जीवाश्म ईंधन क्या है?...


user
0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओपन जिओ सिम पृथ्वी में दबे हुए जीवन के अवशेष हैं माना जाता है कि लाखों करोड़ों वर्ष पहले की वजह से वनस्पति जीव जंतु से पृथ्वी के अंदर दब गए थे तो ऊपर मिट्टी जमा होती गई तो कालांतर में ताप और दाब दोनों बड़े जिसकी वजह से जो हड्डियां थी पशुओं की विचारों में मांस था वह तो वक्त ही तो हो गया और गाड़ियों कैसे बनता है उस शेष रह गया है उनकी छाप रह गई उन्हें जीवा से या फिर भी हम कहते हैं

open jio sim prithvi mein dabe hue jeevan ke avshesh hai mana jata hai ki laakhon karodo varsh pehle ki wajah se vanaspati jeev jantu se prithvi ke andar dab gaye the toh upar mitti jama hoti gayi toh kalantar mein taap aur dab dono BA de jiski wajah se jo haddiyan thi pashuo ki vicharon mein maas tha vaah toh waqt hi toh ho gaya aur gadiyon kaise BA nta hai us shesh reh gaya hai unki chhaap reh gayi unhe Jiva se ya phir bhi hum kehte hain

ओपन जिओ सिम पृथ्वी में दबे हुए जीवन के अवशेष हैं माना जाता है कि लाखों करोड़ों वर्ष पहले क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  249
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
site:getvokal.com ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!