भारतीय सेना में आरक्षण क्यों नहीं हैं?...


user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेना में अपने बल पर अपनी ताकत को चैन कराना होता है अपनी योग्यता बेचैन होता है अगर आरक्षण होने लग जाएगा तो फिर वहां पर भी ऐसे कितने ही अल्ट्रेड लोग पहुंच जाएंगे सेना और सीमाओं की रक्षा के लिए होती है और इसलिए इसमें किसी प्रकार का आरक्षण ने किया जा सकता है और करना भी नहीं चाहिए

sena mein apne bal par apni takat ko chain krana hota hai apni yogyata bechain hota hai agar aarakshan hone lag jaega toh phir wahan par bhi aise kitne hi altred log pohch jaenge sena aur seemaon ki raksha ke liye hoti hai aur isliye isme kisi prakar ka aarakshan ne kiya ja sakta hai aur karna bhi nahi chahiye

सेना में अपने बल पर अपनी ताकत को चैन कराना होता है अपनी योग्यता बेचैन होता है अगर आरक्षण ह

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1578
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भक्ति सेना में आरक्षण क्यों नहीं लेकर भारतीय सेना में आरक्षण इसलिए नहीं है क्योंकि जान नुकसान करने की तैयारी और शारीरिक योग्यता जो क्राइटेरिया है उसे पास करना पड़ता है वह किसी भी जाति का इंसान हो तो वह किसी भी धर्म का इंसान हैं लेकिन भारतीय नागरिक होना चाहिए क्योंकि उसको भारत की सीमा की रक्षा करनी है इसलिए सेना में सिर्फ भारतीयता सिर्फ देश प्रेम को सिर्फ देश के प्रति शोक संवेदना है उसको ही महत्व दिया जाता है वहां पर यह नहीं देखा जाता कि आप किस जाति से बिलॉन्ग करते हैं आप किस प्रदेश में रहते हैं जाति या प्रदेश का कोई भी महत्व नहीं है आप सिर्फ हिंदुस्तानी जाने के इंडियन सिटीजन होने चाहिए आप कौन सा धर्म बिलॉन्ग करते हैं रिश्ते में विश्वास करते हैं उससे भी कोई नहीं मतलब होता लेकिन आपकी शारीरिक योग्यता मानसिक योग्यता और आपकी जो एजुकेशन है वह कर अटरिया जो है वह वही आपको उसी को रीता भारतीय सेना में दी जाती है और बहुत ही अच्छे उम्दा सोच से भारतीय सेना हमारे देश की सीमाओं का रक्षक कर रही है धन्यवाद जय हिंद

bhakti sena mein aarakshan kyon nahi lekar bharatiya sena mein aarakshan isliye nahi hai kyonki jaan nuksan karne ki taiyari aur sharirik yogyata jo criteria hai use paas karna padta hai vaah kisi bhi jati ka insaan ho toh vaah kisi bhi dharm ka insaan hain lekin bharatiya nagarik hona chahiye kyonki usko bharat ki seema ki raksha karni hai isliye sena mein sirf bharatiyta sirf desh prem ko sirf desh ke prati shok samvedana hai usko hi mahatva diya jata hai wahan par yah nahi dekha jata ki aap kis jati se Belong karte hain aap kis pradesh mein rehte hain jati ya pradesh ka koi bhi mahatva nahi hai aap sirf hindustani jaane ke indian citizen hone chahiye aap kaun sa dharm Belong karte hain rishte mein vishwas karte hain usse bhi koi nahi matlab hota lekin aapki sharirik yogyata mansik yogyata aur aapki jo education hai vaah kar atariya jo hai vaah wahi aapko usi ko rita bharatiya sena mein di jaati hai aur bahut hi acche umda soch se bharatiya sena hamare desh ki seemaon ka rakshak kar rahi hai dhanyavad jai hind

भक्ति सेना में आरक्षण क्यों नहीं लेकर भारतीय सेना में आरक्षण इसलिए नहीं है क्योंकि जान नुक

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  1189
WhatsApp_icon
user

Major Gen Ashim Kohli

Major General (Retd) of Indian Army with 36 years of experience

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा सा सवाल भी है और बहुत अच्छा जवाब भी है मैं यह समझता हूं कि देशहित में जब आप किसी लोगों को का चयन करते हैं कलेक्शन करते हैं उसका केवल एक ही मापदंड होना चाहिए वह है उसकी काबिलियत क्योंकि जब आप पढ़ाई पर जाते हैं वहां पर सबसे ज्यादा जरूरी है कि आपके चाय अवसरों चर्चा भी कुछ कोई भी हो सिर्फ उसका बिल पर आए जो काबिले चाहिए जब लाइव स्टेशन में वन टू वन पीस करके किसी दुश्मन के साथ में सभा के अनुसार करना है तो आरक्षण करने से जातिवाद आर्मी के अंदर आएगा जो किसी भी देश में लाभ होने चाहिए जो कभी किसी देश की आदमी की जानी चाहिए हमारा जैसे किसी का देश एक बड़ी अच्छी नीति है शुरू से चल रही है और अभी भी कार्य केवल का देश की सुरक्षा की जय

bahut accha sa sawaal bhi hai aur bahut accha jawab bhi hai yah samajhata hoon ki deshahit mein jab aap kisi logo ko ka chayan karte hain collection karte hain uska keval ek hi maapdand hona chahiye vaah hai uski kabiliyat kyonki jab aap padhai par jaate hain wahan par sabse zyada zaroori hai ki aapke chai avasaron charcha bhi kuch koi bhi ho sirf uska bill par aaye jo kabile chahiye jab live station mein van to van peace karke kisi dushman ke saath mein sabha ke anusaar karna hai toh aarakshan karne se jaatiwad army ke andar aayega jo kisi bhi desh mein labh hone chahiye jo kabhi kisi desh ki aadmi ki jani chahiye hamara jaise kisi ka desh ek badi achi niti hai shuru se chal rahi hai aur abhi bhi karya keval ka desh ki suraksha ki jai

बहुत अच्छा सा सवाल भी है और बहुत अच्छा जवाब भी है मैं यह समझता हूं कि देशहित में जब आप किस

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1038
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  7  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Raj Kumar

Sports Coach

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय सेना में आरक्षण इसलिए नहीं है क्योंकि वह ना एक फ्रीडम फ्रीडम डिपार्टमेंट होता है वहां पर आरक्षण से नहीं होता क्योंकि वहां पर सबको इक्वल माना जाता है वहां पर सभी सभी जातिवादी लोगों को इक्वलिटी माने आता है इसकी बाबर आरक्षण की कोई गुंजाइश नहीं होती

bharatiya sena mein aarakshan isliye nahi hai kyonki vaah na ek freedom freedom department hota hai wahan par aarakshan se nahi hota kyonki wahan par sabko equal mana jata hai wahan par sabhi sabhi jativadi logo ko Equality maane aata hai iski babar aarakshan ki koi gunjaiesh nahi hoti

भारतीय सेना में आरक्षण इसलिए नहीं है क्योंकि वह ना एक फ्रीडम फ्रीडम डिपार्टमेंट होता है वह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  32
WhatsApp_icon
user

Brajwasi sharma

Astrologer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सही है भारतीय सेना में आरक्षण के लिए कोई जरूरत होनी नहीं चाहिए भारतीय सेना में आरक्षण नहीं होना चाहिए क्योंकि नहीं होना चाहिए क्योंकि शास्त्रों के अनुसार आज दिन में तीन बार होते साथी कौन रजोगुण तमोगुण सतोगुण का आदमी तलाक ले सकता है आदमी भी ले सकता है कि सेना में जा सकता है चलने मानने का जज्बा है जनादेश से मिटने वालों का जज्बा ए तनवा राजपूतों का जज्बा है सलमा हायेक बहुत अच्छे जो देश के लिए 24 घंटे मरने के लिए तैयार हूं उनका जज्बा है जो अपनी आत्मा होती देने के लिए जाने जा रहे हो उनका जज्बा है जिनके पास से सारे लक्षण हों उन्हें सेना में आमंत्रित करना चाहिए

bilkul sahi hai bharatiya sena me aarakshan ke liye koi zarurat honi nahi chahiye bharatiya sena me aarakshan nahi hona chahiye kyonki nahi hona chahiye kyonki shastron ke anusaar aaj din me teen baar hote sathi kaun rajogun tamogun satogun ka aadmi talak le sakta hai aadmi bhi le sakta hai ki sena me ja sakta hai chalne manne ka jajba hai janaadesh se mitne walon ka jajba a tanava rajputo ka jajba hai salma hayek bahut acche jo desh ke liye 24 ghante marne ke liye taiyar hoon unka jajba hai jo apni aatma hoti dene ke liye jaane ja rahe ho unka jajba hai jinke paas se saare lakshan ho unhe sena me aamantrit karna chahiye

बिल्कुल सही है भारतीय सेना में आरक्षण के लिए कोई जरूरत होनी नहीं चाहिए भारतीय सेना में आरक

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!