दुकान किस प्रकार चलाएं?...


user
0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको कुछ नहीं दुकान किस प्रकार चलाएं इस कैंसर ऐसा होगा सबसे पहले आपको तो दुकान सजाकर रखना चाहिए और किस का दुकान कर दिया पहले उस चीजों पर दुकानों से करके सो जाना चाहिए ताकि कस्टमर बाहर से भी देख सके कि आपका दुकान में चीज है उसके बाद आपका जब मैं बाहर है कस्टमर के साथ अच्छा करना चाहिए क्योंकि आपका व्यवहार के कारण कस्टमर अपनी दुकान में माल नहीं निकला है उसके बाद आप जितना अच्छा व्यवहार को लेकर कस्टमर के साथ कस्टमर अब कब आ सकता है याद आएगा

aapko kuch nahi dukaan kis prakar chalaye is cancer aisa hoga sabse pehle aapko toh dukaan sajakar rakhna chahiye aur kis ka dukaan kar diya pehle us chijon par dukaano se karke so jana chahiye taki customer bahar se bhi dekh sake ki aapka dukaan mein cheez hai uske baad aapka jab main bahar hai customer ke saath accha karna chahiye kyonki aapka vyavhar ke karan customer apni dukaan mein maal nahi nikala hai uske baad aap jitna accha vyavhar ko lekar customer ke saath customer ab kab aa sakta hai yaad aayega

आपको कुछ नहीं दुकान किस प्रकार चलाएं इस कैंसर ऐसा होगा सबसे पहले आपको तो दुकान सजाकर रखना

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!