भारतीय सेना में एक लेफ्टिनेंट की जीवन शैली क्या है मुझे सेना के एक अफ़सर की दैनिक दिनचर्या और जीवनशैली में दिलचस्पी है।?...


play
user

Major Gen Ashim Kohli

Major General (Retd) of Indian Army with 36 years of experience

2:43

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आर्मी मेजर लेफ्टिनेंट जो होता है वह बिल्कुल वैसा होता है जैसे आप किसी किसी एक नए फैशन को कॉलेज में भेजते हैं या स्कूल में कितने बच्चे को देखते हैं उसको हर चीज होती है तो उसका सबसे बड़ा काम होता है क्योंकि उसमें उसका गलत बात करिए दिनचर्या की तो सुबह फिजिकल फिटनेस के लिए जो सर्जिकल स्टाइल होती है सुबह जल्दी उठकर वह इस चाची अंधेरा खत्म होते ही होती हैं उसके बाद एक साइड के बाद में वापस आकर जो दोबारा ऑफिस किधर आता है तो बी सी कली आर्मी की वैकेंसी उत्पन्न होता है उसके बारे में उसको जानकारी हासिल करनी होती है उसको पूरा दिन निकालता है मगर बात करूं मैं आखरी में था कि मुझे 1 घंटे डिटैचमेंट होती है उसका अटैच कर दिया गया था कि आप एक सैनिक का पूरा दिन कैसे निकलता है उसको समझिए क्या आपने व्यापम को थोड़ा समझिए होती है उसके बाद एक टाइम के बाद दोपहर के टाइम पर उसको ऑफिस प्रोसीजर सिखा जाता है कि एक रेजिमेंट के अंदर बटालियन के अंदर ऑफिस का काम कैसे डॉक्यूमेंट क्या रिक्वार्मेंट होती है इनका परसों को भूलकर और शाम को एक होता है कि लोगों से आप जाकर जवानों से उनके पास बैठे उनसे बात करें और एक वह एक कैलेंडर सोच रहा होता है कि कब मौका मिले जब जब हर तरह का होता है और जाकर आराम से बिस्तर पर सोए और अगले दिन की तैयारी पूरी कर ली है कि पूरा दिन उसका बहुत बिजी रहता है क्योंकि अगर इस दौरान आर्मी ऑफिसर कॉलोनी शुरू के चार पांच साल अच्छे से ग्राउंड पर लोगों के साथ में एक पंजाब में काटी है तो आपकी पूरी लाइफ के बाद में बड़ी सुखी रहेगी क्योंकि आपको पता होगा क्या आप का भूकंप ग्राउंड के ऊपर कैसे फॉलो किया जाएगा लोग क्या करेंगे आपका एक उत्पन्न कैसे देव करेगा तो उसका पूरा लेफ्टिनेंट का टाइम किसी चीज में नेटवर्क दिल्ली कैप्टन का भी टाइम निकाला जाता है कि आप जवान को समझिए उनके काबिल को समझिए हत्यारों को सिखा दीजिए ताकि आगे जवाब पूछे रन पड़ जाए तो आपको पता हो कि किस चीज को किस तरह से इस्तेमाल करने के काम को कैसे अंजाम दिया जा सकता है

army major lieutenant jo hota hai vaah bilkul waisa hota hai jaise aap kisi kisi ek naye fashion ko college mein bhejate hain ya school mein kitne bacche ko dekhte hain usko har cheez hoti hai toh uska sabse bada kaam hota hai kyonki usme uska galat baat kariye dincharya ki toh subah physical fitness ke liye jo surgical style hoti hai subah jaldi uthakar vaah is chachi andhera khatam hote hi hoti hain uske baad ek side ke baad mein wapas aakar jo dobara office kidhar aata hai toh be si kalee army ki vacancy utpann hota hai uske bare mein usko jaankari hasil karni hoti hai usko pura din nikalata hai magar baat karu main aakhri mein tha ki mujhe 1 ghante ditaichment hoti hai uska attach kar diya gaya tha ki aap ek sainik ka pura din kaise nikalta hai usko samjhiye kya aapne vyapam ko thoda samjhiye hoti hai uske baad ek time ke baad dopahar ke time par usko office procedure sikha jata hai ki ek regiment ke andar batalion ke andar office ka kaam kaise document kya rikwarment hoti hai inka parso ko bhulkar aur shaam ko ek hota hai ki logo se aap jaakar jawano se unke paas baithe unse baat kare aur ek vaah ek calendar soch raha hota hai ki kab mauka mile jab jab har tarah ka hota hai aur jaakar aaram se bistar par soye aur agle din ki taiyari puri kar li hai ki pura din uska bahut busy rehta hai kyonki agar is dauran army officer colony shuru ke char paanch saal acche se ground par logo ke saath mein ek punjab mein kaati hai toh aapki puri life ke baad mein badi sukhi rahegi kyonki aapko pata hoga kya aap ka bhukamp ground ke upar kaise follow kiya jaega log kya karenge aapka ek utpann kaise dev karega toh uska pura lieutenant ka time kisi cheez mein network delhi captain ka bhi time nikaala jata hai ki aap jawaan ko samjhiye unke kaabil ko samjhiye hatyaron ko sikha dijiye taki aage jawab pooche run pad jaaye toh aapko pata ho ki kis cheez ko kis tarah se istemal karne ke kaam ko kaise anjaam diya ja sakta hai

आर्मी मेजर लेफ्टिनेंट जो होता है वह बिल्कुल वैसा होता है जैसे आप किसी किसी एक नए फैशन को क

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  786
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

मुनि श्री अशोक कुमार मेरा नाम है

Business Owner ज्योतिष के विशेषज्ञ जनरल रोज

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय सेना के एक लेफ्टिनेंट जनरल जीवन की जीवन शैली क्या है मुझे सेना की एक चौकी दैनिक दिनचर्या के वंशज के बारे में जानकारी करनी है यह जानकारी सैन्य विशेषज्ञ और अन्य व्यक्ति जो है उससे करें वह आपको बता सकता और मेरे अनुभव के साथ मैं तो कहता हूं सेना का जीवन सबसे बड़ा है उनमें समर्पण अगर समर्पण नहीं है तो वह लेफ्टिनेंट नहीं बनता और समर्पण है तो वह सब कुछ तो भारत का पहला व्यक्ति को राष्ट्रपति के लिए समर्पित है राष्ट्र के लिए प्राण की आहुति देता है उसकी जीवनशैली उसको पता ही नहीं मेकअप खाना खाऊंगा तब मैं जिऊंगा कब पता नहीं जीना और मरना वह अपने हाथ में नहीं रखता वह भगवान के हाथ में हैं जब जोर पड़ी तब वह उस मौकों पर मोर्चों पर उसको भागना पड़ता है और मोदी के ऊपर दम के साथ व जीवन जीता है तो मैं ऐसे व्यक्तित्व को भारतीय सेना के अंदर जीवनशैली को एक संघर्ष में बलिदानी मई को मैं प्रणाम करते उनको वंदन करता हूं

bharatiya sena ke ek lieutenant general jeevan ki jeevan shaili kya hai mujhe sena ki ek chowki dainik dincharya ke vanshaj ke bare me jaankari karni hai yah jaankari sainya visheshagya aur anya vyakti jo hai usse kare vaah aapko bata sakta aur mere anubhav ke saath main toh kahata hoon sena ka jeevan sabse bada hai unmen samarpan agar samarpan nahi hai toh vaah lieutenant nahi banta aur samarpan hai toh vaah sab kuch toh bharat ka pehla vyakti ko rashtrapati ke liye samarpit hai rashtra ke liye praan ki aahutee deta hai uski jeevan shaili usko pata hi nahi makeup khana khaunga tab main jiunga kab pata nahi jeena aur marna vaah apne hath me nahi rakhta vaah bhagwan ke hath me hain jab jor padi tab vaah us maukon par morchon par usko bhaagna padta hai aur modi ke upar dum ke saath va jeevan jita hai toh main aise vyaktitva ko bharatiya sena ke andar jeevan shaili ko ek sangharsh me balidaani may ko main pranam karte unko vandan karta hoon

भारतीय सेना के एक लेफ्टिनेंट जनरल जीवन की जीवन शैली क्या है मुझे सेना की एक चौकी दैनिक दिन

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेफ्टिनेंट की सैलरी 11 को पूरा गाइड करता है उनको गेम भरने का दिवाली का सिराज और आर्मी कैसे कैसे अपने आप उसे इतना ध्यान देना चाहिए इंसाफ पैसा करते हैं

lieutenant ki salary 11 ko pura guide karta hai unko game bharne ka diwali ka seraj aur army kaise kaise apne aap use itna dhyan dena chahiye insaaf paisa karte hain

लेफ्टिनेंट की सैलरी 11 को पूरा गाइड करता है उनको गेम भरने का दिवाली का सिराज और आर्मी कैस

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
भारतीय सेना के एक अधिकारी जीवन शैली ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!