95% स्टार्ट-अप क्यों विफल होते हैं, 5% सही क्या करते हैं जो उन्हें सफल बनाते हैं?...


user

Yash

Engineer

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

95 पर सेंट स्टेटस फेल हो जाता है उसका रीजन यार होता है उसका नहीं यह नहीं होता है कि हम लोग क्या करते जब शैडो करते हैं तो स्टार्टिंग में चार-पांच महीने से पहले उसके लिए बुलाने का तो सब कुछ करते हैं तो हम जब प्लानिंग करते तो बहुत चीजें सोचते हैं और कुछ चीजें उसके उलट हमारे साथ ना हो जाती हैं तो वहां पर फेल होने का चांस है दूसरा ही होता है कि कुछ लोग क्या करने कि जब स्टार्ट करते हैं तो बहुत एनर्जी टेक होते हैं और उस चीज को बड़ी सदस्य करना चाहते लेकिन कुछ टाइम बीतने के बाद वह लोग उसको लाडली लेने देते हैं जहां लाडली लिया किसी ने वही स्टार्ट खत्म हो जाता है तू जो भी कर रहे हो सदस्य करो मेहनत से करो उसमें लगे रहो ऐसा तो नहीं है क्या आज ही आपको बेनिफिट मिल जाए नहीं मिलेगा उसके लिए आपको कंटिनयसली मेहनत करनी पड़ेगी और तभी जागे आप सबका जॉब

95 par sent status fail ho jata hai uska reason yaar hota hai uska nahi yah nahi hota hai ki hum log kya karte jab shadow karte hain toh starting me char paanch mahine se pehle uske liye bulane ka toh sab kuch karte hain toh hum jab planning karte toh bahut cheezen sochte hain aur kuch cheezen uske ulat hamare saath na ho jaati hain toh wahan par fail hone ka chance hai doosra hi hota hai ki kuch log kya karne ki jab start karte hain toh bahut energy take hote hain aur us cheez ko badi sadasya karna chahte lekin kuch time beetane ke baad vaah log usko laadalee lene dete hain jaha laadalee liya kisi ne wahi start khatam ho jata hai tu jo bhi kar rahe ho sadasya karo mehnat se karo usme lage raho aisa toh nahi hai kya aaj hi aapko benefit mil jaaye nahi milega uske liye aapko kantinayasali mehnat karni padegi aur tabhi jago aap sabka job

95 पर सेंट स्टेटस फेल हो जाता है उसका रीजन यार होता है उसका नहीं यह नहीं होता है कि हम लोग

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

1:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देसी देसी क्या कपड़े से 90% स्टार्टअप क्यों विफल हो जाते हैं पांच परसेंट सही क्या करते हैं जो उन्हें सफल बनाते हैं तो यहां को बताया जाएंगे आपकी फिगर थोड़ी सी गड़बड़ है 9597 स्टार्टअप फेल हो जाते हैं उसे तीन परसेंट ही सफल होता है और यहां पर जैसे कि आपने उनकी सफलता का राज पूछा है तो बताना चाहेंगे कि अगर जितने भी 3 प्लस स्टार्टर सफल होगी रहे हैं तो वह से अपने फाउंडर्स को फाउंडेशन की विजनरी अप्रोच और उनके बिजनेस मॉडल की वजह से वह सफल हो पा रहे हैं वो सारे स्टार्टअप आते हैं और लेकिन सफलता नहीं मिलती है जिसमें कॉल कि वह कोई अच्छा बिजनेस प्लान उनका होता ही नहीं है जब जो चीज आई वैसे कर ली बिना कोई पेपर हुआ करें बिना कुछ समझे बिना कोई यह देख एक मान लेना कहां से बीच नगर से है अगर ना यह में बिकाऊ कमाल तो सेकेंडरी ऑप्शन क्या होगा बी प्लान क्या होगा कोई भी चीज वर्कआउट करते नहीं है सीधा बिजनेस करने आ जाते हैं और एक टाइम के बाद वापस स्टेशन आता है या कोई गलती होती है जिसकी वजह से स्टार्ट बंद होना है कि कगार पर पहुंच जाते हैं या बंद हो जाते हैं तो आपको यही चीजें ध्यान रखनी होती है कि किस तरह से आपको अपने बिजनेस में एंट्री करनी है अगर एक सीट पर करना पड़ता है तो किस तरह से करेंगे क्या होगा यह सारी चीजें यहां पर ध्यान रखी जाती है मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

desi desi kya kapde se 90 startup kyon vifal ho jaate hain paanch percent sahi kya karte hain jo unhe safal banate hain toh yahan ko bataya jaenge aapki figure thodi si gadbad hai 9597 startup fail ho jaate hain use teen percent hi safal hota hai aur yahan par jaise ki aapne unki safalta ka raj poocha hai toh bataana chahenge ki agar jitne bhi 3 plus starter safal hogi rahe hain toh vaah se apne founders ko foundation ki vijanari approach aur unke business model ki wajah se vaah safal ho paa rahe hain vo saare startup aate hain aur lekin safalta nahi milti hai jisme call ki vaah koi accha business plan unka hota hi nahi hai jab jo cheez I waise kar li bina koi paper hua kare bina kuch samjhe bina koi yah dekh ek maan lena kahaan se beech nagar se hai agar na yah mein bikau kamaal toh secondary option kya hoga be plan kya hoga koi bhi cheez workout karte nahi hai seedha business karne aa jaate hain aur ek time ke baad wapas station aata hai ya koi galti hoti hai jiski wajah se start band hona hai ki kagar par pohch jaate hain ya band ho jaate hain toh aapko yahi cheezen dhyan rakhni hoti hai ki kis tarah se aapko apne business mein entry karni hai agar ek seat par karna padta hai toh kis tarah se karenge kya hoga yah saree cheezen yahan par dhyan rakhi jaati hai subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

देसी देसी क्या कपड़े से 90% स्टार्टअप क्यों विफल हो जाते हैं पांच परसेंट सही क्या करते हैं

Romanized Version
Likes  465  Dislikes    views  6287
WhatsApp_icon
user

Binay Krishna Shivam

Co-Founder & COO @ TapChief

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उन्हें सही जीने करने में बहुत गलत कर रहे होते हैं तो आपको कई बार पता होता है कि आप गलत कर रहे हैं उस वक्त पर आप को रुकना होता है और कोशिश कर रहे हैं आप जो भी आपका उद्देश्य है उस पर आप लगे रहे और उससे यह कोशिश करते रहे अलग-अलग तरीके से करते रहे आपको बहुत ज्यादा किसी भी प्रकार से यही तरीका है और अपने यूजर्स की और अपने मार्केट की समय जहां पर आपसे सीखे वीडियो बिजनेस माता वीडियो राय भाई का उत्तर आ जाता मेरे ख्याल से सोचने की जरूरत है निकलता नहीं तरीके से हम सीख रहे थे तो ऐसे नहीं सोचा कि मेरे से आगे बढ़ी है क्योंकि कहीं ना कहीं अगर आप लगे रहे तो वह जाकर के सफल होता है

unhe sahi jeene karne mein bahut galat kar rahe hote hain toh aapko kai baar pata hota hai ki aap galat kar rahe hain us waqt par aap ko rukna hota hai aur koshish kar rahe hain aap jo bhi aapka uddeshya hai us par aap lage rahe aur usse yah koshish karte rahe alag alag tarike se karte rahe aapko bahut zyada kisi bhi prakar se yahi tarika hai aur apne users ki aur apne market ki samay jaha par aapse sikhe video business mata video rai bhai ka uttar aa jata mere khayal se sochne ki zarurat hai nikalta nahi tarike se hum seekh rahe the toh aise nahi socha ki mere se aage badhi hai kyonki kahin na kahin agar aap lage rahe toh vaah jaakar ke safal hota hai

उन्हें सही जीने करने में बहुत गलत कर रहे होते हैं तो आपको कई बार पता होता है कि आप गलत कर

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  829
WhatsApp_icon
user

Akshay Jaiswal

Motivational Speaker

6:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका और मैक्सवाल आज आपको बताने वाला हूं कि जिस ताकत है वह अक्सर फेल क्यों जाते हैं ठीक है तो स्थापना करने वाले जो लोग होते हैं जब स्टार्ट करते कोई भी काम करना देख लेते किटी में बहुत सारे नहीं जा रही है बहुत सारी योजनाएं चल रही है गवर्नमेंट बहुत सारी स्कीम अप्लाई बैंक लोन मिल रहा है जो लेते हैं उनके पास कर लेते हैं लेकिन क्या होता है ना कि जब स्टार्टिंग जब जिस जोश के साथ स्टार्ट करते हैं तो अचानक से जब जाता है उन्हें मालूम होना चाहिए कि आगे हमें बहुत सारी प्रॉब्लम्स भी आती है जिनको फेस करना है तो वह उसके लिए कुछ लोग तैयार हो तो कुछ लोग होते सपोस अगर किसी ने ₹10 के साथ अपना खुश था उसको तो से लोन मिल गया उसने अपने तरफ से लगाया अब क्या होता है कि जैसे जैसे उसके पास जमीन की पैसा था कुछ लोगों को इकट्ठा करके अपना स्टार्ट किया अब एक महीना हुआ उसने कुछ प्रोडक्शन किया तो कुछ-कुछ प्रोडक्शन कंपनी है सर प्रोडक्शन किया उसका माल मार्केट में पूछा अब उसके पास पहुंचा लेकिन क्या है कि उसने जस्टिस अपनी पहचान के थ्रू मार्केट में पहुंचा तो दिया लेकिन कहीं ना कहीं किसी कारण से मुझसे नहीं हो पाए क्योंकि वह नया नया था उसकी ग्राइंडिंग अच्छे से नहीं कर पाया मार्केटिंग हो भाई क्या रेट में उनकी पार्टी में अभी इतना अच्छा कुछ नहीं हो पाया जो उसने बोला जिस तरीके से स्टार्ट करते समय सोचा होगा वैसा नहीं हो पाया क्या हुआ कुछ उसको लॉस होने लगा थोड़ी सी निराशा होने लगी उसके पास से देखा जाने लगा तो टेंशन में आने में घबराहट सी होती है इंसान क्या टेंशन में 14 बहुत सारी चीजें ऐसी है जो उसके ऊपर हावी होने लगती तो क्या करता है उसके बाद आगे बढ़ने का सोचता नहीं इसमें ऐसा क्या है उस डर के कारण हो पीछे हटने की कोशिश करता है तो बहुत सारे लोग यही करते हैं कि जब उनके सामने कोई समस्या उत्पन्न होती है तो उसका सामना करके आगे बढ़ने की अपेक्षा पीछे अपने कदम की इच्छा रखते हैं और मैक्सिमम लोग ऐसे ही होते कि वह सोचते कि यार एक काम करो इतना तो लॉस हो गया है अभी थोड़ा बहुत बचा है इसको बसा लेते तो पता चला कि तक पूरे घर वालों जाएगा हम पैसे खर्च के कहां से चुकाएंगे यह रिस्क नहीं लेते कि हम आगे अभी थोड़ा हुआ थोड़ा और पहले हो सकते इससे कुछ सीख कर आगे बढ़े तो वह क्या करते हैं कि पीछे हटने लगते हैं की चटनी लगते हैं तो उससे क्या होता है कि उन्होंने जो स्टार्ट किया था सपोर्टर लख रूपीस के साथ हमको दो तीन लाख कविता का नुकसान हो चुका वह सोचते हैं कि अभी तो जो बचा है ₹500000 उसको चेक कर लो देखेंगे नहीं चल रहा दूसरा को लेंगे ऐसे करके फिर वह क्या होता है एक्सपेरिमेंट करते रहते जब लाइफ में एक्सपेरिमेंट कर दी अापने हो सकती हो पाएगी जरूरी है कि अभी हमने जिस चीज को स्टार्ट किया उस पर हम बने रहे उस पर टिके रहे उनमें हमने क्या किया कुछ लोग क्या होता है सकते इसलिए जाति या तो उनका स्टार्टिंग में बहुत अच्छा होता है उनकी टीम बहुत अच्छी होती है उनका माहौल बहुत अच्छा होता है उनका प्रोडक्ट बहुत अच्छा होता है या किस्मत बहुत अच्छी होती है किस्मत कभी अच्छी होती जवाब काम बहुत अच्छे से करते हैं बहुत की प्लानिंग के साथ साथ हैं पूरी प्लानिंग होनी चाहिए उस चीज का आपको स्टडी करना चाहिए जगताप स्थापित करने वाले रत्नेश जी से स्टार्ट करने से पहले उस चीज का बहुत अच्छी शेख चिल्ली किया उसके बाद में तो आप जरूर कहीं ना कहीं तरह के सफल होंगे तो जैसे कि कुछ लोग मालूम ने शुरू में सक्सेस नहीं हो पाया लेकिन क्या होता कि वोट लेने को तैयार रहते हैं कि चलो ठीक है भाई अभी नहीं हुआ मेरा अच्छा तो वह क्या सोचते हैं कि चलो आगे के लिए कुछ ना कुछ अभी हमको कुछ आईडिया तो हुआ किस कारण से हम को लांच हुआ किस कारण से मारा प्रोडक्ट सेल नहीं हो किस कारण से मार्केट में हमारे ब्रांड की इतनी जल्दी नहीं रही लोगों तक हमने अपनी पहुंच नहीं बना पाई तो उसके लिए वह कुवाडिया हो जाता है जिससे क्या होता है कि वह उन कमियों को दूर करने की कोशिश करके थोड़ा रिश्ते अभी लिया था इसके पहले थोड़ा और लेकर देखते धीरे धीरे से उन्होंने पुरानी गलतियों करते हुए आगे के लिए तैयार हो जाते हैं ऐसे करके तैयार होते तो पहले से ठीक नहीं हुआ लेकिन ऐसा ही थोड़ा उन्होंने एक जुलुस था वह कवर किया धीरे-धीरे उसमें फिर उन्होंने कुछ सीखा तो ऐसा करके उन्हें आगे तक अपने आप को कवर किया अपनी पुरानी गलतियों पुराने तरीके को बदल कर उन्होंने क्या किया आगे बढ़ा और आगे बढ़ने से क्या हुआ वह धीरे-धीरे सफलता की राह में पहुंचने लगे तो सबसे पहली चीज होती है कि यह लोग भी होते हैं जो हमेशा सोचते सोचते मतलब इन केवल बहुत हाई होता है यह हमेशा ख्वाब ऊंचे देखते हैं मुझे ख्वाब देखने का मतलब है कि उनके सोच में इस तरह की नहीं रहते कि आज आज हमारा ₹100 का यार मैं सो रुपए का भी कमज़ोर पर मैं कुछ नहीं हो पा रहा मेरा यार चाय नहीं पीता गीत अगर पैसे खर्च ना हमेशा इंसान की किसी परिस्थिति में अपने स्टैंडर्ड को मेंटेन रखना चाहिए अपनी सोच का हमेशा ऊंचा रखना चाहिए और हमेशा अपने आप को कभी भी नीचा महसूस नहीं होने देना चाहिए उन्हें नीचे झुकना चाहिए हमेशा आगे बढ़ने की सोचो आगे करने की सोच अपने स्टैंडर्ड मिलकर आप लोगों के सामने आइडियल एक स्टैंडर्ड मेंटेन करके चलेंगे उससे क्या वह लोग आपको देखकर आपके प्रति उनका अट्रैक्शन बढ़ेगा तो जिस से क्या होगा आप से जुड़ी हर कंपनी प्रोडक्शन वीडियो और चौक मार्केट जो भी आप ने स्टार्ट किया उसकी वैली बढ़ेगी तो आप के रहन-सहन आपके स्मार्ट में भी आपके व्यापार को आगे बढ़ाते जरूरी सबसे पहला वापस कॉल करें अपने आप मुझे अपने आप को इस काबिल बनाए कि लोग आपसे उस पार हो तो ऑटोमेटिक आपकी कंपनी चलेगी और लोगों से सलाह जरूर लेते रहे लोगों की सुनते रहे लोगों को ऑफ द सर्कल के फीडबैक लेकर ही आप अपनी लाइफ में कुछ अच्छा करने की ओर आगे बढ़ सकते हैं अगर आप हमेशा अपनी हटते रहेंगे तो उसने बोला कि आप हमेशा जो हो सकता नोट पर है इसलिए जरूरी है कि आप मार्केट में भी सभी की बातों को सुनाई जाने और आगे बढ़ने की कोशिश करें और हमेशा अच्छा करने के लिए अच्छे सोचे पॉजिटिव रहे नेगेटिविटी को अपने मन से अपने दिमाग से निकाल दे तो जीवन में आप जरुर सफल होंगे और अपना जोश डिसाइड किया है उस टारगेट की ओर हमेशा आगे बढ़ते रहो

hello doston swaagat hai aapka aur maiksaval aaj aapko batane vala hoon ki jis takat hai vaah aksar fail kyon jaate hain theek hai toh sthapna karne waale jo log hote hain jab start karte koi bhi kaam karna dekh lete kiti me bahut saare nahi ja rahi hai bahut saari yojanaye chal rahi hai government bahut saari scheme apply bank loan mil raha hai jo lete hain unke paas kar lete hain lekin kya hota hai na ki jab starting jab jis josh ke saath start karte hain toh achanak se jab jata hai unhe maloom hona chahiye ki aage hamein bahut saari problems bhi aati hai jinako face karna hai toh vaah uske liye kuch log taiyar ho toh kuch log hote sapos agar kisi ne Rs ke saath apna khush tha usko toh se loan mil gaya usne apne taraf se lagaya ab kya hota hai ki jaise jaise uske paas jameen ki paisa tha kuch logo ko ikattha karke apna start kiya ab ek mahina hua usne kuch production kiya toh kuch kuch production company hai sir production kiya uska maal market me poocha ab uske paas pohcha lekin kya hai ki usne justice apni pehchaan ke through market me pohcha toh diya lekin kahin na kahin kisi karan se mujhse nahi ho paye kyonki vaah naya naya tha uski grinding acche se nahi kar paya marketing ho bhai kya rate me unki party me abhi itna accha kuch nahi ho paya jo usne bola jis tarike se start karte samay socha hoga waisa nahi ho paya kya hua kuch usko loss hone laga thodi si nirasha hone lagi uske paas se dekha jaane laga toh tension me aane me ghabarahat si hoti hai insaan kya tension me 14 bahut saari cheezen aisi hai jo uske upar haavi hone lagti toh kya karta hai uske baad aage badhne ka sochta nahi isme aisa kya hai us dar ke karan ho peeche hatane ki koshish karta hai toh bahut saare log yahi karte hain ki jab unke saamne koi samasya utpann hoti hai toh uska samana karke aage badhne ki apeksha peeche apne kadam ki iccha rakhte hain aur maximum log aise hi hote ki vaah sochte ki yaar ek kaam karo itna toh loss ho gaya hai abhi thoda bahut bacha hai isko basa lete toh pata chala ki tak poore ghar walon jaega hum paise kharch ke kaha se chukayenge yah risk nahi lete ki hum aage abhi thoda hua thoda aur pehle ho sakte isse kuch seekh kar aage badhe toh vaah kya karte hain ki peeche hatane lagte hain ki chatni lagte hain toh usse kya hota hai ki unhone jo start kiya tha supporter lakh Rupees ke saath hamko do teen lakh kavita ka nuksan ho chuka vaah sochte hain ki abhi toh jo bacha hai Rs usko check kar lo dekhenge nahi chal raha doosra ko lenge aise karke phir vaah kya hota hai experiment karte rehte jab life me experiment kar di aapne ho sakti ho payegi zaroori hai ki abhi humne jis cheez ko start kiya us par hum bane rahe us par tike rahe unmen humne kya kiya kuch log kya hota hai sakte isliye jati ya toh unka starting me bahut accha hota hai unki team bahut achi hoti hai unka maahaul bahut accha hota hai unka product bahut accha hota hai ya kismat bahut achi hoti hai kismat kabhi achi hoti jawab kaam bahut acche se karte hain bahut ki planning ke saath saath hain puri planning honi chahiye us cheez ka aapko study karna chahiye jagtap sthapit karne waale ratnesh ji se start karne se pehle us cheez ka bahut achi shaikh Chilly kiya uske baad me toh aap zaroor kahin na kahin tarah ke safal honge toh jaise ki kuch log maloom ne shuru me success nahi ho paya lekin kya hota ki vote lene ko taiyar rehte hain ki chalo theek hai bhai abhi nahi hua mera accha toh vaah kya sochte hain ki chalo aage ke liye kuch na kuch abhi hamko kuch idea toh hua kis karan se hum ko launch hua kis karan se mara product cell nahi ho kis karan se market me hamare brand ki itni jaldi nahi rahi logo tak humne apni pohch nahi bana payi toh uske liye vaah kuvadiya ho jata hai jisse kya hota hai ki vaah un kamiyon ko dur karne ki koshish karke thoda rishte abhi liya tha iske pehle thoda aur lekar dekhte dhire dhire se unhone purani galatiyon karte hue aage ke liye taiyar ho jaate hain aise karke taiyar hote toh pehle se theek nahi hua lekin aisa hi thoda unhone ek julus tha vaah cover kiya dhire dhire usme phir unhone kuch seekha toh aisa karke unhe aage tak apne aap ko cover kiya apni purani galatiyon purane tarike ko badal kar unhone kya kiya aage badha aur aage badhne se kya hua vaah dhire dhire safalta ki raah me pahuchne lage toh sabse pehli cheez hoti hai ki yah log bhi hote hain jo hamesha sochte sochte matlab in keval bahut high hota hai yah hamesha khwaab unche dekhte hain mujhe khwaab dekhne ka matlab hai ki unke soch me is tarah ki nahi rehte ki aaj aaj hamara Rs ka yaar main so rupaye ka bhi kamzor par main kuch nahi ho paa raha mera yaar chai nahi pita geet agar paise kharch na hamesha insaan ki kisi paristhiti me apne standard ko maintain rakhna chahiye apni soch ka hamesha uncha rakhna chahiye aur hamesha apne aap ko kabhi bhi nicha mehsus nahi hone dena chahiye unhe niche jhukna chahiye hamesha aage badhne ki socho aage karne ki soch apne standard milkar aap logo ke saamne ideal ek standard maintain karke chalenge usse kya vaah log aapko dekhkar aapke prati unka attraction badhega toh jis se kya hoga aap se judi har company production video aur chauk market jo bhi aap ne start kiya uski valley badhegi toh aap ke rahan sahan aapke smart me bhi aapke vyapar ko aage badhate zaroori sabse pehla wapas call kare apne aap mujhe apne aap ko is kaabil banaye ki log aapse us par ho toh Automatic aapki company chalegi aur logo se salah zaroor lete rahe logo ki sunte rahe logo ko of the circle ke feedback lekar hi aap apni life me kuch accha karne ki aur aage badh sakte hain agar aap hamesha apni hatate rahenge toh usne bola ki aap hamesha jo ho sakta note par hai isliye zaroori hai ki aap market me bhi sabhi ki baaton ko sunayi jaane aur aage badhne ki koshish kare aur hamesha accha karne ke liye acche soche positive rahe negativity ko apne man se apne dimag se nikaal de toh jeevan me aap zaroor safal honge aur apna josh decide kiya hai us target ki aur hamesha aage badhte raho

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका और मैक्सवाल आज आपको बताने वाला हूं कि जिस ताकत है वह अक्सर फेल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user

santosh kumar jain

Motivational Speaker

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेहनत लगन इमानदारी और निरंतरता विचारों चीजें स्टार्टअप को सफल बनाते दूसरों की बातों पर ध्यान देना खुद का आत्मविश्वास कम करना दूसरों पर जल्दी भरोसा कर लेना और काम को छोड़ने की भावना के चारो चीजे आपको विफल बना देती हैं इसलिए इन बातों को ध्यान रखें

mehnat lagan imaandari aur nirantarata vicharon cheezen startup ko safal banate dusro ki baaton par dhyan dena khud ka aatmvishvaas kam karna dusro par jaldi bharosa kar lena aur kaam ko chodne ki bhavna ke chaaro chije aapko vifal bana deti hain isliye in baaton ko dhyan rakhen

मेहनत लगन इमानदारी और निरंतरता विचारों चीजें स्टार्टअप को सफल बनाते दूसरों की बातों पर ध्य

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!