भारत में स्टार्टप में कॉम्पटिशन बहुत है, आप ऐसे में अपनी कम्पनी को सबसे अलग कैसे बनाते हैं?...


play
user

Nikhil Ranjan

Programme Coordinator - National Institute of Electronics and Information Technology (NIELIT)

2:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं देते क्या कर रहा है भारत में स्टार्टर में कंपटीशन बहुत है आप ऐसे में अपनी कंपनी को सबसे अलग कैसे बनाते हैं यहां को बताना चाहेंगे वैसे के लिए कंपटीशन 2 लेवल होता है मैं कहता है ब्लू सी और एक कहते हैं रेट से तो रेट सिम है तो यह होता है कि कंपटीशन बहुत ज्यादा है यह क्योंकि आप वही प्रोडक्ट वही सर्विसेज अवेलेबल करा रहे हैं सामने वाले कस्टमर को जो पहले से मार्केट में मौजूद है जैसे कि 10 रन खुले में है एक रोड पर और आपने उसी रोड पर अपना 11वां रेस्टोरेंट खोल कर बैठ गए ऐसा नहीं है क्या पर कस्टमर नहीं आएंगे लेकिन आपकी सबसे ज्यादा फेल होगी आपको मोनोपली होगी ऐसा नहीं होगा तो वहां पर क्या कंपटीशन बहुत ज्यादा आई है दूसरा जो आपसे पहले से बिजनेस कर रहे हैं उनके पास बैकअप मनी है तो वह हो सकता है आप अगर ₹100 प्लेट खिला रहे हैं तो वह 80 रिवर प्लेट या 50 व प्लेट भी खिलाना शुरू कर दें जिससे कि आपके कस्टमर भी टूट के उनके पास चले आएंगे और आप आ कमाई नहीं कर पाएंगे तो यह तो होता है ब्रेड थी अब आते हैं दूसरे लेवल पर यह होता है ब्लू सी ओशियन ब्लू सीओसी अन वह टेक्नोलॉजी है जिसमें आप कोई ऐसा कार्य करते हैं ऐसा काम पकड़ते हैं जो कि गिने-चुने लोग ही कर रहे होते हैं यानी कि आपके उस में कंपटीशन बहुत स्लो है बहुत कम लोग हैं और एग्जांपल आपने कह दिया कि मैं तो अपनी एक शॉप खोलूंगा जोकि एक्सपोर्ट का काम करेगी और एक्सपोर्ट भी क्या करेंगे आप ने कहा कि मैं छोटी इलायची जो खाते हम लोग इलायची मैं वह छोटी इलायची एक्सपोर्ट करूंगा फॉरेन में एक छोटा सा काम है आपको देख कर लग रहा है कि छोटा सा है लेकिन जब आप एक्सपोर्ट के लिए जा रहे हैं तो आपका जो पेमेंट तक रहा हूं उस डॉलर्स में होंगे या जिद्दी आफ इकोनामी में आप करेंगे अपने बिना उसके अकॉर्डिंग पैसा आएगा और कितने लोग यहां पर आ गया ना देखेंगे कि कितने लोग इंडिया में एक्सपोर्ट कर रहे हैं छोटी लाई थी तो आप शायद अकाउंट उनको कितने लोग ही कर रहे हैं लेकिन अगर आप यह अकाउंट करने बैठे हैं कि आपके शहर में कितने रेस्टोरेंट है कितने ढाबे हैं तो शायद आप यह टोटल काउंट भी ना कर पाए एक शहर की बात कर रहे हैं और कहां पूरे इंडिया की बात कर रहे हैं आपको यह देखना होगा या ना लाइक करना होगा कि आप क्या बिजनेस कर सकते हैं और कौन सा बिजनेस आपके लिए ज्यादा बेनिफिशियल है किस में कंपटीशन कम है जो भी कम कंपटीशन का काम आप करेंगे और कुछ अलग हटके करेंगे तो वहां पर आपके मोनोपली स्थापित हो जाएगी और आपका वो स्टार्टअप चल निकलेगा तो यही आपके स्टडी जी आपको अपना नहीं चाहिए तभी आप सक्सेसफुल हो सकते हैं मेरी शुभकामनाएं आपके साथ है धन्यवाद

nahi dete kya kar raha hai bharat mein starter mein competition bahut hai aap aise mein apni company ko sabse alag kaise banate hain yahan ko bataana chahenge waise ke liye competition 2 level hota hai kahata hai blue si aur ek kehte hain rate se toh rate sim hai toh yah hota hai ki competition bahut zyada hai yah kyonki aap wahi product wahi services available kara rahe hain saamne waale customer ko jo pehle se market mein maujud hai jaise ki 10 run khule mein hai ek road par aur aapne usi road par apna va restaurant khol kar baith gaye aisa nahi hai kya par customer nahi aayenge lekin aapki sabse zyada fail hogi aapko monopali hogi aisa nahi hoga toh wahan par kya competition bahut zyada I hai doosra jo aapse pehle se business kar rahe hain unke paas backup money hai toh vaah ho sakta hai aap agar Rs plate khila rahe hain toh vaah 80 river plate ya 50 va plate bhi khilana shuru kar de jisse ki aapke customer bhi toot ke unke paas chale aayenge aur aap aa kamai nahi kar payenge toh yah toh hota hai bread thi ab aate hain dusre level par yah hota hai blue si oshiyan blue COC an vaah technology hai jisme aap koi aisa karya karte hain aisa kaam pakadten hain jo ki gine chune log hi kar rahe hote hain yani ki aapke us mein competition bahut slow hai bahut kam log hain aur example aapne keh diya ki main toh apni ek shop kholunga joki export ka kaam karegi aur export bhi kya karenge aap ne kaha ki main choti elaichi jo khate hum log elaichi main vaah choti elaichi export karunga foreign mein ek chota sa kaam hai aapko dekh kar lag raha hai ki chota sa hai lekin jab aap export ke liye ja rahe hain toh aapka jo payment tak raha hoon us dollars mein honge ya jiddi of economy mein aap karenge apne bina uske according paisa aayega aur kitne log yahan par aa gaya na dekhenge ki kitne log india mein export kar rahe hain choti lai thi toh aap shayad account unko kitne log hi kar rahe hain lekin agar aap yah account karne baithe hain ki aapke shehar mein kitne restaurant hai kitne dhabe hain toh shayad aap yah total count bhi na kar paye ek shehar ki baat kar rahe hain aur kahaan poore india ki baat kar rahe hain aapko yah dekhna hoga ya na like karna hoga ki aap kya business kar sakte hain aur kaun sa business aapke liye zyada benifishiyal hai kis mein competition kam hai jo bhi kam competition ka kaam aap karenge aur kuch alag hatake karenge toh wahan par aapke monopali sthapit ho jayegi aur aapka vo startup chal niklega toh yahi aapke study ji aapko apna nahi chahiye tabhi aap successful ho sakte hain meri subhkamnaayain aapke saath hai dhanyavad

नहीं देते क्या कर रहा है भारत में स्टार्टर में कंपटीशन बहुत है आप ऐसे में अपनी कंपनी को सब

Romanized Version
Likes  407  Dislikes    views  5856
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!