नितिन गडकरी- क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है। क्या आप भी ऐसा मानते हैं?...


user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:17
Play

Likes  148  Dislikes    views  2598
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vikas Singh

Political Analyst

7:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें नितिन गडकरी साहब ने बिल्कुल सही बोला क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है जैसे क्रिकेट अनिश्चिता ओं का गेम है वैसे ही राजनीति भी अनिश्चित आओ का गेम है और इसमें कभी भी पासा पलट सकता है कोई भी राजनेता इधर से उधर कभी भी जा सकता है लेकिन जो सच्चे राजनेता होते हैं जो सच्चे देशभक्त होते हैं वह देश के लिए जीने की कोशिश करते हैं वह उसी राजनीतिक पार्टी के साथ रहते हैं जो राजनीतिक पार्टी अच्छी होती है जो देश हित के लिए कार्य करने के बारे में सोचती है और जिस राजनीतिक पार्टी के सभी नेताओं में देश प्रेम की भावना कूट-कूट के भरी होती है शत्रुघ्न सिन्हा साहब ने जब बीजेपी को छोड़ा था उसके बाद उन्होंने श्रीमती स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी से बात किया था तो श्रीमती सुषमा स्वराज जी ने बोला कि भारतीय जनता पार्टी ने हमें बोलना सिखाया भारतीय जनता पार्टी ने हमें देश के लिए जीना सिखाया और आज जो भी पूछूं भारतीय जनता पार्टी की वजह से हूं तो भारतीय जनता पार्टी मैं मरते दम तक नहीं छोडूंगी लेकिन वही शत्रुघ्न सिन्हा साहब थे उनको लालच हो गया था वह कांग्रेस पार्टी का दामन थामा और फिर उनकी हार भी हुई तो कहने का मतलब है कि राजनीति में कुछ भी हो सकता है आपका अगर विचार अच्छा नहीं है तो कभी आप इधर रहोगे कभी उधर रहोगे कभी उधर रहोगे कभी इधर आओगे हो सकता है कि आपके पास एक्सपीरियंस अच्छा हो लेकिन कुछ भी हो हमेशा अच्छी भावना से अच्छी सोच से रहना चाहिए नितिन गडकरी साहब है बहुत ही बेहतरीन काम करते हैं विपक्ष बिन के ऊपर आरोप नहीं लगाता है राजनाथ सिंह जी हैं इनके ऊपर विपक्ष भी कमेंट नहीं करता है आदरणीय मोदी जी हैं एक व्यक्ति ने उनसे सवाल पूछा कि सर आप 20 घंटा काम कैसे करते हो मैं जानता हूं कि आप योगा करते हो तो मोदी जी ने बताया कि इसके कई सारे उत्तर हैं सबसे पहला उत्तर यह है कि मैं 3KG दिल्ली खाता हूं तो लोग पूछे क्या खाते हैं उन्होंने बोला कि मैं तीन-चार किलो गाली दिल्ली खाता हूं इसलिए कंपटीशन ज्यादा है 19:20 घंटा काम करता हूं दूसरा यह कि मेरे लिए पूरा हिंदुस्तान मेरा परिवार है जब मैं दिल्ली आता हूं तो कहीं सुनता हूं कि कहीं यह घटना हो गई केरला में तो मैं तुरंत पहुंचता हूं वहां फिर वहां से बंगाल जाना होता तो मैं तुरंत बंगाल चला जाता हूं पूरा हिंदुस्तान मेरा परिवार है और आपने देखा होगा कि आप कितना भी जॉब से थके हुए आते हो जॉब करके घर पर आते हो तो नींद आती है आपको एकदम थक गए रहते हो लेकिन अचानक पता चलता है कि परिवार का कोई मेंबर हॉस्पिटल में है आप तुरंत आराम नहीं करते हो तुरंत हॉस्पिटल जाते हो उसी तरह मोदी जी मोदी जी के लिए पूरा हिंदुस्तान परिवार है और परिवार को सुरक्षित रखने के लिए वह कभी थकते नहीं है बुध दिन रात मेहनत करते हैं काम करते हैं तो हम लोगों को उनका उनको अपना आदर्श बनाना चाहिए ऐसे राजनेता को अगर आप आदर्श बनाएंगे तो आप शिक्षा के क्षेत्र में किसी भी प्राइवेट सेक्टर में किसी भी गवर्नमेंट सेक्टर में किसी भी बिजनेस के क्षेत्र में आप जिस फील्ड में हो उस फील्ड में आप कुछ बेहतरीन कर सकते हो जब आपका आदर्शवाद व्यक्ति अच्छा होगा तो आपको उपलब्धि मिलती जाएगी क्योंकि आप उसके बताए हुए पद चिन्हों पर चलोगे श्रीमती सुषमा स्वराज जी थी वह भी देशभक्त थी आज भी करोड़ों हिंदुस्तानियों के दिलों में उपस्थिति हैं विदेश मंत्रालय का उन्होंने जो कार्य किया वह हिंदुस्तान के लोग कभी नहीं भूलेंगे वाले पासपोर्ट के लिए 6 महीना 7 महीना लगता था आज के डेट में 1 महीने में पासपोर्ट बन जा रहा है 10 दिन में भी पासपोर्ट बन जा रहा है हमारे देश का कोई भी आम नागरिक अगर विदेशों में फस गया कोई दिक्कत हो गई तो श्रीमती सुषमा स्वराज जी का नेतृत्व इतना बढ़िया था कि उस व्यक्ति को सुरक्षित अपने देश लाया जाता था तो कहने का मतलब है राजनीति और ऊपरी के अनिश्चितता ओं का गेम है लेकिन जो लोग अपने दिमाग को अपने मन को अपने व्यक्तित्व को स्थिर रखते हैं वह इसमें सफलता की सीढ़ियों पर पहुंचते क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी है और राजनीति में नरेंद्र मोदी जी यह दोनों लोग लास्ट ओवर की फिनिशर है लास्ट बॉल पर 1 छक्का मारने वाले हैं लास्ट बॉल पर यह लोग जीत हिंदुस्तान को दिलाने वाले हैं ऐसा होना चाहिए मोदी जी को छोटे-छोटे बड़े-बड़े नेता दिल्ली गाली देते हैं वह किसी का जवाब नहीं देते वह अपना कार्य करते रहते हैं महेंद्र उनका कंपेयर लोग दूसरों से लगते हैं करने अरे यार महेंद्र सिंह धोनी वह व्यक्ति हैं जिन्होंने t20ipl विश्व का सब कुछ दिलाया भारत को और लास्ट बॉल पर कई मैच को छक्का चौका मारकर जिताया कोई साधारण उपलब्धि नहीं है हमें इन लोगों से सीखना चाहिए राजनीति में जो खिलाड़ी हैं महेंद्र सिंह धोनी को आदर्श बनाना चाहिए उनको और जो राजनीति के क्षेत्र में आने जाना चाहते हैं युवा या राजनीति के क्षेत्र में जो भी है चाहे वह विपक्ष की कोई भी पार्टी हो प्रधानमंत्री मोदी जी को उसको आदर्श बनाना चाहिए और मोदी जी देश से इतना प्रेम करते हैं और देश के लिए कार्य करते हैं उन्हें भी देश के लिए कार्य करना चाहिए देश हमारा विकसित कैसे बनेगा प्रधानमंत्री मोदी जी के पद चिन्हों पर कैसे चल सकते हैं अब चलने की कोशिश हम करना शुरू करेंगे तो एक न एक दिन ऐसा आएगा कि हम थोड़ा बहुत चलना सीख जाएंगे जब चलना सीख जाएंगे तो सफलता के शिखर पर होंगे तो फिर के राजनीति अनिश्चिता ओं का गेम है इसमें कुछ भी हो सकता है लेकिन इसमें अगर आप ईमानदारी से सत्यता से अच्छाई से लगातार कार्य करोगे तो आप सफलता के शिखर पर पहुंचेंगे धन्यवाद

dekhen nitin gadkari saheb ne bilkul sahi bola cricket aur raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai jaise cricket anishchita on ka game hai waise hi raajneeti bhi anischit aao ka game hai aur isme kabhi bhi pasa palat sakta hai koi bhi raajneta idhar se udhar kabhi bhi ja sakta hai lekin jo sacche raajneta hote hai jo sacche deshbhakt hote hai vaah desh ke liye jeene ki koshish karte hai vaah usi raajnitik party ke saath rehte hai jo raajnitik party achi hoti hai jo desh hit ke liye karya karne ke bare mein sochti hai aur jis raajnitik party ke sabhi netaon mein desh prem ki bhavna kut kut ke bhari hoti hai shatrughan sinha saheb ne jab bjp ko choda tha uske baad unhone shrimati swargiya sushma swaraj ji se baat kiya tha toh shrimati sushma swaraj ji ne bola ki bharatiya janta party ne hamein bolna sikhaya bharatiya janta party ne hamein desh ke liye jeena sikhaya aur aaj jo bhi puchoon bharatiya janta party ki wajah se hoon toh bharatiya janta party main marte dum tak nahi chodungi lekin wahi shatrughan sinha saheb the unko lalach ho gaya tha vaah congress party ka daman thama aur phir unki haar bhi hui toh kehne ka matlab hai ki raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai aapka agar vichar accha nahi hai toh kabhi aap idhar rahoge kabhi udhar rahoge kabhi udhar rahoge kabhi idhar aaoge ho sakta hai ki aapke paas experience accha ho lekin kuch bhi ho hamesha achi bhavna se achi soch se rehna chahiye nitin gadkari saheb hai bahut hi behtareen kaam karte hai vipaksh bin ke upar aarop nahi lagaata hai rajnath Singh ji hai inke upar vipaksh bhi comment nahi karta hai adaraniya modi ji hai ek vyakti ne unse sawaal poocha ki sir aap 20 ghanta kaam kaise karte ho main jaanta hoon ki aap yoga karte ho toh modi ji ne bataya ki iske kai saare uttar hai sabse pehla uttar yah hai ki main 3KG delhi khaata hoon toh log pooche kya khate hai unhone bola ki main teen char kilo gaali delhi khaata hoon isliye competition zyada hai 19 20 ghanta kaam karta hoon doosra yah ki mere liye pura Hindustan mera parivar hai jab main delhi aata hoon toh kahin sunta hoon ki kahin yah ghatna ho gayi kerala mein toh main turant pahuchta hoon wahan phir wahan se bengal jana hota toh main turant bengal chala jata hoon pura Hindustan mera parivar hai aur aapne dekha hoga ki aap kitna bhi job se thake hue aate ho job karke ghar par aate ho toh neend aati hai aapko ekdam thak gaye rehte ho lekin achanak pata chalta hai ki parivar ka koi member hospital mein hai aap turant aaram nahi karte ho turant hospital jaate ho usi tarah modi ji modi ji ke liye pura Hindustan parivar hai aur parivar ko surakshit rakhne ke liye vaah kabhi thakate nahi hai buddha din raat mehnat karte hai kaam karte hai toh hum logo ko unka unko apna adarsh banana chahiye aise raajneta ko agar aap adarsh banayenge toh aap shiksha ke kshetra mein kisi bhi private sector mein kisi bhi government sector mein kisi bhi business ke kshetra mein aap jis field mein ho us field mein aap kuch behtareen kar sakte ho jab aapka adarshwad vyakti accha hoga toh aapko upalabdhi milti jayegi kyonki aap uske bataye hue pad chinho par chaloge shrimati sushma swaraj ji thi vaah bhi deshbhakt thi aaj bhi karodo hindustaniyon ke dilon mein upasthitee hai videsh mantralay ka unhone jo karya kiya vaah Hindustan ke log kabhi nahi bhulenge waale passport ke liye 6 mahina 7 mahina lagta tha aaj ke date mein 1 mahine mein passport ban ja raha hai 10 din mein bhi passport ban ja raha hai hamare desh ka koi bhi aam nagarik agar videshon mein fas gaya koi dikkat ho gayi toh shrimati sushma swaraj ji ka netritva itna badhiya tha ki us vyakti ko surakshit apne desh laya jata tha toh kehne ka matlab hai raajneeti aur upari ke anishchitata on ka game hai lekin jo log apne dimag ko apne man ko apne vyaktitva ko sthir rakhte hai vaah isme safalta ki sidhiyon par pahunchate cricket mein mahendra Singh dhoni hai aur raajneeti mein narendra modi ji yah dono log last over ki finisher hai last ball par 1 chakka maarne waale hai last ball par yah log jeet Hindustan ko dilaane waale hai aisa hona chahiye modi ji ko chote chhote bade bade neta delhi gaali dete hai vaah kisi ka jawab nahi dete vaah apna karya karte rehte hai mahendra unka compare log dusro se lagte hai karne are yaar mahendra Singh dhoni vaah vyakti hai jinhone t20ipl vishwa ka sab kuch dilaya bharat ko aur last ball par kai match ko chakka chowka marakar jitaya koi sadhaaran upalabdhi nahi hai hamein in logo se sikhna chahiye raajneeti mein jo khiladi hai mahendra Singh dhoni ko adarsh banana chahiye unko aur jo raajneeti ke kshetra mein aane jana chahte hai yuva ya raajneeti ke kshetra mein jo bhi hai chahen vaah vipaksh ki koi bhi party ho pradhanmantri modi ji ko usko adarsh banana chahiye aur modi ji desh se itna prem karte hai aur desh ke liye karya karte hai unhe bhi desh ke liye karya karna chahiye desh hamara viksit kaise banega pradhanmantri modi ji ke pad chinho par kaise chal sakte hai ab chalne ki koshish hum karna shuru karenge toh ek na ek din aisa aayega ki hum thoda bahut chalna seekh jaenge jab chalna seekh jaenge toh safalta ke shikhar par honge toh phir ke raajneeti anishchita on ka game hai isme kuch bhi ho sakta hai lekin isme agar aap imaandaari se satyata se acchai se lagatar karya karoge toh aap safalta ke shikhar par pahunchenge dhanyavad

देखें नितिन गडकरी साहब ने बिल्कुल सही बोला क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है जैसे क

Romanized Version
Likes  228  Dislikes    views  3992
WhatsApp_icon
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नितिन गडकरी क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है यह उन्होंने कहा है क्या आप भी ऐसा मानते हैं कि बिल्कुल क्योंकि आज की डेट में राजनीति हो या फिर क्रिकेट हो दोनों ही बिजनेस की तरह चलते हैं राजनीति राजनीति की तरह नहीं होती क्रिकेट एक्सपोर्ट है लेकिन वह भी काफी हद तक बिजनेस बन चुका है और राजनीति तो ऑलरेडी है ही तो एक ऐसा बिजनेस जिसमे लेन देन है जिसमें यह देखा जाता है कहां मुनाफा है जिसमें लोग दांवपेच से पीछे नहीं हटे और किसी भी हद तक जा सकते हैं जीतने के लिए हाथ अपने आप को हार से बचाने के लिए इसी तरह जिस तरह मैच फिक्स होते हैं हजारों लोगों को धोखा देकर उनके सेंटीमेंट से खेलकर बहुत से सिक्स नाचू सभी खेले गए हैं जिनमें प्लेयर्स का और इसका फायदा हुआ है और इसमें का हाथों से और लोग भी शामिल होंगे जिसका फायदा हुआ चित्र राजनीति भी एक तरह का बिजनेस है लेन-देन है मुनाफा है यह देखा जाता है कि कहां कब किस तरह कौन सी चाल चैलेंज इससे क्या फायदा होगा और यह फायदा सिर्फ खुद तक ही सीमित होता है इसमें जनता जनार्दन कभी भी आपके इसमें नहीं होती चाहे वो क्रिकेट भी हो भले लोग बहुत बड़े फैन हैं क्रिकेट के लेकिन जितना एसडीएम ने लोगों को लूटा है और किसने पैसा बनाया है और गैंबलिंग हुई है बैटिंग हुई है मैच फिक्सिंग हुई है बॉल टेंपरिंग हुई है सारा कुछ जो है यह कहता है कि इससे कहना कुछ गलत नहीं होगा इसमें कभी भी कुछ भी हो सकता है क्योंकि यह जीन प्रिंसिपल पर सब चल रहे हैं वह ऑलमोस्ट सेम है तो पर चेंज उन्होंने जो कहा मैं भी उससे सहमत धन्यवाद

nitin gadkari cricket aur raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai yah unhone kaha hai kya aap bhi aisa maante hain ki bilkul kyonki aaj ki date mein raajneeti ho ya phir cricket ho dono hi business ki tarah chalte hain raajneeti raajneeti ki tarah nahi hoti cricket export hai lekin vaah bhi kaafi had tak business ban chuka hai aur raajneeti toh already hai hi toh ek aisa business jisme len then hai jisme yah dekha jata hai kahaan munafa hai jisme log danvapech se peeche nahi hate aur kisi bhi had tak ja sakte hain jitne ke liye hath apne aap ko haar se bachane ke liye isi tarah jis tarah match fix hote hain hazaro logo ko dhokha dekar unke sentiment se khelkar bahut se six nachu sabhi khele gaye hain jinmein players ka aur iska fayda hua hai aur isme ka hathon se aur log bhi shaamil honge jiska fayda hua chitra raajneeti bhi ek tarah ka business hai len then hai munafa hai yah dekha jata hai ki kahaan kab kis tarah kaun si chaal challenge isse kya fayda hoga aur yah fayda sirf khud tak hi simit hota hai isme janta Janardan kabhi bhi aapke isme nahi hoti chahen vo cricket bhi ho bhale log bahut bade fan hain cricket ke lekin jitna sdm ne logo ko loota hai aur kisne paisa banaya hai aur gambling hui hai batting hui hai match fixing hui hai ball temparing hui hai saara kuch jo hai yah kahata hai ki isse kehna kuch galat nahi hoga isme kabhi bhi kuch bhi ho sakta hai kyonki yah gene principal par sab chal rahe hain vaah alamost same hai toh par change unhone jo kaha main bhi usse sahmat dhanyavad

नितिन गडकरी क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है यह उन्होंने कहा है क्या आप भी ऐसा मान

Romanized Version
Likes  261  Dislikes    views  4005
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नितिन गडकरी क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है क्या आप भी ऐसा मानते हैं जी हां बिल्कुल हमें बनना ही चाहिए क्योंकि क्रिकेट में अंतिम बोल तक परिणाम और निश्चित होता है उसी तरह से राजनीति में अंतिम समय तक कुछ भी परिणाम आ सकते हैं सोचा कुछ जाता है गाना नायक कुछ होती है और होता कुछ और है यह इसी को राजनीति करते हैं जिस तरह से चित्र है प्रेम और युद्ध दोनों में सब कुछ जायज है उसी तरह से क्रिकेट के तो नियम है लेकिन उसके परिणाम अंतिम बोल तक अनिश्चित रहते हैं लेकिन राजनीति में सिद्धांतों को या अपनी जरूरतों को प्रधानता दी जाती है और ज्यादातर परिणाम बहुत कुछ अंत समय में बदल जाते हैं फिलहाल में महाराष्ट्र में राजनीति हो रही है चुनाव के बाद से जनता के मेन गेट के विरुद्ध से सेना ने जिस तरह का राजनीतिक दांव खेला वह दर्शाता है कि बाकी के जिसके विरुद्ध एनसीपी और कांग्रेस के विरुद्ध चुनाव लड़ने के बावजूद और उन्हीं के साथ मिल बैठकर सरकार बनाना यह सेना कि जो असलियत दिखाता है पुराने सॉन्ग पार्टी जून के जोश और एनडीए के पर कार्य करते उनको एक तरफ रखकर दरकिनार करते और उन्होंने इस तरह का जो खेल खेला है वह पब्लिक के नोटिस में जरूर आता है पब्लिक की निगाहों में जरूर आता है और समय आने पर जो आम जनता है वह जरूर जवाब देती है इसलिए राजनीति में कुछ भी हो सकता है अभी हम सोच रहे हैं कि शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी की सरकार बनेगी और गडकरी जी का अगर यह गीतान है कि राजनीति में कुछ भी हो सकता है तो कुछ भी हो सकता है कि हो सकता है कि अंत समय में शिवसेना वापिस बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ले और एनसीपी और कांग्रेस हाथ मलते रह जाए कि जो वहां जिसको कहते हैं कि जमाई लेते हुए मुंह में लड्डू आ जाता है तो ऐसा भी हो सकता है सब निर्भर करता है शिवसेना क्यों और पब्लिक के मेंढक को घर बना देते हैं और पब्लिक के मंडे को इज्जत देते हैं तो वह शिवसेना हो सकता है कि अंतिम समय में बीजेपी के साथ मिलकर सरकार का गठन कर दे धन्यवाद

nitin gadkari cricket aur raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai kya aap bhi aisa maante hain ji haan bilkul hamein banna hi chahiye kyonki cricket mein antim bol tak parinam aur nishchit hota hai usi tarah se raajneeti mein antim samay tak kuch bhi parinam aa sakte hain socha kuch jata hai gaana nayak kuch hoti hai aur hota kuch aur hai yah isi ko raajneeti karte hain jis tarah se chitra hai prem aur yudh dono mein sab kuch jayaj hai usi tarah se cricket ke toh niyam hai lekin uske parinam antim bol tak anischit rehte hain lekin raajneeti mein siddhanto ko ya apni jaruraton ko pradhanta di jaati hai aur jyadatar parinam bahut kuch ant samay mein badal jaate hain filhal mein maharashtra mein raajneeti ho rahi hai chunav ke baad se janta ke main gate ke viruddh se sena ne jis tarah ka raajnitik dav khela vaah darshata hai ki baki ke jiske viruddh ncp aur congress ke viruddh chunav ladane ke bawajud aur unhi ke saath mil baithkar sarkar banana yah sena ki jo asliyat dikhaata hai purane song party june ke josh aur nda ke par karya karte unko ek taraf rakhakar darakinar karte aur unhone is tarah ka jo khel khela hai vaah public ke notice mein zaroor aata hai public ki nigaahon mein zaroor aata hai aur samay aane par jo aam janta hai vaah zaroor jawab deti hai isliye raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai abhi hum soch rahe hain ki shivsena congress aur ncp ki sarkar banegi aur gadkari ji ka agar yah gitan hai ki raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai toh kuch bhi ho sakta hai ki ho sakta hai ki ant samay mein shivsena vaapas bjp ke saath milkar sarkar bana le aur ncp aur congress hath malate reh jaaye ki jo wahan jisko kehte hain ki jamai lete hue mooh mein laddu aa jata hai toh aisa bhi ho sakta hai sab nirbhar karta hai shivsena kyon aur public ke mendak ko ghar bana dete hain aur public ke monday ko izzat dete hain toh vaah shivsena ho sakta hai ki antim samay mein bjp ke saath milkar sarkar ka gathan kar de dhanyavad

नितिन गडकरी क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है क्या आप भी ऐसा मानते हैं जी हां बिल्

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  1082
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है क्या आप भी ऐसा मानते हैं हां तो मानता में भी ऐसा हो कि वह कुछ भी सकते हैं क्योंकि क्रिकेट और राजनीति है वह दोनों एनिस्टों का खेल पहले से पता कुछ नहीं चलता कि आगे क्या होगा क्रिकेट है यह है कि हम यह नहीं बता सकते कि कौन सी टीम पहले जीतेगी किशोर में क्या होगा क्या विषय राजनीति में चुनाव से पहले में पता नहीं चलता कौन सी टीम जीतेगी कौन सरकार बनाएगी किसका होगा किसका बहुमत होगा और महाराष्ट्र में आजकल ऐसा ही हो रहा है इसी की यह वक्तव्य नितिन गडकरी क्योंकि महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा सीटें हैं वह भाजपा ने जीती है लेकिन भाजपा के पास नहीं है तो उसको सरकार बनाने की अनुमति नहीं दी गई है दूसरी जो पार्टी है वह भी सरकार नहीं बना रही है अब यह अनीता के गलियारे में चला गया तो मेरे ख्याल से ऐसा लगता है कि यह दोनों है वह नेताओं का क्लियर है और इसमें कुछ नहीं है

cricket aur raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai kya aap bhi aisa maante hain haan toh manata mein bhi aisa ho ki vaah kuch bhi sakte hain kyonki cricket aur raajneeti hai vaah dono eniston ka khel pehle se pata kuch nahi chalta ki aage kya hoga cricket hai yah hai ki hum yah nahi bata sakte ki kaun si team pehle jitegi kishore mein kya hoga kya vishay raajneeti mein chunav se pehle mein pata nahi chalta kaun si team jitegi kaun sarkar banayegi kiska hoga kiska bahumat hoga aur maharashtra mein aajkal aisa hi ho raha hai isi ki yah vaktavya nitin gadkari kyonki maharashtra mein sabse zyada seaten hain vaah bhajpa ne jeeti hai lekin bhajpa ke paas nahi hai toh usko sarkar banane ki anumati nahi di gayi hai dusri jo party hai vaah bhi sarkar nahi bana rahi hai ab yah anita ke galiyare mein chala gaya toh mere khayal se aisa lagta hai ki yah dono hai vaah netaon ka clear hai aur isme kuch nahi hai

क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है क्या आप भी ऐसा मानते हैं हां तो मानता में भी ऐसा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  17
WhatsApp_icon
user

Raj Kumar

Sports Coach

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नितिन कंपनी ने एग्जांपल दिया था कि क्रिकेट और राजनीति में प्रकाशित की आखिरी बार आखिरी आखिरी तक कुछ भी असंभव असंभव नहीं है उसी प्रकार राजनीति में भी कुछ भी संभव और असंभव नहीं होता समय के अनुसार बदलती रहती हैं

nitin company ne example diya tha ki cricket aur raajneeti mein prakashit ki aakhiri baar aakhiri aakhiri tak kuch bhi asambhav asambhav nahi hai usi prakar raajneeti mein bhi kuch bhi sambhav aur asambhav nahi hota samay ke anusaar badalti rehti hain

नितिन कंपनी ने एग्जांपल दिया था कि क्रिकेट और राजनीति में प्रकाशित की आखिरी बार आखिरी आखिर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!