जब आपके कम्पनी का विचार इन्वेस्टर ने सुना, तो उनकी क्या प्रतिक्रिया थी?...


play
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

2:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब बाबा हम लोग केआरबीए प्रपोजल है कंपनी के प्रदर्शन के लिए संपर्क करना चाहते हैं कि पूरे विश्व में जहां भी भारतीय लोग हैं उनको जहां उड़ा रहे हैं वहां आयुर्वेदा के मसाले यहां के जो भी कल्चर है उनसे जुड़ी बातों को किस तरह से उनको एसोसिएट करे वहां तो कुछ घंटे तक उनको करें जब मियां है वहां का जो भी पर्यटन स्थल है जो चीज से जुड़ा हुआ है भारतीय सभ्यता और संस्कृति से जुड़े हैं या उनके तीर्थ के लिए जानकी अस्थान गया राजगीर वैशाली जहां भी है विस्तार में अध्याय तक दर्शन करने क्या उपाय करें और उनको इंडियन भारतीय संस्कृति से प्रभावित लोगों के घर में रखें उनको अलग से होटल में ना रखें उनको खाने-पीने का इंतजाम सॉलिड के साथ घर में रखें और उनको इंडियन फूड खिलाने गांव घर में जिस तरह से झोपड़ी बनाकर या बात का बनाकर कॉटेज टाइप करता है उसमें उनको रखें यह विचार हम लोगों ने हाय मिस्टर को दिया है और रेलवेज 40 के प्रति अच्छी प्रतिक्रिया दे दी है और इसके लिए साइट सिलेक्शन होना है और जमीन की रजिस्ट्री होने के बाद कंपनी से काम करेगी इसमें दो चार और पाटनर एसोसिएट होंगे जो इन्वेस्टर के रूप में होंगे और यही तो है कि हम भारतवंशी पूरे विश्व में जो भारतवंशी हैं उसको कैसे कनेक्ट करता है और इस देश से जुड़े नहीं रहे हैं उस देश में भी भारतवंशी आपस में जुड़े रहें शुक्रिया शुभ काम

jab baba hum log KRBA proposal hai company ke pradarshan ke liye sampark karna chahte hain ki poore vishwa mein jahan bhi bharatiya log hain unko jahan uda rahe hain wahan ayurveda ke masale yahan ke jo bhi culture hai unse judi baaton ko kis tarah se unko associate karen wahan toh kuch ghante tak unko karen jab miyan hai wahan ka jo bhi paryatan sthal hai jo cheez se juda hua hai bharatiya sabhyata aur sanskriti se jude hain ya unke tirth ke liye janki asthan gaya raajgir vaishali jahan bhi hai vistaar mein adhyay tak darshan karne kya upay karen aur unko indian bharatiya sanskriti se prabhavit logon ke ghar mein rakhen unko alag se hotel mein na rakhen unko khane peene ka intajam solid ke saath ghar mein rakhen aur unko indian food khilane gaon ghar mein jis tarah se jhopdi banakar ya baat ka banakar cottage type karta hai usmein unko rakhen yah vichar hum logon ne hi mister ko diya hai aur railways 40 ke prati achi pratikriya de di hai aur iske liye site selection hona hai aur jameen ki registry hone ke baad company se kaam karegi isme do char aur partner associate honge jo investor ke roop mein honge aur yahi toh hai ki hum bharatvanshi poore vishwa mein jo bharatvanshi hain usko kaise connect karta hai aur is desh se jude nahi rahe hain us desh mein bhi bharatvanshi aapas mein jude rahein shukriya shubha kaam

जब बाबा हम लोग केआरबीए प्रपोजल है कंपनी के प्रदर्शन के लिए संपर्क करना चाहते हैं कि पूरे

Romanized Version
Likes  188  Dislikes    views  2800
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!