं बहुत ऊपर तक होती है और सभी लोग एक दूसरे से जुड़े हुए होत

Romanized Version
Likes  233  Dislikes    views  2750
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें कोई संदेह नहीं है करीब 10 टन को टाल में मध्यप्रदेश की बिन पंछी ने कहा कि अफसर या नेता कार्रवाई जरूर आएंगे बिल्कुल करनी चाहिए किसी भी पार्टी का किसी भी दल का हो कितना ही उच्च अधिकारी हो और कितना ही वह साधारण व्यक्तियों कार्रवाई करने से पहले यह पूरी जानकारी एकत्रित करनी चाहिए कि यह जो घटना हुआ वह किन परिस्थितियों में हुआ किन के कहने पर हुआ किन की शरण में हुआ और घोटाले के पीछे मकसद क्या था और यह घोटाला है भ्रष्टाचार है इस को जन्म देने के पीछे क्या राज है और कितने लोग इसमें ऐसे ही जो बेगुनाह गिनी राजदार बनाया गया और उन लोगों की जरूरत रात की जाए जिन लोगों ने तो की गुनाहगार को गुनाहगार हैं लेकिन गुनाहगार अपने बचाव के लिए हजारों बेगुनाहों को बलि का बकरा बना देते हैं लालच में आकर फस जाते हैं और बलि का बकरा बन जाए तो यहां की कानून क्या कहता है कि अपराधी कानून की भूल से बचे जाए लेकिन किसी भी कीमत पर एक निरपराधी को कानून को सजा नहीं देनी चाहिए अगर वित्त मंत्री जी का यह निर्णय है तो हम सहमत हैं और बिल्कुल सहमत हैं और हम जो भी अपने जीवन में जन सेवाएं देते रहे हमारा मूल मकसद कि समाज में हम कानून का सम्मान करें संविधान का सम्मान करें क्योंकि इन्हीं से हमें पद मिलते हैं और लेकिन हम पद मिलने के बाद इनकी धज्जियां उड़ा देते जैसा कि आज हर जगह देखने को मिलना है इंसान संविधान और कानून से बहुत ऊपर उठ गया है जो अपने आगे किसी को कुछ समझते ही नहीं उनके लिए कानून केवल एक किताब बन के रह गई है सविधान केवली ग्रंथ बन के रह गया जिस पर कवर बदलते रहते हैं और उसकी नई चमक बनाए रखते हैं जो काम का पेज नहीं उसे फाड़ दिया और जुकाम का पेज नहीं है उसमें हैंडराइटिंग के लिखकर लगा दिया बताइए थोड़ा विधान का चरित्र हनन हो गया क्या कभी गीता में गीता के संदेशों में बदलाव हुआ है क्या कभी रामायण में बदलाव हुआ है क्या कभी गुरबाणी में बदलाव हुआ है क्या कभी किसी मोमडन समाज की कुरान की आयतों में बदलाव हुआ है लेकिन हमारे संविधान में ऐसे बदलाव हो रहे हैं जैसे फर्स्ट बर्थडे संविधान का सम्मान का चीरहरण भगवान कृष्ण ने अंतर्ध्यान होकर लाज रख ली थी लेकिन अब कौन से भगवान कृष्ण फिर से पृथ्वी पर जन्म एंगे भारत देश में जन्म एंगे जो सविधान के चीरहरण की लाज रख सकें

isme koi sandeh nahi hai kareeb 10 ton ko tal mein madhya pradesh ki bin panchhi ne kaha ki afsar ya neta karyawahi zaroor aayenge bilkul karni chahiye kisi bhi party ka kisi bhi dal ka ho kitna hi ucch adhikari ho aur kitna hi vaah sadhaaran vyaktiyon karyawahi karne se pehle yah puri jaankari ekatrit karni chahiye ki yah jo ghatna hua vaah kin paristhitiyon mein hua kin ke kehne par hua kin ki sharan mein hua aur ghotale ke peeche maksad kya tha aur yah ghotala hai bhrashtachar hai is ko janam dene ke peeche kya raj hai aur kitne log isme aise hi jo begunah gini rajdar banaya gaya aur un logon ki zaroorat raat ki jaaye jin logon ne toh ki gunahgar ko gunahgar hain lekin gunahgar apne bachav ke liye hazaron begunahon ko bali ka bakara bana dete hain lalach mein aakar fas jaate hain aur bali ka bakara ban jaaye toh yahan ki kanoon kya kahata hai ki apradhi kanoon ki bhool se bache jaaye lekin kisi bhi kimat par ek nirapradhi ko kanoon ko saza nahi deni chahiye agar vitt mantri ji ka yah nirnay hai toh hum sahmat hain aur bilkul sahmat hain aur hum jo bhi apne jeevan mein jan sevayen dete rahe hamara mul maksad ki samaaj mein hum kanoon ka sammaan karen samvidhan ka sammaan karen kyonki inhin se hamein pad milte hain aur lekin hum pad milne ke baad inki dhajjiya uda dete jaisa ki aaj har jagah dekhne ko milna hai insaan samvidhan aur kanoon se bahut upar uth gaya hai jo apne aage kisi ko kuch samajhte hi nahi unke liye kanoon keval ek kitab ban ke reh gayi hai samvidhan kevali granth ban ke reh gaya jis par cover badalte rehte hain aur uski nayi chamak banaye rakhte hain jo kaam ka page nahi use faad diya aur zukam ka page nahi hai usmein handwriting ke likhkar laga diya bataiye thoda vidhan ka charitra hanan ho gaya kya kabhi geeta mein geeta ke sandeshon mein badlav hua hai kya kabhi ramayana mein badlav hua hai kya kabhi gurbani mein badlav hua hai kya kabhi kisi momadan samaaj ki quraan ki ayaton mein badlav hua hai lekin hamare samvidhan mein aise badlav ho rahe hain jaise first birthday samvidhan ka sammaan ka cheerharan bhagwan krishna ne antardhyan hokar laj rakh li thi lekin ab kaun se bhagwan krishna phir se prithvi par janam enge bharat desh mein janam enge jo samvidhan ke cheerharan ki laj rakh sakein

इसमें कोई संदेह नहीं है करीब 10 टन को टाल में मध्यप्रदेश की बिन पंछी ने कहा कि अफसर या नेत

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  1036
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ई टेंडर घोटाले पर मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री ने कहा कि अभिनेता कार्रवाई जरूर करेंगे आपकी क्या राय लिखे वर्तमान में कमलनाथ जी की सरकार में एमपी में जबसे पदभार संभाला थोड़ी ठंडक घोटाले को उजागर करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन ई टेंडर जो घोटाले होते हैं वह कोटा में नहीं हो सकते क्योंकि ओपन फॉर ऑल होता है कि टेंडर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में से निकलते हैं और उसमें सब लोग आवेदन करते और अपना टेंडर सकते हैं इसमें सबसे कम रेट ऑफर करने वाली चैनल को पास इसलिए इसमें घोटाले होने की संभावना बहुत कम होती है लेकिन चिड़ियाघर कमलनाथ जी की सरकार अगर उजागर कर सकती है चोर के मंत्री अगर तुमको यह सरकार जरूर करना चाहिए ताकि इस घोटाले गढ़ हो सकते हैं तो जाकर करना है उनका फर्ज होता है और पितृसत्ता और अभी की सरकार यह पोस्ट को जरूर जनता के सामने आए ताकि जनता भी जानता है कि इलेक्ट्रॉनिक होम में अगर टेंडर निकाले जाते हैं तो कैसे हो सकते हैं आरटीआई के नियम के तहत कोई भी हिंदुस्तान का नारी यह सब इंफॉर्मेशन निकाल सकता है और जान सकता है जहां पर घोटाले हुए हैं क्योंकि जो घोटाले हुए हैं वह कांग्रेस के शासन में हुए हैं जब से बीजेपी का सबसे नया सबसे इलेक्ट्रोनेगेटिव निकलते हैं उसमें घोटाले होने की संभावना कम हो जाती है तू ही टेंडर कैसे भरे जाते हैं उसको पास करने वाले जो सत्ताधारी पार्टियों से वही हो सकते हैं लेकिन सत्य वीडियो फोटो और वीडियो कॉल कैसे सीखी जाती है वहीं कमेटी तय कर सकती है कि वीडियो पर इसकी कम है और किसकी ज्यादा है और किस का टेंडर पास इसलिए जो मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री ने अगर ऐसा है तो उनको सब काम करना जरूरी होता है ताकि जनता भी जा सके और आने वाले चुनाव में अपना चेहरा दिखा सकते चुनाव के लिए अपने वोट के अधिकार का उपयोग करके घोटाले बाजों को वह घर पर बैठा सकती है और अपना खिलाओगे फिल्म ईमानदार नेताओं को चुन सकते

ee tender ghotale par madhya pradesh ke vitt mantri ne kaha ki abhineta karyawahi zaroor karenge aapki kya rai likhe vartmaan mein kamalnath ji ki sarkar mein mp mein jabse padabhar sambhala thodi thandak ghotale ko ujagar karne ki koshish kar rahe hain lekin ee tender jo ghotale hote hain vaah quota mein nahi ho sakte kyonki open for all hota hai ki tender electronic media ke kshetra mein se nikalte hain aur usmein sab log avedan karte aur apna tender sakte hain isme sabse kam rate offer karne waali channel ko paas isliye isme ghotale hone ki sambhavna bahut kam hoti hai lekin chidiyaghar kamalnath ji ki sarkar agar ujagar kar sakti hai chor ke mantri agar tumko yah sarkar zaroor karna chahiye taki is ghotale garh ho sakte hain toh jaakar karna hai unka farz hota hai aur pitrisatta aur abhi ki sarkar yah post ko zaroor janta ke saamne aaye taki janta bhi jaanta hai ki electronic home mein agar tender nikale jaate hain toh kaise ho sakte hain rti ke niyam ke tahat koi bhi Hindustan ka nari yah sab information nikaal sakta hai aur jaan sakta hai jahan par ghotale hue hain kyonki jo ghotale hue hain vaah congress ke shasan mein hue hain jab se bjp ka sabse naya sabse ilektronegetiv nikalte hain usmein ghotale hone ki sambhavna kam ho jaati hai tu hi tender kaise bhare jaate hain usko paas karne waale jo sattadhari partiyon se wahi ho sakte hain lekin satya video photo aur video call kaise sikhi jaati hai wahin committee tay kar sakti hai ki video par iski kam hai aur kiski zyada hai aur kis ka tender paas isliye jo madhya pradesh ke vitt mantri ne agar aisa hai toh unko sab kaam karna zaroori hota hai taki janta bhi ja sake aur aane waale chunav mein apna chehra dikha sakte chunav ke liye apne vote ke adhikaar ka upyog karke ghotale bajon ko vaah ghar par baitha sakti hai aur apna khilaoge film imaandaar netaon ko chun sakte

ई टेंडर घोटाले पर मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री ने कहा कि अभिनेता कार्रवाई जरूर करेंगे आपकी

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  1427
WhatsApp_icon
user

K.L.Salvi Advocate (Ret.D,C,Mp)

Seva Nivrt.Deeputy,Collector

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि कोई गलत कार्य हुआ है तो कानूनी कार्यवाही तो बनती है कार्यवाही करना ही चाहिए कार्रवाई होना चाहिए कि टेंडर घोटाला हुआ है तो उसमें नियमों के खिलाफ यदि कोई कार्रवाई की गई है चाहे अफसर हो या नेता उनके विरुद्ध कार्रवाई होना चाहिए

yadi koi galat karya hua hai toh kanooni karyavahi toh banti hai karyavahi karna hi chahiye karyawahi hona chahiye ki tender ghotala hua hai toh usmein niyamon ke khilaf yadi koi karyawahi ki gayi hai chahen afsar ho ya neta unke viruddh karyawahi hona chahiye

यदि कोई गलत कार्य हुआ है तो कानूनी कार्यवाही तो बनती है कार्यवाही करना ही चाहिए कार्रवाई ह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  269
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तीखे तीखे जहां तक ई टेंडर की बातें थी टेंडर का भारत में प्रादुर्भाव ही मध्य प्रदेश से हुआ था शिवराज सिंह सरकार ने इसको अस्तित्व में लाए थे फिर शिवराज सिंह सरकार अब दूसरी बात यह कि टेंडर में अधिक होटला हुआ है तो घोटाला है तो उसको तो उजागर होता ही है तो उस हिसाब से उसमें जो भी हो शुक्रिया वह करेंगे वह

tikhe tikhe jahan tak ee tender ki batein thi tender ka bharat mein pradurbhav hi madhya pradesh se hua tha shivraj Singh sarkar ne isko astitva mein laye the phir shivraj Singh sarkar ab dusri baat yah ki tender mein adhik hotla hua hai toh ghotala hai toh usko toh ujagar hota hi hai toh us hisab se usmein jo bhi ho shukriya vaah karenge vaah

तीखे तीखे जहां तक ई टेंडर की बातें थी टेंडर का भारत में प्रादुर्भाव ही मध्य प्रदेश से हुआ

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!