आपके प्रशिक्षण के दिनों में से आपका सबसे यादगार पल कौन सा है?...


user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

2:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है आपके प्रशिक्षण के दिनों में से आपका सबसे यादगार पल कौन सा है मेरा तो सबसे यादगार पल है कि जब हम होमवर्क कर लेते तो होमवर्क कर लिया और दूसरा यह था कि टीचर जब सिग्नेचर कर दे दे तब सोचेंगे ग्रेड कौन सा देखें और जब ग्रेड मिल जाता तो सिग्नेचर होगी ग्रेड मिल गए ग्रेड चेले सिग्नेचर हो गई ना ओके करना बातें करना हमेशा झगड़ा करते थे बस क्लास में भी क्रिकेट खेल लेते थे में भारत कोर्ट में थे तो वहां भी हर स्पोर्ट्खेल लेते थे भी करते थे और सब अच्छा चल रहा था कभी कभी झगड़ा भी हो जाता है कभी-कभी सब अच्छे रहते थे स्कूल के भी अच्छे पल है और कॉलेज के भी बहुत अच्छे फल है उसमें कोई दिक्कत नहीं हमेशा रेगुलर किया है कभी नहीं लगाई किसी पेड़ में सब अच्छे से काम किए मंदार से इसलिए सुकून है कि हां जो भी काम किया सुकून से किया ईमानदारी से किया इसलिए एकदम रिलैक्सो और सारे पल यादगार है स्कूल लाइफ के कॉलेज लाइफ ग्रेजुएशन पोस्ट देश अब भी एक्स वाई जेड का पूरा कंपलीट वह भी सबसे पहले आती है उसमें भी बेस्ड एक्टिविटी जो भी एक्टिविटी करते थे वह भी बेस्ट यादगार यादगार है चाहे वह अच्छे सुख वाले हो दुख वाले सभी ऐसे कुछ ना कुछ अच्छा सिखाएं और वह गलती दोबारा ना हो बार-बार ना हो वह भी ध्यान रखा है तभी जाकर आगे बढ़े हैं बस यही चीज है और क्या चाहिए अभी ऐसा करिए हमेशा सत्य का साथ दीजिए थोड़ी मुश्किल ही आएगी लेकिन हमेशा सत्य का साथ दीजिए जरूर फायदा होगा आपको आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

aapka prashna hai aapke prashikshan ke dino mein se aapka sabse yaadgaar pal kaun sa hai mera toh sabse yaadgaar pal hai ki jab hum homework kar lete toh homework kar liya aur doosra yah tha ki teacher jab signature kar de de tab sochenge grade kaun sa dekhen aur jab grade mil jata toh signature hogi grade mil gaye grade chele signature ho gayi na ok karna batein karna hamesha jhadna karte the bus class mein bhi cricket khel lete the mein bharat court mein the toh wahan bhi har sportkhel lete the bhi karte the aur sab accha chal raha tha kabhi kabhi jhadna bhi ho jata hai kabhi kabhi sab acche rehte the school ke bhi acche pal hai aur college ke bhi bahut acche fal hai usme koi dikkat nahi hamesha regular kiya hai kabhi nahi lagayi kisi ped mein sab acche se kaam kiye mandar se isliye sukoon hai ki haan jo bhi kaam kiya sukoon se kiya imaandaari se kiya isliye ekdam rilaikso aur saare pal yaadgaar hai school life ke college life graduation post desh ab bhi x why z ka pura complete vaah bhi sabse pehle aati hai usme bhi based activity jo bhi activity karte the vaah bhi best yaadgaar yaadgaar hai chahen vaah acche sukh waale ho dukh waale sabhi aise kuch na kuch accha sikhaye aur vaah galti dobara na ho baar baar na ho vaah bhi dhyan rakha hai tabhi jaakar aage badhe hain bus yahi cheez hai aur kya chahiye abhi aisa kariye hamesha satya ka saath dijiye thodi mushkil hi aayegi lekin hamesha satya ka saath dijiye zaroor fayda hoga aapko aapka din shubha ho dhanyavad

आपका प्रश्न है आपके प्रशिक्षण के दिनों में से आपका सबसे यादगार पल कौन सा है मेरा तो सबसे य

Romanized Version
Likes  260  Dislikes    views  4272
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

3:34

Likes  42  Dislikes    views  610
WhatsApp_icon
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस दिन हम अपनी प्रशिक्षण में सबसे अच्छा प्रदर्शन किया और जिस दिन हमें सफल होने के बाद सर्टिफिकेट मिला वही हमारा समय था

jis din hum apni prashikshan mein sabse accha pradarshan kiya aur jis din hamein safal hone ke baad certificate mila wahi hamara samay tha

जिस दिन हम अपनी प्रशिक्षण में सबसे अच्छा प्रदर्शन किया और जिस दिन हमें सफल होने के बाद सर

Romanized Version
Likes  493  Dislikes    views  9224
WhatsApp_icon
user

Major Gen Ashim Kohli

Major General (Retd) of Indian Army with 36 years of experience

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एचडी सागर पंखे की आर्मी की ट्रेनिंग में इतना ज्यादा यादव की ट्रेनिंग होती है और इनको करना अपने आप में एक मेमोरी मेमोरी को मुझ को छोड़ता है कि यादगार चिंचपाडा होता है बहुत बड़ी एक बने विजयपाल मैंने जिंदगी में कभी उसकी कीमत लगी उसके बाद हम को प्रशिक्षण दिया जाता है के दौरान और उसके निशांत job123 देखी जाती है जाती है तो दोपहर बहुत मेहनत करनी पड़ती है और वह आपके आपकी आप मस्तिष्क आपकी मानसिक और शारीरिक क्षमता दोनों को एक चुनौती देता है तो हर चीज को ब्लॉक करना और को पार करना अपने लिए एक बड़ी चुनौती होगी आपको ऐसी चीजें कई बार करनी

hd sagar pankhe ki army ki training mein itna zyada yadav ki training hoti hai aur inko karna apne aap mein ek memory memory ko mujhse ko chodta hai ki yaadgaar chinchapada hota hai bahut badi ek bane vijayapal maine zindagi mein kabhi uski kimat lagi uske baad hum ko prashikshan diya jata hai ke dauran aur uske nishant job123 dekhi jaati hai jaati hai toh dopahar bahut mehnat karni padti hai aur vaah aapke aapki aap mastishk aapki mansik aur sharirik kshamta dono ko ek chunauti deta hai toh har cheez ko block karna aur ko par karna apne liye ek badi chunauti hogi aapko aisi cheezen kai baar karni

एचडी सागर पंखे की आर्मी की ट्रेनिंग में इतना ज्यादा यादव की ट्रेनिंग होती है और इनको करना

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  827
WhatsApp_icon
user
2:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रशिक्षण के दौरान में आपका सबसे ज्यादा फल कौन सा है प्रशिक्षण के दिनों में सबसे ज्यादा कर पहले दिन ढल जाए तो कई प्रकार के निकल जाएंगे वहां पर 2 बरस के मित्रों का मिलना होता तो आजमगढ़ उत्तर दा बेटे से बात होती थी प्रशिक्षण के अतिरिक्त समय में पुरानी बातें जो काला तिल है एक घर से मजा ले बातें ज्यादा हेतु प्रशिक्षण के दौरान एक दूसरे से मजाक में बातचीत करना टेबल पर चुपचाप से बातचीत करना है सारे करना एक आनंददायक समय उसेंडी तथा उसी दौरान जो प्रशिक्षण देने वालों के द्वारा हमें पकड़ लेना क्या बातचीत कर रहा हूं आपका ध्यान कहां है और खड़े करना को डांटना कोड अकबरपुर में बिठा देना उन्होंने बातों में लग जाना आनंददायक अनुभव करते थे उसी प्रकार प्रशिक्षण बातचीत के दौरान जब पकड़ा जाते थे और किसी के परीक्षार्थी धारा हमें खड़े करके उस विषय को समझा रहे थे उसके बारे में पूछना और उसको हमने अटपटे ढंग से उन जो को वहां से जवाब देना वह भी एक यादगार पल से बन जाते थे उसके पश्चात ऑपरेशन आरती जरा रमन नगर समझाना और कहना कि भाई ठीक है प्रशिक्षण है मस्ती करने का भी इसमें भी समय है और उचित भी है परंतु प्रशिक्षण को प्रशिक्षण के रूप में ले जाए प्रशिक्षण के पश्चात जब प्रतिवेदन हो गए उनके द्वारा मांगना प्रतिदिन के लिए खड़ा करना कि कल के दिन अब प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे आज दिनभर की दिनचर्या उनको भी ध्यान से सुनना और समझना और अगले दिन उस प्रशिक्षण को प्रतिवेदन प्रस्तुत करना इससे 8 दिन 9 दिन 10 दिन की ट्रेनिंग होती थी उसने उसने सैनिक पिक्चर आखिरी दिन यह दिमाग माना की आवाज में अपने परिवार में जाना है मामा रे घर जा रहे हैं और एक खुशी का अनुभव करना प्रशिक्षण के अंतर्गत अंतिम समय में वह सर्टिफिकेट प्राप्त करके पुनः अपने ग्रुप में जोड़ना या चल देना एक प्रशिक्षण की यादगार पलों में से एक है

aapke prashikshan ke dauran mein aapka sabse zyada fal kaun sa hai prashikshan ke dino mein sabse zyada kar pehle din dhal jaaye toh kai prakar ke nikal jaenge wahan par 2 baras ke mitron ka milna hota toh azamgarh uttar the bete se baat hoti thi prashikshan ke atirikt samay mein purani batein jo kaala til hai ek ghar se maza le batein zyada hetu prashikshan ke dauran ek dusre se mazak mein batchit karna table par chupchap se batchit karna hai saare karna ek anand dayak samay usendi tatha usi dauran jo prashikshan dene walon ke dwara hamein pakad lena kya batchit kar raha hoon aapka dhyan kahaan hai aur khade karna ko dantana code akabarpur mein bitha dena unhone baaton mein lag jana anand dayak anubhav karte the usi prakar prashikshan batchit ke dauran jab pakada jaate the aur kisi ke pariksharthi dhara hamein khade karke us vishay ko samjha rahe the uske bare mein poochna aur usko humne atapate dhang se un jo ko wahan se jawab dena vaah bhi ek yaadgaar pal se ban jaate the uske pashchat operation aarti zara raman nagar samajhana aur kehna ki bhai theek hai prashikshan hai masti karne ka bhi isme bhi samay hai aur uchit bhi hai parantu prashikshan ko prashikshan ke roop mein le jaaye prashikshan ke pashchat jab prativedan ho gaye unke dwara maangna pratidin ke liye khada karna ki kal ke din ab prativedan prastut karenge aaj dinbhar ki dincharya unko bhi dhyan se sunana aur samajhna aur agle din us prashikshan ko prativedan prastut karna isse 8 din 9 din 10 din ki training hoti thi usne usne sainik picture aakhiri din yah dimag mana ki awaaz mein apne parivar mein jana hai mama ray ghar ja rahe hain aur ek khushi ka anubhav karna prashikshan ke antargat antim samay mein vaah certificate prapt karke punh apne group mein jodna ya chal dena ek prashikshan ki yaadgaar palon mein se ek hai

आपके प्रशिक्षण के दौरान में आपका सबसे ज्यादा फल कौन सा है प्रशिक्षण के दिनों में सबसे ज्या

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
user

Manish Lodha

Greguyet 2nd Year

3:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दीपू के प्रशिक्षण की बात होती है तो डिपेंड करता है कि प्रतिक्षण पहले तो है किस कंपटीशन के लिए जॉब के लिए एप्लीकेशन के लिए प्रदर्शनी का अलग अलग लगेगा उसका जो बिल्कुल मैंने किया है पिछले साल का प्रशिक्षण होता है एचटीसी का होता है अभी मैंने डेढ़ साल पूरा किया है अभी आधा साल और बचा हुआ है उसमें जो पड़ता है उसमें इतनी यूपी कॉलेज एक्टिविटीज होती है उनके ऊपर बहुत सारी ऐसी कुछ चीजें होते हैं होते हैं उनमें कुछ विशेष जैसा कि अपनी कोई इंटरेस्टिंग वर्क वगैरह अपनी करते हैं देवरिया डांस वगैरह कुछ बहुत सारे अपने उसको पहले महसूस नहीं किया उसने मैंने दौड़ में भाग लिया था उस दौड़ में भाग लेने का मुझसे मुझे सबसे ज्यादा अहम पल मुझे दौड़ से सीख मिली मिली क्या मैं ऑस्ट्रेलिया से ही दूर की स्टार्टिंग हुई तो मैं दौड़ने लगा ले कितना तेज दौड़ा इतना तेज दौड़ा की अंतिम में आते-आते मात्र 10 मिनट की छोरी 10 मीटर की दूरी से मेरे गया था वहां पर जरूरत थी मुझे अभ्यास की लेकिन मेरा कंप्लीट नहीं था और मैं 10 मीटर की दूरी पर आते मेरे पैर जाम हो गए में गिर गया जब मेरे सहपाठी लोग थे प्रशिक्षण करता है जो तुमने कहा दौड़ो दौड़ो मनीष दौड़े लेकिन जब मेरा वहां पर हाल बेहाल हो चुका था उस दिन से मैंने एक चीज जीवन में ठानी है कि आज से कोई भी मतलब कोई भी किसी भी कार्य को करने के लिए पहले अभ्यास करूंगा उसके बाद में उसमें दखल या फिर उस में भाग लूंगा उस भूत यह मेरे जीवन का बहुत ही एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है अभ्यास उस दिन शायद उतनी दूर दूर ना मुझे पता था लेकिन बस और व्यास की जरूरत थी लेकिन मेरे पास था नहीं इसलिए मैं और मैंने जीवन में हर गतिविधि हुई कॉलेज की हर जीवन में हर कोई छोटी-छोटी बातें होती है दैनिक जीवन में पड़ता है रास्ते में ही किसी से बात करने हैं टीचर के जो प्रांगण से उनका जो भी है मेरे अपने जीवन में हमें भूल चुका हूं और उनसे सीखने के साथ मस्ती भी की

deepoo ke prashikshan ki baat hoti hai toh depend karta hai ki pratikshan pehle toh hai kis competition ke liye job ke liye application ke liye pradarshani ka alag alag lagega uska jo bilkul maine kiya hai pichle saal ka prashikshan hota hai HTC ka hota hai abhi maine dedh saal pura kiya hai abhi aadha saal aur bacha hua hai usme jo padta hai usme itni up college activities hoti hai unke upar bahut saari aisi kuch cheezen hote hain hote hain unmen kuch vishesh jaisa ki apni koi interesting work vagera apni karte hain devariya dance vagera kuch bahut saare apne usko pehle mehsus nahi kiya usne maine daudh me bhag liya tha us daudh me bhag lene ka mujhse mujhe sabse zyada aham pal mujhe daudh se seekh mili mili kya main austrailia se hi dur ki starting hui toh main daudne laga le kitna tez dauda itna tez dauda ki antim me aate aate matra 10 minute ki chhori 10 meter ki doori se mere gaya tha wahan par zarurat thi mujhe abhyas ki lekin mera complete nahi tha aur main 10 meter ki doori par aate mere pair jam ho gaye me gir gaya jab mere sahpathi log the prashikshan karta hai jo tumne kaha daudo daudo manish daude lekin jab mera wahan par haal behal ho chuka tha us din se maine ek cheez jeevan me thani hai ki aaj se koi bhi matlab koi bhi kisi bhi karya ko karne ke liye pehle abhyas karunga uske baad me usme dakhal ya phir us me bhag lunga us bhoot yah mere jeevan ka bahut hi ek mahatvapurna hissa ban chuka hai abhyas us din shayad utani dur dur na mujhe pata tha lekin bus aur vyas ki zarurat thi lekin mere paas tha nahi isliye main aur maine jeevan me har gatividhi hui college ki har jeevan me har koi choti choti batein hoti hai dainik jeevan me padta hai raste me hi kisi se baat karne hain teacher ke jo prangan se unka jo bhi hai mere apne jeevan me hamein bhool chuka hoon aur unse sikhne ke saath masti bhi ki

दीपू के प्रशिक्षण की बात होती है तो डिपेंड करता है कि प्रतिक्षण पहले तो है किस कंपटीशन के

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!