दरबार चाल के कारण, जम्मू कश्मीर में सरकार की सेवाओं में अलग कैसे काम किया जा रहा है क्या यह कुछ भी प्रभावित करता है?...


user

Neeraj Gupta Bakshi

Director, Finance, Kashmir Administrative Service

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं दुखी एस ऑफिसर इन सभी के सपोर्ट नहीं करते हैं और मुंह में जाते हैं इसलिए इंपैक्ट सकते हो लेकिन ना उसमें खाली आप कह सकते हैं कि 1 हफ्ते के लिए कभी आती है वह बंद इंपॉर्टेंट पाते हैं जो डीसी ऑफिस में हैं या कुछ और कश्मीर में लद्दाख तू मुश्किल किए जा सकते आपकी मुश्किल आती है यह कह सकते हैं कि इसलिए थोड़ा सा उसको निश्चित होता है वही लोग कर पाएंगे

main dukhi s officer in sabhi ke support nahi karte hai aur mooh mein jaate hai isliye impact sakte ho lekin na usme khaali aap keh sakte hai ki 1 hafte ke liye kabhi aati hai vaah band important paate hai jo dc office mein hai ya kuch aur kashmir mein ladakh tu mushkil kiye ja sakte aapki mushkil aati hai yah keh sakte hai ki isliye thoda sa usko nishchit hota hai wahi log kar payenge

मैं दुखी एस ऑफिसर इन सभी के सपोर्ट नहीं करते हैं और मुंह में जाते हैं इसलिए इंपैक्ट सकते ह

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  1204
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!