ज़िंदगी में सबसे ज़्यादा इम्पोर्टेन्ट क्या होता है?...


user

Sujatha Sharma

Psychologist & Social Worker

3:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें जब हम बहुत छोटे थे तब हम यह सोचते थे कि हमें खिलौने मिल जाए हमें टॉफी चॉकलेट मिल जाए उसके बदले में अगर हमें कोई पैसे की बड़ी एक बॉक्स दे तो हम उसको लेने के लिए हमारे लिए उसकी कोई वैल्यू नहीं थी फिर हम थोड़े बड़े हुए तो हमें क्या लगा कि हमें स्कूल जाना हमारे बड़े भाई बन उड़ जाते हैं बाहर घूमने जाते हैं तो हम पांच आएंगे तो हमें हमारे लिए वह बहुत इंपॉर्टेंट था फिर थोड़ा बड़े हुए तो हमें क्या लगाकर कच्चा कैरियर हो जाए और एक अच्छी जॉब हो जाए यह हमारे लिए बहुत इंपॉर्टेंट था और उसके बाद एक कैरियर हो गया 125 जॉब भी हो गई फिर क्या लगा के एक अच्छा घर बन जाए शादी हो जाए एक अच्छा कार ले ले या हमें वह बार की सारी खुशियां मिल जाए तो हमारे लिए वह चीजें बहुत इंपॉर्टेंट कि वह सब कुछ आने के बाद भी क्या हमें यह लगता है कि हम खुश हैं और वह सब पाने के लिए हम इतनी मेहनत क्यों की खुशी के लिए यह सब चीजें हमें मिलेगी तो हमें खुशी मिलेगी तो क्या आज आपको लगता है कि वह खुशी हमें इन सारी चीजों से मिलता है आज जिन लोगों के पास बहुत पैसा है वह भी जीवन में किसी न किसी रूप में चाय स्वास्थ्य को लेकर चाहे अपने मानसिक संतोष को लेकर शांति को लेकर दुखी हैं जिनके पास अब बहुत अच्छा जॉब है वह भी किसी ना किसी रूप में कहीं ना कहीं लाइफ में दुखी है परेशान है और बहुत सारे लोग हैं जो डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं तो कहीं ना कहीं जब हम यह सोचते हैं जीवन में इंपॉर्टेंट क्या है अगर देखा जाए आज के समय में तो एक आतंक संतोष मन की शांति यह सब एक अच्छी सेहत यह सबसे ज्यादा जरूरी है तो सबसे पहले हमें यह सब कुछ तो हमें करना ही है जीवन में लेकिन उसको इतना इंपॉर्टेंट ना बना ले कि हमारे मन की शांति जो है वह कहीं ना कहीं हमसे छिन जाए तो जीवन में सब कुछ करें इसके लिए कोई रोक नहीं बहुत सारी एस्टिमेशन तो उसके लिए भी कोई रोक नहीं लेकिन अपने आपको उन चीजों के साथ इतना ना बांधे के आपको जीवन का आनंद मिलना खत्म हो जाए तो सबसे पहले अपनी सेहत के ऊपर ध्यान दें उसके बाद अपनी खुशी के ऊपर ध्यान दे खुशियां यह चीजें नहीं दे सकती अपने मन की खुशी के लिए हमें अपने भीतर झांकना होगा अपनी नकारात्मक सोच को खत्म करना होगा अपने जीवन में पॉजिटिव वैल्यू स्कोर डालना होगा और यह सोचना होगा कि यह हमारा जीवन जो है यह धरती पर यह सब हम तो कर रहे हैं वह किस्से एक अच्छा समाज बनाने के लिए अपने आप को कंटिन्यूड करना होगा यह सब चीजें जब हम एक कलेक्टिव बंद करेंगे तो यही हमारे जीवन का मकसद है और यही हमारे जीवन के लिए इंपॉर्टेंट है

dekhen jab hum bahut chote the tab hum yah sochte the ki hamein khilone mil jaaye hamein toffee chocolate mil jaaye uske badle me agar hamein koi paise ki badi ek box de toh hum usko lene ke liye hamare liye uski koi value nahi thi phir hum thode bade hue toh hamein kya laga ki hamein school jana hamare bade bhai ban ud jaate hain bahar ghoomne jaate hain toh hum paanch aayenge toh hamein hamare liye vaah bahut important tha phir thoda bade hue toh hamein kya lagakar kaccha carrier ho jaaye aur ek achi job ho jaaye yah hamare liye bahut important tha aur uske baad ek carrier ho gaya 125 job bhi ho gayi phir kya laga ke ek accha ghar ban jaaye shaadi ho jaaye ek accha car le le ya hamein vaah baar ki saari khushiya mil jaaye toh hamare liye vaah cheezen bahut important ki vaah sab kuch aane ke baad bhi kya hamein yah lagta hai ki hum khush hain aur vaah sab paane ke liye hum itni mehnat kyon ki khushi ke liye yah sab cheezen hamein milegi toh hamein khushi milegi toh kya aaj aapko lagta hai ki vaah khushi hamein in saari chijon se milta hai aaj jin logo ke paas bahut paisa hai vaah bhi jeevan me kisi na kisi roop me chai swasthya ko lekar chahen apne mansik santosh ko lekar shanti ko lekar dukhi hain jinke paas ab bahut accha job hai vaah bhi kisi na kisi roop me kahin na kahin life me dukhi hai pareshan hai aur bahut saare log hain jo depression ke shikaar ho rahe hain toh kahin na kahin jab hum yah sochte hain jeevan me important kya hai agar dekha jaaye aaj ke samay me toh ek aatank santosh man ki shanti yah sab ek achi sehat yah sabse zyada zaroori hai toh sabse pehle hamein yah sab kuch toh hamein karna hi hai jeevan me lekin usko itna important na bana le ki hamare man ki shanti jo hai vaah kahin na kahin humse chhin jaaye toh jeevan me sab kuch kare iske liye koi rok nahi bahut saari estimation toh uske liye bhi koi rok nahi lekin apne aapko un chijon ke saath itna na bandhe ke aapko jeevan ka anand milna khatam ho jaaye toh sabse pehle apni sehat ke upar dhyan de uske baad apni khushi ke upar dhyan de khushiya yah cheezen nahi de sakti apne man ki khushi ke liye hamein apne bheetar jhankana hoga apni nakaratmak soch ko khatam karna hoga apne jeevan me positive value score dalna hoga aur yah sochna hoga ki yah hamara jeevan jo hai yah dharti par yah sab hum toh kar rahe hain vaah kisse ek accha samaj banane ke liye apne aap ko continued karna hoga yah sab cheezen jab hum ek collective band karenge toh yahi hamare jeevan ka maksad hai aur yahi hamare jeevan ke liye important hai

देखें जब हम बहुत छोटे थे तब हम यह सोचते थे कि हमें खिलौने मिल जाए हमें टॉफी चॉकलेट मिल जाए

Romanized Version
Likes  186  Dislikes    views  1121
KooApp_icon
WhatsApp_icon
24 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
life me sabse important kya hai ; life me important kya hai ; life me kya important hai ; zindagi mein sabse important kya hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!