क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं?...


play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:16

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं लिया मेरे हिसाब से तो कबीर के दोहे आज भी जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं अगर एक दोहे का अर्थ समझे तो क्योंकि कबीर के दोहे में जो बातें कही गई थी वह समाज के हर एक वर्ग के लोगों के ऊपर कटाक्ष की वाणी में कबीर दास के दोहे के रूप में बताया था और आज भी वह इतने ही आज के समय में भी लागू होते हैं अगर उन दोनों की आंखें तो हम जिंदगी में जरूर सफल हो सकते हैं अपनी जिंदगी को आगे बढ़ा सकते कबीर जी के दोहे के अनुसार 12 हाउस में पढ़ा था मैंने कि जैसे लोहे को जो चमड़े की जो आवाज आता है चमड़े की जो धमक होती है उससे लोहागल जाता है और उसमें से हाय हाय आवाज आता है उसी तरह इंसान को अगर हम बहुत सारा प्रसारित करें और वह अगर हाय लग जाती है तो हम भी पश्चिम हो जाते हैं इस तरह का एक दोहा मैंने पढ़ा था और आज भी उस तरह जरूर होता है कि किसी गरीब की किसी मजबूर की और किसी भी इंसान के में आए नहीं लेनी चाहिए क्योंकि वह हमें बस में कर देती याने कि हम को जलाकर राख कर सकती है जब लोहे को भी अगर वह गला सकती है तो इंसान की क्या औकात है इसलिए हमारी प्रगति रूकती है हमें उसे लेना चाहिए इसलिए तो बहुत से दोहे हैं और कबीर वाणी जो बहुत ही अच्छी है और कबीर पंथ संप्रदाय उन्होंने चलाया था और उस पर एक शेर कबीर मंदिर है खासकर बनारस का सीन वहां पर जो कबीरदास रहे थे उनका जन्म हुआ था तो वहां पर कबीरचौरा नाम की एक जगह जगह दी है और कबीर मंदिर भी है इस तरह से हर शहर में प्रमुख शहरों में कबीर मंदिर कबीर पंथ के अंदर मौजूद है और वह कबीर पंथ के नियम को फॉलो करते हैं और बहुत सारे समाज की बुराइयों के प्रति वह लड़ते हैं और समाज में अच्छाइयों का प्रचार करते हैं इसलिए आज दी आज के समय में जीवन में सफलता पाने के लिए कबीर के दोहे कबीर वाणी काम को जरूर अध्ययन करना चाहिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

kya kabir ke dohe aaj ke samay mein jeevan mein safalta paane mein madad karte hai liya mere hisab se toh kabir ke dohe aaj bhi jeevan mein safalta paane mein madad karte hai agar ek dohe ka arth samjhe toh kyonki kabir ke dohe mein jo batein kahi gayi thi vaah samaj ke har ek varg ke logo ke upar kataksh ki vani mein kabir das ke dohe ke roop mein bataya tha aur aaj bhi vaah itne hi aaj ke samay mein bhi laagu hote hai agar un dono ki aankhen toh hum zindagi mein zaroor safal ho sakte hai apni zindagi ko aage badha sakte kabir ji ke dohe ke anusaar 12 house mein padha tha maine ki jaise lohe ko jo chamde ki jo awaaz aata hai chamde ki jo dhamak hoti hai usse lohagol jata hai aur usme se hi hi awaaz aata hai usi tarah insaan ko agar hum bahut saara prasarit kare aur vaah agar hi lag jaati hai toh hum bhi paschim ho jaate hai is tarah ka ek doha maine padha tha aur aaj bhi us tarah zaroor hota hai ki kisi garib ki kisi majboor ki aur kisi bhi insaan ke mein aaye nahi leni chahiye kyonki vaah hamein bus mein kar deti yane ki hum ko jalakar raakh kar sakti hai jab lohe ko bhi agar vaah gala sakti hai toh insaan ki kya aukat hai isliye hamari pragati rukti hai hamein use lena chahiye isliye toh bahut se dohe hai aur kabir vani jo bahut hi achi hai aur kabir panth sampraday unhone chalaya tha aur us par ek sher kabir mandir hai khaskar banaras ka seen wahan par jo kabirdas rahe the unka janam hua tha toh wahan par kabirchaura naam ki ek jagah jagah di hai aur kabir mandir bhi hai is tarah se har shehar mein pramukh shaharon mein kabir mandir kabir panth ke andar maujud hai aur vaah kabir panth ke niyam ko follow karte hai aur bahut saare samaj ki buraiyon ke prati vaah ladte hai aur samaj mein acchhaiyon ka prachar karte hai isliye aaj di aaj ke samay mein jeevan mein safalta paane ke liye kabir ke dohe kabir vani kaam ko zaroor adhyayan karna chahiye dhanyavad aapka din shubha ho

क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करते हैं लिया मेरे हिसाब से त

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1310
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

3:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का प्रेस में क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करेंगे निश्चित रूप से प्रदर्शन दिल धड़कता है व्हाट इज द टाइम इन द मॉडर्न एरा एंड एग्जांपल आफ माटी कहे कुम्हार से तु क्या रौंदे मोय 1 दिन ऐसा आएगा मैं रो मिट्टी कैसी है कुमार से कि तू मुझे मेरा क्या मदद करेगी डरेगा एक समय ऐसा आएगा मैं तुम्हारा मदद करूंगी और तुम इसका मतलब क्या है किसी भी प्रकार का अहंकार नहीं रखना चाहिए क्योंकि जिन खोजा तिन पाइया गहरे पानी पैठ जिन लोगों ने जानने का समझने का प्रयास किया अपने अंदर के संसार को पानी की गहराई में जीवन का आनंद प्राप्त कर लिया यह सब चीजें आपको जीवन में सफलता दे निंदक नियरे राखिए आंगन कुटी छवाय बिन पानी साबुन बिना निर्मल करे सुभाय आलोचक है उसको पास रखना चाहिए क्योंकि आपको मार्ग दिखाता है आता है आपको आखिरी करना चाहिए इसके बिना नहीं अपने पास रखना चाहिए

aap ka press me kya kabir ke dohe aaj ke samay me jeevan me safalta paane me madad karenge nishchit roop se pradarshan dil dhadakta hai what is the time in the modern era and example of mati kahe kumhaar se tu kya raunde moy 1 din aisa aayega main ro mitti kaisi hai kumar se ki tu mujhe mera kya madad karegi darega ek samay aisa aayega main tumhara madad karungi aur tum iska matlab kya hai kisi bhi prakar ka ahankar nahi rakhna chahiye kyonki jin khoja teen paiya gehre paani paith jin logo ne jaanne ka samjhne ka prayas kiya apne andar ke sansar ko paani ki gehrai me jeevan ka anand prapt kar liya yah sab cheezen aapko jeevan me safalta de nindak niyare rakhiye aangan kuti chavay bin paani sabun bina nirmal kare subhay aalochak hai usko paas rakhna chahiye kyonki aapko marg dikhaata hai aata hai aapko aakhiri karna chahiye iske bina nahi apne paas rakhna chahiye

आप का प्रेस में क्या कबीर के दोहे आज के समय में जीवन में सफलता पाने में मदद करेंगे निश्चित

Romanized Version
Likes  227  Dislikes    views  2565
WhatsApp_icon
user

Amit Arya

Youtuber - Motivation Speaker

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या कबीर के दोहे आज की में सफलता पाने में मदद करते हैं तो देखिए समय बदला है लेकिन ज्ञान नहीं उसके फार्मूले बदले हैं लेकिन ज्ञान नहीं उसकी विधियां बदली है लेकिन ज्ञान नहीं उसको बताने के तरीके बदले हैं लेकिन ज्ञान नहीं बदला अर्थात ज्ञान भाई बस चीजें बदली है लोग उसको दूसरे वे में प्रदर्शित कर रहे हैं लेकिन है भाई तुम्हें चीजें आप कभी दास जी के कोई भी दो ही ले लो कबीर दास जी इतने महान संत थे इतने महान ईश्वर के भक्त थे उनके अंदर ऐसी स्थिति एक दिव्य आत्मा थी उन्होंने जितना कुछ निर्माण किया जितने भी दोहे बनाएं उन्होंने एक दोहे में सब कुछ रच कर रख दिया 12 ही में इतना कुछ छुपा दिया है कि अगर आप उसकी व्याख्या करने लग जाओ तो बुक्स की बुक्स का निर्माण हो जाएगा जैसे कि उनका 12 आता पोथी पढ़ पढ़ जग मुआ पंडित हुआ न कोई पोथी पढ़ पढ़ जग मुवा पंडित हुआ न कोई ढाई अक्षर प्रेम का पढ़े सो पंडित होय इतना अच्छा ही दुआ है आप यहां से अनुमान लगा सकते अर्थात के पोथी पढ़ ली दुनिया का सारा ज्ञान पढ़ लिया सब कुछ तुम्हारे अंदर है अगर तुम्हारे अंदर प्रियम नहीं है मेन चीज प्रेम प्रेम ही संसार का कार्यक्रम के प्रेम की अगर संधि विच्छेद करते हैं तो पारा माता है अर्थात परम जो सबसे श्रेष्ठ है तो उन्होंने उस प्रेम को बताया कि आपने संसार कब तक कुछ ज्ञान ग्रहण कर लिया लेकिन अगर आपके अंदर प्रेम नहीं है तो कुछ नहीं है आप पंडित नहीं है अगर आप प्रेम को समझते हैं और आपके पास और कोई ज्ञान नहीं है तो भी आप पंडित है जितना कुछ ज्ञान है बस तब हमें प्रेम की ओर ही ले जाता है क्योंकि जो कुछ है प्रेम ही है और जो ज्ञान है वह हमें संसार में प्रेम करना ही सिखाता है पर अगर उस ज्ञान के माध्यम से हम प्रेम को नहीं सीख पाते तो विज्ञान व्यर्थ है तो कबीर दास जी के बहुत सारे दोहे जिन में इतना ज्ञान नहीं था उसके द्वारा हमारी संस्कृति हमारे लोग बहुत अच्छे मुकाम तक पहुंच सकते हैं हमें सत्य तक पहुंचा सकते हैं उनके दोहे अगर हम उन पर ध्यान दें तो राधे राधे

aapka prashna hai kya kabir ke dohe aaj ki mein safalta paane mein madad karte hain toh dekhiye samay badla hai lekin gyaan nahi uske formulae badle hain lekin gyaan nahi uski vidhiyan badli hai lekin gyaan nahi usko batane ke tarike badle hain lekin gyaan nahi badla arthat gyaan bhai bus cheezen badli hai log usko dusre ve mein pradarshit kar rahe hain lekin hai bhai tumhe cheezen aap kabhi das ji ke koi bhi do hi le lo kabir das ji itne mahaan sant the itne mahaan ishwar ke bhakt the unke andar aisi sthiti ek divya aatma thi unhone jitna kuch nirmaan kiya jitne bhi dohe banaye unhone ek dohe mein sab kuch rach kar rakh diya 12 hi mein itna kuch chupa diya hai ki agar aap uski vyakhya karne lag jao toh books ki books ka nirmaan ho jaega jaise ki unka 12 aata pothi padh padh jag muaa pandit hua na koi pothi padh padh jag muva pandit hua na koi dhai akshar prem ka padhe so pandit hoy itna accha hi dua hai aap yahan se anumaan laga sakte arthat ke pothi padh li duniya ka saara gyaan padh liya sab kuch tumhare andar hai agar tumhare andar priyam nahi hai cheez prem prem hi sansar ka karyakram ke prem ki agar sandhi vichched karte hain toh para mata hai arthat param jo sabse shreshtha hai toh unhone us prem ko bataya ki aapne sansar kab tak kuch gyaan grahan kar liya lekin agar aapke andar prem nahi hai toh kuch nahi hai aap pandit nahi hai agar aap prem ko samajhte hain aur aapke paas aur koi gyaan nahi hai toh bhi aap pandit hai jitna kuch gyaan hai bus tab hamein prem ki aur hi le jata hai kyonki jo kuch hai prem hi hai aur jo gyaan hai vaah hamein sansar mein prem karna hi sikhata hai par agar us gyaan ke madhyam se hum prem ko nahi seekh paate toh vigyan vyarth hai toh kabir das ji ke bahut saare dohe jin mein itna gyaan nahi tha uske dwara hamari sanskriti hamare log bahut acche mukam tak pohch sakte hain hamein satya tak pohcha sakte hain unke dohe agar hum un par dhyan de toh radhe radhe

आपका प्रश्न है क्या कबीर के दोहे आज की में सफलता पाने में मदद करते हैं तो देखिए समय बदला ह

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  309
WhatsApp_icon
user

.

Mai IAS Exam Ki Taiyari Kar Raha Hu.Aour Main Chahta Hu Ki Main Logo KO Sabhi Type Ke Questions Ka Answer De Saku.I AM A Student In Bsc Agriculture...

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां कबीर दास जी के दोहे आज के समय में भी जी में सफलता पाने में मदद करते हैं बस जो भी लोग उनकी दोनों को चुनते हैं या पढ़ते हैं समझते हैं और अपनी लाइफ में उतारते हैं समझते हैं तो निकल सकते हैं आगे और जो लोग ऐसे हंसी मजाक में ले लेते उनके लिए तो आता नहीं है सरकार उनको नहीं अच्छा लगेगा सफलता पाने में उनको उनके थॉट्स नहीं लगेंगे कि वह उन्हें मदद कर रहे हैं आगे ले जाने में धन्यवाद चाहिए

ji haan kabir das ji ke dohe aaj ke samay mein bhi ji mein safalta paane mein madad karte hain bus jo bhi log unki dono ko chunte hain ya padhte hain samajhte hain aur apni life mein utarate hain samajhte hain toh nikal sakte hain aage aur jo log aise hansi mazak mein le lete unke liye toh aata nahi hai sarkar unko nahi accha lagega safalta paane mein unko unke thoughts nahi lagenge ki vaah unhe madad kar rahe hain aage le jaane mein dhanyavad chahiye

जी हां कबीर दास जी के दोहे आज के समय में भी जी में सफलता पाने में मदद करते हैं बस जो भी लो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Thakurdas Jha

D/o Thakurdas Srishti Class 10th Study

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कभी की दूरी हमारे जीवन में सफलता पाने में हमारी मदद तो करेंगे हमें कभी के दोनों के द्वारा एक प्रेरणा दी जाती है एक प्रेरणा मिलती है जिससे हम सफलता पाने में सफल

kabhi ki doori hamare jeevan mein safalta paane mein hamari madad toh karenge hamein kabhi ke dono ke dwara ek prerna di jaati hai ek prerna milti hai jisse hum safalta paane mein safal

कभी की दूरी हमारे जीवन में सफलता पाने में हमारी मदद तो करेंगे हमें कभी के दोनों के द्वारा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!