दरबार चाल के कारण, जम्मू कश्मीर में सरकार की सेवाओं में अलग कैसे काम किया जा रहा है क्या यह कुछ भी प्रभावित करता है?...


user

Neeraj Gupta Bakshi

Director, Finance, Kashmir Administrative Service

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं दुखी एस ऑफिसर इन सभी के सपोर्ट नहीं करते हैं और मुंह में जाते हैं इसलिए इंपैक्ट सकते हो लेकिन ना उसमें खाली आप कह सकते हैं कि 1 हफ्ते के लिए कभी आती है वह बंद इंपॉर्टेंट पाते हैं जो डीसी ऑफिस में हैं या कुछ और कश्मीर में लद्दाख तू मुश्किल किए जा सकते आपकी मुश्किल आती है यह कह सकते हैं कि इसलिए थोड़ा सा उसको निश्चित होता है वही लोग कर पाएंगे

main dukhi s officer in sabhi ke support nahi karte hai aur mooh mein jaate hai isliye impact sakte ho lekin na usme khaali aap keh sakte hai ki 1 hafte ke liye kabhi aati hai vaah band important paate hai jo dc office mein hai ya kuch aur kashmir mein ladakh tu mushkil kiye ja sakte aapki mushkil aati hai yah keh sakte hai ki isliye thoda sa usko nishchit hota hai wahi log kar payenge

मैं दुखी एस ऑफिसर इन सभी के सपोर्ट नहीं करते हैं और मुंह में जाते हैं इसलिए इंपैक्ट सकते ह

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  1056
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी तक जम्मू कश्मीर में जाल में जाकर कर जम्मू होता था और गर्मी में कैपिटल सीधे करवाता था इसके कारण दूसरे क्षेत्र के लोगों को काम करवाने में दिक्कत होती थी और जनता भी होते थे तथा जो गवर्नमेंट ऑफिसर श्रीनगर से जम्मू जम्मू से श्रीनगर जाते थे उनको भी इसमें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता

abhi tak jammu kashmir mein jaal mein jaakar kar jammu hota tha aur garmi mein capital sidhe karwata tha iske karan dusre kshetra ke logo ko kaam karwane mein dikkat hoti thi aur janta bhi hote the tatha jo government officer srinagar se jammu jammu se srinagar jaate the unko bhi isme kaafi dikkaton ka samana karna padta

अभी तक जम्मू कश्मीर में जाल में जाकर कर जम्मू होता था और गर्मी में कैपिटल सीधे करवाता था इ

Romanized Version
Likes  325  Dislikes    views  6728
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा कि दरबार चांद के कारण जम्मू कश्मीर में सरकारी सेवा में जम्मू कश्मीर में जो सरकारी कामकाज है वह खो चुका है जो काम का सरकारी विभाग में होना चाहिए ना कभी समझ में आ गया अगर हमने जम्मू कश्मीर धारा 370 चूहा का तंत्र था जितनी भी पार्टियां थी उसको नेस्तनाबूद करने में कोई कसर नहीं आप कितनी भी सशक्त कितनी भी ज्ञानी हो अच्छा करने वाले लेकिन विपक्ष को मजबूत रहने दीजिए विपक्ष को खत्म करके आप से नहीं बच पाएंगे विपक्ष कितना ही दुश्मन हो कुछ उत्पन्न नहीं होता है वह सरकार का कहीं ना कहीं किसी न किसी रूप में सरकार के लिए एक सहारा वन शक्ति अपने आप को काट लेंगे फिर हमें कोई काटने वाला आएगा तो कोई हमारे साथ नहीं खड़ा होगा शायद सरकार केंद्र सरकार की समस्या शक्तियां सजीव शक्ति वाहिनी रेटिंग और पराजय कभी मराठी नहीं कब वह किसके अधीन हो जाए किस को अपने अधीन कर ले फिर कोई एक बात कहना चाहूंगा कि बहुत कुछ जम्मू कश्मीर में प्रभावित हुआ है टूरिस्ट जुड़े होने वाली इनकम प्रभावित सूर्य फॉरेन एक्सचेंज प्रभावित हुए बिना प्रभावित खेती-बाड़ी प्रभावित हुई है वहां की जनसंख्या का चयन तथा विश्व व्यापार खंडित हो गया है लोग असंतोष की भावना दबाए बैठे में तोड़फोड़ या तंग में विश्वास नहीं करता हूं मैं तक कट्टर विरोधी लेकिन शांति पूर्वक अपने पास रखने का में पुलिस चौकी भी जनता को कि इराकी जनता को अगर उसको संतोषजनक सूची नहीं मिलती असंतोष है सरकार का फर्ज बनता है उसके बाद उनको सरकार को कदम पीछे खींचने में कोई एतराज नहीं होना चाहिए दोनों को बहुत कुछ कर लिया समझने वाले समझ सकते हैं लेकिन जो अभी होते हैं उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ा इस कथन पर अपने वंश को खत्म कर दिया जाए जो चाहे वह लंका वासियों उन्होंने जमींदोज कर

aapne kaha ki darbaar chand ke karan jammu kashmir mein sarkari seva mein jammu kashmir mein jo sarkari kaamkaaj hai vaah kho chuka hai jo kaam ka sarkari vibhag mein hona chahiye na kabhi samajh mein aa gaya agar humne jammu kashmir dhara 370 chuha ka tantra tha jitni bhi partyian thi usko nestanabud karne mein koi kesar nahi aap kitni bhi sashakt kitni bhi gyani ho accha karne waale lekin vipaksh ko majboot rehne dijiye vipaksh ko khatam karke aap se nahi bach payenge vipaksh kitna hi dushman ho kuch utpann nahi hota hai vaah sarkar ka kahin na kahin kisi na kisi roop mein sarkar ke liye ek sahara van shakti apne aap ko kaat lenge phir hamein koi katne vala aayega toh koi hamare saath nahi khada hoga shayad sarkar kendra sarkar ki samasya shaktiyan sajeev shakti vahini rating aur parajay kabhi marathi nahi kab vaah kiske adheen ho jaaye kis ko apne adheen kar le phir koi ek baat kehna chahunga ki bahut kuch jammu kashmir mein prabhavit hua hai tourist jude hone wali income prabhavit surya foreign exchange prabhavit hue bina prabhavit kheti badi prabhavit hui hai wahan ki jansankhya ka chayan tatha vishwa vyapar khandit ho gaya hai log asantosh ki bhavna dabaye baithe mein thorphor ya tang mein vishwas nahi karta hoon main tak kattar virodhi lekin shanti purvak apne paas rakhne ka mein police chowki bhi janta ko ki iraqi janta ko agar usko santoshjanak suchi nahi milti asantosh hai sarkar ka farz baata hai uske baad unko sarkar ko kadam peeche kheenchne mein koi ittaraj nahi hona chahiye dono ko bahut kuch kar liya samjhne waale samajh sakte hain lekin jo abhi hote hain unhe koi fark nahi pada is kathan par apne vansh ko khatam kar diya jaaye jo chahen vaah lanka vasiyo unhone jamindoj kar

आपने कहा कि दरबार चांद के कारण जम्मू कश्मीर में सरकारी सेवा में जम्मू कश्मीर में जो सरकारी

Romanized Version
Likes  253  Dislikes    views  4091
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!