क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं?...


play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:16

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं लिया मेरे हिसाब से तो कबीर के दोहे आज भी जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं अगर एक दोहे का अर्थ समझे तो क्योंकि कबीर के दोहे में जो बातें कही गई थी वह समाज के हर एक वर्ग के लोगों के ऊपर कटाक्ष की वाणी में कबीर दास के दोहे के रूप में बताया था और आज भी वह इतने ही आज के समय में भी लागू होते हैं अगर उन दोनों की आंखें तो हम जिंदगी में जरूर सफल हो सकते हैं अपनी जिंदगी को आगे बढ़ा सकते कबीर जी के दोहे के अनुसार 12 हाउस में पढ़ा था मैंने कि जैसे लोहे को जो चमड़े की जो आवाज आता है चमड़े की जो धमक होती है उससे लोहागल जाता है और उसमें से हाय हाय आवाज आता है उसी तरह इंसान को अगर हम बहुत सारा प्रसारित करें और वह अगर हाय लग जाती है तो हम भी पश्चिम हो जाते हैं इस तरह का एक दोहा मैंने पढ़ा था और आज भी उस तरह जरूर होता है कि किसी गरीब की किसी मजबूर की और किसी भी इंसान के में आए नहीं लेनी चाहिए क्योंकि वह हमें बस में कर देती याने कि हम को जलाकर राख कर सकती है जब लोहे को भी अगर वह गला सकती है तो इंसान की क्या औकात है इसलिए हमारी प्रगति रूकती है हमें उसे लेना चाहिए इसलिए तो बहुत से दोहे हैं और कबीर वाणी जो बहुत ही अच्छी है और कबीर पंथ संप्रदाय उन्होंने चलाया था और उस पर एक शेर कबीर मंदिर है खासकर बनारस का सीन वहां पर जो कबीरदास रहे थे उनका जन्म हुआ था तो वहां पर कबीरचौरा नाम की एक जगह जगह दी है और कबीर मंदिर भी है इस तरह से हर शहर में प्रमुख शहरों में कबीर मंदिर कबीर पंथ के अंदर मौजूद है और वह कबीर पंथ के नियम को फॉलो करते हैं और बहुत सारे समाज की बुराइयों के प्रति वह लड़ते हैं और समाज में अच्छाइयों का प्रचार करते हैं इसलिए आज दी आज के समय में जीवन में सफलता पाने के लिए कबीर के दोहे कबीर वाणी काम को जरूर अध्ययन करना चाहिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

kya kabir ke dohe aaj ke samay mein jeevan mein safalta paane mein madad karte hai liya mere hisab se toh kabir ke dohe aaj bhi jeevan mein safalta paane mein madad karte hai agar ek dohe ka arth samjhe toh kyonki kabir ke dohe mein jo batein kahi gayi thi vaah samaj ke har ek varg ke logo ke upar kataksh ki vani mein kabir das ke dohe ke roop mein bataya tha aur aaj bhi vaah itne hi aaj ke samay mein bhi laagu hote hai agar un dono ki aankhen toh hum zindagi mein zaroor safal ho sakte hai apni zindagi ko aage badha sakte kabir ji ke dohe ke anusaar 12 house mein padha tha maine ki jaise lohe ko jo chamde ki jo awaaz aata hai chamde ki jo dhamak hoti hai usse lohagol jata hai aur usme se hi hi awaaz aata hai usi tarah insaan ko agar hum bahut saara prasarit kare aur vaah agar hi lag jaati hai toh hum bhi paschim ho jaate hai is tarah ka ek doha maine padha tha aur aaj bhi us tarah zaroor hota hai ki kisi garib ki kisi majboor ki aur kisi bhi insaan ke mein aaye nahi leni chahiye kyonki vaah hamein bus mein kar deti yane ki hum ko jalakar raakh kar sakti hai jab lohe ko bhi agar vaah gala sakti hai toh insaan ki kya aukat hai isliye hamari pragati rukti hai hamein use lena chahiye isliye toh bahut se dohe hai aur kabir vani jo bahut hi achi hai aur kabir panth sampraday unhone chalaya tha aur us par ek sher kabir mandir hai khaskar banaras ka seen wahan par jo kabirdas rahe the unka janam hua tha toh wahan par kabirchaura naam ki ek jagah jagah di hai aur kabir mandir bhi hai is tarah se har shehar mein pramukh shaharon mein kabir mandir kabir panth ke andar maujud hai aur vaah kabir panth ke niyam ko follow karte hai aur bahut saare samaj ki buraiyon ke prati vaah ladte hai aur samaj mein acchhaiyon ka prachar karte hai isliye aaj di aaj ke samay mein jeevan mein safalta paane ke liye kabir ke dohe kabir vani kaam ko zaroor adhyayan karna chahiye dhanyavad aapka din shubha ho

क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं लिया मेरे हिसाब से त

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1310
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!